मथुरा में अधिकमास में धार्मिक आयोजनों की होड़, समूचा ब्रजमंडल भक्ति रस से सराबोर

Samachar Jagat | Sunday, 10 Jun 2018 03:29:36 PM
Religious gatherings in Mathura in adhik maas

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

मथुरा। उत्तर प्रदेश के मथुरा में अधिकमास में हो रहे धार्मिक आयोजनों से समूचा ब्रजमंडल भक्ति रस से सराबोर हो गया है। मशहूर भागवताचार्य विभू शर्मा ने बताया कि अधिकमास में बल्लभकुल सम्प्रदाय के मंदिरों में वर्ष भर के त्यौहार बनाए जाते हैं। इस महीने मंदिरों में कहीं होली तो कहीं दीपावली का आयोजन हो रहा है। इसी के साथ की मंदिरों में अन्नकूट, शरदउत्सव, विवाह उत्सव तथा कहीं घटा उत्सव का मनाया जा रहा है। उधर, बल्लभकुल संप्रदाय के मंदिरों में होली की धूम मची हुई है। राधा बल्लभ मंदिर में हजारों श्रद्धालुओं ने आज जहां रंग की होली का आनन्द लिया। अधिकमास में द्बारकाधीश मंदिर मथुरा में फूलों की होली लगभग हर चौथे दिन मनाई जा रही है। राधा बल्लभ मंदिर के सेवायत मोहित गोंस्वामी ने बताया कि मंदिर में ठाकुर जी ने आज जहां भक्तों के संग होली खेली वहीं शांम को शरद उत्सव मनाया। 

जानिए कौन था सहस्त्रार्जुन और क्या था इसका रावण से संबंध

आज गुलाब डोल मेें युगल सरकार के दर्शन हुए हैं। भागवताचार्य विभू महराज ने बताया कि अधिकमास में किये गए धार्मिक कार्य का फल उसी प्रकार से विशाल रूप में मिलता है जैसे अणु का रचनात्मक असर दूर-दूर तक दिखाई पड़ता है। कहा तो यह भी जाता है कि इस माह में किया गया पुण्य कई गुना फल देता है। इस मास मे वृत एवं दान बहुत अधिक फलदाई होता है। प्राचीन काल में इसी माह का वृत करके राजा नाहुश सभी बंधनों से मुक्त हुआ था तथा बाद में उसे स्वर्ग लोक में इन्द्रासन दिया गया था। उन्होंने बताया कि देवी भागवत के अनुसार इस माह में किया गया जप, तप, परिक्रमा, दान व्यक्ति को उच्चतम स्तर पर उसी प्रकार पहुंचा देता है जिस प्रकार एक बीज से एक बड़ा बटवृक्ष तैयार हो जाता है। इन्ही विशेषताओं के कारण गोवर्धन में जहां एक ओर परिक्रमा करने की होड़ मची हुई है वहीं दानदाताओं द्बारा जगह जगह भंडारों का आयोजन कर पुण्य कमाया जा रहा है।

लक्ष्मीनारायण मंदिर गोवर्धन के सेवायत श्यामजी ने बताया कि गिर्राज जी की तलहटी में अपने पराए का भेद मिट गया है। परिक्रमार्थियों से हाथ जोड़कर गिर्राज का प्रसाद ग्रहण कराया जा रहा है। कहीं दूध पीने को दिया जा रहा है तो कहीं चाय, कहीं शिकंजी दी जा रही है तो कहीं रूहहफजा, कहीं जलजीरा दिया जा रहा है तो कहीं ठढाई दी जा रही है। बच्चों में फ्रूटी बांटी जा रही है। गुजरात से आए जेठाभाई एवं जसू पटेल ने बताया कि इसके अलावा जगह जगह पूड़ी,कचौड़ी, खीर, कढ़ी , चावल , राजमा, पकौड़ी, उबले चने, हलुवा , सेव, लीची, खरबूजा, तरबूजा, आम, टाफी लोगों को खाने के लिए दिया जा रहा है। पूरा परिक्रमा मार्ग जहां भंडारों से सजा हुआ है वहीं परिक्रमार्थियों की संख्या बढ़ती ही जा रही है।

कर्ज से छुटकारा पाने के लिए करें ये उपाय 

उधर, कारे आश्रम के महन्त राजूनन्द ने बताया उनके आश्रम में तो अधिक मास के शुरू होने से लेकर अभी तक कढ़ी, चावल, पूड़ी, साग, हलुवा, सत्तू, छोले, पकौड़ी का वितरण किया जा चुका है सामग्री का वितरण बदल बदल कर होता है।
रामानन्द आश्रम बड़ी परिक्रमा मार्ग गोवर्धन के अध्यक्ष शंकरलाल चतुर्वेदी ने बताया कि अब तक कम से आठ करोड़ तीर्थयात्री परिक्रमा कर चुके हैं तो दानघाटी मंदिर गोवर्धन के सेवायत मथुरा प्रसाद कौशिक ने बताया कि ज्यों ज्यों
अधिकमास समापन की ओर बढ़ रहा है परिक्रंमार्थियों की संख्या बढ़ती ही जा रही है तथा धूम की परवाह किये बिना परिक्रमार्थी अनवरत परिक्रमा कर रहे हैं। अधिक मास शुरू होने से अब तक कम से कम सात आठ करोड़ तीर्थयात्री परिक्रमा कर चुके हैं।

मथुरा के पुराने केशवदेव मंदिर के अध्यक्ष सोहनलाल कातिब ने बताया कि मंदिर के श्रीविग्रह की 108 परिक्रमा करने की होड़ लगी हुई है तथा यह कार्यक्रम मंदिर के खुलते ही शुरू हो जाता है। उधर मंदिर में प्रतिस्थापित गिर्राज शिला की परिक्रमा भी मंदिर खुलने के समय अनवरत चल रही है। राधा दामोदर मंदिर वृन्दावन के महंत कनिका गोस्वामी ने बताया कि मंदिर में भगवान श्रीकृष्ण द्बारा सनातन गेास्वामी को दी गई गिर्राज शिला की परिक्रमा तड़के से शुरू हो जाती है जो रात तक चलती है तथा जो लोग गोवर्धन में भारी भीड़ के कारण वहां नही पहुंच पा रहे है वे इस शिला की ही परिक्रमा कर रहे हैं। राधारमण मंदिर वृन्दावन के सेवायत दिनेश चन्द्र गोस्वामी ने बताया कि मंदिर में मालपुआ से लेकर आटा, सूजी, मलाई के पुआ का भोग चढ़ाने की होड़ लगी है। ठाकुर का नित्य फूल बंगला बन रहा है तो उन्हें मौसम के शीतल फल भेाग में दिए जा रहे हैं। कुल मिलाकर ब्रज का कोना कोना कृष्ण भक्ति से भर गया है। -एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.