11 मार्च : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Monday, 11 Mar 2019 04:41:47 PM
11 March top 10 news

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

Lok Sabha Election: आपके राज्य में इस दिन डाले जाएंगे वोट, इस दिन आएगा नए प्रधानमंत्री का चेहरा सामने

The vote will be cast in your state on this day, the face of the new Prime Minister will come out this day


इंटरनेट डेस्क: लोकसभा चुनाव का बिगुल बज गया है चुनाव आयोग ने रविवार शाम को लोकसभा चुनाव से जुड़ी अहम तारीखों का ऐलान कर दिया है ऐसे में लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से शुरू होगा जिसमें डाले जाने वाले मतदान सात चरणों में होने जा रहे है, रविवार को मुख्य चुनाव आयोग सुनील अरोड़ा ने लोकसभा चुनाव से संबंधित सभी तारीखों का ऐलान किया है ऐसे में चुनाव का शंखनाद होते ही सभी पार्टियां भी अपना दमखम दिखाने के लिए तैयार है,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी तरीखों का ऐलान होते ही ट्वीट किया और जनता से आशीर्वाद मांगा पीएम मोदी ने फिर एक बार मोदी सरकार का नारा दिया है, इसके साथ ही पीएम मोदी ने चुनाव आयोग, चुनाव कर्मचारियों, सुरक्षाबलों, देशवासियों और राजनीतिक दलों को शुभकामनाएं भी दी है 

आपकों बतादें की 17वीं लोकसभा के लिए चुनाव 7 चरणों में कराए जाएंगे, पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल को होने वाली है और 23 मई को परिणाम घोषित किए जाएंगे इसके बाद तय हो जाएगा की आगामी पाचं वर्षो के लिए भारत का प्रधानमंत्री कौन होगा वैसे सभी पार्टियों ने इस बार के लोकसभा के चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है इस दौरान 543 लोकसभा सीटों पर वोट डाले जाएंगे, आइए जानते हैं किस राज्य में कब वोट डाले जाएंगे

राज्यवार लोकसभा की ये रहेगी चुनाव तारीखें- 

आंध्र प्रदेश - यहां पर लोकसभा की 25 सीटें   11 अप्रैल
अरुणाचल प्रदेश - सभी दो सीट 11 अप्रैल
असम - पाँच सीट 11 अप्रैल, पाँच सीट 18 अप्रैल, चार सीट 23 अप्रैल
बिहार - चार सीट 11 अप्रैल, पाँच सीट 18 अप्रैल, पाँच सीट 23 अप्रैल, पाँच सीट 29 अप्रैल, पाँच सीट छह मई, आठ सीट 12 मई, आठ सीट 19 मई
छत्तीसगढ - एक सीट 11 अप्रैल, तीन सीट 18 अप्रैल, सात सीट 23 अप्रैल 
गोवा - सभी दो सीट 23 अप्रैल
गुजरात - सभी 26 सीट 23 अप्रैल
हरियाणा - सभी 10 सीट 12 मई
हिमाचल प्रदेश - सभी चार सीट 19 अप्रैल
जम्मू-कश्मीर - अनंतनाग सीट 23 अप्रैल, 29 अप्रैल और छह मई, (शेष पाँच में से) दो सीट 11 अप्रैल, दो सीट 18 अप्रैल, एक सीट छह मई
झारखण्ड - तीन सीट 29 अप्रैल, चार सीट छह मई, चार सीट 12 मई, तीन सीट 19 मई
कर्नाटक - 14 सीट 18 अप्रैल, 14 सीट 23 अप्रैल
केरल - सभी 20 सीट 23 अप्रैल

