गौतम बुद्ध की जन्मस्थली में होगा सात दिवसीय कपिलवस्तु महोत्सव

Samachar Jagat | Saturday, 15 Sep 2018 12:52:45 PM
The seven-day Kapilavastu Festival will be held at the birthplace of Gautam Buddha

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

सिद्धार्थ नगर। विश्व को शांति और अहिंसा का संदेश देने वाले गौतम बुद्ध की उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले में स्थित जन्म स्थली कपिलवस्तु में आगामी 5 दिसंबर से सात दिवसीय कपिलवस्तु महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। महोत्सव के सचिव आशुतोष पांडे ने शनिवार को बताया रंगारंग कार्यक्रमों के साथ शुरू होने वाले इस महोत्सव के दौरान सर्वधर्म सद्भाव सम्मेलन ,गौतम बुद्ध की प्रासंगिकता और उपादेयता पर संगोष्ठी, अखिल भारतीय कवि सम्मेलन एवं मुशायरा के अलावा विविध सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है।

पांडे ने बताया कि महोत्सव के दौरान सांस्कृतिक संगोष्ठी और खेलकूद प्रतियोगिताओं के अलावा विभिन्न विभागों की विकास प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। महोत्सव का समापन 11 दिसंबर को संपन्न होगा, इसके अलावा आगामी 29 दिसंबर को गौतम बुद्ध की जन्मस्थली पर स्तूप पूजन के कार्यक्रम का भी आयोजन किया जा रहा है जिसमें देश - विदेश के बौद्ध भिक्षु भी हिस्सा लेंगे।

इस मौके पर एक स्मारिका का विमोचन किया जाएगा, उन्होंने बताया कि कपिलवस्तु महोत्सव को देश-विदेश में प्रचारित करने के लिए महोत्सव की एक वेबसाइट भी बनाई गई है। 

दक्षिणपंथी संगठनों ने सलमान की 'लवरात्रि’ पर हिंदू उत्सव के नाम को विकृत करने का लगाया आरोप, सलमान ने दिया ये जवाब

गौरतलब है कि वर्षों की कठोर साधना के पश्चात बोध गया (बिहार) में बोधि वृक्ष के नीचे भगवान बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई और वे सिद्धार्थ गौतम से बुद्ध बन गए। भगवान बुद्ध ने बहुजन हिताय लोककल्याण के लिए अपने धर्म का देश - विदेश में प्रचार करने के लिए भिक्षुओं को इधर -उधर भेजा। अशोक आदि सम्राटों ने भी विदेशों में बौद्ध धर्म के प्रचार में अपनी अहम्‌ भूमिका निभाई। 

( इस खबर में कुछ अंश एजेंसी से लिया गया है )

इजरायल पर्यटन के लिए तीन साल में पांच शीर्ष बाजारों में शामिल हो सकता है भारत

देश में विलुप्त हुए चीता को मध्यप्रदेश की नौरादेही वन्यजीव अभयारण्य में बसाने की कवायद फिर शुरू

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.