05 अप्रैल : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Friday, 05 Apr 2019 03:56:15 PM
05 April top 10 news

पीएम मोदी ने दिया ये बड़ा बयान, कहा राहुल, प्रियंका में कौन बेहतर’ कांग्रेस का अंदरुनी मामला

PM Modi gave this big statement

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बहन प्रियंका गांधी वाड्रा में कौन बेहतर को कांग्रेस का अंदरुनी विषय बताते हुए कहा कि इसका निर्णय लेना उनका हक नहीं बनता। टेलीविजन चैनल एबीपी न्यूज पर शुक्रवार को मोदी के प्रसारित साक्षात्कार में गांधी भाई-बहनों में से बेहतर नेता कौन है, इस बारे में पूछे गए सवाल पर प्रधानमंत्री ने कहा कि कौन अच्छा या कौन बुरा, मैं व्यक्तिगत रूप से किसी से परिचित नहीं हूं, न कभी बैठकर कभी किसी विषय पर हमें चर्चा करने का सौभाग्य मिला है और इसलिए इसका निर्णय लेना मेरा हक नहीं बनता है।

यह कांग्रेस पार्टी का अंदरुनी विषय है, उसे जो अच्छा लगे उन्हें नेता बनाए। वाड्रा के वाराणसी से मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने की चर्चा के सवाल पर प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी चुनाव जीते या हारे, यह निर्णय जनता का है। मोदी पहली बार बनारस नामांकन भरने गया था और बाद में जिस दिन चुनाव प्रचार पूरा हुआ, उस दिन मैंने जनसभा की इजाजत मांगी थी, लेकिन वहां की सरकार ऐसी थी, वहां का राज्य निर्वाचन आयोग ऐसा था कि मेरे जनसभा करने पर प्रतिबंध लगा दिया था।

गुजरात से बाहर बनारस को चुनाव लड़ने के लिए चुने जाने के सवाल पर मोदी ने कहा कि संगठन जो तय करे वह मैं करता हूं, तो उस समय संगठन के लोगों को लगा कि मुझे बनारस जाकर चुनाव लड़ना चाहिए। डॉ. मुरली मनोहर जोशी जी ने वहां काफी अच्छा काम किया हुआ था, जोशी जी के आशीर्वाद थे और स्वाभाविक है कि पार्टी ने तय किया था, सो मैं चला गया था।

मोदी ने नेहरु-गांधी परिवार से निजी दिक्कतों के आरोप पर पूछे गए सवाल का सहजता से उत्तर देते हुए कहा कि मैंने देश को कहा है कि मैं देश को लूटने वालों से पाई-पाई वापस लूंगा, यह मेरा वादा है। मुझे बताइए, नेशनल हेराल्ड का केस क्या मेरे आने के बाद शुरू हुआ क्या? पहले से चल रहा था, लेकिन दबा दिया गया था, मैं तो कानूनी काम कर रहा हूं, तब देश के एक वित्त मंत्री थे, आज उन्हें कोर्ट के चक्कर काटने पड़ रहे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष के दो सीटों से चुनाव लड़ने पर हो रहे बवाल पर मोदी ने कहा कि चुनाव वह कहां से लड़े, कहां से न लड़े, वह मेरा विषय नहीं है, वह उनकी पार्टी का विषय है और भारत के संविधान ने मौका दिया है, लेकिन जिस तरीके से जाना पड़ा है, ये चर्चा हमने शुरू नहीं की है। मीडिया ने तुरंत उठाया था कि अमेठी अब उनके लिए मुश्किल है, तो इस अर्थ में वह गए हैं। बाकी उसके लिए उन्हें जो कहना पड़े, वह कहें, अमेठी से उन्हें भागना क्यों पड़ा।

उसकी चर्चा है और इस पर चर्चा राजनीतिक दृष्टि से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का पूरा हक बनता है। गौरतलब है कि गांधी इस बार उत्तर प्रदेश के अमेठी के अलावा केरल की वायनाड संसदीय सीट से भी चुनाव मैदान में हैं। भाजपा में वंशवाद के सवाल पर मोदी ने कहा कि मुख्यधारा वाले जो लोग होते हैं उन्होंने उसूल बनाने होते हैं तो बाकी लोग भी सोचते हैं।

