10 फरवरी : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Sunday, 10 Feb 2019 04:16:02 PM
10 February top 10 news

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

बसंत पंचमी: कुंभ में उमड़ा श्रद्धालुओं का रेला,कड़ी सुरक्षा के बीच हो रहा हैं शाही स्नान 

Basant Panchami Shahi snan


कुम्भ नगर। भाषा, संस्कृति, आध्यात्म के साथ गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के संगम कुंभ मेले में बसंत पंचमी के पावन पर्व पर तीसरा और अंतिम शाही स्नान आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) समेत अन्य सुरक्षा एजेंसियों के चाकचौबंद इंतजामों के बीच तड़के पारम्परिक तरीके में शुरू हो गया। तड़के से ही संगम की विस्तीर्ण रेती पर श्रद्धालुओं का रेला उमड़ा। ‘हर हर गंगे और गंगा तेरा पानी अमृत झर-झर बहता जाये’ के कर्ण प्रिय स्वर लहरियां मन को आस्था से सराबोर कर रही थीं। श्रद्धालु कई-कई किलाेमीटर की पैदल यात्रा कर तीर्थराज त्रिवेणी गंगा,यमुना और अदृश्य सरस्वती के तट पर पहुंचे। श्रद्धालुओं ने शनिवार की रात से आस्था की डुबकी लगानी शरू कर दी। ज्योतिषियों के मुताबिक बसंत पंचमी स्नान का मुहूर्त शनिवार सुबह 8.55 बजे से रविवार सुबह 10 बजे तक है।

ग्रह-नक्षत्रों की खास स्थिति बनने से नहान और दान करने वाले श्रद्धालुओं को बसंत पंचमी का स्नान मनोवांछित फल प्रदान करने वाला होगा। रेवती नक्षत्र, साध्य योग का विशेष संयोग बसंत पंचमी की पुण्य बेला में संगम में स्नान करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होगी। शनिवार की सुबह से श्रद्धालुओं का स्नान करने का क्रम बना रहा जिसकी कड़ी देर शाम जाकर टूटी। उसके बाद मध्य रात्रि से पुन: श्रद्धालुओं का रेला त्रिवेणी में आस्था की डुबकी लगाने लगा।

शनिवार को दिन में सर्द तेज हवा मानो श्रद्धालुओं की आस्था की परीक्षा ले रहा हो। रात जैसे-जैसे गहराती गई सर्द हवा अपना दामन फैलाती गयी। संगम की विस्तीर्ण रेती पर खुले अम्बर के नीचे चादर ओढ़े कंप कंपी लगाते श्रद्धालु भोर की प्रतीक्षा कर रहे थे। श्रद्धालुओं के आस्था के सामने सर्द हवा के झोंके को उस समय हार माननी पड़ी जब उन्होंने घाट पर त्रिवेणी में उतरने से पहले मां गंगा का आचमन किया और हर हर गंगे, ऊं नम: शिवाय जपते हुए आस्था की डुबकी लगानी शुरू कर दी।

करीब 3200 हेक्टेयर के क्षेत्रफल में फैले मेला क्षेत्र में जिधर नजर घुमाओ, वहां श्रद्धालु ही नजर आ रहा है। इस दौरान चप्पे चप्पे पर तैनात सुरक्षाकर्मी मुस्तैदी के साथ भीड़ को नियंत्रित करने में जुटे दिखायी दे रहे हैं। पुलिस के जवानो की मदद के लिये आरपीएफ, सीआरपीएफ, एसएसबी, और आईटीबी समेत अर्ध सैनिक बलों की टुकड़ियां मुस्तैदी के साथ अपने काम को अंजाम देने में जुटी हुई है।

इसके अलावा 500 रेकरूट 10 इंसपेक्टर समेत सुरक्षा बल (बीएसएफ) की दो और कंपनियां मेला क्षेत्र में तैनात की गई हैं। कुम्भ के तीसरे शाही स्नान पर्व की शुरूआत परम्परा के मुताबिक श्री पंचायती महानिर्वाणी अखाड़ा ने की। इसके साथ पंचायती अटल अखाड़ा ने भी संगम में डुबकी लगायी।

