11 जुलाई: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Wednesday, 11 Jul 2018 04:14:52 PM
11 july latest top ten news-

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

शेयर बाजारों में लगातार चौथे दिन बढ़त, टीसीएस की लंबी छलांग

Sensex closed with gains for the fourth consecutive day in the stock market

मुंबई। शेयर बाजारों में आज लगातार चौथे कारोबारी सत्र में तेजी का सिलसिला कायम रहा। टाटा कंसल्टेंसी सॢवसेज (टीसीएस) के उम्मीद से बेहतर तिमाही नतीजों से आईटी कंपनियों के शेयर मांग में रहे, जिससे बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 26 अंक चढ़कर 36,265.93 अंक पर पहुंच गया।

टीसीएस का शेयर 5.47 प्रतिशत की बढ़त के साथ अपने सर्वकालिक उच्चस्तर 1,979.60 रुपये पर पहुंच गया। टीसीएस का जून तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 23.4 प्रतिशत बढ़ा है। देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर निर्यातक के नतीजे कल आए थे। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स मजबूती के रुख से खुलने के बाद 36,362.30 अंक के उच्चस्तर तक गया। हालांकि, मुनाफावसूली का सिलसिला चलने से यह 36,169.70 अंक के स्तर तक नीचे आया। अंत में सेंसेक्स 26.31 अंक या 0.07 प्रतिशत के नुकसान से 36,265.93 अंक पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 1.05 अंक या 0.01 प्रतिशत के लाभ से 10,948.30 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 10,976.65 से 10,923 अंक के दायरे में रहा। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कल शुद्ध रूप से 293.96 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। वहीं विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 20.73 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।

अमेरिका-चीन विवाद गहराने से विदेशी शेयर बाजार धराशायी

चीन के 200 अरब डॉलर के उत्पादों पर आयात शुल्क लगाने की अमेरिका की नयी धमकी से अंतरराष्ट्रीय पटल पर एक बार फिर उथलपुथल मच गई है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अनिश्चित नीतियों से निवेशकों का भरोसा डगमगाने लगा है जिससे यूरोपीय बाजारों के साथ अधिकतर एशियाई बाजार भी आज धराशायी हो गये।

निवेशक विश्व की दो आर्थिक महाशक्तियों के बीच जारी इस लड़ाई से चिंतित हैं और उन्हें आशंका है कि इससे वैश्विक विकास अवरुद्ध होगा और कारोबारी धारणा कमजोर पड़ेगी। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट 1.83,मलेशिया का बुरसा मलेशिया 0.06, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.59, जापान का निक्की 1.19 और हांगहांग का हैंगशैंग 1.53 प्रतिशत की गिरावट में बंद हुआ। यूरोपीय बाजार भी लाल निशान में रहें। ब्रिटेन का एफटीएसई 1.47, जर्मनी का डैक्स 1.02 प्रतिशत की गिरावट में रहा। स्विट्जररलैंड का शेयर बाजार भी 1.05 और स्पेन का 1.13 प्रतिशत की गिरावट में रहा।- एजेंसी

अमेरिका-चीन के बीच व्यापार युद्ध हुआ गहरा, अमेरिका ने चीन से 200 अरब डॉलर की वस्तुओं पर 10 प्रतिशत आयात शुल्क और लगाया

