12 जुलाई: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Thursday, 12 Jul 2018 04:18:12 PM
12 july latest top ten news

नये शिखर पर सेंसेक्स, निफ्टी भी 11 हजारी

Sensex at new peak, Nifty also hit 11 thousand

मुम्बई। विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों के बीच घरेलू संस्थागत निवेशकों और विदेशी पोर्टफोलियों निवेशकों (एफपीआई) की जबरदस्त लिवाली के दम पर बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स आज 282.48 अंक की छलांग लगाकर अब तक के उच्चतम स्तर 36,548.41 अंक पर बंद हुआ।

एनएसई का निफ्टी भी 74.90 अंक की बढ़त में पांच माह के बाद 11,000 अंक के पार 11,023.20 अंक पर बंद हुआ। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में बुधवार को करीब छह प्रतिशत की तेज गिरावट दर्ज की गयी जिसके बाद ऊर्जा और तेल एवं गैस क्षेत्र की कंपनियों के शेयरों में तूफानी तेजी आयी। कच्चे तेल की कीमतों में जारी बढ़त से भचतित घरेलू निवेशकों को राहत मिली है।

सरकारी आँकड़ों के अनुसार, एफपीआई ने आज पूँजी बाजार में 24.04 करोड़ डॉलर का निवेश किया है। बाजार में तिमाही परिणामों के बेहतर रहने के अनुमान का असर भी है।  सेंसेक्स बढ़त के साथ 36,424.23 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान यह 36,422.08 अंक के निचले और 36,699.53 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूता हुआ गत दिवस की तुलना में 0.78 प्रतिशत की तेजी में 36,548.41 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ

सेंसेक्स ने पहली बार 36,699.53 अंक के स्तर को छुआ है। सूचकांक की 30 में से 17 कंपनियां हरे और शेष 13 लाल निशान में बंद हुई। रिलांयस इंडस्ट्रीज के शेयरों में सर्वाधिक 4.42 प्रतिशत की बढ़त रही। निफ्टी ने शुरुआत ही 11,000 के पार 11,006.95 अंक से की। यह कारोबार के दौरान 11,078.30 अंक के दिवस के उच्चतम और 10,999.65 अंक के निचले स्तर से होता हुआ गत दिवस के मुकाबले 0.68 प्रतिशत की बढ़त में 11,023.20 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी की 28 कंपनियां तेजी में और शेष 22 गिरावट में रहीं। दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मंझोली कंपनियों पर बिकवाली हावी रही। बीएसई का मिडकैप 0.52 प्रतिशत यानी 80.81 अंक की गिरावट में 15,551.74 अंक पर बंद हुआ। स्मॉलकैप 0.06 प्रतिशत यानी 9.28 अंक की गिरावट में 16,420.09 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,804 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 165 के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे जबकि 1,469 में गिरावट और 1,170 में तेजी रही।

बढ़ती आबादी देश और दुनिया के लिए खतरा, हो रहा है पर्यावरण प्रदूषित

World Population Day latest news

जयपुर। देश और दुनिया के लिए आज जनसंख्या वृद्धि सबसे बड़ी चिंता का विषय है, क्योंकि दुनियाभर में बढ़ती जनसंख्या की वजह से पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है। ऐसे में देश और दुनिया के लिए खतरा पैदा हो सकता है? सबसे ज्यादा तो खाने-पीने की वस्तुएं अच्छी गुणवत्ता की पैदा नहीं हो रही है, या पौष्टिक वस्तुएं नहीं मिल पा रही है।

जनसंख्या वृद्धि होगी तो उसके लिए रहने के लिए मकान भी चाहिए, खाने और पीने की वस्तुएं भी चाहिए। लेकिन आज खेती से सीमित मात्रा में अनाज पैदा हो रहा है। कई जगह तो खेती के लिए जमीन नहीं बची या फिर पानी की कमी की वजह से अनाज पैदा नहीं हो पा रहा है। इससे देश और दुनिया के लिए खतरा पैदा हो सकता है?

