विकसित बाजारों की तुलना में उभरते बाजारों में धोखाधड़ी, रिश्वतखोरी, भ्रष्टाचार दोगुना : रिपोर्ट

Samachar Jagat | Saturday, 03 Nov 2018 11:45:38 AM
fraud, bribery, corruption in the emerging markets is double Compared to developed markets

नई दिल्ली। उभरते बाजारों में रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार अभी कायम है। विकसित बाजारों की तुलना में उभरते बाजारों में भ्रष्टाचार दोगुना है। धोखाधड़ी, रिश्वतखोरी तथा भ्रष्टाचार पर एक ताजा रिपोर्ट में यह निष्कर्ष निकाला गया है। ईवाई की उभरते बाजार - ईमानदारी चर्चा में-2018 रिपोर्ट में कहा गया है कि उभरते बाजारों के आधे से ज्यादा यानी 52 प्रतिशत कार्यकारियों ने कहा कि कारोबार में भ्रष्टाचार बहुत अधिक फैला हुआ है। वहीं भारत में 40 प्रतिशत कार्यकारियों ने यही बात कही। 

रिपोर्ट के अनुसार भारत में 40 प्रतिशत कार्यकारियों का कहना था कि व्यापार में घूसखोरी और भ्रष्टाचार काफी गहराई तक फैला हुआ है। 12 प्रतिशत ने कहा कि कंपनियों को पिछले दो साल के दौरान धोखाधड़ी के उल्लेखनीय मामलों का सामना करना पड़ा। वहीं, 20 प्रतिशत का कहना था कि किसी भी कारोबार के टिके रहने के लिए नकद भुगतान जरूरी है। रिपोर्ट कहती है कि भारत में कामकाज के संचालन और पारदर्शिता में सुधार के लिए काफी प्रयास किए जा रहे हैं।

नियामकीय सुधारों मसलन भ्रष्टाचार रोधक (संशोधन) कानून, 2018 (रिश्वत देने वालों के अलावा वाणिज्यिक संगठनों, विदेशी कंपनियों सहित को दंडित करना), कंपनी कानून 2017 तथा दिवाला एवं शोधन अक्षमता संहिता (संशोधन) विधेयक 2017 आदि के जरिए भष्टाचार पर अंकुश का प्रयास किया जा रहा है। इसी तरह भारत में अनुपालन में चूक के लिए जुर्माना भी बढ़ाया गया है। यह अध्ययन ईवाई फॉरेंसिक एंड इंटिग्रिटी सर्विसेज ने किया है। इसमें 33 उभरते बाजारों के 1,450 कार्यकारियों के विचार लिए गए हैं। इनमें भारत, चीन, जापान, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, नाइजीरिया, संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं।  -एजेंसी
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.