US imports 10 percent import duty on China's $ 200 billion goods

वाशिंगटन। विश्व की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध गहराता जा रहा है। अमेरिका ने बुधवार को चीन से आयातित 200 अरब डॉलर की वस्तुओं पर अलग से 10 प्रतिशत शुल्क लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी। इससे पहले वह चीन से आयातित 34 अरब डॉलर की वस्तुओं पर 25 प्रतिशत शुल्क लगा चुका है। अमेरिका ने यह कदम चीन की उस जवाबी कार्रवाई के बाद उठाया है जिसमें उसने अमेरिका से चीन को निर्यात किए जाने वाले 34 अरब डॉलर के सामान पर शुल्क लगाया था , इसके अलावा 16 अरब डॉलर के अतिरिक्त अमेरिकी सामान पर शुल्क लगाने की धमकी दी थी।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सरकार ने इसे ‘ अन्यायपूर्ण ’ बताया था। उल्लेखनीय है कि चीन की ‘ अनुचित ’ व्यापार नीतियों के जवाब में अमेरिका ने छह जुलाई से 34 अरब डॉलर के चीनी सामान के आयात पर 25 प्रतिशत का शुल्क लगाया था। अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि (यूएसटीआर) रॉबर्ट लाइटाइजर ने कहा कि वैधानिक प्रक्रिया समाप्त होने तक इस शुल्क के दायरे में 50 अरब डॉलर की चीनी वस्तुएं आ जाएंगी।

इस शुल्क के दायरे में ऐसे चीनी उत्पाद रखे गए हैं जिन्हें चीन की औद्योगिक नीति और तकनीकी हस्तांतरण प्रक्रियाओं को लाभ मिला है।  इसके बाद जवाबी कार्रवाई में चीन ने भी अमेरिका से आयात किए जाने वाले 34 अरब डॉलर के सामान पर शुल्क लगाया और 16 अरब डॉलर के सामान पर और शुल्क लगाने की धमकी दी। इस पर लाइटाइजर ने कहा कि ऐसा बिना किसी अंतरराष्ट्री य कानूनी आधार और अधिकार के किया गया है। उन्होंने कहा कि चीन की इस जवाबी प्रक्रिया और अपनी प्रक्रियाओं में बदलाव लाने में विफल रहने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने यूएसटीआर को 200 अरब डॉलर के अतिरिक्त चीनी सामान आयात पर 10 प्रतिशत शुल्क लगाने की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया। 

सेरेना और कर्बर सेमीफाइनल में, नडाल से भिड़ेंगे डेल पोत्रो

Serena and Kerber in the semifinals, Del Potro will face Nadal

लंदन। दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी सेरेना विलियम्स ने पहला सेट गंवाने के बाद जोरदार वापसी करते हुए मंगलवार को यहां इटली की कैमिला जियार्जी को हराकर विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट के महिला एकल सेमीफाइनल में जगह बनाई जबकि अनुभवी एंजेलिक कर्बर भी अंतिम 4 में प्रवेश करने में सफल रही। येलेना ओस्टापेंको विंबलडन के सेमीफाइनल में  पहुंचने वाली लातविया की पहली खिलाड़ी बनी जबकि जर्मनी की 36 वर्ष की जूलिया जार्जेस भी अंतिम 4 में पहुंची। इस बीच पुरूष वर्ग में जुआन माॢटन डेल पोत्रो ने भी जाइल्स सिमोन के खिलाफ दो दिन तक चला मुकाबला जीतकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

उनका सामना अब राफेल नडाल से होगा। सात बार की चैंपियन सेरेना ने पहला सेट गंवाने के बाद कैमिला को 3-6, 6-3, 6-4 से हराकर 11वीं बार आल इंग्लैंड में सेमीफाइनल का सफर तय किया। सेरेना पर क्वार्टर फाइनल से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा था जब दुनिया की 52वें नंबर की खिलाड़ी कैमिला इस साल विंबडलन में इस अमेरिकी खिलाड़ी से सेट जीतने वाली पहली खिलाड़ी बनी। दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी ने हालांकि अगले दो सेट जीतकर ग्रास कोर्ट के मुख्य ड्रा में करियर की 100वीं जीत दर्ज की। शनिवार को होने वाले फाइनल में जगह बनाने के लिए अब सेरेना का सामना जर्मनी की जूलिया से होगा जिनके खिलाफ उन्होंने अपने तीनों मैचों मे जीत दर्ज की है। जूलिया ने नीदरलैंड की 20वीं वरीय किकी बर्टन्स को 3-6, 7-5, 6-1 से हराकर पहली बार विंबलडन सेमीफाइनल में जगह बनाई।