आज आबादी की वजह से पर्यावरण और मूलभूत सुविधाएं खोती जा रही है। भारत के कई शहरों में तेजी से बढ़ती आबादी अब चिंता का सबब बनती जा रही है। कई जगह तो जनसंख्या विस्फोट के चलते अब मूलभूत सुविधाओं के लिए भी लोग भटकने लगे हैं। सडक़ों पर टै्रफिक बढ़ता जा रहा है। हरियाली कम हो रही है और प्रदूषण बढ़ रहा है।

कूड़े और गंदगी के ढेर में शहर तब्दील हो रहा है। रोजाना कई वाहन सडक़ों पर चल रहे है, उनसे निकलता प्रदूषण वायु को खराब कर रहा है। जिसकी वजह से कई बीमारियों की चपेट में आम इंसान आ रहा है। देखते ही देखते अस्पतालों में मरीज पहुंचने लग गए है।

शहर में बढ़ती आबादी के कारण से सडक़ों पर वाहनों का बोझ से लोग घंटों जाम में फंसते हैं। जिससे कई शहरों में प्रदूषण भी तेजी से बढ़ रहा है। बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। देश में युवाओं को मन मुताबिक नौकरियां नहीं मिल पा रही है, क्योंकि बढ़ती आबादी की वजह से मन मुताबिक नौकरियां मिल पाना मुश्किल है।

बायोपिक के बाद संजय दत्त अपने फैंस को देने जा रहे है ये खास तोहफा, पढ़े पूरी खबर

After the biopic, Sanjay Dutt is going to give his fancy this special gift, read the full news

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त के जीवन पर बनी बायोपिक फिल्म संजू कुछ समय पहले ही बड़े पर्दे पर रिलीज हुई हैं। जिसने बॉक्स ऑफिस पर सलमान खान की फिल्म रेस-3 को पीछे छोड़ एक नया रिकॉर्ड कायम कर लिया हैं। बताते चलें कि ये फिल्म जल्द ही 300 करोड़ के क्लब में शामिल होने वाली हैं।

फिल्म को मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया के चलते संजय दत्त ने एक फैसला लिया हैं। जी हां संजय के चाहने वालों के लिए एक खुशखबरी हैं। संजय ने अपनी आत्मकथा लिखने का फैसला लिया है, जिसे वह अगले साल अपने जन्मदिन 29 जुलाई पर रिलीज करेंगे। जी हां बॉलीवुड के माचोमैन संजय दत्त अपनी आत्मकथा लिखने जा रहे हैं।

इस ऑटोबायोग्राफी को संजय हार्पर कॉलिन्स के सहयोग से प्रकाशित करेंगे। आत्मकथा में संजय की पेशेवर उपलब्धियों के अलावा उनके जीवन के उतार-चढ़ावों को भी लिया जाएगा। संजय ने कहा, मैंने एक असाधारण जीवन जिया है जो उतार-चढ़ाव, सुख और दुख से भरा है। मेरे पास आपको बताने के लिए कई रोचक कहानियां हैं जो मैंने आज से पहले कभी नहीं बतायीं। मैं अपनी यादें और एहसास आपसे बांटने के लिए बहुत उत्साहित हूं।

बताया जा रहा है कि संजय की आत्मकथा में फिल्म रॉकी में पदार्पण के समय उनकी मां नरगिस दत्त को खोने के समय की स्थिति, नशे से लड़ाई, कई महिला मित्रों से अलगाव, कानून का सामना और जेल के अलावा पिता सुनील दत्त से नजदीकी, प्रसिद्धि, शरीर, बड़े पर्दे पर वापसी और पारिवारिक जीवन के बारे में बताया जायेगा।

जाधव मामले में पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में 17 जुलाई को दाखिल करेगा दूसरा हलफनामा: रिपोर्ट

Jadhav will file an application in Pakistan International Court on July 17 Second Affidavit

इस्लामाबाद। भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान 17 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में अपना दूसरा जवाबी हलफनामा दाखिल करेगा। जाधव को गत वर्ष अप्रैल में पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जासूसी और आतंकवाद के आरोपों में मौत की सजा सुनाई थी। मीडिया की गुरुवार की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई।

आईसीजे ने 23 जनवरी को भारत और पाकिस्तान दोनों को इस मामले में दूसरे दौर के हलफनामे दाखिल करने की समयसीमा दी थी। पाकिस्तान का यह हलफनामा भारत की ओर से 17 अप्रैल को दाखिल हलफनामे के जवाब में होगा। एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मुख्य अटॉर्नी खावर कुरैशी ने प्रधानमंत्री नसीरूल मुल्क को गत सप्ताह इस मामले की जानकारी दी थी।

