12 सितंबर: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Wednesday, 12 Sep 2018 04:39:09 PM
12 september top 10 news in hindi

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जानिए, आखिर वुडवर्ड की किताब में PM मोदी को क्या मानते है डोनाल्ड ट्रंप

Modi is my friend: Trump said in Woodward's book

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपने मित्र के रूप में वर्णित किया जिन्होंने उन्हें बताया कि अफगानिस्तान से अमेरिका को कुछ भी नहीं मिला है। जाने-माने पत्रकार बॉब वुडवर्ड की ताजा किताब में यह जानकारी दी गई है। यह किताब मंगलवार को स्टोर्स में आई। वुडवर्ड ने अपनी किताब 'फियर: ट्रंप इन द व्हाइट हाउस’ में ट्रंप के हवाले से कहा गया है,''भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मेरे एक मित्र है। उन्होंने (ट्रंप) कहा,'' मैं उन्हें बहुत पसंद करता हूं।’’ पुस्तक ने विवाद खड़ा कर दिया था क्योंकि ऐसा बताया जाता है कि इसमें ट्रंप को अराजक,अस्थिर और अनभिज्ञ के रूप में चित्रित किया गया था।

वुडवर्ड के अनुसार ट्रंप ने पिछले वर्ष 19 जुलाई को व्हाइट हाउस में एक सिचुऐशन रूम बैठक के दौरान यह प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। इससे करीब तीन सप्ताह पहले 26 जून को व्हाइट हाउस में मोदी के साथ ट्रंप की एक सफल बैठक हुई थी। 19 जुलाई की बैठक के दौरान ट्रंप के हवाले से कहा गया, ''उन्होंने (मोदी) मुझे बताया कि अमेरिका को अफगानिस्तान से कुछ भी नहीं मिला है। कुछ भी तो नहीं। अफगानिस्तान में बड़े पैमाने पर खनिज संपदा है। हम इसे चीन जैसे दूसरों की तरह नहीं लेते है।’’

ट्रम्प ने कहा, ’’अमेरिका को अफगानिस्तान के कुछ मूल्यवान खनिजों को किसी भी समर्थन के बदले में लाने की जरूरत है। जब तक हम खनिज नहीं पाते हैं तब तक मैं कोई समझौता नहीं कर रहा हूं। अमेरिका को पाकिस्तान को भुगतान करना बंद करना चाहिए जब तक कि वे सहयोग नहीं करते है।’’  इसके छह महीनों बाद ट्रंप ने नव वर्ष एक जनवरी के दिन किये ट्वीट में पाकिस्तान को सभी तरह की सैन्य सहायता रोकने की घोषणा की और कहा कि पाकिस्तान अपनी सरजमीं से संचालित आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा है।

जापान सरकार अब चूहों के खिलाफ कर रही है जंग की तैयारी

Japan will start war against rats

तोक्यो। जापान के तोयोसू शहर में विश्व प्रसिद्ध सुकुजी मछली बाजार अगले महीने बंद हो रहा है और उसके बाद सरकार ने चूहों के खिलाफ जंग छेडऩे की तैयारी शुरू कर दी है। इस 83 साल पुराने दुनिया के सबसे बड़े मछली बाजार में हर दिन एक करोड़ 40 लाख का कारोबार होता है और इसमें 400 तरह के सीफूड मिलते हैं। बाजार को पांच दिनों के लिए कहीं और स्थानांतरित किया जाएगा ताकि तोयोसू में इस बाजार को नया रूप दिया जा सकें। बाजार के बंद होने के बाद वहां मछलियों को काटने के बाद उनका बचा हुआ हिस्सा खाने वाले चूहे इधर-उधर भागेंगे जिससे आस-पास की दुकानों के लिए खतरा पैदा हो गया है।

सुकुजी में चूहे रोधी अभियान की कमान संभालने वाले तोक्यो सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि जब वे कुछ अजीब पाएंगे तो उनके एक साथ झुंड में चलने की आशंका होगी। 10 अक्टूबर को बाजार बंद होने के बाद का सप्ताह अहम लड़ाई साबित होगा। वहां से चूहों को निकलने से रोकने के लिए तोक्यो के अधिकारी अन्य लोगों की सहायता से पाइपों और सीवर से बाहर निकलने के रास्तों बंद करने और अन्य मार्गों को ढकने में व्यस्त हैं। बाजार को तोडऩे से पहले वे उस स्थान के आस-पास 10 फुट की स्टील की दीवार बनाएंगे और चूहों को पिंजरों में कैद करने की कोशिश में लगेंगे।