अगर भाजपा ही बुरे रास्ते पर चली जायेगी और वह दूसरों को कहे कि आप सही रास्ते पर चलो, तो यह कैसे संभव होगा, तो इसलिए कांग्रेस पार्टी से अपेक्षाएं ज्यादा हैं। बाबा साहब अंबेडकर ने कहा था कि वंश्वाद लोकतंत्र के लिए खतरा है, यह उनका भाषण है, तब तो मोदी पैदा भी नहीं हुआ था। उस विचार के व्यक्ति ने देश को संविधान दिया है। उस अर्थ में मैं कहता हूं कि लोकतंत्र में वंशवाद यह उचित नहीं है। मैं किसी का नाम नहीं लेता हूं, जिस वंशवाद की मैं आलोचना करता हूं वह बिल्कुल अलग है।

पुणे में छात्रों से संवाद के दौरान राहुल के कार्यक्रम में लगे मोदी-मोदी के नारे

Modi-Modi slogans in Rahul's program during dialogue with students in Pune

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज पुणे में छात्रों से बातचीत की। कांग्रेस अध्यक्ष के इस कार्यक्रम में मोदी—मोदी के नारे लगने लगे। दरअसल, इस कार्यक्रम में जब राहुल गांधी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने उस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि वे मोदी को पसंद करते है। इतना सुनते ही कार्यक्रम में मोदी—मोदी के नारे लगने लगे। 

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को लेकर पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि मैं मिस्टर नरेंद्र मोदी को पसंद करता हूं। मेरे मन में उनके प्रति नफरत और गुस्सा नहीं है। लेकिन उन्हें मुझसे नफरत है। कांग्रेस अध्यक्ष जब इस बात को कह रहे थे तो हॉल में मोदी—मोदी के नारे सुनाई दिए। लेकिन राहुल गांधी  इससे प्रभावित नहीं हुए, उन्होंने स्थिति को तुरंत संभाला और कहा,  इट्स फाइन...इट्स फाइन नो प्रोब्लम। 

राहुल गांधी ने एयर स्ट्राइक के सवाल के जवाब में कहा कि वायु सेना को एयर स्ट्राइक का क्रेडिट लेना चाहिए। इसके बाद कहा कि लोगों को यह समझ में आना चाहिए कि भारत से भिडने की कीमत चुकानी पडेगी। इसके अलावा एयर स्ट्राइक पर राजनीति को गलत भी बताया। 

गुरूवार को केरल की वायनाड लोसकभा सीट से आपना नामांकन दाखिल किया। नामांकन दाखिल के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने रोड शो किया। लेकिन इसी बीच कांग्रेस महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर एक इमोशनल मैसेज लिखा। प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, मेरा भाई, मेरा सच्चा दोस्त और अब तक जितने लोगों को मैं जानती हूं, उनमें सबसे साहसी इंसान, वायनाड आप उनका ख़याल रखना, वो आपको निराश नहीं करेंगे। 

पाकिस्तान के पास सभी एफ-16 लड़ाकू विमान मौजूद हैं, किसी को नुकसान नहीं पहुंचा : अमेरिका

Pakistan has all F-16 fighter aircraft, no harm to anyone: US

वाशिंगटन। एक अमेरिकी पत्रिका का कहना है कि पाकिस्तान के पास जितने एफ-16 लड़ाकू विमान थे उनमें से कोई भी लापता नहीं है और उनमें से किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचा है। इस प्रतिष्ठित अमेरिकी पत्रिका फॉरेन पॉलिसी मैगजीन में आई एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है। यह रिपोर्ट भारत के उन दावों को खारिज करती है कि उसकी वायु सेना ने 27 फरवरी को हवाई संघर्ष के दौरान एक एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया था।

भारत ने 28 फरवरी को पाकिस्तानी एफ-16 द्वारा दागी गई एएमआरएएएम मिसाइल के टुकड़े दिखाए थे जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि पाकिस्तान ने कश्मीर में भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने के लिए हवाई हमले के दौरान अमेरिकी निर्मित एफ-16 लड़ाकू विमान तैनात किया था। पाकिस्तान ने कहा था कि किसी एफ-16 विमान का इस्तेमाल नहीं किया गया और अपने एक विमान को भारतीय वायु सेना द्बारा मार गिराए जाने के दावे का भी उसने खंडन किया था।

पत्रिका के मुताबिक  पाकिस्तान ने इस घटना के बाद अमेरिका को एफ-16 लड़ाकू विमान की गिनती करने के लिए आमंत्रित किया था। मैगजीन की लारा सेलिगमन ने बृहस्पतिवार को कहा कि पाकिस्तान के एफ-16 बेड़े की गणना के दौरान अमेरिका ने पाया कि सभी विमान मौजूद हैं और उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा जो सीधे तौर पर भारत के इस दावे के विपरीत है कि उसने फरवरी को हुई झड़प में उसका एक लड़ाकू विमान मार गिराया था।

