इन योद्धाओं की वजह से महाभारत का युद्ध हो गया अजर-अमर, किसी भी युग में कोई नहीं कर सकता इनकी बराबरी

Samachar Jagat | Saturday, 08 Jun 2019 09:16:23 AM
The battle of Mahabharata became immortal Because of these warriors

धर्म डेस्क। महाभारत के युद्ध में कुछ योद्धा इतने शक्तिशाली थे कि उनकी बराबरी करना किसी भी युग में किसी मनुष्य के वश की बात नहीं है। अगर ये तीन योद्धा महाभारत के युद्ध में नहीं होते तो शायद महाभारत का युद्ध इतना बड़ा युद्ध न बनता और इसे सामान्य युद्ध की ही तरह याद किया जाता। आखिर महाभारत के वे शक्तिशाली योद्धा कौन थे आइए जानते हैं इसके बारे में ..............

जो व्यक्ति करता है इन लोगों से मुकाबला, उसे करना पड़ता है हार का सामना

श्रीकृष्ण :-

महाभारत में जिस योद्धा ने सबसे ज्यादा शक्तिप्रदर्शन किया वे थे श्री कृष्ण, उन्होंने युद्ध में बिना किसी हथियार का इस्तेमाल किए अपने बुद्धि कौशल से बड़े-बड़े योद्धाओं को धूल चढ़ाई और सभी को अपने आगे नतमस्तक किया। 

ड्राइंग रूम पर पड़ता है मेहमानों की सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव, ऐसे रख सकते हैं इसे वास्तु दोष से मुक्त

द्रोणाचार्य :-

द्रोणाचार्य ने कौरवों और पांडवों को शिक्षा प्रदान की थी और वे ये जानते थे कि किस योद्धा को किस अस्त्र-शस्त्र का ज्ञान है, द्रोणाचार्य को अस्त्र-शस्त्रों का पूरा ज्ञान था इसी वजह से उन्हें युद्ध में परास्त करना किसी के वश की बात नहीं थी, यही कारण था कि द्रोणाचार्य को मारने के लिए पांडवों को छल का सहारा लेना पड़ा।

कर्ण :-

कहते हैं कर्ण जैसा योद्धा होना बहुत मुश्किल है, कर्ण बहुत बुद्धिमान थे और बिना कवच और कुंडल के त्याग के उसे कोई नहीं मार सकता था। इसी वजह से पांडवों ने पहले कर्ण से कवच और कुंडल का त्याग करवाया और इसके बाद उसका वध किया।

( इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है । )

नकारात्मकता का प्रतीक होती हैं ये तस्वीरें, घर में रखने से व्यक्ति को करना पड़ता है अनेक प्रकार की परेशानियों का सामना

भगवान विष्णु ने शिवजी को क्यों किया अपना एक नेत्र अर्पित, कैसे पड़ा इनका नाम कमल नयन, जानिए इस रोचक कथा के बारे में...



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
रिलेटेड न्यूज़
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.