इस साल से पहले जूलिया को आल इंग्लैंड क्लब पर लगातार पांच मैचों में पहले दौर में हार झेलनी पड़ी थी। एक अन्य सेमीफाइनल में ओस्टापेंको का सामना कर्बर से होगा। चार साल पहले जूनियर विंबलडन का खिताब जीतने वाली ओस्टापेंको ने स्लोवाकिया की डोमिनिका सिबुलकोवा को सीधे सेटों में 7-5, 6-4 से हराया। पूर्व फ्रेंच ओपन चैंपियन ओस्टापेंको ने अपने पहले पांच मैचों में सेट नहीं गंवाया था।\ उन्हें हालांकि विश्व में 33 वें नंबर की सिबुलकोवा के खिलाफ शुरू में जूझना पड़ा लेकिन जल्द ही उन्होंने लय हासिल कर ली। कर्बर ने एक अन्य क्वार्टर फाइनल में रूस की 14वीं वरीय डारिया कास्टाकिना को 6-3, 7-5 से पराजित किया। वह तीसरी बार विंबलडन के सेमीफाइनल में पहुंची हैं।

उधर पुरूष वर्ग में डेल पोत्रो की जीत से क्वार्टर फाइनल की लाइनअप भी तय हो गयी। डेल पोत्रो ने फ्रांस के सिमोन को 7-6 (7/1), 7-6 (7/5), 5-7, 7-6 (7/5) से हराया। यह मैच सोमवार को अधिक रात होने के कारण नहीं खेला जा सका था। तब अर्जेंटीनी खिलाड़ी 2-1 से आगे चल रहा था। डेल पोत्रो ने कोर्ट 2 पर लगभग साढ़े चार घंटे बिताने के बाद पांचवें मैच प्वाइंट पर जीत दर्ज की। अब उन्हें विश्व के नंबर एक नडाल का सामना करना है।

इन दोनों के बीच खेले गये 15 मैचों में नडाल ने दस और डेल पोत्रो ने पांच मैच जीते हैं। पुरूष वर्ग में क्वार्टर फाइनल के अन्य मैचों में शीर्ष वरीयता प्राप्त रोजर फेडरर का सामना दक्षिण अफ्रीका के आठवें वरीय केविन एंडरसन से, अमेरिका के नौवें वरीय जॉन इसनर का कनाडा के 13 वें वरीय मिलोस राओनिक से और सर्बिया के 12वें वरीय नोवाक जोकोविच का जापान के 24वें वरीय केई निशिकोरी से मुकाबला होगा। 

BJP को रोकने के नाम पर वोट लेकर उसकी के साथ सरकार बनाकर नीतीश ने जनता को धोखा दिया: ओवैसी

Nitish tricked public by making a government with him by taking a vote on name of BJP to stop him: Owaisi

किशनगंज। एआईएमआईएम प्रमुख असददुद्दीन ओवैसी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर मंगलवार को आरोप लगाया कि उन्होंने पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को रोकने के नाम पर वोट लेने के बाद उसी के साथ सरकार बनाकर राज्य की जनता के धोखा किया है।

2019 लोकसभा चुनाव की तैयारी को लेकर किशनगंज जिले के ठाकुरगंज प्रखंड पहुंचे ओवैसी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान एआईएमआईएम को नीतीश ने ‘वोट कटवा‘ पार्टी बताया था और आज उनकी पार्टी खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गोद में बैठ गई है।

महागठबंधन में शामिल जदयू ने बीजेपी को रोकने के लिए लोगों से वोट लिया था लेकिन अब लोगों को धोखा देकर भाजपा से मिलकर सरकार बना लिया। उल्लेखनीय है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में अकेले दम पर चुनाव लडक़र हारने के बाद जदयू 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन में शामिल हो गयी। उसने राजद और कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा और सफलता हासिल की। लेकिन बाद में नीतीश ने महागठबंधन से नाता तोडक़र बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ली।

