रिचर्स में हुआ खुलासा, घर पर मातृभाषा बोलने वाले बच्चे होते हैं मेधावी

Samachar Jagat | Monday, 27 Aug 2018 02:27:19 PM
Children who speaking mother tongue are more intelligent

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

लंदन। बच्चों को संस्कार या फिर परंपरा से जोड़े रखना है तो उन्हें मातृभाषा सीखाना जरूरी है। बच्चों का संस्कृति से जुड़ाव रखने में मातृभाषा का अहम योगदान है। जब बच्चे छोटे है तो उसे अपनी मां की भाषा जल्दी समझ आती है। क्योंकि मतृभाषा से हम शब्दों के साथ-साथ भावनाओं को भी साझा कर सकते हैं। इसलिए बच्चों से घर पर हमेशा मातृभाषा में बात करनी चाहिए। कम उम्र में बच्चों को मातृभाषा के जरिए सिद्धांतों को विकसित किया जा सकता है वहीं बढ़ती उम्र में अन्य भाषा में नया शब्द सिखाया जा सकता है। मातृभाषा में उन्हें नए शब्द सीखाना आसान है।

अगर आप भी है अधिक इटेंलीजेंट तो हो जाएं अलर्ट, अधिक बुद्धिमान लोगों को नहीं मिलते रोमांटिक साथी

विदेश में रहनेवाले वैसे बच्चे जो अपने घर में परिवारवालों के साथ मातृभाषा में बात करते हैं और बाहर दूसरी भाषा बोलते हैं, वह ज्यादा अक्लमंद होते हैं। एक नए अध्ययन से यह जानकारी मिली है। ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ रीडिग के शोधकर्ताओं ने शोध में यह पाया कि वैसे बच्चे जो स्कूल में अलग भाषा बोलते हैं और परिवारवालों के साथ घर में अलग भाषा का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें बुद्धिमत्ता जांच में उन बच्चों के मुकाबले अच्छे अंक लाए जो सिर्फ गैर-मातृभाषा जानते हैं।

शंख बजाने से स्किन संबंधित परेशानियां होती दूर, जवां दिखने के लिए रोजाना बजाएं शंख

इस अध्ययन में ब्रिटेन में रहनेवाले तुर्की के सात से 11 साल के 100 बच्चों को शामिल किया गया। इस आईक्यू जांच में दो भाषा बोलने वाले बच्चों का मुकाबला ऐसे बच्चों के साथ किया गया जो सिर्फ अंग्रेजी बोलते हैं। इसलिए बच्चों को आधुनिक भाषा के साथ-साथ मातृभाषा का ज्ञान होना आवश्यक है।

नोट- कुछ अंश एजेंसी से भी

बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित करेगा यह रोबोट, कहानियों पर इंसानों की तरह देगा प्रतिक्रिया

ज्वैलरी डिजाइनर पारुल के ज्वेलरी ब्रांड ‘परूर’ में दिखेगा राजसी वैभव

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.