व्यक्ति के मन से अज्ञानता को दूर करता है भगवान शिव का ये स्वरूप, इसमें छिपा हुआ है जीवन का गूढ़ रहस्य

Samachar Jagat | Friday, 10 May 2019 05:00:20 PM
This form of Lord Shiva removes ignorance with the persons mind

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

धर्म डेस्क। भगवान शिव का एक स्वरूप नटराज भी है, नटराज शब्द में नट का अर्थ होता है नाट्य या नृत्य और राज का अर्थ राजा से निकाला गया है इसका पूरा अर्थ नृत्य का राजा है। इस प्रकार, भगवान शिव, नृत्य के अपने दिव्य कार्य के माध्यम से, नटराज के रूप में, हमारे मन से अज्ञानता को दूर करते हैं। 

जिस घर में होता है ये छोटा सा पौधा उस घर से नकारात्मक शक्तियां रहती हैं दूर और कभी नहीं होती है धन की कमी

नटराज के रूप में भगवान शिव को पहली बार चोल कांस्य की मूर्तियों में चित्रित किया गया था, जहां उन्हें आग की लपटों पर नाचते हुए दिखाया गया था, जिसमें एक पैर बौना और दूसरा हवा में था। बौने को अज्ञानता का प्रतीक माना जाता है। ऊपरी दाहिने हाथ में एक 'डमरू' पकड़े हुए यह दर्शाता है कि वह सृजन का स्रोत है। निचला दायां हाथ आशीर्वाद देने के लिए है जो सुरक्षा प्रदान करता है। 

नया व्यवसाय शुरू करने जा रहे हैं तो अपनी राशि के अनुसार इन अक्षरों से शुरू करें नाम, व्यापार में मिलेगी सफलता

ऊपरी बाएं हाथ में ब्रह्मांड के अंतिम विनाश के लिए साधन है, आग। निचले बाएं हाथ बाएं पैर की ओर इशारा करते हैं, यह दर्शाता है कि उसके पैर व्यक्तिगत आत्माओं की एकमात्र शरण हैं। उठा हुआ पैर भ्रम से मुक्ति के लिए खड़ा है। इस प्रकार नटराज का पूरा स्वरूप सृजन से लेकर विनाश का वर्णन करता है। प्राचीन आचार्यों के मतानुसार शिव के आनन्द तांडव से ही सृष्टि अस्तित्व में आती है तथा उनके रौद्र तांडव में सृष्टि का विलय हो जाता है। 

( इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है । )

सत्यवती ने इन तीन शर्तों को पूरा करने के बाद किया था ऋषि पाराशर के प्रेम को स्वीकार, जानिए क्या था इसका महाभारत से संबंध

loading...


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
loading...


Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.