भगवान शिव को बहुत प्रिय है ये पौधा, घर के बाहर लगाने से नकारात्मक शक्तियां रहती हैं दूर

Samachar Jagat | Thursday, 23 Aug 2018 09:56:53 AM
This plant is very dear to Lord Shiva, Negative powers stay away from putting out of the house

धर्म डेस्क। आंकड़े का फूल भगवान शिव को बहुत प्रिय है, सावन माह में अगर भोलेनाथ पर आंकड़े के पुष्प अर्पित किए जाएं तो इससे वे बहुत प्रसन्न होते हैं। इसी कारण शास्त्रों में इस पौधे को बहुत ही महत्व दिया गया है। इसका धार्मिक और ज्योतिषीय महत्व भी है। हमारे घर या घर के आसपास अगर ये पौधा हो तो इसका चमत्कारिक लाभ प्राप्त होता है। यदि आंकड़ा घर के सामने हो तो बहुत लाभ पहुंचाता है। शास्त्रों के अनुसार आकड़े के फूल शिवलिंग पर चढ़ाने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं और अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। आइए आपको बताते हैं आकड़े के कुछ चमत्कारी प्रभावों के बारे में....

आंकड़े का पौधा मुख्य द्वार पर या घर के सामने हो तो बहुत शुभ माना जाता है। ज्योतिष के अनुसार जिस घर के सामने या मुख्य द्वार के समीप आंकड़े का पौधा होता है उस घर पर कभी भी किसी नकारात्मक शक्ति का प्रभाव नहीं पड़ता ।

आंकड़े का पौधा जिस घर में होता है वहां रहने वाले लोगों को तांत्रिक बाधाएं कभी नहीं सताती हैं। घर के आसपास सकारात्मक और पवित्र वातावरण बना रहता है जो कि हमें सुख-समृद्धि और धन प्रदान करता है। ऐसे लोगों पर महालक्ष्मी की विशेष कृपा रहती है।

रावण ने यहां किया था भगवान शंकर पर गंगाजल अर्पित, सावन माह में लगती है भक्तों की भीड़

कुछ पुराने आंकड़ों की जड़ में श्रीगणेश जी की प्रतिकृति निर्मित हो जाती है जो साधक को चमत्कारी लाभ प्रदान करती है। 

( इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है। )

भगवान शिव के भी परमप्रिय सेवक हैं धन के देवता कुबेर, प्रसन्न करने के लिए करें इस मंत्र का जाप

अगर आपके घर में है किसी की शादी तो बिना पंड़ित के पास जाए इस तरीके से निकालें विवाह का मुहूर्त



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.