दोनों अखाड़े सेक्टर 16 स्थित शिविर से तड़के 5.15 बजे शाही जुलूस के साथ निकले। भोर 5:35 बजे पहला शाही स्नान महानिर्वाणी अखाड़ा ने किया। उसके साथ अटल अखाड़ा भी था। बाद में सुबह 6 बजकर 15 मिनट पर श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा और तपोनिधि श्री पंचायती आनन्द अखाड़ा ने शाही स्नान किया।

आठ बजे श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा, श्री पंचदशनाम आवाहन अखाड़ा और श्री शंभू पंच अग्नि अखाड़ा ने एक साथ शाही स्नान किया। इसके बाद बैरागी अखाड़ों के शाही स्नान का क्रम शुरु होगा। इसमें सबसे पहले अखिल भारतीय श्री पंच निर्वाणी अनी अखाड़ा 10.40 बजे शाही स्नान करेगा। उसके बाद अखिल भारतीय श्री पंच दिगम्बर अनी अखाड़ा 11.20 बजे और अखिल भारतीय पंच निर्मोही अनी अखाड़ा 12.20 बजे शाही स्नान करेगा। उदासीन अखाड़े सबसे अंत में स्नान करने आयेंगे।

इसमें सबसे पहले श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन 1.15 बजे, श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन 2.20 बजे और श्री पंचायती अखाड़ा निर्मला 3.40 बजे शाही स्नान करेगा जबकि प्रशासन से हुई बातचीत के बाद अखाड़ों ने शाही स्नान के जुलूस में बड़े वाहन न ले जाने पर सहमति भी दे दी है। इस बीच संगम में आठ किलोमीटर के दायरे में स्नान के लिए बनाए गए 40 विभिन्न घाटों पर भोर आठ बजे तक 43 लाख श्रद्धालुओ ने आस्था की डुबकी लगा चुके थे। भीड़ को नियंत्रित करने के लिये सुरक्षा बलों के साथ स्वयं सेवक भी लगाए गए है। बाहर के जिलों से आने वाले वाहनो का प्रवेश शहर में प्रतिबंधित कर दिया गया है। सरकारी बसों और अन्य निजी वाहनो के लिये शहर के बाहरी छोरों पर अस्थायी पार्किंग की व्यवस्था की गयी है जबकि वहां से सिविल लाइंस तक के लिये कुंभ शटल में मुफ्त यात्रा का इंतजाम किया गया है। सिविल लाइंस से संगम तक जाने के लिये केवल पैदल लोगों को इजाजत दी जा रही है।

सुरक्षा की दृष्टि से मेला परिसर में करीब 400 सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं जबकि 96 फायर वाच टावर में तैनात जवान भीड़ को नियंत्रित करने के साथ साथ अवांछनीय तत्वों पर पैनी नजर बनाये हुये हैं। मेला क्षेत्र को 10 जोन में बांट कर सुरक्षा बलों की 37 कंपनियां तैनात की गयी है। अप्रिय स्थिति से निपटने के लिये इसके अलावा 10 कंपनी एनडीआरएफ की तैनाती की गई है।

बड़ी संख्या में लोगों को रात खुले आसमान के नीचे सोकर गुजारनी पड़ रही है। बिहार, मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र समेत सभी राज्यों से आस्थावानों के आने का सिलसिला लगातार बना हुआ है। ग्रामीण इलाके से आने वाले लोगों की संख्या अधिक है। कुंभ के आकर्षण ने हजारों की संख्या में अमेरिका, आस्ट्रेलिया, रूस, फ्रांस और कनाडा समेत अन्य देशों के सैलानियों को भी डेरा डालने पर मजबूर कर दिया है। भारी भीड़ को देखते हुए बाहर से आने वाले वाहनों को शहरी सीमा के बाहर फाफामऊ, नैनी, झूंसी और सुलेमसराय आदि इलाकों में बनी पार्किंग में ही रोक दिया जा रहा है। कुंभ मेला के बसंत पंचमी स्नान पर्व के अवसर पर तीसरे और अंतिम शाही स्नान के बाद धीरे-धीरे मेला की चमक फीकी पड़ने लगेगी। इसके बाद 19 फरवरी को माघी पूर्णिमा और मेला का अंतिम स्नान चार मार्च महाशिवरात्रि पर होगा। सुरक्षा व्यवस्था अखिरी स्नान तक बनी रहेगी।

