10 अप्रैल : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Wednesday, 10 Apr 2019 03:59:49 PM
10 April top 10 news

आम चुनाव 2019: गुरुवार को होगा पहले चरण का मतदान, तय होगा कई दिग्गजों का सियासी भाग्य

General Elections 2019: The first phase will be voted on Thursday

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में उत्तर प्रदेश के पश्चिमाञ्चल स्थित 8 सीटों पर गुरुवार को मतदान होगा। मतदाता सुबह 7:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक वोट डाल सकेंगे। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने बताया कि पहले चरण के लिए मतदान सुबह सात बजे शुरू होकर शाम छह बजे तक चलेगा। इस चरण में सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और गौतम बुद्ध नगर सीटों के लिए मतदान होगा।

इस चरण में डेढ़ करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। इनमें 82,24,000 पुरुष तथा 68,39,000 महिलाएं शामिल हैं। इस चरण के लिए कुल 6,716 मतदान केंद्र और 16,581 मतदेय स्थल बनाए गए हैं। चुनाव को स्वतंत्र निष्पक्ष एवं भयमुक्त तरीके से संपन्न कराने के लिए व्यापक सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं।

पहले चरण के चुनाव में केंद्रीय मंत्रियों जनरल वीके सिंह (गाजियाबाद) तथा महेश शर्मा (गौतम बुद्ध नगर) के साथ साथ रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह (मुजफ्फरनगर) और उनके बेटे जयंत चौधरी (बागपत) समेत कई दिग्गजों का सियासी भाग्य इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में बंद हो जाएगा। पहले चरण में मुजफ्फरनगर सीट पर सपा-बसपा-रालोद महागठबंधन प्रत्याशी के तौर पर रालोद प्रमुख अजित सिंह का मुकाबला भाजपा के मौजूदा सांसद संजीव बालियान से होगा।

बागपत सीट पर अजित सिंह के बेटे जयंत चौधरी महागठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर मैदान में हैं। वहां उनका मुकाबला मौजूदा सांसद भाजपा के सत्यपाल सिंह और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी चौधरी मोहकम से है। गाजियाबाद सीट पर मौजूदा केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह का मुकाबला महागठबंधन के प्रत्याशी सुरेश बंसल और कांग्रेस उम्मीदवार डॉली शर्मा से है।

नोएडा सीट से भाजपा के प्रत्याशी और मौजूदा केंद्रीय मंत्री डॉक्टर महेश शर्मा के सामने लगातार दूसरी बार इस सीट से संसद पहुंचने की चुनौती है। उनके मुकाबले में कांग्रेस ने डॉ अरविंद सिंह को उतारा है जबकि महागठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर सत्यवीर नागर मैदान में हैं।

सहारनपुर में मौजूदा भाजपा सांसद और प्रत्याशी राघव लखन पाल का मुख्य मुकाबला कांग्रेस के इमरान मसूद से है। गत वर्ष हुए उपचुनाव में भाजपा से कैराना की सीट छीनने वाली मौजूदा सांसद और महा गठबंधन की प्रत्याशी तबस्सुम हसन के सामने एक साल के अंदर इस सीट को दूसरी बार जीतने की कड़ी चुनौती है।

उनका मुख्य मुकाबला गंगोह सीट से मौजूदा विधायक भाजपा प्रत्याशी प्रदीप चौधरी तथा कांग्रेस उम्मीदवार पूर्व राज्यसभा सांसद हरेंद्र मलिक से है। मेरठ सीट पर मौजूदा भाजपा सांसद और प्रत्याशी लगातार तीसरी बार जीतने की आस लगाए हुए हैं। बसपा ने यहां से महागठबंधन प्रत्याशी के तौर पर पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी को उतारा है।

वहीं, कांग्रेस ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास के बेटे हरेंद्र अग्रवाल को टिकट दिया है। बिजनौर सीट पर मौजूदा भाजपा सांसद कुंवर भारतेंद्र सिंह एक बार फिर मैदान में हैं। उनका मुकाबला कभी बसपा प्रमुख मायावती के विश्वसनीय रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी से है। वहीं, महागठबंधन ने मलूक नागर को यहां से मैदान में उतारा है। मतों की गिनती 23 मई को की जाएगी।

पहले आईएसआई चाहती थी कि मोदी पीएम बनें, इस बार पाकिस्तान के पीएम की यह चाहत है: येचुरी

