03 दिसंबर : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Monday, 03 Dec 2018 03:59:35 PM
03 December top 10 news in hindi

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

महाराष्ट्र सरकार को कोरेगांव-भीमा मामले में दाखिल आरोपपत्र न्यायालय में जमा करने का निर्देश

Instructions for depositing the chargesheet filed in the Koregaon-Bhima case to the Maharashtra government


नयी दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को महाराष्ट्र सरकार को कोरेगांव-भीमा हिंसा मामले में गिरफ्तार मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुणे की एक अदालत में दाखिल आरोपपत्र को उसके सामने पेश करने का निर्देश दिया। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि वह आरोपियों के खिलाफ आरोपों को देखना चाहती है। पीठ ने महाराष्ट्र सरकार की ओर से पक्ष रख रहे वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी से पुणे की विशेष अदालत में राज्य पुलिस द्वारा दाखिल आरोपपत्र को आठ दिसंबर तक उसके समक्ष जमा करने को कहा।

पीठ में न्यायमूर्ति एस के कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसफ भी हैं। पीठ बंबई उच्च न्यायालय के एक आदेश के खिलाफ राज्य सरकार की अपील पर सुनवाई कर रही थी। उच्च न्यायालय ने मामले में जांच रिपोर्ट दाखिल करने के लिए 90 दिन की समय सीमा बढ़ाने से इनकार कर दिया था। पीठ ने अब अगली सुनवाई के लिए 11 दिसंबर की तारीख तय की है। इससे पहले शीर्ष अदालत ने बंबई उच्च न्यायालय के आदेश पर रोक लगा दी थी।

पुणे पुलिस ने माओवादियों के साथ कथित संपर्कों को लेकर वकील सुरेंद्र गाडलिंग, नागपुर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर शोमा सेन, दलित कार्यकर्ता सुधीर धवले, कार्यकर्ता महेश राउत और केरल निवासी रोना विल्सन को जून में गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया था। 

खुली सीमाएं हमारे समय की आर्थिक अनिवार्यता: जेटली

Open Boundaries Economic Need of Our Time: Jaitley

मुंबई। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को खुली सीमाओं का आह्वान करते हुए कहा कि सीमाओं के पार व्यापार हमारे समय की आर्थिक अनिवार्यता है और मुक्त व्यापार के अवरोधों को समाप्त किया जाना चाहिए। जेटली की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब विश्वभर में शुल्क युद्ध की चिंताएं बढ़ रही हैं।

अमेरिका द्बारा कुछ देशों के साथ व्यापार संतुलन बनाने के लिए इस्पात समेत कई उत्पादों पर शुल्क लगाने के बाद ये चिताएं और तेज हुई हैं। जेटली ने वर्ल्ड कस्टम्स ऑर्गेनाइजेशन पॉलिसी कमिश्नरेट की 80 वीं बैठक को वीडियो लिक के जरिए संबोधित करते हुए कहा कि सीमाओं के पार व्यापार हमारे समय की आर्थिक अनिवार्यता है और आने वाले समय के साथ बढ़ने ही वाला है।

उन्होंने कहा कि यह सभी देशों के व्यापक हित में है कि व​ह व्यापार की बाधाओं को हरसंभव स्तर तक दूर करें। जेटली ने कहा कि कोई भी देश सारी वस्तुओं का विनिर्माण नहीं कर सकता है और न ही कम कीमत पर श्रेष्ठ गुणवत्ता की चाह रखने वाले उपभोक्ताओं की जरूरत के हिसाब से हर तरह की सेवाओं में विशेषज्ञता हासिल कर सकता है।

इसीलिये मुक्त व्यापार जरूरी है। उन्होंने कहा कि विश्व भर में राष्ट्रों को यह महसूस होने लगा है कि व्यापार बढ़ने से न केवल वैश्विक अर्थव्यवस्था बल्कि खुद की अर्थव्यवस्था को भी फायदा होता है।