अमित शाह बोले, अयोध्या में विवादित स्थल पर जल्द ही राम मंदिर बनेगा

Amit Shah Boley, Ram temple will soon be formed at the disputed site in Ayodhya

पुणे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि भाजपा अयोध्या में विवादित स्थल पर जल्द ही राम मंदिर के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है। शाह ने कहा कि उनकी पार्टी किसी भी परिस्थिति में अपना रूख नहीं बदलेगी। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के निर्माण में सबसे बड़ा रोडा कांग्रेस है लेकिन पार्टी जल्द ही राम मंदिर बनाने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि बारामती क्षेत्र राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा) का गढ माना जाता है लेकिन इस बार लोकसभा के चुनाव में बारामती में भी भाजपा की विजय होगी। कांग्रेस जनता को बहुत समय से मूर्ख बना रही है और इसके लिए राकांपा अध्यक्ष शरद पवार भी जिम्मेदार हैं क्योंकि वह कांग्रेस के साथ खड़े हैं। शाह ने केन्द्र में पूर्ण बहुमत के साथ अगली सरकार बनाने का दावा किया।

उन्होंने महाराष्ट्र सरकार के काम की भी सराहना की और युवाओं और देश के विकास के लिए केन्द्र सरकार की नीतियों पर भी प्रकाश डाला। शाह ने कहा कि आतंकवादी भारतीय सीमा में घुसने और निर्दोष जवानों को मारने के पीेछे कांग्रेस सरकार की विफलता थी लेकिन मोदी सरकार के समय जब शिविर में सोते समय कुछ सैनिकों को आतकंवादियों ने मारा तब हमारी सेना ने आतंकवादियों को करारा जवाब दिया और सीमा पार जाकर सर्जिकल स्ट्राइक भी की।

हम देश की सुरक्षा के लिए कोई समझौता नहीं करेंगे। शाह आज यहां गणेश काला क्रीडा मैदान में पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। शाह ने आरोप लगाया कि 15 वर्ष के शासन के दौरान कांग्रेस और राकांपा ने भ्रष्टाचार को बढ़ावा इसलिए जनता से अपील करता हूँ कि दोबारा गलती नहीं करें। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने पिछले पांच वर्ष में 40 लाख लोगों की पहचान की जो गैरकानूनी ढंग से देश में रह रहे हैं। देश में गैरकानूनी ढंग से रह रहे लोगों की शिनाख्त का काम जारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि यदि जनता चाहती है कि देश में और अधिक विकास हो तो भाजपा को सत्ता में बनाए रखें। उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से अपील की है कि हर घर में जाकर लोगों से मिलें और सरकार द्बारा जनता के हित के लिए चलायी जा रही योजनाओं को समझाए। महाराष्ट्र में किसानों की समस्या पर उन्होंने कहा कि वह राज्य के किसानों को हर मदद देने के लिए तैयार हैं। 

अबू धाबी ने हिंदी को अदालत की तीसरी आधिकारिक भाषा बनाया

Abu Dhabi made Hindi the third official language of the court

दुबई। अबू धाबी ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए अरबी और अंग्रेजी के बाद हिंदी को अपनी अदालतों में तीसरी आधिकारिक भाषा के रूप में शामिल कर लिया है। न्याय तक पहुंच बढ़ाने के लिहाज से यह कदम उठाया गया है।

