भारतीय युवाओं में सबसे ज्यादा पाई जा रही है यह बीमारी, कही आप भी तो नहीं इसका​ शिकार, जानिए...

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Feb 2019 06:35:43 PM
Most of the Indian youth are being diagnosed with this disease, you do not even eat it, know ...

लाइफस्टाइल डेस्क। वर्तमान समय की लोगों की लाइफस्टाइल में काफी बदलाव देखा जा रहा है। क्योंकि लोग आफिस का लंबा काम, काम का बोझ और छुट्टियों की कमी ने युवाओं को कई तरह की बीमारियां हो जाती है। यह ज्यादातर 20 से 30 साल के युवाओं में देखने को मिलता है। तो वहीं ये शाररिक मानसिक के साथ—साथ मानसिक बीमारियों का भी शिकार हो जाते है। हालांकि हाल में भारत के युवाओं में एक और बीमारी तेजी से फैल रही है। यह एक ऐसी बीमारी है। जिससे युवाओं की कार्यक्षमता पर असर डाला है। यह एक मानसिक बीमारी है। 

गौरतलब है कि भारत देश डिप्रेशन देशों की सूची में टॉप पर आता है। क्योंकि यहां पर हर पांच मिनट में कोई न कोई व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार होता है। इसके साथ ही सबसे ज्यादा संख्या में जॉब करने वाले युवा डिप्रेशन के शिकार होते है। इसके साथ ही 18 से 29 साल के लडकों के सुसाइड की खबर सबसे ज्यादा आती है। 


आपको बता दें कि इस बात का खुलासा हाल ही में एक शोध के दौरान हुआ है। इस शोध में खुलासा हुआ ​है कि खुशी जीवन जीने वाले पुरूषों की संख्या बहुत कम है। तो वहीं ज्यादा बिजी रहने वाले लोग मानसिक रुप से ज्यादा तनाव में रहते है। क्योंकि उस समय उनको स्वंय के बारे में सोचने का समय नहीं मिलता है। इस शोध में बताया गया है कि भारतीया पुरूषों के मुकाबले अन्य देशों में के पुरूष ज्यादा हैप्पी लाइफ जिंदगी जीते है। 


 इस तनाव से बचने के लिए कुछ लोग नशे का सहारा भी लेते है। वे सोचते है कि नशा करने से उनका तनाव कम होता है। लेकिन वे नहीं जानते की यह उनके स्वास्थ के लिए कितना नुकसानदायक है। क्योंकि ज्यादातर युवा अपनी बात को किसी को नहीं बताते है। जिससे उनके स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पडता है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.