मध्य प्रदेश - छह सीट 29 अप्रैल, सात सीट छह मई, आठ सीट 12 मई, आठ सीट 19 मई
महाराष्ट्र - सात सीट 11 अप्रैल, 10 सीट 18 अप्रैल, 14 सीट 23 अप्रैल, 17 सीट 29 अप्रैल
मणिपुर - एक सीट 11 अप्रैल, एक सीट 18 अप्रैल
मेघालय - सभी दो सीट 11 अप्रैल
मिज़ोरम - एक मात्र सीट 11 अप्रैल
नागालैण्ड - एक मात्र सीट 11 अप्रैल
ओडिशा - चार सीट 11 अप्रैल, पाँच सीट 18 अप्रैल, छह सीट 23 अप्रैल, छह सीट 29 अप्रैल
पंजाब - सभी 13 सीट 19 मई
राजस्थान - 13 सीट 29 अप्रैल, 12 सीट छह मई
सिक्किम - एक मात्र सीट 11 अप्रैल
तमिलनाडु - सभी 39 सीट - 18 अप्रैल
तेलंगाना - सभी 17 सीट - 11 अप्रैल
त्रिपुरा - एक सीट 11 अप्रैल, एक सीट 18 अप्रैल
उत्तर प्रदेश - आठ सीट 11 अप्रैल, आठ सीट 18 अप्रैल, 1० सीट 23 अप्रैल, 13 सीट 29 अप्रैल, 14 सीट छह मई, 14 सीट 12 मई, 13 सीट 19 मई 
उत्तराखण्ड - सभी पाँच सीट 11 अप्रैल
पश्चिम बंगाल - दो सीट 11 अप्रैल, तीन सीट 18 अप्रैल, पाँच सीट 23 अप्रैल, आठ सीट 29 अप्रैल, सात सीट छह मई, आठ सीट 12 मई, नौ सीट 19 मई
अण्डमान एवं निकोबार द्बीप समूह - एक मात्र सीट 11 अप्रैल
चण्डीगढ - एक मात्र सीट 19 मई
दादरा एवं नागर हवेली - एक मात्र सीट 23 अप्रैल
दमन और दीव - एक मात्र सीट 23 अप्रैल
लक्षद्बीप - एक मात्र सीट 11 अप्रैल
दिल्ली - सात सीट 12 मई
पुड्डुचेरी - एक मात्र सीट 18 अप्रैल

जम्मू कश्मीर में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ न कराने पर भड़के फारूख अब्दुल्ला

Farooq Abdullah flares to not get together in Lok Sabha and assembly elections in Jammu and Kashmir

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम और नेशनल कांफ्रेंस अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने जम्मू कश्मीर में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ न करवाने पर अपना बयान दिया है। इस दौरान उन्होंने एयरस्ट्राइक पर भी सवाल खडे किए है। जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम ने कहा कि जम्मू कश्मीर में लोकसभा चुनावों के लिए व्यवस्थाएं और माहौल अनुकूल है। लेकिन फिर भी राज्य में भी विधानसभा चुनाव नहीं है? स्थानिय निकाय चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुए, पर्याप्त बल मौजूद है, फिर राज्य चुनाव क्यों नहीं हो सकते? 

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि हम हमेशा से जानते थे कि पाक के साथ लडाई या झडप होगी। यह सर्जिकल स्ट्राइक इसलिए किया गया क्योंकि चुनाव नजदीक आ रहे है। हमने करोडों का एक विमान खोया है। शुक्र है कि पायलट बच गया और सम्मान के साथ पाकिस्तान से लौटा। 

आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने रविवार को आम चुनावों की तारीख घोषित की। फिर इसके बाद में  लोकसभा चुनाव की तारीखें घोषित करने में हुई देरी और नतीजे मई के आखिर तक आने को लेकर सवाल उठने लगे है। राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता अशोक गहलोेत ने इस पर सवाल उठाए है। उन्होंने कहा कि तारीख घोषित करने को लेकर आयोग पर सरकार का दबाव था।  अशोक गहलोत ने कहा कि पहले आठ को फिर नौ मार्च को इसकी घोषणा हो जानी थी। लेकिन जब पीएम के सभी कार्यक्रम और घोषनाएं समाप्त हो गई। तो उसके बाद आयोग ने तारीखें जारी की है। 

ईरानी राष्ट्रपति इराक के साथ संबंधों को प्रगाढ़ करने पहुंचे बगदाद

Iraqi President visits Baghdad to strengthen relations with Iraq

बगदाद।  ईरान के राष्ट्रपति हसन रोहानी अपने पहले इराकी दौरे पर सोमवार को बगदाद पहुंचे। दोनों देशों के बीच संबंधों को प्रगाढ़ करने के उद्देश्य से रूहानी पहली बार इराक के दौरे पर हैं। इराकी सरकारी टेलीविजन इराकिया के मुताबिक रोहानी बगदाद अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर सुबह पहुंचे। वह इराक के शीर्ष अधिकारियों तथा राजनीतिक और धार्मिक नेताओं के साथ भी मुलाकात करेंगे। 

