प्रेगनेंसी में गलती से भी ना खाएं ये चीजे, शिशु के स्वास्थ्य पर पड़ता है यह प्रभाव

Samachar Jagat | Thursday, 10 Jan 2019 08:40:05 PM
Do not even eat in pregnancy by mistake, these things fall on the health of the baby, this effect

लाइफस्टाइल डेस्क। गर्भवती के समय एक महिला अन्य महिलाओं की तुलना में कई मायनों में अलग हो जाती है। वह अपने और शिशु क बेहतर स्वास्थ्य के लिए गर्भवती महिला को अपने लाइफस्टाइल के सा​थ अपने खानपान पर भी ध्यान देना होता है। यदि डॉक्टर्स की माने तो इस समय सॉफ्ट चीज खाना मिस्कैरिज का कारण बन सकता है। सॉफ्ट चीज में मौजूद बैक्टीरिया प्लेसेंटा तक पहुंच सकता है। इसके साथ ही गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है। 

एक्सपर्ट्स बताते है कि लिस्टेरिया नामक बैक्टीरिया कई फूड्स में मौजूद होता है, जो होने वाले बच्चे के लिए खतरनाक होता है। इसलिए वो फूड्स जिनमें यह बैक्टीरिया मौजूद होता है, प्रेग्नेंट वुमन को पूरी प्रेग्नेंसी अवॉइड करने चाहिए। 


आपको बता दें कि प्रेग्नेंसी के समय कच्चे पपीता नहीं खाना चाहिए। क्योंकि कच्चे पपीते में लेटेक्स होता है। जो कि प्रेग्नेंसी के शुरूआती दिनों में मिस्कैरिज का खतरा हो सकता है। इसमें पपैन और पेप्सिन भी शामिल है। जो कि भ्रूण का विकास नहीं होने देते है। डॉक्टर्स पूरी प्रेग्नेंसी के समय कच्चा पपीता नहीं खाने की सलाह देते हैं। 

दरअसल, गर्भावस्था के समय अनानस खाना भी महिला के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। क्योकि इसमें प्रचुर मात्रा में ब्रोमेलिन पाया जाता है। जो कि गर्भाशय ग्रीवा की नरमी का कारण बन सकती है। जिसके कारण समय से पहले प्रसव होने की संभावना बढ़ जाती है। 

लेकिन वहीं अगर गर्भवती महिला के दस्त होने पर थोडी मात्रा में अनानास का रस लेती है। तो उसे किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होगा। वैसे पहली तिमाही के दौरान इसका सेवन ना करना ही सही रहेगा, इससे किसी भी प्रकार के गर्भाश्य के अप्रत्याशित घटना से बचा जा सकता है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.