वित्त मंत्री ने सीमाओं के पार व्यापार सुविधाएं बेहतर करने तथा विश्व के श्रेष्ठ मानकों का अनुपालन करने के प्रति केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता भी दोहराया। जेटली ने कहा कि सरकार द्बारा उठाए गए कदमों से देश को व्यापार रैंकिग में 146वें स्थान से छलांग लगाकर इस साल 80वें स्थान पर पहुंचने में मदद मिली है।  

गजनी में सेना के अभियान में 30 तालिबानी आतंकवादी ढेर

30 Taliban terrorists stack in Army campaign in Ghazni

गजनी। अफगानिस्तान के गजनी प्रांत के जागहोरी जिले में तालिबान आतंकवादियों के सफाए के लिए सेना की ओर से कल से जारी अभियान में 30 आतंकवादी मारे गए हैं और कईं अन्य घायल हुए हैं। सेना ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा कि आतंकवादियों के सफाए के लिए यह अभियान रविवार को शुरू किया गया था और अब तक 30 तालिबानी आतंकवादी मारे जा चुके हैं तथा सेना ने कईं गांवों पर अपना नियंत्रण कर लिया है। इन गांवों पर पिछले माह आतंकवादियों ने कब्जा कर लिया था और यहीं से वे सेना के खिलाफ हमलों को अंजाम देते रहते थे। 

कोप 24 : अमीर देशों से जलवायु परिवर्तन से निबटने के लिए हिस्सेदारी देने की गुहार लगाएंगे दूसरे देश

Cop 24: The rich countries will take part in sharing of shareholders to deal with climate change

कैटोविस। बढ़ते समुद्री जलस्तर और विनाशकारी अकाल जैसे संकट के खतरे का सामना कर रहे देश सोमवार को पोलैंड में होने वाले संयुक्त राष्ट्र के सम्मेलन में अमीर देशों से जलवायु परिवर्तन के खतरे से निबटने के लिए अपनी हिस्सेदारी देने की गुहार लगाएंगे। सीओपी 24 वार्ता में होंडुरास, नाईजीरिया और बांग्लादेश के राष्ट्रपति के शरीक होने की संभावना है। यह देश इन खतरों का सामना कर रहे हैं। इस दौरान उन वादों पर भी बात होगी जिनपर 2015 में पेरिस जलवायु समझौते में सहमति बनी थी।

मेजबान पोलैंड खुद कोयले से प्राप्त होने वाली ऊर्ज़ा पर बहुत ज्यादा निर्भर है। वे जीवाश्म ईंधन छोड़ने के लिए उचित व्यवस्था के अपने एजेंडा पर जोर देगा और आलोचकों का कहना है कि यह उसे दशकों तक प्रदूषण फैलाने की मंजूरी देने जैसा होगा। पेरिस समझौते में देश वैश्चिक तापमान में वृद्धि को दो डिग्री सेल्सियस से नीचे रखने या संभव हो तो 1.5 डिग्री के भीतर रखने पर एकमत हुए थे। करीब 200 देशों के प्रतिनिधि दो हफ्ते तक इस बात पर चर्चा करेंगे कि व्यावहारिक रूप से इन लक्ष्यों को कैसे प्राप्त किया जा सकता है।

यहां धन एक बड़ा विवाद बना हुआ है। संरा की जलवायु पर विशेषज्ञ समिति का कहना है कि सदी के अंत तक 1.5 डिग्री सेल्सियस के लक्ष्य को पाने की आशा तभी की जा सकती है जब जीवाश्म ईंधन से होने वाले उत्सर्जन को वर्ष 2030 तक आधा कर दिया जाए।