First ISI wanted Modi to become PM, this time Pakistan's PM wants this: Yechury

नई दिल्ली। वामदलों ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्बारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सत्ता में फिर से वापसी करने की इच्छा जताने पर तंज कसते हुए इसे पाकिस्तान के साथ भाजपा के अंदरूनी रिश्तों का सबूत बताया है। माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने इमरान खान के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि पिछले साल यह खबरें आई थीं कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहती है। अब इमरान खान ने भी अपनी इस चाहत का इजहार कर दिया है। 

येचुरी ने ट्वीट कर कहा कि हमारी इस बात पर गंभीर चिता है कि विदेशी सरकारें हमारी लोकतांत्रिक चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित कर रही हैं। पिछले साल ऐसी रिपोर्ट आई थी कि आईएसआई मोदी को पीएम के रूप में देखना चाहती है और अब पाकिस्तान के पीएम ने भी यही बात कही है। येचुरी ने कहा कि मोदी के चुनाव अभियान में पाकिस्तान ही एक मात्र मुद्दा है जिसमें वह पर्दे के पीछे पाकिस्तान से विपक्ष को जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने इमरान खान के बयान का हवाला देकर कहा कि मगर अब जाहिर हो गया है कि पाकिस्तान असल में किसे भारत का प्रधानमंत्री बनाना चाहता है। उन्होंने कहा कि मोदी एकमात्र प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने अपने सैन्य स्थल पर आईएसआई को बुलाया और वह एकमात्र प्रधानमंत्री हैं जो बिन बुलाए पाकिस्तान पहुंच गए। भाकपा के राज्यसभा सदस्य डी राजा ने कहा कि इमरान खान किस हैसियत से पड़ोसी मुल्क की सरकार के बारे में बयान दे रहे हैं।

राजा ने कहा कि भारत में सरकार के गठन के बारे में बयान देना इमरान खान का काम नहीं है, यह तय करना भारत की जनता का काम है। उन्होंने कहा कि इमरान खान कैसे जानते हैं कि कोई और सरकार भारत और पाकिस्तान के बीच शांति प्रक्रिया का समर्थन नहीं करेगी। राजा ने कहा कि मोदी को अब देश के सामने यह स्पष्ट करना चाहिये कि इमरान खान उनकी तरफदारी क्यों कर रहे हैं। उन्होंने पूछा कि क्या इमरान खान मोदी के कहने पर उनकी (मोदी) और उनकी पार्टी (भाजपा) की तरफदारी कर रहे हैं? 

भाजपा के आम चुनाव जीतने पर भारत के साथ शांति वार्ता की अधिक संभावना: इमरान खान

More likely to hold peace talks with India on winning BJP's general election: Imran Khan

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का मानना है कि आम चुनावों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पार्टी के जीतने से भारत के साथ शांति वार्ता और कश्मीर मुद्दा हल होने की संभावनाएं अधिक होगी। भारत में लोकसभा चुनाव के लिए गुरुवार से सात चरणों का मतदान शुरू होगा।

खान ने विदेशी पत्रकारों को दिए एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘अगर भाजपा जीती..$कश्मीर पर किसी तरह के समझौता पर पहुंचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि अन्य दलों को कश्मीर मुद्दे पर समझौता करने के मामले में दक्षिण-पंथी प्रतिक्रिया का डर होगा। खान ने कहा कि दोनों देशों के बीच कश्मीर एक मुख्य मुद्दा है।

भारत का कहना है कि जम्मू-कश्मीर का पूर्ण क्षेत्र भारत का एक अभिन्न हिस्सा है और पाकिस्तान ने राज्य के एक हिस्से पर अवैध ढंग से कब्जा कर रखा है। पाकिस्तान में सक्रिय जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हमला करने के बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव कायम है। इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे।

पुलवामा आतंकवादी हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया था, जिसके अगले ही दिन पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के साथ भारत में घुसने की कोशिश की थी।

भारत और पकिस्तान वायुसेना के लड़ाकू विमानों के बीच झड़पों में पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के भवग कमांडर अभिनंदन वद्र्धमान को हिरासत में ले लिया था, जिन्हें एक मार्च को भारत को सौंप दिया गया था। खान ने कहा कि पाकिस्तान जैश सहित सभी आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से आतंकवादियों को मिटाने के गंभीर अभियान के तहत जैश जैसे संगठनों से हथियार लिए जा रहे है। 
खान ने कहा, ‘‘ हमने इन संगठनों के मदरसों को सरकार के नियंत्रण में ले लिया है। आतंकवादी संगठनों को निशस्त्र करने के लिए उठाया गया यह पहला गंभीर कदम है।उन्होंने कहा कि ये कदम इसलिए उठाए गए हैं क्योंकि ये पाकिस्तान के भविष्य के लिए जरूरी है। पाक प्रधानमंत्री ने इस बात को भी खारिज कर दिया कि विश्व समुदाय ने ऐसी कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान को मजबूर किया है। 

