World No Tobacco Day : तंबाकू का सेवन करने से बढ़ जाता है दिल का दौरा पड़ने का खतरा

Samachar Jagat | Friday, 31 May 2019 12:40:24 PM
World No Tobacco Day Due to the consumption of tobacco increases the risk of heart attack

लखनऊ। आमतौर पर तंबाकू को मुंह और गले के कैंसर के लिए जिम्मेदार समझा जाता है लेकिन गुटखा और सिगरेट के शौकीनो को जान लेना चाहिए कि उनकी यह लत उन्हें दिल की बीमारी की ओर तेजी से ढकेल रही है। चिकित्सकों का मानना है कि तंबाकू चबाने वालों को मुंह के कैंसर की संभावना तो हर समय होती ही है, साथ ही दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है। जो लोग धूम्रपान करते हैं, उन्हें फेफड़े के कैंसर के अलावा टीबी और दमा जैसी घातक बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। 

तनाव और थकान को दूर कर मानसिक शांति प्रदान करता है रोज ऑयल, जानिए कैसे करना चाहिए इसका इस्तेमाल

तंबाकू के सेवन से देश में हर साल होने वाली 10 लाख मौतों में से 12 प्रतिशत दिल की बीमारियों के कारण होती हैं। विश्व तंबाकू निषेध दिवस की पूर्व संध्या पर किंग जार्ज मेडिकल विश्वविद्यालय (केजीएमयू) ने अपने परिसर में तंबाकू के उत्पादों के इस्तेमाल पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। केजीएमयू के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट ने बताया कि उन्होंने संस्थान परिसर में तंबाकू के उत्पादों गुटखा-पान आदि के सेवन पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है।

बड़े काम का होता है पान की तरह दिखने वाला गिलोय, सेवन करने से मिलती है इन बीमारियों से निजात

उन्होंने बताया कि इसके लिए यहां आने वाले लोगों के साथ-साथ नगर पालिका को भी सहयोग करना होगा। उन्होंने कहा कि केजीएमयू में आने वालों की प्रवेश द्बारा पर ही रोक दिया जाएगा और जो गुटखा आदि खाने वाले पर कार्रवाई की जएयेगी। इसके लिए सभी के सहयोग की जरुरत है । केवल प्रतिबंध के बोर्ड लिखकर लगाने से समस्या का हल नहीं होगा । परिसर के आसपास इसकी बिक्री पूरी तरह बंद होनी चाहिए। -एजेंसी

यदि समय रहते मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान न दिया गया तो देश में डिप्रेशन की बीमारी भयावह रूप धारण कर लेगी


 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.