अबू धाबी न्याय विभाग (एडीजेडी) ने शनिवार को कहा कि उसने श्रम मामलों में अरबी और अंग्रेजी के साथ हिंदी भाषा को शामिल करके अदालतों के समक्ष दावों के बयान के लिए भाषा के माध्यम का विस्तार कर दिया है। इसका मकसद हिंदी भाषी लोगों को मुकदमे की प्रक्रिया, उनके अधिकारों और कर्तव्यों के बारे में सीखने में मदद करना है।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, संयुक्त अरब अमीरात की आबादी का करीब दो तिहाई हिस्सा विदेशों के प्रवासी लोग हैं। संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय लोगों की संख्या 26 लाख है जो देश की कुल आबादी का 30 फीसदी है और यह देश का सबसे बड़ा प्रवासी समुदाय है। एडीजेडी के अवर सचिव युसूफ सईद अल अब्री ने कहा कि दावा शीट, शिकायतों और अनुरोधों के लिए बहुभाषा लागू करने का मकसद प्लान 2021 की तर्ज पर न्यायिक सेवाओं को बढ़ावा देना और मुकदमे की प्रक्रिया में पारदर्शिता बढ़ाना है।

इथोपिया हेलीकॉप्टर दुर्घटना में 3 मरे,10 घायल

Ethiopia helicopter crash kills 3, wounded 10अदिस अबाबा। संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन का हिस्सा इथोपियाई सेना का एक हेलीकाप्टर दक्षिण सूडान सीमा के पास स्थित विवादित इलाका अबेई के निकट शनिवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिसमें तीन लोग मारे गये और 10 अन्य घायल हो गये। 
संयुक्त राष्ट्र अंतरिम सुरक्षा बल (यूनीस्फा) ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया,“ यूथोपियाई सेना का हेलीकाप्टर, जिसपर कुल 23 लोग सवार थे, शनिवार को तड़के यूनीस्फा परिसर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिसमें चालक दल के तीन सदस्यों की मौत हो गयी। हादसे में 10 लोग गंभीर रूप से घायल हो गये जिनमें तीन की हालत नाजुक बनी हुई है।

अपने आधिकारिक फेसबुक साइट पर जारी वक्तव्य में यूनीस्फा ने बताया कि दुर्घटना के सही कारणों का पता नहीं चल सका है। यूनीस्फा के कार्यकारी प्रमुख एवं बल के कमांडर मेजर जनरल गेब्रे अधना वुल्डेज्गु ने कहा कि इस हादसे की जांच शुरू कर दी गई है। बयान में कहा गया, “एमआई-8 हेलीकॉप्टर इथोपिया के सैनिकों को कडुगली से अबेई की ओर जाने के लिए रुटीन अभियान पर था कि रास्ते में यह दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

यूनीस्फा की एकमात्र टुकड़ी देश में योगदान दे रही है। इथोपिया वर्तमान में अपने सैनिकों को कडुगली से अबेई के अलग-अलग स्थानों पर तैनात का रही है। संयुक्त राष्ट्र के मिशन को वर्ष 2011 में इस क्षेत्र में तैनात किया गया था। उस दौरान संसाधन संपन्न अबेई में हिंसक झड़पें हो रही थीं जबकि दक्षिण सूडान सूडान से अपनी स्वतंत्रता की आधिकारिक घोषणा करने वाला था। लगभग 4,500 इथोपियाई सैन्यकर्मी क्षेत्र में यूनीस्फा के शांति स्थापना प्रयासों में शामिल हैं। इस बीच, अबेई का इलाका सूडान और दक्षिण सूडान की ओर से घोषित विवादित इलाका है।

राजस्थान में गुर्जरों का आंदोलन तीसरे दिन भी जारी, दो रेलगाड़ियां रद्द, परीक्षाएं स्थगित

Movement reservation of Gujjars in Rajasthan

जयपुर। राजस्थान में गुर्जरों का आरक्षण के लिए आंदोलन रविवार को तीसरे दिन भी जारी है। गुर्जर नेता दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग पर पटरियों पर बैठे हैं जिससे कई प्रमुख ट्रेनों को रद्द कर दिया गया हैं या उनके मार्ग में बदलाव किया गया है। उल्लेखनीय है कि गुर्जर नेता पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर शुक्रवार की शाम को सवाईमाधोपुर के मलारना डूंगर में रेल पटरी पर बैठ गए थे।