ओवैसी ने आगामी 2019 लोकसभा चुनाव में अख्तरुल ईमान को किशनगंज से एआईएमआईएम उम्मीदवार बनाए जाने की घोषणा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव में बिहार के अन्य हिस्सों में भी अपने प्रत्याशी उतारेगी। महागठबंधन में शामिल राजद और कांग्रेस के बारे में सवाल करने पर ओवैसी ने आरोप लगाया कि दोनों दल वर्षों से सीमांचल (मुस्लिम बहुल इलाका) के लोगों को ठगा रहे हैं।

शरिया कोर्ट को लेकर उठाए जा रहे सवालों पर ओवैसी ने कहा कि 25 साल से देश के कई राज्यों में शरिया कोर्ट मौजूद हैं जहंा काजी नियुक्त हैं और वहंा लोगों को न्याय मिलता है। अगर दोनों पक्ष में से किसी को शरिया कोर्ट के फैसले पर आपत्ति हो तो उनके लिए देश की अदालतें खुली हुई हैं। उनके शरण में जाकर न्याय प्राप्त किया जा सकता है।

‘जल समाधि’ को परास्त कर सुरक्षित निकले 12 थाई फुटबालर और कोच

12 Thai footballer and coach who got safe after defeating Water Samadhi

मे साई (थाईलैंड)। थाईलैंड में संकरी गुफा में एक पखवाड़े से अधिक समय तक ‘जल समाधि’ की विभीषिका को परास्त कर मंगलवार को 12 किशोर फुटबाल खिलाडिय़ों और उनके प्रशिक्षक को अंतत: सुरक्षित निकाल लिया गया। थाई नेवी सील ने इसकी घोषणा की है। इसी के साथ गत एक पखवाड़े से अधिक समय से इस घटना में तमाम विपरीत परिस्थितियों के बीच जो बचाव अभियान चल रहा था, वे सफलतापूर्व सम्पन्न हो गया और दुनियाभर के लोगों ने राहत की सांस ली।

यह बचाव अभियान विश्व भर की सुर्खियों में आ गया था। सील ने एक $फेसबुक पोस्ट में बताया कि सभी 12 ‘वाइल्ड बोर्स’ और प्रशिक्षक को गुफा से निकाल लिया गया है। इसमें यह भी कहा गया कि सभी सुरक्षित हैं। वाइल्ड बोर्स इन फुटबाल खिलाडिय़ों की टीम का नाम है। थाई सील एवं विदेशी गोताखोरों ने गुफा में शेष बचे 4 लडक़ों और उनके 25 वर्षीय प्रशिक्षक को मंगलवार अपराह्न में निकाल पाने में सफलता हासिल की।

इन लोगों को बेहद खतरनाक रास्ते से निकाला गया जिसमें पानी से भरी संकरी सुरंग शामिल हैं। निकाले गए किशोरों की उम्र 11 से 16 वर्ष के बीच है। ये किशोर फुटबाल का अभ्यास करने के बाद 23 जून को उत्तरी थाईलैंड के पर्वतीय क्षेत्र में स्थित थाम लुआंग गुफा में चले गए थे। गुफा में अंदर जाने के बाद भारी बारिश होने से बाढ़ का पानी गुफा के भीतर घुस गया और गुफा से निकलने का रास्ता कीचड़ और फिसलन भरा होने के कारण बहुत खतरनाक हो गया।

बचाव दल के प्रमुख नारोंगसाक ओसोतानाकोर्न ने बताया कि एक चिकित्सक तथा तीन थाई नौसेना के गोताखोर भी बाद में गुफा से निकल आए। ये चारों गुफा से सबसे बाद में बाहर आए। इन लोगों ने नौ अंधकारमय दिन गुफा में बिताए। इसके बाद 2 ब्रिटिश गोताखोर इन तक पहुंचने में कामयाब हुए। किशोर कमजोर होने के बावजूद काफी उत्साहित नजर आ रहे थे। इन किशोरों में से अधिकतर को तैरना नहीं आता था और किसी के पास गोताखोरी का अनुभव नहीं था।

