किशोर मां से जन्मे बच्चे वयस्क मां के बच्चों की तुलना में कमजोर: अध्ययन

Samachar Jagat | Sunday, 19 May 2019 11:21:52 AM
The child born to a teenager is weaker than the adult mothers child Study

नई दिल्ली। भारत में किशोरावस्था में बच्चों को जन्म देने वाली माताओं के बच्चे वयस्क महिलाओं के बच्चों की तुलना में कमजोर होते हैं, इसके बारे में एक नए अध्ययन में पता चला है। देश में बच्चों में कुपोषण और किशोरावस्था में गर्भावस्था के बीच संबंध का पता लगाने के लिए पहली बार व्यापक अध्ययन किया गया था। अमेरिका के अंतरराष्ट्रीय खाद्य नीति शोध संस्थान (आईएफपीआरआई) के शोधकर्ताओं का कहना है कि भारत में कमजोर बच्चे बड़ी तादाद में हैं। यह देश किशोर गर्भावस्था के मामले में 10वें नबंर पर है।

जानिए! क्या होता है पाइन नट्स और इसका सेवन करने से शरीर को क्या फायदा होता है

यूं तो देश में 18 साल से कम उम्र में विवाह गैरकानूनी है लेकिन वर्ष 2016 के राष्ट्रीय परिवार एवं स्वास्थ्य सर्वेक्षण (एनएफएचएस)-4 ने खुलासा किया है कि 27 फीसदी लड़कियों का विवाह उनके 18 साल के होने के पहले ही हो जाता है और देश में 31 फीसदी विवाहित महिलाएं 18 साल की उम्र में बच्चे को जन्म दे देती हैं। आईएफपीआरआई के शोधकर्ता फुओंग होंग ग्यूयेन कहते हैं,''भारत में किशोरावस्था में गर्भधारण के प्रचलन को घटा कर हम संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों को हासिल करने के प्रयासों में तेजी ला सकते हैं इनमें खास तौर पर गरीबी हटाने, स्वास्थ्य, पोषण, सर्व कल्याण, समानता तथा शिक्षा का लक्ष्य हासिल करना है।

विश्व में प्रत्येक वर्ष दिल की बीमारियों से हो रही हैं एक करोड़ 70 लाख लोगों की मौतें

'द लैंसट चाइल्ड एडं एडोलेसेंट हेल्थ में प्रकाशित अध्ययन में मां और बच्चों के 60,097 जोड़ों का अध्ययन किया और इसे किशोरावस्था के वक्त गर्भावस्था और उनसे जन्में बच्चों में कुपोषण का भी अध्ययन किया। इस अध्ययन में पता चला कि किशोरावस्था में बच्चों को जन्म देने वाली माताओं के बच्चों के कमजोर होने तथा उनका वजन कम होने की दर वयस्क महिलाओं के बच्चों की तुलना 10 प्रतिशत अधिक है। वयस्क मांओं की तुलना में किशोर माएं कद में छोटी, कम वजन वाली थीं। स्वास्थ्य सेवाओं तक इनकी सीमित पहुंच थी तथा उनका खानपान भी उचित नहीं था। -एजेंसी

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने के साथ ही इन बीमारियों से लड़ने में सहायक होता है अखरोट



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.