पोम्पिओ ने किम जोंग-उन को ‘‘तानाशाह’’ कहने की बात कबूली

Pompeo confirms Kim Jong-them the saying of

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड भले ही कहते हों कि उन्हें उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन से प्यार है लेकिन उनके विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ किम को ‘तानाशाह’ मानते हैं। उत्तर कोरिया के साथ बातचीत सफल करने के उद्देश्य से पोम्पिओ पिछले साल चार बार प्योंगयांग गए थे। गौरतलब है कि सीनेट की उपसमिति के समक्ष पेश हुए पोम्पिओ को उत्तर कोरिया को लेकर कई कड़े सवालों का जवाब देना पड़ा।

डेमोक्रेटिक सीनेटर पैट्रिक लीह ने वेनेजुएला के वामपंथी राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को ’’तानाशाह’’ कहने के लिए पोम्पिओ की निंदा की और पूछा कि क्या वह किम के लिए इसी तरह की भाषा का उपयोग करेंगे। पोम्पिओ ने इसके जवाब में कहा कहा, ‘‘ जी हां, मुझे यकीन है मैं पहले ही यह कह चुका हूं।’’ 

चुनाव आयोग ने बायोपिक ‘पीएम नरेन्द्र मोदी’ की स्क्रीनिंग पर लगायी रोक

Election Commission bans imposing screening of biopic 'PM Narendra Modi'

नयी दिल्ली। चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जीवन पर आधारित बायोपिक की स्क्रीनिंग पर चुनाव आचार संहिता लागू होने का हवाला देते हुये रोक लगा दी है। आयोग ने बुधवार को अपने आदेश में कहा कि चुनाव के दौरान ऐसी किसी फिल्म के प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी जा सकती है जो किसी राजनीतिक दल या राजनेता के चुनावी हितों का पोषण करती हो। उल्लेखनीय है कि इस फिल्म को 11 अप्रैल को रिलीज किया जाना था। इसके अलावा 17वीं लोकसभा के चुनाव के लिये सात चरण में होने वाले पहले चरण का मतदान भी 11 अप्रैल को ही है। 

माकपा सहित अन्य विपक्षी दलों की शिकायत पर आयोग ने इसके प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी। शिकायत में कहा गया है कि मोदी पर आधारित बायोपिक को चुनाव के दौरान प्रदर्शित करने का मकसद भाजपा को चुनावी फायदा पहुंचाना है। इसलिये चुनाव के दौरान इसके प्रदर्शन की अनुमति देने से चुनाव आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन होगा।

शाहरूख और अजय को लेकर 'कलंक' बनाना चाहते थे करण जौहर

Karan Johar wanted to make 'kalank' about Shahrukh and Ajay

मुंबई। बॉलीवुड फिल्मकार करण जौहर फिल्म कलंक किंग खान शाहरूख खान और सिंघम स्टार अजय देवगन को लेकर बनाना चाहते थे। करण जौहर निर्मित फिल्म कलंक 17 अप्रैल को प्रदर्शित होने जा रही है। फिल्म में वरुण धवन, संजय दत्त, आलिया भट्ट, सोनाक्षी सिन्हा, माधुरी दीक्षित, आदित्य रॉय कपूर जैसे सितारे हैं।

बताया जा रहा है कि इस फिल्म को बनाने का विचार करण जौहर के पिता यश जौहर को लगभग 15-16 वर्ष पहले आया था। इसके बाद उनकी मृत्यु हो गई और अब जाकर करण ने यह फिल्म पूरी की है। जब यश जौहर और करण जौहर इस प्रोजेक्ट पर चर्चा कर रहे थे तब करण ने‘कलंक’बनाने की प्लानिंग शाहरुख खान, अजय देवगन, काजोल और रानी मुखर्जी को लेकर की थी। लेकिन करण फिल्म शुरू नहीं कर पाए और अब उन्होंने दूसरे कलाकारों के साथ फिल्म पूरी की है।

विश्व कप में टीम इंडिया को लगा सकता है बडा झटका, आईपीएल के दौरान चोटिल हुए रोहित शर्मा