चूहों को पकडऩे के लिए वे 40,000 पिंजरे लगाएंगे और साथ ही चूहों को मारने के लिए 300 किलोग्राम जहर का इस्तेमाल करेंगे। बाजार के आस-पास रेस्त्रां और बार मैनेजरों को चूहों के आने की आशंका को लेकर रेड अलर्ट पर रखा गया है। गिंजा में एक रेस्त्रां मालिक ने कहा, यह डरावना है।

पूर्व आरबीआई गवर्नर की NPA टिप्पणी के बाद कांग्रेस और BJP में वाकयुद्ध

After former RBI governor's NPA comment Congress and BJP waged a war

नई दिल्ली। पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन की बढ़ते एनपीए (गैर निष्पादित संपत्तियां) पर की गई टिप्पणी पर कांग्रेस और भाजपा के बीच वाकयुद्ध शुरू हो गया है। विपक्षी दल का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ''पलक झपकते’’ रिण देने की नीति को एनपीए में बढ़ोतरी का कारण बताया है। वहीं भाजपा का कहना है कि राजन की टिप्पणी कांग्रेस द्वारा किए भ्रष्टाचार का ढिढोरा पीटती है।

गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का कहना है कि बैंक अधिकारियों के अति उत्साह, सरकार की निर्णय लेने की प्रक्रिया में सुस्ती तथा आर्थिक वृद्धि दर में नरमी डूबे कर्ज के बढ़ने की प्रमुख वजह है। राजन ने एक संसदीय समिति को दिए नोट में यह राय व्यक्त की है।  

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, ''यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक ऐसी सरकार का नेतृत्व किया, जिसने भारतीय बैंकिग प्रणाली के मूल पर हमला किया। रघुराम राजन ने कहा था कि 2006-2008 के बीच संप्रग कामकाज से भारतीय बैंकिंग संरचना में एनपीए में बढ़ोतरी हुई। ईरानी ने कहा कि राजन की टिप्पणी कांग्रेस द्वारा किए भ्रष्टाचारों का ढिढोरा पीटती है। 

इससे पहले, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ''रघुराम राजन ने कहा है कि 2016 में उन्होंने बकायदा एक 'फ्रॉड रिपोîटग और मॉनीटरिग अथॉरिटी’ बनाई थी।प्रधानमंत्री कार्यालय को सब भगोड़ों के नाम भेजे थे, पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने कुछ नहीं किया।’’ उन्होंने कहा, ''प्रधानमंत्री कार्यालय बताए कि उन्होंने भगोडों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की?’’ . 

305 अंक की बढ़त के साथ बंद हुआ सेंसेक्स

Sensex closes with a gain of 305 points

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज कारोबार की शुरुआत मामूली गिरावट के साथ हुई लेकिन कुछ समय बाद ही बाजार इस गिरावट से उबरने में कामयाब रहा और ये बढ़त के साथ हरे निशान पर पहुंच गया। कारोबार की समाप्ति पर घरेलू शेयर बाजार अच्छी बढ़त के साथ बंद हुआ । कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स बढ़त बनाते हुए 304.83 अंक यानि 0.81 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 37,717.96 के स्तर पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर बढ़त का असर देखने को मिला और ये हरे निशान पर पहुंचकर 82.40 अंक यानि 0.73 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,369.90 के स्तर पर बंद हुआ। गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान जब सुबह शेयर बाजार खुला तो उसमें उछाल देखा गया, सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ने ही बढ़त बनाते हुए कारोबार की शुरुआत की लेकिन कारोबार की समाप्ति पर घरेलू शेयर बाजार बढ़त बनाए रखने में नाकामयाब रहा और कारोबार की समाप्ति पर ये औंधे मुंह जा गिरा।

काराबोर की शुरुआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 29.27 अंक यानि 0.077 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 37,951.44 के स्तर पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये 509.04 अंक यानि 1.34 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,413.13 के स्तर पर बंद हुआ ।  वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी भी काराबोर की शुरुआत में 3.50 अंक यानि 0.031 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,441.60 के स्तर पर खुला । सेंसेक्स की तरह निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट हावी रही और ये लाल निशान पर पहुंचकर 150.60 अंक यानि 1.32 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,287.50 के स्तर पर बंद हुआ । 