रोहानी की तीन दिवसीय यात्रा का कार्यक्रम इराकी राष्ट्रपति बरहाम सलेह के निमंत्रण के आधार पर तय किया गया है। इस दौरे के दौरान द्विपक्षीय संबंधों तथा सहयोग बढ़ाने को लेकर विचार-विमर्श किया जाएगा। रोहानी के आधिकारिक दौरे की तैयारी को लेकर ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ रविवार को ही बगदाद पहुंच गये थे। 

रोहानी का दौरा ऐसे समय में हुआ है जब अमेरिका ने ईरान के तेल उद्योग, बैंकिंग और परिवहन सेक्टरों पर प्रतिबंध लगा दिया है। गत वर्ष मई में अमेरिका ने 2015 के परमाणु समझौते से अपना नाम वापस ले लिया था। 

इथोपिया विमान हादसा: महज दो मिनट की देरी ने बचाई यूनानी यात्री की जान

Ethiopia plane crash

एथेंस। इथोपिया की राजधानी अदीस अबाबा से नैरोबी के लिए उड़ान भरने के तुरंत बाद इथोपियन एयरलाइंस का एक विमान रविवार सुबह दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसका 150वां सवारी एक भाग्यशाली यूनानी था, जो दो मिनट देर से पहुंचने के चलते विमान में सवार नहीं हो पाया था। यात्री का कहना है कि वह उड़ान के लिए दो मिनट देर से पहुंचा, जिसकी वजह से उनकी जान बच गई।

हादसे में विमान में सवार सभी 157 लोगों की मौत हो गई। एंटोनिस मावरोपोलोस ने फ़ेसबुक पर मेरा भाग्यशाली दिन नामक एक पोस्ट में कहा कि मैं परेशान हो गया था क्योंकि किसी ने भी समय पर गेट तक पहुंचने में मेरी मदद नहीं की।’’ पोस्ट में उन्होंने अपने टिकट की तस्वीर भी साझा की है।

एथेंस समाचार एजेंसी के अनुसार, गैर-लाभकारी संगठन इंटरनेशनल सॉलिड वेस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष मावरोपोलोस संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम की वार्षिक सभा में भाग लेने के लिए नैरोबी जाने वाले थे। लेकिन वह प्रस्थान द्बार बंद होने के महज दो मिनट बाद वहां पहुंचे और विमान में सवार नहीं हो पाए।

उन्होंने बाद की एक उड़ान की भी टिकट बुक कर ली लेकिन फिर हवाई अड्डे के कर्मचारियों ने उन्हें उड़ान भरने से रोक दिया। मावरोपोलोस ने अपने पोस्ट में कहा कि वे मुझे हवाई अड्डे के पुलिस स्टेशन तक ले गये। अधिकारी ने मुझे विरोध करने के लिए नहीं बल्कि भगवान का शुक्रिया अदा करने के लिए कहा क्योंकि मैं ही एकमात्र यात्री था जो ईटी 302 की उड़ान में नहीं चढ़ पाया था, जो विमान कुछ ही देर बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

उन्होंने पोस्ट में स्वीकार किया कि वह यह खबर सुनकर हतप्रभ रह गये थे। हवाईअड्डा के अधिकारियों ने बताया कि वे उससे पूछताछ करना चाहते हैं क्योंकि वह ही एकमात्र यात्री हैं जिसने उस उड़ान का टिकट बुक कराया था, लेकिन उसमें सवार नहीं था। मावरोपोलोस ने कहा कि उन्होंने बताया कि वे मुझे मेरी पहचान को क्रॉस-चेक करने से पहले जाने नहीं दे सकते, क्योंकि मैं उस विमान में सवार नहीं था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक शूटिंग के दौरान चोटिल हुए विवेक ओबेरॉय

Vivek Oberoi injured during Prime Minister Narendra Modi's biopic shooting

एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड अभिनेता विवेक ओबेरॉय इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बोयापिक की शूटिंग कर रहे है। उत्तराखंड के उत्तरकाशी की हर्शिल घाटी में फिल्म की शूटिंग करते समय विवेक ओबेरॉय घायल हो गए। एक सीन की शूटिंग के दौरान ओबेरॉय को पैर में चोट लग गई। इस सीन में मोदी को धाराली गांव के नजदीक गंगाघाट पर नंगे पैर बर्फ पर चलते दिखाया जाना है। 