लिहाजा बचावकर्ताओं ने उन्हें मास्क पहनना और आक्सीजन सिलेंडर की मदद से पानी के भीतर सांस लेने का प्रशिक्षण दिया। इन लोगों को पानी भरी गुफा में ढूंढ लेने की प्रसन्नता अधिक समय तक नहीं टिक सकी क्योंकि अधिकारियों को इन्हें भीतर से सुरक्षित निकालने की योजना को तैयार करने में बहुत माथा पच्ची करनी पड़ी। इसका कारण था कि उन्हें गुफा के भीतर 4 किलोमीटर से अधिक जाना था और कुछ सुरंगें तो बेहद संकरी थीं।

थाई नेवी सील के एक पूर्व गोताखोर की गुफा में आक्सीजन की कमी के चलते शुक्रवार को हुई मौत की वजह से बचाव मार्ग के खतरों को लेकर आशंकाएं बहुत बढ़ गई थीं। थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान ओ चा ने मंगलवार को  खुलासा किया कि इन किशोरों को कुछ दवा दी गयी ताकि वे शांत रह सकें।

उन्होंने कहा,‘यह मामूली बेहोशी वाली दवा थी ताकि उन्हें उद्विग्नता से बचाया जा सके। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे पहली ऐसी विश्व नेता हैं जिन्होंने इन किशोरों को बचाने में मिली सफलता पर प्रसन्नता जताई तथा उन गोताखोरों के जज्बे को सलाम किया जिन्होंने अपनी जान को जोखिम में डालकर इन किशोरों को बचाया। मे ने ट्वीट कर कहा कि थाईलैंड में गुफा में फंसे हुए लोगों का सफलतापूर्वक बचाव किए जाने की वजह से प्रसन्न हूं।

विश्व देख रहा था और  इसमें शाामिल सभी लोगों को वह सलाम कर रहा है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि थााईलैंड में खतरनाक गुफा से 12 किशोरों और उनके प्रशिक्षक को सफलतापूर्वक बचाने के लिए अमेरिका की तरफ से थाई नेवी सील और सभी को बधाई। इंग्लैंड के फुटबाल क्लब मैनचेस्टर यूनाटेड ने ‘वाइल्ड बोर्स’ तथा बचाव अभियान में शामिल सभी लोगों को इंग्लैंड आने और क्लब का दौरा करने करने का न्योता दिया।

क्लब ने ट्वीट कर कहा कि कितना खूबसूरत क्षण..सभी बच गए। महान कार्य। अब जबकि सभी लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है, इस विभीषिका से गुजरने वाले लोगों के शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य को लेकर चिंता जताई जा रही है। विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि दूषित पानी अथवा पक्षियों या चमगादड़ों के मल से संक्रमित होने वाले पानी के कारण फंसे रहे लोगों को खतरनाक संक्रमण हो सकता है। इस समूह को बचाने के लिए गए चार गोताखोर अभी गुफा से बाहर नहीं आए हैं।

अमेरिकियों की तुलना में दिल्लीवासी पांच गुना अधिक ब्लैक कार्बन की जद में

Compared to the Americans Delhi's five times more Black Carbon Jad

लंदन। एक नए शोध में पता चला है कि दिल्ली में कार से यात्रा करने वाले यूरोप और अमेरिका की तुलना में पांच गुना अधिक ब्लैक कार्बन की जद में आते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार एशिया में कम आय तथा मध्य आय वाले देशों में समय पूर्व मौतों के 88 प्रतिशत मामलों के लिए वायु प्रदूषण को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।

इसमें कहा गया है कि बीजिग में वर्ष 2000 में वाहनों की संख्या 15 लाख थी जो 2014 में बढ़ कर 50 लाख से अधिक हो गई वहीं दिल्ली में 2010 में वाहनों की संख्या 47 लाख थी जिसके 2030 में दो करोड़ 56 लाख पर पहुंचने का अनुमान है।एटमॉस्फियरिक इन्वायरमेंट जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक शोधकर्ताओं ने एशियाई परिवहन माध्यमों (पैदल चलने , कार चलाने , मोटसाइकिल चलाने तथा बस में यात्रा) में सघनता के स्तरों तथा प्रदूषण के खतरे का अध्ययन किया।