आखिरकार 19वें दिन हार्दिक पटेल ने समाप्त किया आमरण अनशन

Hardik Patel's indefinite death strike ends 19th day

अहमदाबाद। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के नेता हार्दिक पटेल ने किसानों की कर्ज माफी, पाटीदार आरक्षण और राजद्रोह के मामले में जेल में बंद अपने एक साथी अल्पेश कथिरिया की रिहाई की मांग को लेकर गत 25 अगस्त से चल रहे उनके आमरण अनशन को बुधवार को 19वें दिन समाप्त कर दिया। पाटीदार समुदाय के प्रमुख धार्मिक संगठन उमिया धाम के प्रमुख प्रहलाद पटेल, खोडलधाम के चेयरमैन नरेश पटेल तथा इन दोनों सहित छह संगठनों के प्रतिनिधियों के समन्वयक सी के पटेल के हाथों नींबू पानी, नारियल पानी और पानी पीकर अनशन समाप्त करने के बाद हार्दिक ने कहा कि वह अपने समाज के वरिष्ठों को सम्मान देने के लिए उनके समक्ष झुके हैं।

वह सरकार के समक्ष नहीं झुके हैं। उन्होंने कहा कि समाज के वरिष्ठजनों ने कहा है कि वे सरकार से बात करेंगे। अगर सरकार हमारी बात मानती है तो ठीक है पर अगर यह नहीं मानती तो यह माना जाएगा कि उसे हमारी जरूरत नहीं है। उन्होंने अपने संबोधन के अंत में सत्तारूढ़ भाजपा के प्रति अपनी नाराजगी भी जाहिर की। कांग्रेस के करीबी माने जाने वाले हार्दिक ने भाजपा का नाम लिए बिना कहा कि यह भी सोचना होगा कि समुदाय कब तक गुलामी की मानसिकता रखेगा। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी लड़ाई गरीब किसानों और मात्र दस पंद्रह हजार रुपए कमाने वाले शहर के ऐसे गरीब पाटीदारों के लिए है जो अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा तक नहीं दिला सकते। इससे पहले पाटीदार समाज के नेताओं ने आपसी एकता और संगठन की ताकत पर जोर दिया। सी के पटेल ने यह भी कहा कि इस बात के लिए होशियार रहना होगा कि कोई समुदाय को विभाजित न करे अथवा तोड़े नहीं।

इस बीच, हार्दिक के पूर्व साथी और भाजपा नेता केतन पटेल ने कहा कि पाटीदार समाज ने अब समझ लिया है कि हार्दिक पटेल राजनीतिक कारणों से आंदोलन को किसी तरह जिंदा रखना चाहते हैं। राज्य सरकार ने पहले ही पाटीदार आंदोलन संबंधी अधिकतर संभव मांगों को मान लिया था और आंदोलन तभी समाप्त हो जाना चाहिए था पर हार्दिक अपने निजी महत्वाकांक्षा को लेकर इसे किसी तरह जारी रखना चाहते थे। इसलिए अब उन्हें कोई समर्थन नहीं मिल रहा। उनके पिछले कार्यक्रमों के दौरान हुई तोडफ़ोड़ और हिंसा के चलते बाहर उपवास आंदोलन की अनुमति नहीं मिलने पर यहां अपने आवास ग्रीनवुड रिसार्ट में आमरण अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल को उपवास के 14वें दिन सात सितंबर को पहले सरकारी अस्पताल में और बाद में निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के बाद 9 सितंबर को वापस वह अपने आवास पर आकर अनशन पर बैठ गए। आज कुल मिला कर उनके अनशन का 19वां दिन था। उन्होंने इस बीच दो बार पानी का त्याग भी किया था पर इसे फिर से लेना शुरू कर दिया था।

हार्दिक कैंप की ओर से बार-बार दिए गए अल्टीमेटम के बावजूद राज्य की भाजपा सरकार ने इस बार कड़ा रूख बनाए रखा। उसने कहा कि हार्दिक ने पिछले चुनाव में कांग्रेस का समर्थन किया था कि अब भी वह उसी के इशारे पर आगामी लोकसभा चुनाव में उसे लाभ दिलाने की नीयत से यह आंदोलन कर रहे हैं। हार्दिक से मिलने वालों में अधिकतर कांग्रेस के नेता थे इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के धुर विरोधी माने जाने वाले पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा, शत्रुघ्न सिन्हा तथा कई अन्य ऐसे चेहरे शामिल थे। आज हार्दिक के अनशन के समापन के मौके पर कांग्रेस के कई विधायक और गढड़ा के स्वामीनारायण मंदिर के प्रमुख एस पी स्वामी भी उपस्थित थे। बाद में सी के पटेल ने कहा कि कुछ दिन पहले सरकार को पाटीदार समुदाय से जुड़े मामलों की एक सूची दी गई है और अब इसमें कुछ और विषयों को जोड़ा जाएगा।