कुरैशी ने शुरूआत में इस मामले में पाकिस्तान की ओर से पैरवी की थी। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल खालिद जावेद खान और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी बैठक में शामिल हुए थे और यह हलफनामा कुरैशी ने तैयार किया है। दूसरा हलफनामा पेश होने के बाद आईसीजे इस मामले में सुनवाई की तारीख तय करेगा , जिसके अगले साल होने की उम्मीद है।

अंतरराष्ट्रीय मुकदमे के विशेषज्ञ एक वरिष्ठ वकील ने समाचार पत्र को बताया कि इस वर्ष इस मामले की सुनवाई होने की उम्मीद नहीं है। उन्होंने कहा कि अन्य मामलों की सुनवाई अगले वर्ष मार्च/अप्रैल के लिए पहले ही निर्धारित है ऐसे में जाधव मामला अगले साल गर्मियों के लिए सूचीबद्ध किया जाएगा।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा जाधव को मौत की सजा सुनाए जाने के बाद भारत गत वर्ष मई में  आईसीजे में गया था , जिसके बाद आईसीजे ने 18 मई को पाकिस्तान पर मामले का निपटारा होने तक जाधव की सजा की तामील पर रोक लगा दी थी। 

अमेरिका की धनाढ्य महिलाओं की सूची में दो भारतीय मूल की उद्यमी शामिल

Two Indian-origin entrepreneurs in US list of wealthiest women

न्यूयार्क। भारतीय मूल की प्रौद्योगिकी कार्यकारी जयश्री उल्लाल और नीरजा सेठी ने अमेरिका की 60 धनाढ्य महिलाओं की सूची में जगह बनायी हैं। 21 साल की टीवी कलाकार और उद्यमी काइली जेनर भी ताकतवार महिलाओं की सूची में शामिल हैं। अपने बलबूते पर पहचान बनाने वाली 60 महिलाओं की सूची में जयश्री 1.3 अरब डालर के साथ 18 वें स्थान पर जबकि नीरजा एक अरब डालर की नेटवर्थ के साथ 21 वें पायदान पर रही ।

फोर्ब्स ने कहा, ''अमेरिका की शीर्ष महिला उद्यमियों ने बंधन तोड़कर एक नया मुकाम बनाया। उन्होंने कंपनियां बनायी और आनुवांशिक परीक्षण से लेकर एयरोस्पेस जैसे विभिन्न क्षेत्रों में नाम कमाया। इन महिलाओं ने सोशल मीडिया का उपयोग कर अपने ब्रांड को मजबूत किया ... इससे उनकी गिनती देश की सर्वाधिक सफल महिलाओं में होने लगी।

लंदन में जन्मीं और भारत में पली - बढ़ी 57 साल की जयश्री कंप्यूटर नेटवर्किंग कंपनी एरिस्ता नेटवर्क की अध्यक्ष और मुख्य कार्यपालक अधिकारी बनी। इस कंपनी की आय 2017 में 1.6 अरब डालर रही। फोर्ब्स के अनुसार वहीं 63 साल की नीरजा आईटी परामर्श और अउटसोॄसग कंपनी सिनटेल की उपाध्यक्ष हैं। उन्होंने यह कंपनी अपने पति भारत देसाई के साथ मिलकर 1980 में बनायी।

केवल 2,000 डालर से शुरूआत की गयी इस कंपनी की आय 2017 में 92.4 करोड़ डालर रही। फिलहाल कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 23,000 है और इसमें से 80 प्रतिशत भारतीय है। सूची में शामिल 60 महिलाओं का नेटवर्थ शुद्ध रूप से 71 अरब डालर रहा। इन महिलाओं में 24 अरबपति हैं।

सबसे कम उम्र की काइली, किम कारदाशियां वेस्ट की सौतेली बहन हैं। वह पहली बार सूची में शामिल हुई हैं। सोशल मीडिया पर उनके फालोअर की संख्या 11 करोड़ है। तीन साल में ही 'कास्मेटिक' क्षेत्र में उन्होंने काफी नाम कमाया और नेटवर्थ 90 करोड़ डालर पर पहुंच गई। सूची में पहले स्थान पर डायने हेंडरिक्स हैं। विस्कोंसीन की रहने वाली इन अरबपति की कंपनी एबीसी सप्लाई हैं जो अमेरिका में छत (रूफिंग), साइभडग (दीवार) और खिड़की' के थोक आपूर्तिकर्ता हैं।"