आपको बता दें कि इस दौरान पेड़ से नुकीली टहनी चुभने से उनके पैर में घाव आ गया। जिसके बाद डॉक्टरों को तुरंत उनके पैर में टांके लगाने पड़े। तो वहीं फिल्म के यूनिट सदस्यों के अनुसार विवेक ओबेरॉय ने फिल्म की शूटिंग दोबारा से शुरू कर दी है। 

गौरतलब है कि इस फिल्म में पीएम के जीवन को ​चरितार्थ करने के लिए निर्देशक ने पूरी यूनिट को फिल्म के रिलीज होेने तक शुद्ध शाकाहारी भोजन करने का निर्देश दिया है। इस वजह से विवेक ओबेरॉय, उनके पिता सुरेश ओबेरॉय और अन्य सदस्य शाकाहारी भोजन ही कर रहे है। लोकल लाइन प्रोड्यूसर नितिन पुंडीर ने बताया कि जीएमवीएन गेस्ट हाऊस में ठहरे अभिनेता को स्थानीय दाल व सब्जी परोसी जा रही है। जिसे सभी लोगों द्वारा बहुत पसंद किया जा रहा है।

इस फिल्म में विवेक ओबेरॉय इस फिल्म में पीएम नरेंद्र मोदी का किरदार निभा रहे है। इस फिल्म में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निजी जिंदगी से लेकर उनके राजनीतिक सफर को दर्शाया जाएगा। इस फिल्म का निर्देशन ओमंग कुुमार कर रहे है। जो कि इससे पहले  सरबजीत और मैरी कॉम की बायोपिक भी बना चुके हैं।

पुनीत पाठक बने ‘खतरों के खिलाड़ी 9’ के विजेता

Winner of 'Khatron Ke Khiladi 9' becomes Punit Pathak

मुंबई।  कॉरियोग्राफर-अभिनेता पुनीत पाठक ‘खतरों के खिलाड़ी’ एडवेंचर-रियलिटी शो के नौवें सीजन के विजेता बने हैं। ग्रांड फिनाले में पुनीत का मुकाबला आदित्य नारायण और रिद्धिमा पंडित से था। पुनीत ने एक बयान में कहा, ‘‘ कोई भी चीज मुझे आसानी से नहीं मिली है। यह जीत मेरे कठिन परिश्रम, दृढ़ संकल्प और खुद में विश्वास का परिणाम है। खतरों के खिलाड़ी9 का विजेता होने का एहसास काफी अच्छा है। 

उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘एक ऐसे शो का विजेता होना जो अपने प्रतिभागियों को अपने डर का सामना करने और उससे उबरने का रास्ता दिखाता है, इससे आत्मविश्वास काफी बढ़ता है। कलर्स चैनल पर आनेवाले इस शो की मेजबानी रोहित शेट्टी ने किया है। 

केन विलियम्सन के कंधे में लगी चोट, इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती

Ken Williamson shoulder injury, hospital recruitment for treatment

वेलिंगटन। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन को बांग्लादेश के खिलाफ यहां बेसिन रिजर्व में दूसरे टेस्ट मैच के दौरान कंधे में चोट लग गई जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कीवी टीम के प्रवक्ता के मुताबिक विलियम्सन को एहतियातन अस्पताल ले जाया गया है जहां उनके बायें कंधे का स्कैन किया जाएगा।

न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड(एनजेडसी) ने सोमवार को ट्विटर पर कप्तान को लगी चोट की जानकारी दी। उन्होंने लिखा, केन विलियम्सन मैच के लिये आज मैदान पर वापसी नहीं करेंगे क्योंकि एक दिन बाद उनके बायें कंधे का एमआरआई स्कैन होना है और इसके लिए उन्हें आराम दिया गया है। टिम साउदी फिलहाल मैदान पर कप्तान की विलियम्सन को रविवार को बांग्लादेश की बिल्डिंग के दौरान डाइव करते हुएं बाएं कंधे में चोट लग गई थी।

हालांकि वह फिर बाद में बल्लेबाजी के लिए उतरे और अपना 30 वां टेस्ट अर्धशतक भी बनाया। उन्हें हालांकि अपनी 74 रन की पारी के दौरान दो बार डॉक्टर की मदद लेनी पड़ी थी। दोनों टीमों के बीच मैच के पहले दो दिन बारिश के कारण पूरी तरह धुल गए थे लेकिन बाकी दिनों में मौसम के खुले रहने की संभावना जताई गई है।