उम्मीद है कि सरकार इसे गंभीरता से लेकर इन्हें हल करेगी। समुदाय की छह संस्थायें (उक्त दो के अलावा सरदार धाम और विश्व उमिया फाउंडेशन अहमदाबाद, समस्त पाटीदार समाज, सूरत तथा सिदसर उमिया धाम) पाटीदार आरक्षण के मामले में कानूनी लड़ाई भी लड़ रही है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार ने पाटीदार आंदोलन के 70 प्रतिशत मुकदमे वापस ले लिए हैं। बाकी 30 प्रतिशत पर भी चर्चा जारी है। नरेश पटेल ने कहा कि राजद्रोह के मामले में गिरफ्तार कथिरिया की रिहाई के मामले को भी प्रमुखता से उठाया जाएगा। 

शीर्ष उपभोक्ता मंच ने एक्सिस बैंक से ग्राहक को 50 लाख रु का भुगतान करने को कहा

Top Consumer Forum said Axis Bank to pay Rs 50 lakh to the customer

नई दिल्ली। शीर्ष उपभोक्ता मंच ने देश के सबसे बड़े निजी बैंकों में से एक ऐक्सिस बैंक को कर्ज लेने के दौरान जमा किये गए कुछ दस्तावेजों को ऋण की रकम चुकाने के बावजूद एक ग्राहक को लौटाने में विफल रहने के लिए उसे 50 लाख रुपए से अधिक का भुगतान करने को कहा है। राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निपटारा आयोग (एनसीडीआरसी) ने ऐक्सिस बैंक लिमिटेड से ऐक्सिस बैंक लिमिटेड की एक शाखा को राजेश गुप्ता को 50 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति, मानसिक उत्पीड़न के लिये 50 हजार रुपए और मुकदमे के खर्च के लिए 15000 रुपए का भुगतान करने को कहा।

पीठासीन सदस्य न्यायमूर्ति दीपा शर्मा ने कहा, ''मामले के तथ्य साफ तौर पर स्थापित करते हैं कि दूसरा पक्ष (ऐक्सिस बैंक लिमिटेड) अपने ग्राहक के प्रति दायित्वों को निभाने में विफल रहा है और उसे जो दस्तावेज सौंपे गए थे, उन सबको लौटाने में विफल रहा है।’’ आयोग ने बैंक से यह भी कहा कि वह इन सभी दस्तावेजों के संबंध में गुप्ता के पक्ष में क्षतिपूर्ति बांड जारी करे। आयोग ने यह भी कहा कि इस राशि का भुगतान चार सप्ताह के भीतर किया जाए। ऐसा करने में विफल रहने पर 12 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से राशि पर ब्याज का भुगतान करना होगा।

गुप्ता ने ऐक्सिस बैंक की फरीदाबाद शाखा से 67 लाख रुपए से अधिक का कर्ज लिया था। उन्हें 2013 में बैंक से कर्ज मिला और उन्होंने कर्ज का भुगतान कर दिया। हालांकि, बैंक बिल्डर क्रेता समझौता, विक्रेता द्बारा पूर्ण और अंतिम भुगतान के लिये दिया गया रसीद और संपत्ति का मूल आवंटन पत्र उन्हें लौटाने में विफल रहा। बैंक ने दावा किया कि कुछ दस्तावेज उसके पास उपलब्ध हैं, जिसे लौटा दिया गया है और शेष दस्तावेज खो गए हैं और वह उन कागजातों को लौटाने में सक्षम नहीं है।

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज हारने के बाद भी नंबर वन रहे विराट कोहली, जानिए कैसे

Virat number one Test batsman after England series

दुबई। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली भले ही अपनी टीम को इंग्लैंड के खिलाफ जीत नहीं दिला सके लेकिन वह पांच मैचों की इस सीरीज़ के बाद बुधवार को जारी ताज़ा आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज़ बन गए। भारत ने इंग्लैंड से पांच मैचों की सीरीज़ को 1-4 से गंवा दिया। हालांकि अपने प्रदर्शन की बदौलत विराट इंग्लैंड के सैम करेन के साथ संयुक्त रूप से मैन ऑफ द सीरीज़ चुने गए। 