बरेली: तीन तलाक पीडि़ता को बनाया बंधक, भूख और प्यास के चलते तोड़ा दम

Bareilly: Three divorces made to the victi

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में 3 तलाक के बाद एक महिने तक बंधक बनाकर रखी गई महिला रजिया ने भूख-प्यास के चलते दम तोड़ दिया। प्रभारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सतीश कुमार ने बुधवार को बताया कि रजिया की मौत के बाद उसके शौहर और परिवार वालों के खिलाफ थाने में दहेज उत्पीडऩ की एफआईआर दहेज हत्या में तरमीमकर दी गयी है।

रजिया के बड़े भाई असगर अली के अनुसार रजिया के ससुराल वालों के अलावा उसका पति नईम उसकी मौत का जिम्मेदार है क्योंकि उसी के घर में रजिया को भूखा प्यासा बंधक बनाकर रखा गया था। उन्होंने बताया कि पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है। मामले की जांच क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार मीणा को सौंपी गई है।

रजिया के मायके वालों के मुताबिक गंभीर हालत होने पर इलाज के लिए लखनऊ ले जाते वक्त उनने दम तोड़ दिया।गौरतलब है कि बरेली शहर के स्वालेनगर में रहने वाली रजिया की शादी करीब 13 साल पहले 2005 में किला कटघर के नईम से हुई थी। उनकी बहन तारा का आरोप है कि शादी के बाद से ही नईम दहेज के लिए रजिया को तंग करने लगा।

इसी वर्ष फरवरी मार्च में  उसके साथ मारपीट की गई। 2 जुलाई को रजिया जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराई गई थीं। अस्पताल में भर्ती के समय रजिया ने रोते हुए जुल्म की दास्तां सुनाते हुए कहा कि मेरे शौहर ने तलाक दे दिया और घर में ही कैद कर दिया। खाने को दाना नहीं था।

छह साल के बेटा अनस की भूख मुझसे बर्दाश्त नहीं होती। गिड़गिड़ा कर बेटे के लिए खाना मांगती थी। मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी का कहना है कि 2 दिन पहले रजिया ने कहा कि मेरे बेटे अनस को पाल लेना। रजिया की बहन ने मुख्यमंत्री पोर्टल, डीएम, किला थाने हर जगह फरियाद लगाई।

लिखित शिकायतें कीं लेकिन किसी ने भी रजिया की अर्जी को पलटकर नहीं देखा। उसकी बहन तारा को इसी का मलाल है कि पुलिस साथ देती तो आरोपियों को सजा मिलती। तंजीम उलमा-ए-इस्लाम के महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन का कहना हैं कि तलाक देने के बाद कोई शख्स औरत के साथ किसी तरह की जोर-जबरदस्ती नहीं कर सकता है। तलाक के बाद औरत के साथ जोर-जबरदस्ती का कोई हक नहीं हैं। उन्होंने कहा कि आरोपी को कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

फीफा विश्वकप: टूटा इंग्लैंड का सपना, पहली बार फाइनल में पहुंचा क्रोएशिया 

FIFA World Cup: Broken England dream, first reached Croatia in final

मॉस्को। क्रोएशिया ने इंग्लैंड को अतिरिक्त वक्त तक खिंचे सेमीफाइनल में बुधवार को 2-1 से हराकर पहली बार फीफा विश्वकप फुटबॉल टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया जहां उसकी टक्कर पूर्व चैंपियन फ्रांस से होगी। क्रोएशिया 1990 में स्वतंत्र देश बना था और उसका पदार्पण विश्वकप 1998 में था जिसमें वे सेमीफाइनल में पहुंचकर मेजबान और बाद में विजेता बने फ्रांस से हारा था।

इस तरह इस बार के विश्व कप का फाइनल 1998 के सेमीफाइनल की पुनरावृति होगा। इंग्लैंड ने मैच के पांचवें मिनट में ही कीरन ट्रिपियर के गोल से बढ़त बनायी जबकि इवान पेरिसिच ने 68वें मिनट में शानदार गोल से क्रोएशिया को बराबरी पर ला दिया। निर्धारित 90 मिनट में स्कोर 1-1 से बराबर रहने के बाद मैच अतिरिक्त समय में खिंच गया।

जिसमें 109वें मिनट में मारियो मांडजुकीच ने क्रोएशिया के लिए मैच विजयी गोल दाग दिया। क्रोएशिया के पेरिसिच मैन ऑफ द मैच बने। इंग्लैंड आखिरी बार 1990 में सेमीफाइनल में पहुंचा था और उसे 1966 में एकमात्र खिताब जीतने के 52 वर्ष बाद अपने दूसरे खिताब की तलाश थी लेकिन क्रोएशिया के जज्बे ने उसका सपना तोड़ दिया।