आखिरकार कैंसर जैसी बीमारी से जंग जीतने वाली एक और मिसाल बनी सोनाली

Sonali Bendre returns to Mumbai after winning the battle with cancer

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाली बेन्द्रे कैंसर की जंग जीतकर मुंबई लौट आई हैं। सोनाली बेंद्रे पिछले छह महीने से न्यूयॉर्क में कैंसर की बीमारी का इलाज करा रही थी। सोनाली बेन्द्रे अब पूरी तरह स्वस्थ हैं और वह मुंबई लौट आई हैं। सोनाली बेन्द्रे के पति और फिल्मकार गोल्डी बहल ने बताया है कि अब सिर्फ रूटीन चेकअप और स्कैन होते रहेंगे।

सोनाली ने जब एयरपोर्ट पर मीडिया कैमरों को देखा तो इमोशनल हो गईं। वह लगातार अपने हाथ जोड़ कर सभी को धन्यवाद कह रही थीं। सोनाली ने कहा, ‘थैंक यू सो मच, मुझे मेरे फैंस ने इतना प्यार दिया है कि मैं उन्हें धन्यवाद कहकर पूरा नहीं कर सकती। गोल्डी बहल ने कहा है कि सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। करीब छह महीने हो चुके हैं मैं सबको बताना चाहता हूं कि अब सोनाली ठीक हैं, वह बहुत अच्छी तरह रिकवर कर रही हैं। मैं उनके सभी फैंस और चाहने वालों का शुक्रिया करता हूं, जिनके प्यार, दुआओं और समर्थन से वह स्वस्थ हो गई हैं। इस समय तक के लिए सोनाली के सभी ट्रीटमेंट पूरे हो गए हैं।

अब बस हमें रेगुलर स्कैन और रेगुलर चेकअप कराते रहना होगा, क्योंकि यह एक ऐसी बीमारी है, जो कभी भी दोबारा वापस आ सकती है। इस समय सोनाली पूरी तरह स्वस्थ हैं, हमें इलाज के लिए वापस भी नहीं जाना पड़ेगा, लेकिन इस तरह की बीमारी के लिए सामान्य रूप से भी बीच-बीच में रूटीन चेकअप करवाते रहने होंगे। सोनाली बहुत ही मजबूत महिला हैं, हम सब और आप सब भी उनके साथ हैं।

शादी के बाद पहली बार मांग में सिंदुर भर इस तरह दिखी प्रियंका

Priyanka Chopra photo viral after marriage

जोधपुर। प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस यहां हिंदू रीति-रिवाजों से विवाह बंधन में बंध गए हैं। कार्यक्रम सोमवार तडक़े तक चले। इससे एक रात पहले दोनों ने क्रिश्चन रिवाज के मुताबिक विवाह किया था। उम्मैद भवन में शनिवार शाम क्रिश्चयन परंपरा से उन्होंने शादी रचाई। वहीं हिंदू विवाह के दौरान प्रियंका ने लाल रंग की साड़ी पहनी तो वहीं निक ने परंपरागत परिधान और पगड़ी पहन रखी थी। प्रियंका और निक की शादी अभी खूब सूर्खिया बटौर रही है।

वहीं उनकी शादी की फोटोज भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। देखा जाएं तो प्रियंका और निक की शादी में किसी भी तरह से फोटोज लीक न हो इसके लिए उन्होंने कैमरा मैनों और पत्रकारों को दूर रखा था, लेकिन इसके बाद भी उनकी शादी के हर फंक्शन की फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हुई। प्रियंका चोपड़ा अब निक की दुल्हन बन चुकी है।

शादी के बाद प्रियंका और निक की एक और फोटो वायरल हुई है। जिसमें प्रियंका और निक नजर आ रहे है। प्रियंका जहां इस फोटो में स्काई कलर की साड़ी में नजर आ रही है तो वहीं निक हल्के ब्राउन सूट जैसे कपड़ों में दिखाई दे रहे हैं। दोनों ही इस फोटो में हाथ जोडक़र अभिवादन करते नजर आ रहे हैं। इस फोटोज में प्रियंका ने नई दुल्हन की जैसे मांग में सिंदुर भर रखा है तो वहीं हाथों में सुहाग का चूड़ा भी पहन रखा है। लेकिन इस फोटो में एक खास बात ये नजर आ रही है कि प्रियंका ने सुहाग की निशानी माने जाने वाला मंगलसूत्र उनके गले में दिखाई नहीं दे रहा है। 

