वट अमावस्या 2018 : पति की लंबी उम्र के लिए आज करें व्रत

Samachar Jagat | Tuesday, 15 May 2018 09:43:50 AM
Vat Amavasya 2018: Fast for the long life of husband

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

धर्म डेस्क। वट सावित्री व्रत की महिमा अपार है, महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए इस व्रत को करती हैं। ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को वट अमावस्या के रूप में मनाया जाता है। मान्यता के अनुसार इस दिन सावित्री यमराज से अपने पति सत्यवान के प्राण वापस लेकर आई थी और उसी दिन से इस व्रत को किया जाने लगा।

धनवान बनने के लिए व्यक्ति की कुंडली में होने चाहिए ये योग

वट सावित्री व्रत विवाहित औरतों द्वारा किया जाता है, वट का मतलब बरगद का पेड़ है, जिसमे तीन देवताओ का वास होता है। जड़ में स्वयं ब्रह्मा जी रहते हैं, बीच में विष्णु जी विराजमान होते हैं और सबसे ऊपर शिव जी का राज होता है और बाकी लटकती हुई डालियों को स्वयं सती का रूप माना गया है। इसीलिए इस वृक्ष के नीचे बैठकर पूजा की जाती है जिससे सभी की मनोकामनाएं पूरी होती है।

जानिए कौन था सहस्त्रार्जुन और क्या था इसका रावण से संबंध 

पूजन विधि :-

वट सावित्री व्रत के दिन महिलाएं बरगद के पेड़ के नीचे पूजा करती है व पूजा के बाद भोजन करती है। इस व्रत में सबसे पहले बांस से बनी टोकरी ली जाती है जिसमे सात तरह के अनाज रखे जाते है साथ में धुप, दीप, अक्षत, मोटी भी रखे जाते है। बांस की टोकरी में सप्त धान्य भरकर ब्रह्माजी की प्रतिमा स्थापित की जाती है। ब्रह्माजी के बाईं ओर सावित्री तथा दूसरी ओर सत्यवान की मूर्ति स्थापित की जाती है।

कर्ज से छुटकारा पाने के लिए करें ये उपाय

बरगद के पेड़ को जल व कुमकुम चढ़ाया जाता है फिर लाल धागे से महिलाएं बरगद के पेड़ को बांधती है, इसके बाद सभी औरतें सावित्री की कथा सुनती है।

पूजन समाप्त होने के बाद वस्त्र, फल आदि को बांस के पत्तों में रखकर दान किया जाता है और चने का प्रसाद बांटा जाता है।

(source-google)

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.