बांग्लादेश की पहली पारी 211 रन पर सिमट गई थी। इसके जवाब में मेजबान कीवी टीम ने छह विकेट पर 432 रन बनाकर पारी घोषित कर दी थी। मैच के चौथे दिन स्टम्प्स के समय बांग्लादेश दूसरी पारी में तीन विकेट पर 80 रन बना चुका है और अभी भी न्यूजीलैंड से 141 रन पीछे है। न्यूजीलैंड तीन मैचों की सीरीज़ में 1-0 से आगे है।

आलोचना पर प्रतिक्रिया नहीं देता क्योंकि अपनी दुनिया में जीता हूं: धवन

Does not respond to criticism Because I live in my world: Dhawan

मोहाली। शिखर धवन के आलोचक जब भी उन पर हावी होने लगते हैं तो यह स्टार बल्लेबाज शानदार तरीके से वापसी करता है और उन्होंने कहा कि खराब दौर के दौरान हो रही आलोचना को अधिक तवज्जो नहीं देकर वह मुश्किल समय से उबरने में सफल रहते हैं। गत छह महीने से अंतरराष्ट्रीय शतक जड़ने में नाकाम रहे धवन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रविवार को यहां चौथे वनडे में करियर की सर्वश्रेष्ठ 143 रन की पारी खेली लेकिन भारत को जीत नहीं दिला पाए।

धवन से जब यह पूछा गया कि आलोचना पर वह क्या प्रतिक्रिया देते हैं तो उन्होंने कहा कि अपनी दुनिया में जीने से उन्हें मानसिक रूप से शांत रहने में मदद मिलती है। धवन ने भारत की चार विकेट से हार के बाद कहा कि सबसे पहले तो मैं समाचार पत्र नहीं पढ़ता और मैं ऐसी सूचना नहीं लेता जो मैं लेना नहीं चाहता। इसलिए मुझे नहीं पता होता कि मेरे आसपास क्या हो रहा है और मैं अपनी दुनिया में जीता हूं।

इसलिए मैं फैसला करता हूं कि मेरे विचार किस दिशा में जाएंगे। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा कि मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन तब करता हूं जब धैर्य बरकरार रखता हूं। दुखी और परेशान होने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा, ''जब मुझे पीड़ा महसूस होती है तो मैं तेजी से आगे बढ़ जाता हूं और मुझे नहीं पता होता कि लोग क्या लिख रहे हैं। मैं सुनिश्चित करता हूं कि मैं सकारात्मक रहूं और अपनी प्रक्रिया पर आगे बढ़ता रहूं।

इस प्रक्रिया के बारे में पूछने पर धवन ने कहा कि जब मैं स्वयं से बात करता हूं तो मैं यह सुनिश्चित करने का प्रयास करता हूं मैं नकारात्मक सोच को रोक सकूं। उन्होंने कहा कि मैं हकीकत को स्वीकार करता हूं और आगे बढ़ता हूं। अगर कुछ हो रहा है तो मैं उसमें रोड़ा नहीं अटकाता। अगर यह अच्छा है, तो फिर अच्छा है।

एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पांच हजार से अधिक रन बनाने वाले धवन के लिए तीन चीजें सर्वोच्च हैं। धवन ने कहा कि अगर मैं अपने सारे कौशल का इस्तेमाल करूं, अपनी फिटनेस का ख्याल रखूं और सही मानसिकता रखूं तो फिर मैं इसका लुत्फ उठा सकता हूं। धवन ने टीम के अपने जूनियर साथी ऋषभ पंत के प्रति सहानुभूति जताई जिन्होंने विकेट के पीछे काफी खराब प्रदर्शन किया।

अंतिम दो मैचों के लिए महेंद्र सिंह धोनी की जगह टीम में शामिल पंत ने विकेट के पीछे लचर प्रदर्शन किया और स्टंपिग का आसान मौका भी गंवा दिया। उन्होंने कहा कि किसी भी अन्य युवा खिलाड़ी की तरह आपको उसे भी समय देना होगा। मेरे कहने का मतलब है कि धोनी भाई ने इतने वर्षों में सारे मैच खेले हैं। आप उनसे तुलना नहीं कर सकते। धवन ने कहा कि हां, अगर वह स्टंपिग कर देता तो शायद मैच बदल सकता था लेकिन यह तेजी से हमारे हाथों से फिसल गया और इसमें ओस ने अहम भूमिका निभाई। यह ऐसा ही था।