आंदोलनकारियों और सरकारी प्रतिनिधिमंडल में शनिवार को हुई बातचीत बेनतीजा रही।  राज्य सरकार द्वारा गठित समिति के सदस्य पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह और भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी नीरज के पवन ने शनिवार को गुर्जर नेता किरोडी सिह बैंसला से बातचीत की लेकिन बैंसला अपनी मांग पर अडे रहे।

राजस्थान में गुर्जरों के आरक्षण आंदोलन का असर रविवार को भी रेल सेवाओं पर भी पड़ा। इसके चलते कम से कम दो ट्रेनों को रद्द किया गया और नौ ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे के प्रवक्ता ने बताया कि आंदोलन के कारण उदयपुर से हजरत निजामुद्दीन और हजरत निजामुद्दीन से उदयपुर के बीच चलने वाली रेलगाड़ी को रद्द कर दिया गया है।
वहीं इसी खंड में सात ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया है और दो ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया गया है। गुर्जर आंदोलन का असर पश्चिम मध्य रेलवे की कुछ सेवाओं पर भी देखा गया।

वहां कम से कम दो ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया है। उल्लेखनीय है कि गुर्जर पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर शुक्रवार शाम से सवाईमाधोपुर के मलारना डूंगर में रेल पटरी पर बैठे हैं। उत्तर-पश्चिम रेलवे ने शनिवार को भी तीन सवारी गाडियों को रद्द कर दिया और एक सवारी गाड़ी के मार्ग में परिवर्तन किया था।

राजस्थान में गुर्जर आरक्षण आंदोलन को देखते हुए अशोक गहलोत सरकार ने आज आयोजित होने वाली कृषि पर्यवेक्षक एवं आंगनबाड़ी सुपरवाइजर भर्ती परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। इन परीक्षाओं की तारीख अब बाद में घोषित की जाएगी। सरकार के इस निर्णय के कारण हजारों अभ्यर्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। इन परीक्षाओं के लिए हजारों परीक्षार्थी दो दिन पहले ही परीक्षा से संबंधित जिलों में पहुंच गए थे। अब सरकार के इस निर्णय के कारण उन्हें मानसिक और आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा।

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा कृषि पर्यवेक्षक सीधी भर्ती परीक्षा आज सुबह 11 से दोपहर एक बजे तक जयपुर एवं कोटा में होनी थी। वहीं पर्यवेक्षक (महिला) (आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कोटा) सीधी भर्ती परीक्षा दोपहर दो से शाम साढ़े पांच बजे तक अजमेर में आयोजित होनी थी। उल्लेखनीय है कि गुर्जर समाज सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्‍थानों में प्रवेश के लिए गुर्जर, रायका रेबारी, गडिया, लुहार, बंजारा और गड़रिया समाज के लोगों को पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहा है। वर्तमान में अन्‍य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के अतिरिक्‍त 50 प्रतिशत की कानूनी सीमा में गुर्जरों को अति पिछड़ा श्रेणी के तहत एक प्रतिशत आरक्षण अलग से मिल रहा है। 

न्यूजीलैंड की महिला टीम ने भारत को दो रन से हराया, 3-0 से क्लीनस्वीप किया

New Zealand women team beat India by two runs

हैमिल्टन। सोफी डिवाइन ने अर्धशतक जड़ने के बाद गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया जिससे न्यूजीलैंड की महिला क्रिकेट टीम ने तीसरे और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में भारतीय महिला टीम को दो रन से हराकर श्रृंखला में 3-0 से क्लीनस्वीप किया। सलामी बल्लेबाज डिवाइन ने 52 गेंद में आठ चौकों और दो छक्कों की मदद से 72 रन की पारी खेली जिससे न्यूजीलैंड ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 161 रन बनाए। कप्तान ऐमी सेटरथवेट ने 31 जबकि अनुभवी सलामी बल्लेबाज सूजी बेट्स ने 24 रन का योगदान दिया।