Team India can put a big blow in the World Cup,Rohit Sharma injured during IPL

स्पेाटर्स डेस्क। भारतीय टीम का विश्व कप के लिए चयन 15 अप्रैल को किया जाएगा। लेकिन इससे पहले टीम इंडिया के लिए बुरी खबर है। क्योंकि टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा आईपीएल के दौरान चोटिल हो गए है। वे मैदान पर अपना पैर पकडकर सहारा लेकर चलते हुए दिखाई दिए। सूत्रों के अनुसार वानखेडे में अभ्यास सत्र के दौरान रोहित शर्मा रनिंग करते हुए अचानक अपना पांव पकडकर खडे दिखाई दिए। 

इसके बाद कुछ कदम चलने के बाद वे जमीन पर लेट गए। मुंबई इंडियंस टीम के फिजियो नितिन पटेल रोहित की मदद करने के लिए फौरन मैदान पर पहुंचे। मैदान पर उपचार देने के बाद उनको मैदान के बाहर ले आाए। हालांकि रोहित शर्मा ड्रेसिंग रूम तक बिना सहारे के चलकर गए। 

लेकिन अब तक रोहित शर्मा की चोट को लेकर कोई बयान जारी नहीं हुआ है। तो वहीं खबरों की माने तो उनकी मांशपेशियों में खिंचाव की बात सामने आई है। हालांकि इससे पहले आईपीएल में भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह भी चोटिल हो गए थे। लेकिन उनकी चोट ज्यादा गंभीर नहीं थी। 

मुंबई इंडियंस को आज किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैच खेेला जाना है। हालांकि इस सीजन में पहले भी दोनों टीमों के बीच मैच हो चुका है। उस मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने जीत हासिल की थी। इस मैच में मुंबई के पास अपनी पिछली हार का बदला लेने का मौका है। मुंबई इंडियंस ने अबतक इस सीजन में तीन में जीत हासिल की है। तो दो मैचों में हार का सामना करना पडा है। 

लीग कोई भी हो, खिलाड़ी पर बैन नहीं लगाना चाहिए: सहवाग

Should not ban the player: Sehwag

नयी दिल्ली। पूर्व भारतीय विस्फोटक बल्लेबाज और सोशल मीडिया पर अपनी सटीक टिप्पणी के लिए प्रसिद्ध विरेंदर सहवाग का मानना है कि यदि किसी लीग के मुकाबले कोई नयी लीग आ जाती है तो खिलाडिय़ों को प्रतिबंधित नहीं करना चाहिए। 

सहवाग ने बुधवार को यहां नयी लीग इंडो इंटरनेशनल प्रीमियर कबड्डी लीग (आईआईपीकेएल) लांच किये जाने के अवसर पर यह बात कही। आईआईपीकेएल नयी कबड्डी लीग है जबकि भारतीय अमेच्योर कबड्डी महासंघ से मान्यता प्राप्त प्रो कबड्डी लीग पहले से ही चल रही है जिसका सातवां सत्र जुलाई में शुरू होगा।

यह पूछने पर कि क्या भारतीय अमेच्योर कबड्डी महासंघ नयी लीग में खेलने वाले खिलाडिय़ों पर प्रतिबन्ध लगा सकता है जैसा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बागी इंडियन क्रिकेट लीग (आईसीएल) में खेलने वाले खिलाडिय़ों पर प्रतिबन्ध लगा कर किया था, सहवाग ने बड़े स्पष्ट शब्दों में कहा, ‘‘खिलाडिय़ों पर प्रतिबन्ध कतई नहीं लगाना चाहिए क्योंकि वे अपनी आजीविका खेल से ही कमाते हैं। वैसे भी बीसीसीआई ने आईसीएल में खेलने वाले खिलाडिय़ों से बाद में प्रतिबन्ध हटा लिया था।’’
सहवाग ने कहा, ‘‘खिलाड़ी घर बैठकर क्या करेगा। अपनी फिटनेस पर ही ध्यान देगा।

खिलाड़ी को किसी भी लीग में खेलने से रोका नहीं जाना चाहिए चाहे वह कोई विरोधी लीग क्यों न हो। नयी लीग से खिलाडिय़ों को ही फायदा होगा। वैसे भी इस लीग में खिलाडिय़ों को मैच फीस के साथ राजस्व का 20 फीसदी हिस्सा मिलेगा जबकि अब तक सिर्फ बीसीसीआई ही ऐसा करता आया था। बीसीसीआई में बोर्ड के राजस्व का 26 फीसदी हिस्सा खिलाडिय़ों को मिलता है। यह पहल अच्छी है और इससे दूसरे खेलों में भी पैसा आएगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ओडिशा में मेरी हॉकी खिलाड़ी सरदार सिंह से बात हुई थी और उन्होंने बताया था कि उन्हें भारत की तरफ से खेलने पर सिर्फ टीए-डीए मिलता है और कोई मैच फीस नहीं मिलती। यह मेरे लिए चौंकाने वाली बात थी। मैं उम्मीद करूंगा कि इस कबड्डी लीग की पहल का दूसरे खेल भी अनुसरण करें।