इस अध्ययन में सामने आया कि एशियाई देशों में भीड़ भाड़ वाली सड़कों पर पैदल चलने वाले लोग यूरोप और अमेरिकी देशों के लोगों की तुलना में 1.6 गुना अधिक महीन कणों की जद में होते हैं। वहीं एशिया में कार चलाने वाले यूरोप और अमेरिका के लोगों की तुलना में नौ गुना अधिक प्रदूषण की जद में होते हैं।

सूर्रे विश्विद्यालय के ग्लोबल सेंटर फॉर क्लीन एयर रिसर्च के निदेशक प्रशांत कुमार ने कहा कि शोध के क्षेत्र में खतरे के जद में आने की उपलब्ध सूचनाओं के बीच तुलना करने में सावधानी बरतनी पड़ेगी क्योंकि विभिन्न अध्ययनों से अलग अलग सूचनाएं सामने आई हैं। एजेंसी

'संजू' को मिली सफलता के बाद रणबीर कपूर की खुली किस्मत, हिरानी के साथ 5 फिल्मों में करेगें साथ काम!

After the success of Sanju, Ranbir Kapoor's open fate, along with Hirani, will work in 5 films.

मुंबई। बॉलीवुड के जाने माने निर्देशक राज कुमार हिरानी ने अभिनेता रणबीर कपूर  को लेकर सुपरहिट फिल्म संजू बनाई है। जिसकी कमाई बॉक्स ऑफिस पर लगातार जारी हैं। फिल्म ने इस साल रिलीज हुई कई बड़ी फिल्मों के रिकॉर्ड तो तोड़े है ही साथ ही इस फिल्म ने साल की सबसे बड़ी फिल्म का दर्जा भी पाया हैं। जल्द ही ये फिल्म 300 करोड़ के क्लब में शामिल हो जाएगी। फिल्म को मिली शानदार प्रतिक्रिया ने निर्माता, निर्देशक के साथ ही कलाकारों को फिर से चर्चाओं में ला दिया हैं। 

बता दें कि रणबीर कपूर के करियर में ये सही वक्त था संजू जैसी फिल्म का आना। बताते चलें कि रणबीर कपूर पिछले काफी समय से बॉलीवुड में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे। जिसकी वजह से उनका करियर का ग्राफ भी नीचे जा रहा था। ऐसे में फिल्म संजू  में दमदार एक्टिंग ने रणबीर को बॉलीवुड में फिर से स्थापित करने का काम किया हैं।

फिल्म को मिली सफलता के बाद सामने आ रहा है कि  राज कुमार हिरानी रॉकस्टार रणबीर कपूर को लेकर पांच फिल्में बना सकते हैं। उन्होंने एक बार फिर राजकुमार हिरानी के साथ काम करने की इच्छा जाहिर की है। रणबीर ने राजकुमार हिरानी से कहा कि उन्होंने संजय दत्त और आमिर खान दोनों के साथ दो-दो फिल्में बनाई हैं और वे सभी फिल्में हिट साबित हुई हैं।

भी ये जानना चाहते हैं कि राजकुमार मेरे साथ दूसरी फिल्म कब बनाते हैं, जिसमें मैं लीड रोल में नजर आऊं। रणबीर ने हिरानी से पूछा, 'आप मेरे साथ कितनी फिल्में बनाएंगे' राजकुमार हिरानी ने हंसते हुए जवाब दिया, मैं तुम्हारे साथ पांच फिल्में बनाऊंगा।

जापान: बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगे शिंजो आबे, नई चेतावनी जारी