इंग्लैंड और क्रोएशिया के बीच फीफा विश्वकप यह पहली भिड़ंत थी। हालांकि दोनों अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 7 बार एक दूसरे के खिलाफ खेल चुके थे। इन 8 मुकाबलों में इंग्लैंड ने चार जीत दर्ज की जबकि क्रोएशिया के हाथ तीसरी जीत लगी है।

क्रोएशिया ने ग्रुप चरण में सभी तीन मैच जीते थे और उसने राउंड-16 में डेनमार्क को और क्वार्टरफाइनल में मेजबान रूस को हराने में अतिरिक्त समय और शूटआउट का सहारा लिया था जबकि इंग्लैंड को उसने अतिरिक्त समय में पराजित किया।

भारत वापस नहीं भेजने के लिए जाकिर नाईक ने मलेशिया के प्रधानमंत्री का शुक्रिया अदा किया

Zakir Naik thanked Malaysian Prime Minister for not returning to India

कुआलालांपुर। भारत में कथित आतंकी गतिविधियों और धनशोधन में वांछित विवादित मुस्लिम धर्म उपदेशक जाकिर नाईक ने वापस नहीं भेजे जाने के लिए मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद का शुक्रिया अदा किया। मलेशिया के अखबारों में बयान छपवाकर धन्यवाद देते हुए जाकिर नाईक ने देश का कोई कानून नहीं तोडऩे का वादा भी किया।

भारत ने औपचारिक तौर पर मलेशिया से जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण का आग्रह किया था। अपने भडक़ाऊ भाषणों से युवाओं को आतंकी गतिविधियों के लिए प्रेरित करने का आरोप लगने के बाद जाकिर 2016 में देश से फरार हो गया था। मलेशियाई अखबारों में छपे बयान में नाईक ने कहा है ‘ मेरे मामले को ‘निष्पक्ष‘ तौर पर लेने के लिए आपका धन्यवाद प्रधानमंत्री महातिर‘। महातिर के निर्णय से मलेशिया के न्याय और सांप्रदायिक सौहार्द पर मेरा विश्वास और दृढ हुआ है।

कट्टरपंथी मुस्लिम धर्म प्रचारक जाकिर नाईक ने गत हफ्ते मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर से मुलाकात की थी। इसके बाद महातिर ने साफ किया था कि उनकी सरकार नाईक के प्रत्यर्पण की भारत की मांग पर आसानी से अमल नहीं करेगी। नाईक को तब तक वापस भारत नहीं भेजा जाएगा जब तक वह उनके देश में परेशानी पैदा नहीं करता।

भारत में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) नाईक के खिलाफ आतंकी गतिविधियों और धनशोधन के आरोपों की जांच कर रही है। एनआईए ने नाईक के खिलाफ आतंकरोधी कानून के तहत 2016 में पहला मामला दर्ज किया था। नाईक के खिलाफ बांग्लादेश की राजधानी ढाका में 2016 में हुए आतंकी हमले को लेकर भी जांच की जा रही है। आरोप है कि नाईक के भडक़ाऊ भाषणों से ही हमलावर प्रेरित हुआ था। 

फिल्म 'द स्काई इज पिंक' में प्रियंका चोपड़ा के बाद अब इस अभिनेता की हुई एंट्री, पहली बार निभाने जा रहे है ऐसा किरदार

This actor will be seen with Priyanka Chopra in The Sky Is Pink

एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड की अपकमिंग फिल्म द स्काई इज पिंक एक बार फिर सुर्खियों में छाई हुई हैं। इस बार ये फिल्म अपनी स्टारकास्ट को लेकर चर्चाओं का हिस्सा बनी हुई हैं। जी हां आपको बता दें कि फिल्म के लिए बॉलीवुड की देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा का नाम फाइनल कर दिया गया हैं। अली अब्बास जफर की फिल्म भारत के बाद प्रियंका की ये दूसरी फिल्म है जिसमें वे काम करने जा रही हैं। 