रन मशीन कोहली के बल्ले पर काबू पाने के लिए ये तरीका आजमा सकते हैं ऑस्ट्रेलियाई

Josh Hazlewood said many ways to try to control Kohli

खेल डेस्क। ऑस्ट्रेलिया के उपकप्तान और तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड का मानना है कि भारतीय बल्लेबाजी क्रम भले ही दुनिया में सर्वश्रेष्ठ हो लेकिन कप्तान विराट कोहली को काबू रखने से उस पर दबाव बनाया जा सकता है। विराट कोहली ने पिछली बार ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट सीरीज में चार शतक सहित 692 रन बनाए थे। हेजलवुड ने छह दिसंबर से शुरू हो रहे पहले टेस्ट से पूर्व कहा है कि भारतीय बल्लेबाजी क्रम दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है।

उन्होंने पिछले एक साल में काफी क्रिकेट खेला है। इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका का दौरा किया और सिर्फ विराट कोहली की चमके। कई दूसरे बल्लेबाज ज्यादा रन नहीं बना सके। उन्होंने कहा कि कोहली के बल्ले को खामोश रखने के लिए उनकी टीम योजना बना रही है। उन्होंने कहा है कि हम निश्चित तौर पर इस बारे में बात करेंगे और रणनीति बनाएंगे।

उसके जैसे खिलाड़ी के लिए असल में कई तरीके आजमाने पड़ेंगे। उन तरीकों में हालांकि छींटाकशी शामिल नहीं है। हेजलवुड ने कहा है कि विराट पर ये चीजें असर नहीं करती बल्कि इससे वह अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलता है। मैं उसे गेंदबाजी करते समय चुप ही रहता हूं। स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की गैर मौजूदगी में भले ही भारत का पलड़ा भारी लग रहा हो लेकिन हेजलवुड ने कहा कि यह बराबरी की सीरीज होगी।

उन्होंने कहा है कि यह मुकाबला बराबरी का होगा। हमारा सामना दुनिया की नंबर एक टीम से है लेकिन हम अपने देश में बेहतरीन क्रिकेट खेलते हैं। हमारे पास ऐसा गेंदबाजी आक्रमण है जो किसी भी टीम को परेशान कर सकता है। हम दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी क्रम के खिलाफ वह लय कायम रखना चाहेंगे जो एशेज में थी।

सिडनी इंटरनेशनल में खेलेंगी हालेप

Halep to play in Sydney International

कैनबरा। विश्व की नंबर एक खिलाड़ी रोमानिया की सिमोना हालेप अगले वर्ष 2019 के जनवरी में आयोजित होने वाले सिडनी इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट में खेलने उतरेंगी। टूर्नामेंट आयोजकों ने बताया कि दुनिया की शीर्ष 10 टेनिस खिलाड़ी ब्रिसबेन इंटरनेशनल में खेलने उतरेंगी। हालांकि कैरोलीन वोज्नियाकी और एलिना स्वीतोलिना इस टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगी। निदेशक लॉरेंस रॉबर्टसन ने कहा,‘‘ हमें यह बताते हुये खुशी हो रही है कि जनवरी में दुनिया की शीर्ष टेनिस खिलाड़यिों ने सिडनी आने का फैसला किया है। सिडनी इंटरनेशनल टूर्नामेंट को वर्ष के पहले ग्रैंड स्लेम आस्ट्रेलियन ओपन से पूर्व महत्वपूर्ण अभ्यास टूर्नामेंट भी माना जाता है। मेलबोर्न पार्क में 14 से 27 जनवरी 2019 को ग्रैंड स्लेम आयोजित किया जाएगा।