Japan: Shinzo Abe to visit flood affected areas, new warning issued

कुमानो। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे देश के पश्चिमी हिस्से में भारी बारिश और वर्षाजनित घटनाओं में 160 से अधिक लोगों के मारे जाने के बाद बुधवार को बाढ़ प्रभावित इलाके के दौरे के लिए रवाना हो गए। जापान में गत 36 साल के दौरान मौसम संबंधी सबसे बड़ी आपदा में हजारों लोग बेघर हो गए और बिजली एवं पेयजल की भारी किल्लत हो गई है। कई दिनों तक लगातार हुई मूसलाधार बारिश की वजह से पश्चिमी इलाका बाढ़ में डूब गया और जगह-जगह भूस्खलन की घटनाएं हुई। आबे बाढ़ प्रभावित ज्यादातर स्थानों पर जाएंगे। वह सबसे बुरी तरह प्रभावित इलाकों में से एक ओकायामा प्रांत भी जाएंगे। सरकारी टेलीविजन एनएचके ने बताया कि अब तक कम से कम 161 लोग मारे जा चुके हैं और 57 अब भी लापता हैं।

टेलीविजन के अनुसार देश में 1982 के बाद पहली बार मौसम संबंधी इतनी बड़ी आपदा आई है। आबे ने इस आपदा के मद्देनजर अपनी विदेश यात्रा रद्द कर दी हालांकि शुरुआत में बारिश के जोर पकडऩे और वर्षजनित छिटपुट घटनाओं की रिपोर्ट मिलने के दौरान उनकी रक्षा मंत्री के साथ एक पार्टी की तस्वीर ट्विटर पर वायरल होने के बाद उनकी कड़ी आलोचना भी हुई थी।

इसके बाद उन्होंने बेल्जियम, फ्रांस, सऊदी अरब और मिस्र का अपना दौरा रद्द कर दिया।बाढ़ के कारण लाखों मकानों में बिजली और पानी की आपूर्ति बाधित हो गई थी जिनमें से 3500 घरों में बिजली की आपूर्ति बहाल कर दी गई है लेकिन दो लाख से अधिक मकानों में पेयजल की आपूर्ति अब भी बाधित है। कुराशिकी जैसे अत्याधिक प्रभावित क्षेत्रों में आद्र्रता का स्तर बहुत अधिक है और तापमान 33 डिग्री सेल्सियस पर होने से लोगों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ रहा है। बारिश की तीव्रता में कमी आई है और बाढ़ का पानी उतरने भी लगा है लेकिन इससे सडक़ों पर कीचड़ जमा हो गया है। कुछ जगहों पर कीचड़ सूख गया है लेकिन जब राहत वाहन वहां से गुजरते हैं तो धूल का गुबार उठता है।

राहत और बचाव दल मलबे में लोगों की तलाश कर रहे हैं। इस बीच अधिकारियों ने सोशल मीडिया पर लोगों को संक्रमित भोजन से होने वाली बीमारियों के खतरे के प्रति चेतावनी दी है। फुुकुयामा शहर में जलाशय में दरार पाए जाने के बाद 25 मकानों को खाली करने के आदेश दिए गए हैं। गर्मी बढऩे से मौसम में तेजी से बदलाव आ रहा है जिससे शाम तक आंधी-तूफान आने की आशंका है। अधिकारियों ने इस दौरान भूस्खलन की भी चेतावनी जारी की है। 

जम्मू-कश्मीर : मुठभेड़ में एक पाकिस्तानी सहित 2 आतंकवादी ढ़ेर

Jammu and Kashmir: 2 militants including a Pakistani in encounter

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मंगलवार को सुरक्षाबलों के तलाशी अभियान के दौरान हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के पाकिस्तानी कमांडर सहित इसी संगठन के 2 आतंकवादी मारे गए। पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि शोपियां के कुंडलान गांव में आतंकवादियों के छिपे होने की खुफिया सूचना मिलने पर राष्ट्रीय राइफल्स, राज्य पुलिस के विशेष अभियान दस्ते और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने एक संयुक्त खोजी अभियान शुरु किया।

उन्होंने बताया कि जब सुरक्षा बल गांव की घेराबंदी करके उस क्षेत्र विशेष की ओर बढ़ रहे थे तभी वहां छिपे आतंकवादियों ने उन पर स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी कर दी। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान वहां छिपे सभी आतंकवादियों को मार गिराया। उनकी पहचान जैश-ए-मोहम्मद से संबद्ध पाकिस्तानी मूल के आतंकवादी बाबर और स्थानीय आतंकवादी समीर अहमद शेख के रूप में की गई है।