फिल्म में लीड एक्टर को लेकर पिछले दिनों से ही कई अभिनेताओं का नाम सामने आया हैं। लेकिन अब चर्चा है कि प्रियंका के अपोजिट और फिल्म में लीड एक्टर के तौर पर अभिनेता फरहान अख्तर का नाम सामने आ रहा हैं। जी हां अभिनेता फरहान अख्तर और प्रियंका चोपड़ा सोनाली बोस की अगली फिल्म 'द स्काई इज पिंक' में रुपहले पर्दे पर फिर साथ दिखेंगे।

बताते चलें कि यह दूसरा मौका होगा जब फरहान और प्रियंका पर्दे पर साथ दिखेंगे। दोनों कलाकार इससे पहले एक साथ जोया अख्तर की 2015 में आई फिल्म ''दिल धड़कने दो" में दिखे थे। ''दिल धड़कने दो" से पहले प्रियंका फरहान के साथ '' डॉन" और '' डॉन 2" में साथ काम कर चुकी हैं। इन दोनों फिल्मों का अभिनेता ने एक्सेल एंटरटेनमेंट के बैनर तले निर्देशन और निर्माण किया था।

हाल ही में इससे संबंधित एक तस्वीर प्रियंका ने इंस्टाग्रम पर साझा की थी। फिल्म में पटकथा लेखन बोस ने किया है और जूही चतुर्वेदी ने इसके संवाद लिखे हैं। अगले साल ईद के मौके पर आने वाली सलमान खान की फिल्म ''भारत" में प्रियंका चोपड़ा दिखेंगी।

आइडिया-वोडाफोन विलय दूरसंचार क्षेत्र की स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण: सरकार

Idea-Vodafone merger critical for the sustainability of telecom sector: Government

नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को कहा कि आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन इंडिया का विलय कुछ लंबित शर्तों का पालन करने के बाद पूरा हो जाएगा और यह दूरसंचार क्षेत्र की स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण होगा। दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन ने संवाददाताओं से कहा कि हम यह विलय जल्दी से जल्दी पूरा होते देखना चाहते हैं क्योंकि हम भी चाहते हैं कि क्षेत्र में स्थिरता आए। यह क्षेत्र की स्थिरता के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है।

दूरसंचार विभाग से नौ जुलाई को सशर्त मंजूरी मिलने के बाद वोडाफोन के शीर्ष प्रबंधन ने बुधवार को दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा और दूरसंचार सचिव सुंदरराजन से मुलाकात की। सुंदरराजन ने कहा कि हमने उनसे मांग रखी है। वे (वोडाफोन के कार्यकारी) मुझसे मिले और कहा कि वे देश में महत्वपूर्ण निवेशक बने रहेंगे।

इससे पहले दिन में सिन्हा ने भी विलय को सशर्त मंजूरी दिए जाने की बात कही। सिन्हा ने कहा कि हम आइडिया - वोडाफोन के विलय को पहले ही मंजूरी दे चुके हैं। इस विलय को पूरा करने से पहले उन्हें (कंपनियों) कुछ औपचारिकताएं हैं जिन्हें पूरा करना है। सरकार की तरफ से पहली बार इस विलय सौदे के बारे में औपचारिक तौर पर पुष्टि की गई है।

दूरसंचार विभाग द्वारा नौ जुलाई को इस विलय को सशर्त मंजूरी दिए जाने के बाद कल ब्रिटेन की दूरसंचार कंपनी वोडाफोन के शीर्ष प्रबंधन ने सिन्हा से मुलाकात की थी। सिन्हा ने कहा कि उन्होंने मुझसे मुलाकात की और इस प्रक्रिया को जल्द पूरा करने के लिये धन्यवाद दिया। वोडाफोन के नामित मुख्य कार्यकारी अधिकारी और मुख्य वित्त अधिकारी निक रीड ने सिन्हा से मुलाकात के बाद कल स्पष्ट किया था कि उन्हें सरकार से विलय की मंजूरी का पत्र मिल गया है।

पत्र पाकर हम प्रसन्न हैं। उल्लेखनीय है कि वोडाफोन और आइडिया के विलय के बाद यह देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी होगी। उद्योग जगत में इस तरह की चर्चा जोरों पर रही है कि आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन उनसे की जा रही 3,976 करोड़ रुपए की एकबारगी स्पेक्ट्रम शुल्क की मांग और 3,342 करोड़ रुपए की संयुक्त बैंक गारंटी मांग को अदालत में चुनौती दे सकती हैं। बहरहाल , वोडाफोन के कार्यकारी इस बारे में सवालों के जवाब देने के लिए उपलब्ध नहीं हो सके।



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.