इस खतरनाक बीमारी से पीड़ित थे अटल बिहारी वाजपेयी जिसका नहीं है कोई इलाज, जानें क्या बचने के उपाय

Samachar Jagat | Friday, 17 Aug 2018 02:23:02 PM
Symptoms and Remedies to avoid dementia

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। हाल ही में देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया। पूरा देश जहां शोक मना रहा है वहीं हम आपको बताते हैं कि उन्हें किस गंभीर बीमारी से जूझना पड़ा। वाजपेयी को एक ऐसी बीमारी थी जिसका कोई इलाज नहीं था। जी हां हम बात कर रहे है डिमेंशिया की।

यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें व्यक्ति सब कुछ धीरे-धीरे भूलने लगता है। उसकी याददाश्त कमजोर होने लगती है। जो लोग इस गंभीर बीमारी के शिकार होते है वे डिप्रेशन में चले जाते हैं। साथ ही उनके निर्णय लेने की क्षमता भी कमजोर होने लगती है। दुख की बात तो यह है कि इस बीमारी का कोई इलाज भी नहीं है। इसका बचाव करके ही इससे दूर रह सकते हैं। यहां पर आपको डिमेंशिया से बचने के कुछ टिप्स बता रहे हैं।

सिरदर्द से पीड़ित है? तो बस अपनाएं ये घरेलू उपचार

डिमेंशिया से बचने के लिए व्यक्ति को लोगों के बीच रहना चाहिए ताकि वह कभी अपने आप को अकेला और अलग न मानें। जब वह लोगों के सपंर्क में रहेगा तो समाजिक गतिविधियां शारीरिक और मानसिक गतिविधि को जोड़े रखेगी। इससे कभी भी अवसाद जैसी स्थिति पैदा नहीं होगी।

इसके बाद संतुलित आहार सबसे जरूरी है। व्यक्ति का खानपान उसके स्वास्थ्य पर सबसे अधिक प्रभाव डालता है। एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि हरी सब्जिया, फल, साबुत अनाज और मैग्नीशियम का सेवन करने से डिमेंशिया होने का खतरा कम रहता है।

अगर आपके चेहरे की सुंदरता को कम रही है झाईयां तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

अगर आप रोजाना व्यायाम करते है तो डिमेंशिया क्या कोई भी बीमारी आपको छू नहीं सकती। नियमित व्यायाम करने से आपके दिल की पंपिंग बल को मजबूती मिलती है साथ ही यह मस्तिष्क तक पहुंचने वाले रक्त प्रवाह को बढ़ाते हैं।

हैंड सैनिटाइजर का अधिक इस्तेमाल सेहत के लिए हानिकारक, हो सकती है ये गंभीर बीमारियां

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.