विराट अब 930 रेटिंग अंकों के साथ टेस्ट बल्लेबाज़ी रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर पहुंच गए हैं। विराट बॉल टेम्परिंग के कारण 12 महीने के लिए निलंबित ऑस्ट्रेलिया के स्टीवन स्मिथ से एक अंक आगे हैं जो अब दूसरे नंबर पर पिछड़ गए हैं। भारतीय कप्तान सीरीज़ की शुरूआत में स्मिथ से 27 अंक पीछे थे लेकिन मंगलवार को पांचवें और अंतिम मैच की समाप्ति के बाद वह एक अंक की बढ़त के साथ स्मिथ को पीछे छोड़ने में कामयाब रहे। भारत आखिरी मैच ओवल में 118 रन से हारा था।  

विराट अब चार अक्टूबर से वेस्टइंडीज़ के खिलाफ शुरू हो रही दो टेस्टों की घरेलू सीरीज़ में अपने इस शीर्ष स्थान का बचाव करेंगे। इंग्लैंड के ओपनर एलेस्टेयर कुक भारत के खिलाफ इस सीरीज़ के साथ रिटायर हो गए लेकिन पांचवें मैच में 71 और 147 रन की मैन ऑफ द मैैच प्रदर्शन के साथ वह शीर्ष 10 बल्लेबाज़ों में शुमार हो गए। 

गणेश चतुर्थी स्पेशल: हिंदी फिल्मों में भी दिखती है गणेश उत्सव की धूम

Ganesh Chaturthi Special: Ganesh Utsav is seen in Hindi films

मुंबई। गणेश चतुर्थी उन चंद त्योहारों में से एक है जिसे हिन्दी फिल्मों में बडे धूमधाम से दर्शाया जाता रहा है। देश के विभिन्न भागों और खासकर महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी काफी उत्साह और धूमधाम से मनाई जाती है। भगवान गणेश के आगमन से लेकर उनकी विदाई तक श्रद्धालु पूरे भक्ति भाव से उनकी पूजा अर्चना करते हैं। बालीवुड के फिल्मकार प्रथम पूज्य गणेशजी के आगमन और विदाई दोनों को बेहद ही खूबसूरत अंदाज में दिल को छू देने वाले गीतों के साथ पेश करते रहे हैं। निर्माता निर्देशक दादा साहब फाल्के की वर्ष 1925 में प्रदर्शित फिल्म 'गणेशा उत्सव' संभवत पहली फिल्म थी जिसमें भगवान गणेश की महिमा को रूपहले पर्दे पर पेश किया गया था।

वर्ष 1936 में प्रदर्शित फिल्म 'पुजारिन' में भी भगवान गणेश पर आधारित गीत और ­दृष्य रखे गए थे। तिमिर वरन के संगीत निर्देशन में बनी फिल्म का यह गीत 'हो गणपति बप्पा मोरया' आज भी श्रोताओं को भाव विभोर कर देता है और महाराष्ट्र में तो इन दिनों सभी जगह इसकी गूंज सुनाई दे रही है। सत्तर के दशक में भगवान गणेश की महिला का वर्णन करते हुए कई फिल्मों का निर्माण किया गया। इनमें वर्ष 1977 में प्रदर्शित फिल्म 'जय गणेश' प्रमुख है। एस.एन.त्रिपाठी के संगीत निर्देशन में पार्श्वगायिका सुषमा श्रेष्ठ और पूर्णिमा की आवाज में रच बसे गीत 'जय गणेश जग गणेश देवा माता जाकी पार्वती पिता महादेवा' में गणेश भगवान की महिला का गुनगान किया गया है।