एक सवाल के जवाब में सहवाग ने कहा कि कबड्डी को ओलम्पिक खेलों में शामिल होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह भारत का बड़ा खेल है और इसे ओलम्पिक में शामिल किया जाना चाहिए शायद भारत के पदक बढ़ जाएं।

मार्च में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री 10 प्रतिशत घटी

Retail sales of passenger vehicles decreased by 10 percent in March

नयी दिल्ली। यात्री वाहनों की घरेलू बिक्री मार्च में 10 प्रतिशत घटकर 2,42,708 इकाई रह गयी है। पिछले साल मार्च में देश में 2,69,176 यात्री वाहन बिके थे। यात्री वाहनों में कारें, उपयोगी वाहन और वैन आते हैं। वाहन डीलरों के संगठन ‘फाडा’ द्वारा बुधवार को जारी आँकड़ों के अनुसार, इस साल फरवरी की तुलना में मार्च में यात्री वाहनों की बिक्री पाँच प्रतिशत बढ़ी है, लेकिन साल-दर-साल आधार पर इसमें 10 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी है।

इससे पहले वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सियाम द्वारा सोमवार को जारी आँकड़ों के अनुसार, मार्च में इनकी थोक बिक्री भी 2.96 प्रतिशत घटकर 2,91,806 इकाई रह गयी। फाडा ने बताया कि पिछले साल मार्च की तुलना में गत मार्च में वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 12 प्रतिशत घटकर 61,896 पर आ गयी। तिपहिया वाहनों की बिक्री में छह फीसदी और दुपहिया वाहनों की बिक्री में सात फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी और इनका आँकड़ा क्रमश: 53,229 इकाई और 13,24,823 इकाई रहा। 

फाडा के अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले ने बताया कि पिछले साल मार्च में वाहनों की बिक्री में जबरदस्त उछाल आया था। इसलिए इस साल बेस अफेक्ट के कारण मार्च का आँकड़ा एक साल पहले की तुलना में कमजोर है। अन्यथा इस साल फरवरी के मुकाबले बिक्री बढ़ी है। उन्होंने बताया कि अगले साल से बीएस-6 मानक योग्य इंजन की अनिवार्यता और अन्य नियामकीय बदलावों को देखते हुये कंपनियों ने उत्पादन घटाकर डीलरों की इनवेंटरी कम करने का अच्छा फैसला लिया है। मार्च में यात्री वाहनों और वाणिज्यिक वाहनों की औसत इनवेंटरी 40 से 45 दिन की रह गयी है जबकि दुपहिया वाहनों की इनवेंटरी 45 से 50 दिन की बीच की है। 

काले ने बताया कि मानसून से पहले चुनावों के दौरान अगले चार से छह सप्ताह तक बिक्री मौजूदा स्तर पर स्थिर रहने का अनुमान है। यदि केंद्र में स्थिर सरकार बनती है और मानसून अच्छा रहता है तो आने वाले समय में बिक्री में उछाल आने की उम्मीद है। 

कारोबार की समाप्ति पर औंधे मुंह गिरा शेयर बाजार, 353 अंक की गिरावट लेकर बंद हुआ सेंसेक्स

Sensex closes below 353 points on end of business

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज सुबह कारोबार की शुरूआत गिरावट के साथ लाल निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर भी ये लाल निशान पर ही बंद हुआ। गिरावट के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 353.87 अंक यानि 0.91 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,585.35 के स्तर पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी में भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट देखने को मिली और ये 87.65 अंक यानि 0.75 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,584.30 के स्तर पर बंद हुआ।

गौ​रतलब है कि कल के कारोबार के दौरान शेयर बाजार सुबह मामूली गिरावट के साथ खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये गिरावट से उबरता हुआ हरे निशान पर बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 18.01 अंक यानि 0.047 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,682.52 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 238.69 अंक यानि 0.62 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 38,939.22 के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 13.60 अंक यानि 0.12 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,590.90 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 67.45 अंक यानि 0.58 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,671.95 के स्तर पर बंद हुआ।

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.