इन पौधों को घर में लगाने से नहीं होगी मच्छरों की एंट्री

Samachar Jagat | Wednesday, 05 Sep 2018 09:55:22 AM
By planting these plants in the house   Mosquitoes will not have enter

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। मानसून एक तरफ हमारे मन और तन को ठंडक पहुंचाकर राहत देता है वहीं दूसरी ओर कई बीमारियों को भी न्यौता देता है। मानसून में मच्छर पैदा हो जाते है जिससे मलेरिया और डेंगू जैसी गंभीर बीमारियां होती है। वैसे तो घर में पेड़-पौधों से मच्छर-मक्खी आते है लेकिन आपको यहां कुछ ऐसे पौधों के बारे में बता रहे है जिन्हें घर में लगाने से मच्छर नहीं आएंगें।

ई सिगरेट, ईएनडीएस के निर्माण, बिक्री और विज्ञापन की इजाजत नहीं देने का आग्रह

सिट्रोनेला ग्रास- इस ग्रास से सिट्रोनेला ऑयल निकलता है। इस ग्रास से डेगूं पैदा करने वाले एडीज मच्छर घर में नहीं घूस पाते। इस ऑयल की स्मेल से वे दूर होते हैं। साथ ही इस ऑयल को मोमबत्तियों, परफ्यूम्स, लैम्प्स आदि हर्बल प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल किया जाता है।

तुलसी- तुलसी हर घर में लगाई जाती है। ऐसा कहा जाता है कि तुलसी का पौधा घर में लगाने से खुशहाली होती है। इसके अलावा आपको बता दें कि तुलसी के पौधों की खुशबू से मच्छर दूर रहते हैं।

लैवेंडर- इसे घर में खास तौर पर मच्छर भगाने के लिए लगाया जाता है। केमिकल फ्री मॉस्किटो सोल्युशन बनाने के लिए लैवेंडर ऑयल को पानी में मिलाकर सीधे स्किन पर लगा सकते हैं। यह पौधा घर में आसानी से लग जाता है।

अवसाद के शिकार बच्चों में सामाजिक, अकादमिक कौशल की कमी की छह गुना ज्यादा आशंका

गेंदा- घरों में गेंदे के फूल खूबसूरती के लिए तो लगाए ही जाते है साथ ही गेंदे के फूल से निकलने वाली गंध से मक्खी-मच्छर कोसों दूर रहते हैं। गेंदें के पौधे अफ्रीकन और फ्रेंच दो तरह के होते है। इसके अलावा रोजमेरी भी प्राकृतिक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट है। इसे जैतून के तेल के साथ मिलाकर लगाया जाता है। 

दिल्ली, पुडुचेरी और मेघालय ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में खर्च पर लगातार ध्यान केन्द्रित किया

बच्चों के स्वास्थ्य तथा पोषण की स्थिति की ऑनलाइन होगी निगरानी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता थामेंगी टेबलेट

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.