तरक्की के सारे रास्ते बंद कर देते हैं घर के ये वास्तुदोष

Samachar Jagat | Sunday, 19 Aug 2018 10:05:42 AM
These pathways of the house close all the way of progress

धर्म डेस्क। वास्तु शास्त्र में ऐसी बातें बताई गई हैं जिनका ध्यान रखें तो आपको नौकरी एवं व्यवसाय में उन्नति के साथ ही धन लाभ भी मिलता रहेगा। घर में रहने वाले लोगों का स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। वहीं अगर इन बातों का ध्यान न रखा जाए तो घर में धन वृद्धि रूक जाती है। खर्चे बढ़ जाते हैं और आमदनी के सभी रास्ते बंद हो जाते हैं। क्या आपको पता है आपके घर में धन की कमी किन वास्तुदोषों के कारण होती है। अगर आपको नहीं पता तो चलिए हम आपको बताते हैं धन की कमी के कारणों के बारे में............

सावन के महीने में की जाते है शिव की पूजा, जानिए क्या है शिव और शंकर में अंतर

घर में बाथरुम और टॉयलेट के दरवाजों को खुला नहीं रखना चाहिए, वास्तु शास्त्र के अनुसार बाथरुम और टॉयलेट के दरवाजों को खुला रखने से धन वृद्धि रूक जाती है। इससे व्यक्ति को आर्थिक परेशानी होती है।

घर में कांटे वाले, दूध निकलने वाले और विषैले पेड़ - पौधे लगाने से धन और स्वास्थ्य की हानि होती है।

वास्तुशास्त्र के अनुसार, इस दिशा में होना चाहिए अविवाहितों और मेहमानों का कक्ष

वास्तु शास्त्र के अनुसार, अगर व्यवसायिक क्षेत्र में दक्षिण की दीवार नीची हो तो व्यवसाय की वृद्धि रूक जाती है। 

घर की पूर्व दिशा में अधिक ऊंची दीवार होने पर धन और स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, इससे आर्थिक परेशानियां होती हैं।

रसोई घर में अगर दवाइयां रखते हैं तो इस आदत को बदलें, इससे वास्तुदोष उत्पन्न होता है। 

( इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है। )

भगवान शिव के भी परमप्रिय सेवक हैं धन के देवता कुबेर, प्रसन्न करने के लिए करें इस मंत्र का जाप

अगर आपके घर में है किसी की शादी तो बिना पंड़ित के पास जाए इस तरीके से निकालें विवाह का मुहूर्त



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.