तो यह है मोती पहनने का रहस्य...

Samachar Jagat | Thursday, 11 Jan 2018 10:25:11 AM
So this is the secret of wearing pearls ...

ज्योतिष डेस्क। मोती (पर्ल) ज्योतिष शास्त्र का एक प्रमुख रत्न है। यह एक जैविक संरचना है। यह ज्योतिष शास्त्र के नौ प्रमुख रत्नों में से एक महत्वपूर्ण रत्न है। यह रत्न चंद्रमा से सम्बंधित है। कभी-कभी, इसका उपयोग दवाओं में भी किया जाता है। यह देखने में बहुत सुंदर और शांत होता है।

यह आपके दिमाग और शरीर के रसायनों पर सीधा प्रभाव डालता है। यह कभी भी तेजी से प्रभावित नहीं करता है। इसका प्रभाव बहुत धीमा और सूक्ष्म होता है। इसलिए, लोगों का मानना है कि यह नुकसान नहीं पहुंचा सकता। हालांकि, कई बार यह समस्याओं को धीरे-धीरे बढ़ाता है।

मोती पहनना मन को शांत करता है, तनाव को कम करता है, नींद में सुधार करता है और मन से डर को हटा देता है। यह आपके शरीर में हार्मोन को संतुलित करता है। यह आपकी वित्तीय स्थितियों में भी सुधार करता है। यह रत्न डॉक्टर को अद्भुत लाभ प्रदान करता है।

आपको मोती पहनते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि यह आपके मानसिक स्तर को धीरे-धीरे प्रभावित करता है। कई बार यह आपके लिए अवसाद और तनाव भी पैदा कर सकता है। इससे आपने चिंता, घबराहट और चिड़चिड़ापन बढ़ सकता है और शरीर का हार्मोन संतुलन बिगड़ सकता है। यहाँ तक कि इस से आपको ब्लड प्रेशर सम्बन्धी समस्या भी हो सकती है।

मोती रत्न को विभिन्न लग्न और तत्वों के आधार पर पहनना शुभ रहता है। यह रत्न मेष, कर्क, वृश्चिक और मीन राशि के लोगों के लिए फायदेमंद रहता है। यह रत्न वृषभ, मिथुन, कन्या, मकर और कुंभ राशि के लोगों के लिए लाभदायक नहीं रहता है। सिंह, तुला और धनु राशि के लोगों के लिए यह रत्न कई विशेष परिस्थिरियों में फायदेमंद रह सकता है। गुस्सैल और भावनात्मक लोगों को मोती रत्न पहनने से बचना चाहिए।

शुक्ल पक्ष के समय सोमवार की रात को चांदी की अंगूठी में दांये हाथ की छोटी उंगली में मोती पहनें। यह आपके लिए कई तरह से लाभदायक साबित होगा। आप मोती को पूर्णिमा के दिन भी पहन सकते है। इसे पहनने से पहले गंगाजल से साफ़ करें और कुछ समय के लिए भगवान शिव के सामने रख दें।  मोती के साथ टोपाज या कोरल (मूंगा) के अलावा कोई और रत्न न पहनें।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.