आरबीआई की बैठक और आर्थिक आंकड़ें तय करेंगे निवेशकों का रुख

RBI's meeting and economic data will decide investors' stance

मुम्बई।  ब्याज दर के संबंध में दिये गये अमेरिकी फेडरल रिजर्व के प्रमुख जेरोम पॉवेल के बयान के बाद अधिकतर विदेशी बाजारों से मिली सकारात्मक खबरों,अंतरर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आयी गिरावट और डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा की मजबूत स्थिति से उत्साहित निवेशकों की लिवाली के दम पर बीते सप्ताह घरेलू शेयर बाजारों ने तेज उड़ान भरी। 

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1,213.28 अंक यानी 3.47 प्रतिशत की साप्ताहिक तेजी के साथ 36,194.30 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 350 अंक यानी 3.32 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,876.75 अंक पर बंद हुआ। दिग्गज कंपनियों की तुलना में छोटी और मंझोली कंपनियों में कम लिवाली देखी गयी। बीएसई का मिडकैप इस अवधि में 159.01 अंक यानी 1.07 प्रतिशत की बढ़त के साथ 15,039.35 अंक पर और स्मॉलकैप 76.33 अंक यानी 0.53 प्रतिशत की तेजी के साथ 14,427.16 अंक पर बंद हुआ।

आगामी सप्ताह शेयर बाजार पर कई कारकों का असर रहेगा। घरेलू स्तर पर विनिर्माण और सेवा क्षेत्र के आंकड़ों, बीते सप्ताह शुक्रवार को कारोबार के समय के बाद जारी हुए सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि दर, कोर उत्पादन वृद्धि दर और वित्तीय घाटे के आंकड़ों से निवेश धारणा प्रभावित होगी। आर्थिक गतिविधियों में आयी सुस्ती से देश की जीडीपी वृद्धि दर सितंबर को समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में घटकर 7.1 प्रतिशत पर आ गयी जबकि पहली तिमाही में यह आंकड़ा 8.2 प्रतिशत रहा था। इसी तरह देश का वित्तीय घाटा भी पूरे चालू वित्त वर्ष के सरकार के कुल अनुमान 3.3 प्रतिशत के पार पहुंच गया। हालांकि, कोर उत्पादन के आंकड़े निवेशकों को हल्की राहत देने वाले हैं। अक्टूबर में कोर उत्पादन की वृद्धि दर सितंबर के 4.3 प्रतिशत से बढक़र 4.8 प्रतिशत हो गयी।

डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा की स्थिति और विदेशी निवेशकों का रुख अगले सप्ताह भी शेयर बाजार को प्रभावित करेगा। वाहन बिक्री के आंकड़ों पर भी निवेशकों की नजर रहेगी। इसके साथ ही रिजर्व बैंक की होने वाली मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के नतीजों का भी असर देखने को मिलेगा। वैश्विक स्तर पर जी20 सम्मेलन में अमेरिका और चीन के राष्ट्रपतियों की वार्ता और ओपेक देशों की बैठक पर निवेशकों की नजर रहेगी।

47 अंक की बढ़त के साथ बंद हुआ सेंसेक्स

Sensex closes with a gain of 47 points

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज सुबह कारोबार की शुरूआत बढ़त के साथ हरे निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर भी ये बढ़त के साथ ही हरे निशान पर बंद हुआ। बढ़त के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 46.70 अंक यानि 0.13 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 36,241.00 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी में भी कारोबार की समाप्ति पर बढ़त देखने को मिली और ये 7.00 अंक यानि 0.064 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,883.75 के स्तर पर बंद हुआ। 

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर बाजार बढ़त के साथ खुला और बढ़त के साथ ही हरे निशान पर बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 91.59 अंक यानि 0.25 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 36,262.00 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 23.89 अंक यानि 0.066 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 36,194.30 के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 32.25 अंक यानि 0.30 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,890.95 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 18.05 अंक यानि 0.17 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,876.75 के स्तर पर बंद हुआ। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.