रक्षा विभाग ने हालांकि अभी पाकिस्तान में एफ-16 लड़ाकू विमानों की गिनती पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। एमआईटी प्रोफ़ेसर विपिन नारंग ने पत्रिका से कहा​ कि ऐसा लग रहा है कि भारत पाकिस्तान को नुकसान पहुंचाने में नाकाम रहा बल्कि उसने इस प्रक्रिया में अपना एक विमान और हेलीकॉप्टर गंवा दिया।

आव्रजन और व्यापार को अलग-अलग रखें ट्रंप : मैक्सिको

Keep Immigration and Business Separate Trump: Mexico

मैक्सिको सिटी। मैक्सको की वित्त मंत्री ने बृहस्पतिवार को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से अनुरोध किया कि दोनों देशों के बीच अवैध आव्रजन और व्यापारिक रिश्तों को आपस में ना मिलाएं और उन्हें अलग-अलग रहने दें। गौरतलब है कि ट्रंप द्वारा मैक्सिको में बनने वाली कारों पर शुल्क लगाने की धमकी दिए जाने के बाद यह बयान आया है।

वित्त मंत्री ग्रासिलिया मार्केज कॉलिन ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मैक्सिको की सरकार के लिए आव्रजन और व्यापार के मुद्दों को अलग-अलग रखना बहुत महत्वपूर्ण है। गौरतलब है कि ट्रंप ने धमकी दिया था कि अगर मैक्सिको से बिना दस्तावेज के प्रवासियों के आने और अवैध मादक पदार्थ की तस्करी को नहीं रोका गया तो वह देश से आयात होने वाली कारों पर शुल्क लगा देंगे।

तलाक की खबरों के बीच निक ने प्रियंका को दिया यह खास तोहफा

Nick gave a special gift to Priyanka between divorce reports

एंटरटेनमेंट डेस्क। प्रियंका चोपडा और निक जोनस शादी के बाद से ही चर्चाओं में बने हुए है। वे अपनी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते है। इतना ही नहीं निक जोनास कभी प्रियंका चोपडा को मर्सिडीज, कभी हॉलिडे तो कभी कुछ और गिफ्ट देकर सरप्राइज करते रहते है। तो वहीं निक ने हाल ही में प्रियंका को एक गिफ्ट दी है। निक ने इस बार प्रियंका को बेली गिफ्ट किया है। 

आपको बता दें कि प्रियंका ने अपनी नई बेलीज की तस्वीर को इंस्टाग्राम स्टाई पर लगाई। इसके साथ ही एक हार्ट इमोजी भी और निक जोनास का नाम भी लिखा। इससे आशय है कि यह प्रियंका को यह गिफ्ट निक की तरफ से ही दिया गया होगा। कुछ दिन पहले इन दोनों की तलाक की भी खबरें आ रही थी। दरअसल,  एक साप्ताहिक मैगजीन पब्लिशड रिपोर्ट में दावा किया था कि प्रियंका और निक के बीच में शादी के बाद से काफी अनबन चल रही है। इस कारण से दोनों ने एक दूसरे से हमेशा के लिए अलग होने का फैसला कर लिया है। दोनों की शादी महज 117 दिन पहले ही हुई थी। 

मैगजीन के सूत्रों के अनुसार निक को लगता था कि प्रियंका कूल और समझदार लडकी है। लेकिन शादी के बाद उन्हें ऐसा अहसास हुआ कि पत्नी का नेचर कंट्रोलिंग है। इसके अलावा इस मैगजीन की रिपोर्ट में कहा गया है कि जोनस ​फैमिली को लगा था कि प्रियंका एक मैच्योर लेडी हैं और सेटल होकर अपने बच्चे के बारे में सोचेगी। लेकिन अब निक के घरवालों को लगता है कि वे एक 21 साल की लडकी तरह बिहेव कर रही है। 

खुद को शिवाजी गणेशन का शिष्य मानते हैं अमिताभ

Amitabh considers himself a disciple of Shivaji Ganesan

मुंबई। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन खुद को दक्षिण के दिवंगत सुपरस्टार शिवाजी गणेशन का शिष्य मानते हैं। अमिताभ बच्चन ‘उयान्र्था मनिथन’ के साथ अपने तमिल डेब्यू के लिए तैयार हैं। अमिताभ ने ट्विटर पर ‘उयान्र्था मनिथन’ से एक तस्वीर साझा की। इस तस्वीर में वह और अभिनेता-फिल्म निर्माता एसजे सूर्या एक दीवार के पास खड़े हैं जिस पर गणेशन की तस्वीर है।

