घर के मुख्य द्वार को वास्तुदोष से बचाने के लिए करें ये उपाय

Samachar Jagat | Tuesday, 16 Apr 2019 01:56:44 PM
Take these measures to protect the main door of the house from Vastu faults

धर्म डेस्क। लोग अपने घर के वास्तु को सही रखने के लिए अनेक उपाय करते हैं लेकिन अपने घर के मुख्य द्वार के वास्तु को ठीक करना भूल जाते हैं और इसी वजह से घर का वास्तु सही होने के बाद भी घर के सदस्यों को अनेक प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आपको बता दें कि अगर घर का मुख्य दरवाजा सही न हो तो ये वास्तुदोष उत्पन्न करना है, ऐसे में इस वास्तुदोष को दूर करने की आवश्यकता होती है। आइए आपको बताते हैं कैसे घर के मुख्य द्वार के वास्तुदोष को दूर किया जा सकता है ............

एक महीने से बंद शुभ कार्य ख्रर मास समाप्त होते ही हुए शुरू, अप्रैल माह में हैं विवाह के इतने शुभ मुहूर्त

अगर नैऋत्य कोण में मुख्य द्वार हो तो वास्तु के अनुसार इस दिशा में भारी लोहे के दरवाजे का उपयोग करें, इससे इस दिशा में मुख्य द्वार होने पर भी घर वास्तुदोष से बचा रहेगा।

मुख्य द्वार का रंग गहरा होना चाहिए, इससे घर के अंदर नकारात्मक ​शक्तियां प्रवेश नहीं कर पाती हैं। 

महाभारत के युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाली ये महिला हवनकुंड से हुई उत्पन्न, जानिए जन्म से जुड़ी रोचक कथा के बारे में...

अगर घर के मुख्य द्वार का मुंह तिराहे की ओर है तो दरवाजे के बाहर एक कोन्वेक्स शीशे का उपयोग करें।

अगर घर में जगह हो तो दोष को कम करने के लिए वास्तुशास्त्र के अनुसार उत्तर दिशा में एक और दरवाज़ा बना लें इससे गल​त दिशा में बने मुख्य द्वार का दोष कम होता है। 

(आपकी कुंडली के ग्रहों के आधार पर राशिफल और आपके जीवन में घटित हो रही घटनाओं में भिन्नता हो सकती है। पूर्ण जानकारी के लिए कृपया किसी पंड़ित या ज्योतिषी से संपर्क करें।)

 

अगर इस मंदिर में पति-पत्नी एक साथ कर लें माता के दर्शन तो वैवाहिक जीवन में परेशानियां हो जाती है शुरू

जो भूखा शेर मां दुर्गा को अपना भोजन बनाने के लिए आया था उसे ही बना लिया देवी ने अपना वाहन, जानिए क्यूं?

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.