सालाना करार से बीसीसीआई ने धोनी को किया बाहर, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से विराम के कयास

Samachar Jagat | Thursday, 16 Jan 2020 09:40:14 PM
1082256000901178

महेंद्र सिंह धोनी के दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से पूरे हो गए हैं. गुरुवार को यह खबर सुर्खियों में रही. सोशल मीडिया में भी हैशटैग के साथ धोनी ट्रेंड हुए. ट्विटर पर तो वे टाप पर ट्रेंड करते रहे. दरअसल भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) ने भारतीय क्र‍िकेटरों के सालाना करार की घोषणा गुरुवार को की तो उस सूची में महेंद्र सिंह धोनी का नाम नहीं है. बस इसी के बाद कयास लगने लगे. धोनी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से विदाई की बात होने लगी.



loading...

बीसीसीआई ने अक्टूबर, 2019 से सितंबर, 2020 तक के लिए घोषित कांट्रेक्‍ट में विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह को ग्रेड ए+ में रखा है. इनके अलावा रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, चेतेश्वर पुजारा, लोकेश राहुल, अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन, ईशांत शर्मा, कुलदीप यादव और ऋषभ पंत को ग्रेड ए में रखा गया है. लेकिन भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान एमएस धोनी को किसी ग्रेड में स्‍थान नहीं मिला है. इसके यह कयास लगाए जा रहे हैं कि एमएस धोनी अब बीसीसीआई की प्‍लानिंग का हिस्‍सा नहीं हैं और बोर्ड अब उनसे आगे देखते हुए नए विकेटकीपर पर दांव लगाने का मूड बना चुका है.

धोनी ने पिछले साल हुए विश्व कप के बाद से ही एक भी अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला है. बीसीसीआई के सालाना अनुबंध में हिस्‍सा नहीं मिलने के बाद उनके भविष्‍य को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है. हालांकि धोनी इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स की टीम का नेतृत्‍व करेंगे. भारतीय टीम के कैप्टन कूल कहे जाने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पिछले साल तक कॉन्ट्रैक्ट के ग्रेड 'ए' में शामिल थे.

वैसे कुछ दिन पहले ही भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री ने यह कहा था कि एमएस धोनी जल्द ही वनडे से संन्यास का एलान कर सकते हैं और अब लग रहा है कि यह घोषणा कभी भी हो सकती है. आखिरी बार धोनी भारत के लिए पिछले साल जुलाई में इंग्लैंड में हुए विश्व कप में खेले थे. उसके बाद उनके संन्यास और भविष्य को लेकर अटकलों का दौर लगातार जारी है. वार्षिक कॉन्ट्रैक्ट में ऋद्धिमान साहा, उमेश यादव, युजवेंद्र चहल, हार्दिक पंड्या, मयंक अग्रवाल को ग्रेड 'बी' में रखा गया है जबकि केदार जाधव, नवदीप सैनी, दीपक चाहर, मनीष पांडे, हनुमा विहारी, शारदुल ठाकुर, श्रेयस अय्यर और वॉशिंगटन सुंदर को ग्रेड 'सी' में रखा गया है.

गुरुवार को बीसीसीआई ने जिन 27 खिलाड़ियों को वार्षिक कॉन्ट्रैक्ट में शामिल किया है, उनमें पांच खिलाड़ियों - मयंक अग्रवाल (ग्रेड 'बी'), नवदीप सैनी (ग्रेड 'सी'), श्रेयस अय्यर (ग्रेड 'सी'), वॉशिंगटन सुंदर (ग्रेड 'सी') और दीपक चाहर (ग्रेड 'सी') - को पहली बार कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है. बीसीसीआई ग्रेड 'ए+' में शामिल खिलाड़ियों को सात करोड़ रुपए वार्षिक वेतन देता है. भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड ग्रेड 'ए' के खिलाड़ियों को पांच करोड़ रुपए वार्षिक देता है. ग्रेड 'बी' में शामिल क्रिकेटरों को तीन करोड़ रुपए वार्षिक वेतन के रूप में दिए जाते हैं, और ग्रेड 'सी' के खिलाड़ियों को एक करोड़ रुपए वार्षिक वेतन मिलता है. (क्रिकेट पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).


loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.