प्रदूषण से निपटने में मदद करेगा 'सेंसेज’

Samachar Jagat | Saturday, 15 Sep 2018 09:51:36 AM
Sense will help combat pollution

नई दिल्ली। चीन की एक प्रौद्योगिकी कंपनी ने लेजर आधारित एक नया उपकरण विकसित किया है जिसकी मदद से घर के भीतर हवा की गुणवत्ता को तुरंत मापा जा सकता है और उसके आधार पर गुणवत्ता सुधारने के प्रयास किए जा सकते हैं। 'सेंसेज’ नामक इस उपकरण को खास तौर से भारतीय परिस्थितियों के अनुसार तैयार किया गया है। कंपनी का कहना है कि 'सेंसेज’ की मदद से आवासीय या व्यावसायिक भवन के भीतर हवा की गुणवत्ता मापी जा सकती है और उसके आधार पर हवा की गुणवत्ता सुधारने की दिशा में काम किया जा सकता है।

अदरक में मौजूद ये औषधीय गुणों से दूर होती है कई बीमारियां

उपकरण विकसित करने वाली कंपनी काईतेरा के सह-संस्थापक लिआम बैटेस का कहना है, भारत में हवा की गुणवत्ता को लेकर चिंता लगातार बढ़ रही है। ऐसे में स्वास्थ्यकर भवन निर्माण में निवेश करने की जरूरत है क्योंकि लोग अपना ज्यादातर वक्त मकानों के भीतर ही गुजारते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से 14 मई को जारी रिपोर्ट में 2016 में पर्टिकुलेट मैटर (पीएम 2.5) के आधार पर दुनिया के 20 सबसे प्रदूषित शहरों में 14 भारतीय शहर थे।

गुर्दे को नुकसान पहुंचा सकते हैं पर्यावरणीय प्रदूषक : अध्ययन

नए उपकरण की मदद से तत्काल पीएएम 2.5, कार्बन डाईऑक्साइड, तापमान आर्द्रता और अन्य संबंधित सूचनाओं को मापा जा सकता है। आपको बता दें कि वायु प्रदूषण यानि हवा का दूषित होना, जब हवा जहरीली हो जाती है तो वो व्यक्ति को जीवन देने के बजाय उसकी मृत्यु का कारण बन जाती है। वायु प्रदूषण के कारण व्यक्ति को हवा में सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है, जो लोग लंबे समय तक प्रदूषित हवा में रहते हैं उन्हें अनेक प्रकार के रोग घेर लेते हैं।

घर के कीचन में मौजूद ये चीज बीमारियों को दूर कर हमेशा रखेगी जवां

इन बातों को किया नजरअंदाज तो आपका सफर हो सकता है खतरनाक



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.