अस्सी के दशक में भी गीतकारों ने कुछ फिल्मों में भगवान गणेश पर आधारित गीतों की रचना की। वर्ष 1981 में मिथुन चक्रवर्ती की मुख्य भूमिका वाली फिल्म 'हम से बढकर कौन' उल्लेखनीय है। मोहम्मद रफी और किशोर कुमार की युगल आवाज में रचा बसा युगल गीत 'देवा हो देवा गणपति देवा' गणपति गीतों में अपना विशिष्ट मुकाम रखता है। अब तो इस गीत के बिना गणपति गीतों की कल्पना ही नहीं की जा सकती है। वर्ष 1990 में प्रदर्शित फिल्म 'अग्निपथ' में भी गणेश चतुर्थी उत्सव को धूमधाम से मनाए जाते हुए दिखाया गया था। अमिताभ बच्चन अभिनीत इस फिल्म में सुदेश भोंसले और कविता कृष्णामूर्ति की आवाज में भगवान गणेश की विदाई को दर्शाता गीत 'गणपति अपने गांव चले कैसे हमलों चैन पड़े' श्रोताओं के दिल पर अपनी अमिट छाप गया है। निर्देशक मेहुल कुमार के निर्देशन में बनी फिल्म 'आंसू बने अंगारे’ साल 1993 में रिलीज की गई है।

इसमें माधुरी दीक्षित और जितेन्द्र को लीड रोल में देखा गया था। इस फिल्म में गणेश चतुर्थी के त्योहार को गाने 'गणपती बप्पा’ को माधुरी पर फिल्माया गया था। नब्बे के दशक में ही प्रदर्शित फिल्म 'वास्तव' में भी भगवान गणेश के उत्सव को रूपहले पर्दे पर पेश किया गया। इस फिल्म में जतिन ललित के संगीत निर्देशन में रवीन्द्र साठे की आवाज में गीतकार समीर द्बारा रचित आरती 'जय देव जय देव' में भगवान श्री गणेश की महिला का वर्णन किया गया है। वर्ष 2006 में अरसे बाद शाहरूख खान अभिनीत फिल्म 'डॉन' में भी गणेश जी पर आधारित गीत सुनने को मिले जो श्रोताओं ने काफी पसंद किए।

वर्ष 2007 में बच्चों पर आधारित फिल्म 'माई फ्रेंड गणेशा' और 'बाल गणेशा' का निर्माण किया गया जो बच्चों के साथ ही युवाओं में भी काफी लोकप्रिय हुआ। इस फिल्म की लोकप्रियता का अंदाजा इसी तथ्य से लगाया जा सकता है कि कई बच्चे अपने आप को गणेश समझने लगे। प्रभु देवा के निर्देशन में बनी फिल्म 'वांटेड’ साल 2009 में रिलीज की गई थी। इसमें सलमान खान को लीड रोल में देखा गया था। इनके अपोजिट एक्ट्रेस आयशा टाकिया ने अहम भूमिका अदा की थी। इस फिल्म में सलमान पर एक गाना'जलवा’ फिल्माया गया था। इस गाने में गणेश चतुर्थी के त्योहार को बखूबी दिखाया गया था।

वर्ष 2012 में प्रदर्शित फिल्म 'अग्निपथ’ में एक गाना 'देवा श्री गणेशा’ ऋतिक पर फिल्माया गया था। इसमें गणेश चतुर्थी का त्योहार सेलिब्रेट किया गया था। रेमो डीसूजा के निर्देशन में बनी फिल्म 'एबीसीडी 2’ वर्ष 2015 में रिलीज की गई थी। इसमें वरुण धवन, श्रद्धा कपूर और प्रभु देवा ने लीड रोल अदा किया था। इस फिल्म में 'हे गणराया’ गाना है जो कि वरुण धवन और उनकी डांस टीम पर फिल्माया गया था। बालीवुड के फिल्मकार अपनी फिल्मों में गणेश चतुर्थी के उत्सव को मनाते आए है। ऐसी फिल्मों में श्री गणेश जन्म, श्री गणेश महिमा, श्री गणेश विवाह, गणेश चतुर्थी, श्री गणेश, सागर संगम, गंगा सागर, जय द्बारकाधीश, घर में राम गली में श्याम, कालचक्र, साहस, जलजला, हम पांच, आज की आवाज, अंकुश, टक्कर, दर्द का रिश्ता, मरते दम तक, इलाका आदि फिल्में शामिल है।

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज 4-1 हारने के बाद भी नंबर 1 रहेगी टीम इंडिया, जानिए क्‍यों

India retains top spot in Test ranking, England arrive fourth

लंदन। भारत आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर बरकार है लेकिन इंग्लैंड पांच मैचों की सीरीज में 4-1 की जीत के साथ चौथे स्थान पर पहुंच गया है। विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम ने सीरीज की शुरुआत 125 अंक के साथ की थी लेकिन सीरीज गंवाने के बाद उसके 115 अंक रह गए हैं। 