भारत की ओर से दीप्ति शर्मा ने 28 रन देकर दो विकेट चटकाए जबकि मानसी जोशी, राधा यादव, अरुंधति रेड्डी और पूनम यादव को एक-एक विकेट मिला। इसके जवाब में सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना के करियर की सर्वश्रेष्ठ 86 रन की पारी के बावजूद भारतीय महिला टीम चार विकेट पर 159 रन ही बना सकी। अंतिम ओवरों में अनुभवी मिताली राज (20 गेंद में नाबाद 24) और दीप्ति शर्मा (16 गेंद में नाबाद 21) भारत को जीत दिलाने में नाकाम रहीं।

डिवाइन न्यूजीलैंड की सबसे सफल गेंदबाज रही जिन्होंने चार ओवर में 21 रन देकर दो विकेट चटकाए। इससे पहले स्मृति के करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 83 रन था जो उन्होंने 17 नवंबर 2018 को आस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था। लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत को स्मृति ने एक बार फिर तूफानी शुरुआत दिलाई। स्मृति ने लिया ताहुहु पर चौके के साथ खाता खोला और फिर अन्ना पीटरसन की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा। स्मृति ने तीसरे ओवर में आफ स्पिनर लेग कास्पेरेक (37 रन पर एक विकेट) पर भी लगातार दो चौके मारे।

सलामी बल्लेबाज प्रिया पूनिया लगातार तीसरी पारी में नाकाम रही और सिर्फ एक रन बनाने के बाद कास्पेरेक की गेंद को आगे बढ़कर खेलने की कोशिश में चूक गई और विकेकीपर केटी मार्टिन ने उन्हें स्टंप करने में कोई गलती नहीं की। मौजूदा श्रृंखला में वह 04, 04 और 01 रन की पारियों से नौ रन ही जुटा पाई।

स्मृति को इसके बाद जेमिमा रोड्रिगेज (21) के रूप में उम्दा जोड़ीदार मिला। स्मृति ने पीटरसन पर लगातार दो चौकों के साथ छठे ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। स्मृति ने सोफी डिवाइन की गेंद पर एक रन के साथ 33 गेंद में श्रृंखला का अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया। जेमिता हालांकि इसी ओवर में मिडआन पर कप्तान ऐमी सेटरथवेट को कैच देकर पवेलियन लौट गई जिससे स्मृति के साथ उनकी 47 रन की साझेदारी का अंत हुआ। स्मृति ने हालांकि दूसरे छोर पर आक्रामक तेवर जारी रखे। उन्होंने 10वें ओवर में लेग स्पिनर एमेलिया केर (26 रन पर एक विकेट) पर तीन चौकों से 15 रन बटोरे।

भारत के रनों का शतक 12वें ओवर में पूरा हुआ लेकिन केर के इसी ओवर में कप्तान हरमनप्रीत तीन गेंद में दो रन बनाने के बाद पीटरसन को कैच दे बैठी। स्मृति को इसके बाद श्रृंखला में अपना पहला मैच खेल रही एकदिवसीय टीम की कप्तान अनुभवी मिताली राज का साथ मिला।

भारत को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 39 रन की दरकार थी। भारत की उम्मीदों को उस समय झटका लगा जब स्मृति ने डिवाइन की गेंद को बड़ा शाट खेलने की कोशिश में गेंद में हवा में लहरा दिया और ताहुहु ने इसे लपकने में कोई गलती नहीं की। दीप्ति ने केर पर छक्के के साथ गेंद और रनों के बीच के बढ़ते अंतर को कुछ कम किया।

कास्पेरेक के पारी 18वें ओवर में सिर्फ पांच रन बने जिससे भारत को अंतिम दो ओवर में जीत के लिए 23 रन की दरकार थी। डिवाइन के अगले ओवर में मिताली ने चौका जड़ा लेकिन इसके बावजूद इस ओवर में सिर्फ सात रन बने। भारत को अंतिम छह गेंदों पर 16 रन की जरूरत थी। मिताली और दीप्ति ने कास्पेरेक के ओवर में एक-एक चौका जड़ा लेकिन इसके बावजूद 13 रन ही बना सकीं।