अमिताभ ने इस तस्वीर का शीर्षक दिया, ‘मास्टर-शिवाजी गणेशन-की छत्रछाया में दो शिष्य सूर्या और मैं। शिवाजी तमिल सिनेमा के लेजेंड। उनकी तस्वीर दीवार पर सुशोभित है, अविश्वसनीय प्रतिभावान कलाकार। उनका आदर और सम्मान करता हूं। मैं उनके पांव छूता हूं। ‘उयान्र्था मनिथन’ का निर्देशन तमिलवानन कर रहे हैं। इसे साथ ही हिंदी में भी बनाया जाएगा।

विश्व कप के लिए पाकिस्तान ने 23 खिलाडियों की सूची की जारी, इन दो ​सीनियर खिलाडियों को किया बाहर

Pakistan released the list of 23 players for the World Cup, did these two senior players out

स्पोटर्स न्यूज। आईसीसी का ​साल 2019 का विश्व कप 30 मई से खेला जाना है। इस विश्व कप के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने 23 संभावित खिलाडियों की सूची जारी की है। लेकिन इस सूची में जो सबसे हैरानी वाली बात यह है कि टीम में उमर अकमल और वहाब रियाज को शामिल नहीं किया गया है। इस बात की जानकारी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अपने आफिशियल ट्विटर अकाउंट से शेयर की है। 

गौरलतलब है कि इंजमाम उल हक के नेतृत्व वाली सिलेक्शन कमेटी ने कोच मिकी आर्थर से बातीचत करने के बाद इन खिलाडियों का नाम जारी किया है। दरअसल, अब इन सभी खिलाडियों को 15 और 16 अप्रैल को लाहौर​ स्थित नेशनल क्रिकेट अकेडमी में अपना फिटनेस टेस्ट देना होगा। इसके बाद 18 अप्रैल को फाइनल टीम का ऐलान किया जाएगा। 

आपको बता दें कि आगामी विश्व कप से पहले पाकिस्तान को एक दौरा करना है। पाक टीम 23 अप्रैल को इंग्लैंड के लिए रवाना होगी। जहां उसे 5 मई से एकमात्र टी20 और पांच मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है। हालांकि हाल ही में पाकिस्तान ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज खेली। इस सीरीज में पाकिस्तान को हार का सामना करना पडा। इतना ही नहीं आस्ट्रेलिया ने इस सीरीज में पाकिस्तान के खिलाफ क्लीन स्वीप भी किया है। 

पाकिस्तान की 23 सदस्यीय टीम

सरफराज अहमद, आबिद अली, आसिफ अली, बाबर आजम, फहीम अशरफ, फखर जमान, हरिस सोहेल, हसन अली, इमाद वसीम, इमाम-उल-हक, जुनैद खान, मोहम्मद अब्बास, मोहम्मद अमीर, मोहम्मद हफीज, मोहम्मद हसनैन, मोहम्मद नवाज , मोहम्मद रिजवान, शादाब खान, शाहीन शाह अफरीदी, शान मसूद, शोएब मलिक, उस्मान शिनवारी, यासिर शाह

हमने नहीं की बेहतर बल्लेबाजी: श्रेयस

We did not have better batting: Shreyas

नयी दिल्ली। सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों अपने ही घरेलू मैदान फिरोजशाह कोटला में गुरुवार को आईपीएल-12 के मुकाबले में पांच विकेट से मिली हार के बाद दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा कि टीम की बल्लेबाजी यदि बेहतर होती तो मैच का नतीजा कुछ और हो सकता था। 

मैच के बाद श्रेयस ने कहा, ‘‘ हमारे पिछले दो मैच एक जैसे ही रहे हैं। विकेट पर बल्लेबाजी करना मुश्किल था, उन्होंने पहले गेंदबाजी की इसलिए उन्हें विकेट का अंदाजा हो गया था। हमने बेहतर बल्लेबाजी नहीं की। इस हार से हमें एक और सीख मिली है। हमें सकारात्मक ढंग से वापसी करनी होगी।

दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ने कहा, ‘‘ पहले बल्लेबाजी करते हुए हमने सोचा कि 140-150 का स्कोर एक चुनौतीपूर्ण स्कोर होगा। हमारे पास तीन स्पिनर थे हम उन्हें कड़ी टक्कर दे सकते थे। लेकिन दुर्भाग्यवश हम ऐसा नहीं कर सके। मुझे टीम के शीर्ष चार बल्लेबाजों में से किसी एक के साथ की जरुरत थी। लेकिन हमारे लिए यह अच्छा सबक है। हमने दूसरी पारी में जिस तरह से मैच में वापसी की थी वह तारीफ के काबिल था। गेंदबाजों ने बेहतर प्रदर्शन किया जोकि टीम के लिए अच्छा संकेत है।