भारत को मंगलवार को समाप्त हुए पांचवें और अंतिम टेस्ट में 118 रन से हार का सामना करना पड़ा था जिससे उसने इंग्लैंड को सीरीज 1- 4 से गंवा दी। इंग्लैंड ने सीरीज की शुरुआत पांचवें स्थान और 97 अंक के साथ की थी लेकिन दुनिया की नंबर एक टीम भारत के खिलाफ बड़ी जीत से उसको आठ अंक का फायदा हुआ है और टीम न्यूजीलैंड को पीछे छोड़ते हुए 105 अंक के साथ चौथे स्थान पर पहुंच गई है। जो रूट की इंग्लैंड की टीम अब दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया से सिर्फ एक अंक पीछे है। इन दोनों टीमों के 106 अंक हैं लेकिन ऑस्ट्रेलिया की टीम दशमलव अंक में बेहतर स्थिति में होने के कारण दूसरे स्थान पर है।

न्यूजीलैंड के 102 अंक हैं जिससे इन चार टीमों के बीच अब सिर्फ पांच अंक का अंतर है। आपको बता दें कि इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन भारत के खिलाफ पांचवें और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में मोहम्मद शमी के रूप में भारत का आखिरी विकेट लेकर टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज बन गए हैं। संन्यास लेने की घोषणा कर चुके इंग्लैंड के बल्लेबाज एलिस्टेयर कुक ने करियर के मैच में शतक के साथ इतिहास रचा है।

दिशा पटानी और रितिक रोशन के फ्लर्ट की खबरों को टाइगर श्रॉफ ने बताया ''बेवकूफाना’’

Tiger Shroff said stupid for disha Patni and Hrithik Roshan's flirt reports

मुंबई। अभिनेता टाइगर श्रॉफ ने उन खबरों को पूरी तरह ''बेवकूफाना’’ बताकर खारिज कर दिया है जिसमें कहा गया है कि रितिक रोशन के फ्लर्ट करने से तंग आकर दिशा पटानी ने एक फिल्म छोड़ दी है। दिशा और टाइगर के अफ़ेयर की खबरें चलती रहती हैं। ऐसी खबरें हैं कि दिशा ने रितिक और टाइगर की अगली फिल्म छोड़ दी है क्योंकि रितिक उनके साथ फ्लर्ट करते थे। इस बारे में पूछे जाने पर टाइगर ने पत्रकारों से कहा, ''यह एक हिस्सा है। ना केवल रितिक सर बल्कि हर कलाकार इसका सामना करता है।

एक बार लाइमलाइट में आने के बाद आप आसानी से निशाना बन जाते हो। यह बहुत ही बेवकूफाना अफवाह है। मैं उन दोनों को बहुत अच्छी तरह जानता हूं, वे ऐसे नहीं हैं। वे बहुत ही अच्छे इंसान हैं।’’ इससे पहले दिशा पटानी ने इन खबरों को खारिज करते हुए इन्हें ''बचकाना’’ और ''गैरजिम्मेदाराना अफवाह’’ बताया था तथा रितिक को एक ''गरिमापूर्ण’’ व्यक्ति बताया था। टाइगर माचो की नई श्रृंखला के उद्घाटन के मौके पर बोल रहे थे।

''बागी 2’’ के अभिनेता ने कहा कि अभी इस बारे में बात करना बहुत जल्दबाजी होगी कि यशराज बैनर की अगली फिल्म में उनका और रितिक का साथ में डांस होगा या नहीं। अभी इस फिल्म का नाम तय नहीं किया गया है। उन्होंने कहा, ''उनके (रितिक) साथ काम करने का मेरा पुराना सपना रहा है। वह मेरे लिए सबकुछ हैं। मैं एक अभिनेता, एक इंसान के तौर पर उन्हें देखते हुए बढ़ा हुआ हूं। मैं उनका बहुत बड़ा प्रशंसक हूं। मैं उनसे बहुत कुछ सीखूंगा। हम अक्तूबर से शूटिग शुरू कर रहे हैं।’’ टाइगर ने उन अफवाहों को भी खारिज किया कि वह संजय लीला भंसाली के साथ काम कर रहे हैं और कहा कि फिल्म निर्माता से उन्होंने शिष्टाचार भेंट की। टाइगर स्क्रीन पर अगली बार ''स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’’ में दिखेंगे।

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.