जन धन खातों में कुल जमा 90,000 करोड़ रुपये के पार जाने को तैयार

gold and silver pricePrepare to cross Rs 90,000 crore in public funds accounts

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री जन धन खातों में कुल जमा राशि जल्द ही 90,000 करोड़ रुपए के पार जा सकती है। सरकार ने वित्तीय समावेश वाली इस योजना के तहत दुर्घटना बीमा कवर को दोगुना करके 2 लाख रुपए कर दिया है जिससे योजना अधिक आकर्षक हो गई है। वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार मार्च 2017 से जन धन खातों में जमा में तेजी आई है।

इन खातों में 30 जनवरी 2019 तक कुल जमा बढ़कर 89,257.57 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। जमा में वृद्धि जारी है। 23 जनवरी को कुल जमा 88,566.92 करोड़ रुपए थी। सभी परिवारों को बैंकिग सेवाओं से जोड़ने के उद्देश्य से केंद्र ने 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएमजेडीवाई) शुरुआत की थी। योजना की सफलता से उत्साहित सरकार ने 28 अगस्त 2018 के बाद खोले गए नए खातों के लिए दुर्घटना बीमा कवर को एक लाख रुपये से बढ़ाकर दो लाख रुपये कर दिया गया। ओवरड्राफ्ट की सीमा को दोगुना करके 10,000 रुपए कर दिया गया है। 

नए आंकड़ों के अनुसार प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत 34.14 करोड़ खाते खोले गए हैं। इन खातों में औसत जमा बढ़कर 2,615 रुपए हो गई, जो कि 25 मार्च 2015 को 1,065 रुपए पर था। इन खातों में 53 प्रतिशत खाते महिलाओं के हैं, जिसमें से 59 प्रतिशत खाते ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्र से है। आंकड़ों के अनुसार 27.26 करोड़ खाताधारकों को दुर्घटना बीमा कवर के साथ रुपे डेबिट कार्ड जारी किए गए हैं।

'ऑस्कर लाइब्रेरी' में शामिल होगी फिल्म 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’

Sonam Kapoor's Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga film

मुम्बई। अदाकारा सोनम कूपर की फिल्म 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ को 'एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स आर्टस एंड साइंस’ (एएमपीएएस) की ऑस्कर लाइब्रेरी में शामिल किया जाएगा। सोनम कूपर ने शनिवार को कहा कि वह इस खबर से काफी खुश हूं।

अदाकारा की यह फिल्म समलैंगिक संबंधों की एक प्रेम कहानी है, जिसमें समाज और परिवार के मोर्चे पर उनके समक्ष आने वाली परेशानियों को दिखाया गया है। खबरों के अनुसार एएमपीएएस ने फिल्म निर्माताओं से फिल्म की पटकथा की एक प्रति मांगी है ताकि उस अपने स्थायी संग्रह में शामिल कर सकें।

 सोनम ने कहा कि 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ मेरे लिए एक खास फिल्म है। उन्होंने कहा कि ''मेरे पिता के साथ यह मेरी पहली फिल्म थी और दूसरा इसमें एक ऐसा महत्वपूर्ण संदेश दिया गया जिसकी जरूरत भी थी..। मैं काफी खुश हूं कि इसे 'ऑस्कर लाइब्रेरी’ में रखने के लिए चुना गया है। फिल्म को दर्शकों से मिल रहे प्यार से भी में काफी खुश हूं। अनिल कपूर, जूही चावला और राज कुमार राव अभिनित यह फिल्म अभी तक 20 करोड़ रुपए की कमाई कर चुकी है।

निराश होकर रणवीर सिंह ने कर लिया था एक्टिंग छोड़ने का फैसला

Disappointed Ranvir Singh had decided to quit acting

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह ने एक समय निराश होकर एक्टिंग छोड़ने का फैसला कर लिया था। रणवीर सिंह ने वर्ष 2010 में फिल्म'बैंड बाजा बारात’से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। रणवीर अब बॉलीवुड में अपनी खास पहचान बना चुके हैं। एक समय रणवीर सिह ने निराश होकर एक्टिंग छोड़ने का फैसला किया था।