नोटबंदी से पहले आरबीआई ने सरकार की दलीलों को किया था खारिज: कांग्रेस

The RBI had dismissed government pleas before ban on ban: Congress

नई दिल्ली। कांग्रेस ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के केंद्रीय बोर्ड की बैठक के विवरण का हवाला देते हुए सोमवार को दावा किया कि नोटबंदी के लिए प्रधानमंत्री ने कालेधन पर अंकुश लगने सहित जो कारण गिनाए थे उन्हें केंद्रीय बैंक ने इस कदम की घोषणा से कुछ घंटे पहले ही नकार दिया था, इसके बावजूद नोटबंदी का फैसला उस पर थोपा गया।

पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड के बारे में आरटीआई से मिली जानकारी का ब्योरा रखते हुए यह भी कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार बनी तो नोटबंदी के बाद करचोरी के लिए पनाहगाह माने जाने वाली जगहों पर पैसे ले जाने में असामान्य बढ़ोतरी तथा देश के बैंकों में असामान्य ढंग से पैसे जमा किए जाने के मामलों की जांच की जाएगी।

रमेश ने मीडिया से कहा कि 8 नवंबर, 2016 को रात आठ बजे नोटबंदी की घोषणा हुई। उसी से कुछ घंटे पहले आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड बैठक हुई। उस बैठक में क्या हुआ किसी को पता नहीं चला।आरबीआई के गवर्नर रहते हुए उर्जित पटेल तीन बार संसद की समितियों के समक्ष आये। तीनों बैठकों में उन्होंने यह नहीं बताया कि आरबीआई की बैठक में क्या हुआ था?

अब 26 महीने बाद आरटीआई के जरिये उस बैठक का ब्योरा सामने आया है। उन्होंने कहा कि इस बैठक में कहा गया कि कालाधन मुख्य रूप से सोना और रियल स्टेट के रूप में है। इसलिये नोटबन्दी का कालेधन पर कोई बहुत फर्क नहीं पड़ेगा। जाली नोटों के बारे में बहुत बातें की गई थीं, लेकिन बैठक में कहा गया है कि नोटबन्दी से जाली नोटों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

रिजर्व बैंक का यह भी कहना था कि नोटबंदी का पर्यटन पर तात्कालिक नकारात्मक असर होगा। कांग्रेस नेता ने दावा किया, नोटबंदी को लेकर जो कारण दिये गए थे, उनको आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड ने नकारा था। इन सबके बावजूद आरबीआई ने कहा कि वह नोटबन्दी के साथ है।

इसका मतलब कि आरबीआई पर दबाव डाला गया। नोटबंदी का फैसला उस पर थोपा गया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि नोटबंदी एक तुगलकी फरमान और घोटाला था जिसने भारतीय अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया। एक सवाल के जवाब में रमेश ने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर आरबीआई की स्वायत्तता और उसकी पेशेवर स्वतंत्रता को फिर से बहाल किया जाएगा। 

383 अंक की अच्छी बढ़त लेकर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी पहुंचा 11,168 के स्तर पर

Sensex closes 383 points higher

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार आज सप्ताह के पहले दिन बढ़त के साथ हरे निशान पर खुला और हरे निशान पर ही बंद हुआ। बढ़त के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 382.67 अंक यानि 1.04 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 37,054.10 के स्तर पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी में भी कारोबार की समाप्ति पर बढ़त देखने को मिली और ये 132.65 अंक यानि 1.20 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,168.05 के स्तर पर बंद हुआ।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर बाजार गिरावट के साथ लाल निशान पर खुला और लाल निशान पर ही बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 74.06 अंक यानि 0.20 प्रतिशत की गिरावट के साथ 36,651.36 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 53.99 अंक यानि 0.15 प्रतिशत की गिरावट के साथ 36,671.43 अंक पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 35.00 अंक यानि 0.32 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,023.20 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 22.80 अंक यानि 0.21 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,035.40 अंक पर बंद हुआ। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.