हैदराबाद ने दिल्ली को आठ विकेट पर 129 रन पर रोकने के बाद 18.3 ओवर में पांच विकेट खोकर 131 रन बनाकर जीत हासिल कर ली। हैदराबाद की चार मैचों में यह तीसरी जीत है। हैदराबाद ने इसके साथ ही जीत की हैट्रिक पूरी की है जबकि दिल्ली की पांच मैचों में यह तीसरी हार है। दिल्ली ने हालांकि छोटा स्कोर बनाया लेकिन हैदराबाद को जीत तक पहुंचने के लिए संघर्ष करा दिया।

नई सरकार करेगी प्रस्तावित औद्योगिक नीति की घोषणा: प्रभु

New government will announce the proposed industrial policy: prabhu

नयी दिल्ली। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने बृहस्पतिवार को कहा कि प्रस्तावित नई औद्योगिक नीति को अंतिम रूप दे दिया गया है और नई सरकार इसकी घोषणा करेगी। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के वाॢषक सत्र 2019 में प्रभु ने कहा, ’’हमने उद्योग नीति को अंतिम रूप दे दिया है। मुझे भरोसा है कि नई सरकार जल्दी ही नीति की घोषणा करेगी।’’मंत्रालय ने नीति के अंतिम प्रस्ताव को मंत्रिमंडल के पास भेजा है लेकिन अभी इस पर विचार नहीं किया गया है। 

औद्योगिक नीति का उद्देश्य उभरते क्षेत्रों को बढ़ावा देना और मौजूदा उद्योगों का आधुनिकीकरण करना है। इसके अलावा यह नियामकीय बाधाओं और कागजी कार्रवाई को कम करेगी और नए एवं उभरते हुए क्षेत्रों का समर्थन करेगी। मंत्रालय ने नीति के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए संचालन समिति समेत एक विस्तृत तंत्र स्थापित करने की योजना बनाई है। यह तीसरी औद्योगिक नीति होगी। इससे पहले साल 1956 और 1991 में नीति जारी की गई थी। नई नीति 1991 की औद्योगिक नीति का स्थान लेगी। 

भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश बढ़ाने पर चर्चा करते हुए प्रभु ने नई परियोजनाओं के साथ-साथ पहले से चल रही परियोजनाओं में विदेशी पूंजी प्रवाह आकर्षित करने के लिए उचित रणनीति की जरूरत पर जोर दिया। वाणिज्य मंत्री ने कहा कि हम ज्यादा एफडीआई लाने की कोशिश कर रहे हैं। एफडीआई या तो नए क्षेत्रों से आएगा या फिर अधिग्रहण के माध्यम से आ सकता है। इसलिए दोनों मोर्चों पर रणनीति तैयार करने की जरूरत है... हमें उन कंपनियों पर ध्यान देना चाहिए जो निवेश कर सकती हैं, क्योंकि उनके पास निवेश करने के लिए अधिशेष है। एजेंसी

भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश अप्रैल-दिसंबर 2018 में सात प्रतिशत गिरकर 33.5 अरब डॉलर रहा। प्रभु ने निर्यात को बढ़ावा देने और जिला स्तर पर कारोबारी सुगमता को बढ़ावा देने के लिए मंत्रालय द्वारा उठाए गए कदमों का भी जिक्र किया।

178 अंक की वृद्धि के साथ 38,862 के स्तर पर बंद हुआ सेंसेक्स

Sensex closes at 38862 level with 178 points up

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन कारोबार की शुरूआत बढ़त के साथ हरे निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर भी ये बढ़त के साथ बंद हुआ। बढ़त के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 177.51 अंक यानि 0.46 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 38,862.23 के स्तर पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी में भी कारोबार की समाप्ति पर बढ़त देखने को मिली और ये 67.95 अंक यानि 0.59 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,665.95 के स्तर पर बंद हुआ।

गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान सुबह शेयर बाजार गिरावट के साथ लाल निशान पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर भी ये लाल निशान पर ही बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 25.62 अंक यानि 0.066 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,851.50 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 192.40 अंक यानि 0.49 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,684.72 के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 10.75 अंक यानि 0.092 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,633.20 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 45.95 अंक यानि 0.39 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,598.00 के स्तर पर बंद हुआ।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.