रणवीर सिंह ने कहा है कि उन्हें लग रहा था कि वह फिल्मी दुनिया में अपनी जगह नहीं बना सकते हैं क्योंकि उनकी किसी फिल्मी हस्ती से जान-पहचान नहीं थी। रणवीर ने कहा कि वे मेरा अपना स्ट्रगल पीरियड था। जब मैं 10वीं क्लास में था तो मुझे लगा कि मैं मेनस्ट्रीम एक्टिंग में नहीं आ सकता हूं क्योंकि मैं किसी बड़ी फिल्मी हस्ती से ताल्लुक नहीं रखता हूं।

रणवीर सिंह एक टीवी शो में अपने करियर के शुरुआती दिनों की बात कर रहे थे। रणवीर ने बताया कि उन्होंने सोचा कि कुछ ऐसा किया जाय जो उनके बस का हो। इसलिए उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ अमेरीका में आगे की पढ़ाई करने का फैसला किया।

हालांकि, वहां रजिस्ट्रेशन बंद हो चुके थे और रणवीर को पता चला कि वहां सिर्फ एक्टिंग क्लास में स्लॉट खाली था। इसलिए उन्होंने वहां ऐडमिशन ले लिया। रणवीर ने आगे कहा कि उन्हें पहले दिन ही परफॉर्म करने के लिए कहा गया। सभी को उनकी परफॉर्मेंस पसंद आई। तब उन्हें पता चला कि वह अच्छे परफॉर्मर हैं।

होंडा ने भारत में ब्रियो का उत्पादन बंद किया

Honda closes production of Brio in India

नई दिल्ली। जापान की कार निर्माता होंडा ने भारत में अपनी हैचबैक कार ब्रियो का उत्पादन बंद कर दिया है। होंडा ने करीब 17 साल पहले इस मॉडल को भारतीय बाजार में उतारा था।होंडा की पूर्ण स्वामित्व वाली होंडा कार्स इंडिया की योजना अब कंपनी कॉम्पैक्ट सेडान अमेज की बिक्री को बढ़ाना है।

अमेज अब भारतीय बाजार में कंपनी की सबसे कम कीमत की कार होगी। होंडा कार्स इंडिया के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और निदेशक (बिक्री और विपणन) राजेश गोयल ने पीटीआई-भाषा को बताया कि हमारी शुरुआती कीमत वाली कार अब अमेज है। हमने ब्रियो को उत्पादन बंद कर दिया है और फिलहाल भारत में ब्रियो का अगला संस्करण लाने की हमारी कोई योजना नहीं है।

ग्राहक अब ज्यादा बड़े मॉडलों में दिलचस्पी दिखा रहे हैं और अन्य वैश्विक बाजारों में भी यह चलन देखने को मिल रहा है। गोयल ने कहा कि पिछले साल भारत में सेडान की बिक्री सर्वाधिक रही। यह हर देश में वाहन क्षेत्र में चलने वाला चक्र है और यह भारत में भी देखने को मिल रहा है। हालांकि यहां ज्यादा उन्नत मॉडल को अपनाने की गति बहुत धीमी है।”

उन्होंने कहा कि सैद्धांतिक रूप से भारत में ऐसा छह-सात साल पहले होना जाना चाहिए था। गोयल ने एक सवाल के जवाब में कहा कि अमेज भारतीय बाजार में हमारी शुरुआती कीमत की कार होगी। उन्होंने कहा कि जैज और डब्ल्यूआर-वी दो अन्य मॉडल हैं, जो छोटे कार की जरूरतों को पूरा करेंगे। होंडा ने सितंबर, 2001 में ब्रियो को भारतीय बाजार में उतारा था और अब तक 97,000 कारों की बिक्री कर चुका है। कंपनी ने 2017 में अपने बहुद्देशीय वाहन मोबिलियो की बिक्री बंद कर दी थी। होंडा ने कम मांग के कारण यह कदम उठाया था।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.