मुठभेड़ में एक जूनियर कमीशन अधिकारी (जेसीओ) भी घायल हो गया। प्रवक्ता ने कहा कि समीर अहमद शेख शोपियां के रावलपुरा का निवासी है। वह स्कूल ड्रापआउट था और वे अप्रैल 2018 में घर से लापता होने के बाद जैश-ए-मोहम्मद से जुड़ गया था। उन्होंने कहा कि बरामद किए गए दस्तावेजों के आधार पर दूसरे आतंकवादी की पहचान जैश-ए-मोहम्मद के पाकिस्तान मूल के कमांडर बाबर के रूप में की गई।

वह कई सुरक्षा प्रतिष्ठानों और नागरिक हमलों में शामिल रहा है। इस बीच सुरक्षाबलों द्वारा मुठभेड़ स्थल के नजदीक से प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के दौरान एक युवक की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। इसके अलावा एक व्यक्ति को जब यह मालूम हुआ कि आतंकवादियों में उसका बेटा भी शामिल है तो हृदयघात से उसकी मौत हो गई। प्रशासन ने सोशल मीडिया पर अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए शोपियां और पुलवामा में एहतियातन मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी है।

राजनाथ बोले, नए भारत के निर्माण में पूर्वोत्तर की तरक्की अहम 

Rajnath says, progress of the Northeast in creation of new India

शिलांग। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि नए इंडिया के निर्माण में पूर्वोत्तर की तरक्की अहम है क्योंकि नए भारत का रास्ता विकसित और शांतिपूर्ण पूर्वोत्तर से होकर जाता है। सिंह ने मंगलवार को यहां पूर्वोत्तर परिषद के 67वें पूर्ण अधिवेशन के समापन सत्र को संबोधित करते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी का वर्ष 2022 तक नए भारत का सपना पूर्वोत्तर के विकास से ही संभव है। उन्होंने बेहतर सडक़ संपर्क और सूचना प्रौद्योगिकी की मदद से पूर्वोत्तर का विकास होगा और एक नए पूर्वोत्तर का आगाज होगा। सडक़ संपर्क को दुरुस्त बनाने से क्षेत्र की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी।

उन्होंने कहा कि यदि हम बढिय़ा ब्रॉडबैंड सेवा उपलब्ध कराते हैं तो क्षेत्र के युवा अपने इलाकों के आसपास ही रोजगार प्राप्त कर सकेंगे। इससे स्थानीय युवाओं के नौकरी के लिए देश के सुदूर क्षेत्रों में जाने में कमी आएगी। गृह मंत्री ने कहा कि आईटीआई और पोलिटेक्निक संस्थानों को कौशल विकास में प्रमुख भूमिका निभानी चाहिए। एनईसी को कौशल विकास के लिए क्षेत्रीय संस्थान स्थापित करने पर विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि रोजगार और आय वृद्धि से पूर्वोत्तर में विद्रोह जैसी समस्याओं से निपटने में सहायता मिलेगी। पूर्वोत्तर राज्यों को निजी निवेश के लिए बेहतर माहौल प्रदान करना चाहिए ताकि निवेशक सुरक्षित महसूस कर सकें तथा उनकी समस्याओं का समाधान हो सके।

सिंह ने कहा कि कृषि क्षेत्र में विकास किया जाना चाहिए ताकि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने के मोदी के सपने को पूरा किया जा सके। निर्यात के लिए‘कम मात्रा -उच्च मूल्य’ वाली फसलों की खेती करने पर ध्यान देने के जरुरत है। कीवी और फूल जैसी जल्दी खराब होने वाली बागवानी फसलों के निर्यात में रेल मंत्रालय सुपरफास्ट एसी डिब्बों के माध्यम से सहायता प्रदान कर सकता है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 
loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.