13 मई: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Sunday, 13 May 2018 04:44:49 PM
13 may latest top ten news

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

पाक ने अमेरिकी राजनयिक के देश छोड़ने पर रोक लगाई

Pak bans leaving American diplomat country

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने इस्लामाबाद में एक सड़क दुर्घटना में शामिल अमेरिकी राजनयिक के देश छोड़कर जाने पर पाबंदी लगा दी है। इससे दोनों देशों के ताल्लुकातों में और तनाव आ सकता है। पाकिस्तानी मीडिया ने फुटेज दिखाई है कि इस्लामाबाद के नजदीक रावलपिडी में नूर खान एयरबेस पर एक अमेरिकी विमान खड़ा हुआ है। यह विमान कल आया था और इसे अमेरिका के दूतावास में रक्षा मामले देखने वाले कर्नल जोसेफ इमैनुएल हॉल को वापस लेकर जाना था। 

एक सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि संघीय जांच एजेंसी ( एफआईए ) ने हॉल को देश से बाहर जाने की मंजूरी देने से इनकार कर दिया, क्योंकि उनका नाम काली सूची में है और वह पाकिस्तान से बाहर नहीं जा सकते हैं। गौरतलब है कि इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने कल एक आदेश में कहा था कि अमेरिकी राजनयिक को पूर्ण छूट हासिल नहीं है। 

इसने यह भी आदेश दिया था कि सरकार उनका नाम एक्जिट कंट्रोल लिस्ट में शामिल करने पर फैसला करे। हॉल ने सात अप्रैल को इस्लामाबाद में यातायात सिग्नल को तोड़ दिया था और एक बाइक को टक्कर मार दी थी। बाइक पर दो लोग सवार थे जिसमें से एक की मौत हो गई थी। मरहूम के पिता ने उच्च न्यायालय का रुख कर राजनयिक के देश छोड़कर जाने पर रोकने लगाने की मांग की थी। 

इसने पाकिस्तान और अमेरिका के रिश्तों को और तनावग्रस्त कर दिया है। दोनों मुल्कों के बीच ताल्लुकात पाकिस्तान द्बारा तालिबान और हक्कानी नेटवर्क को पनाह देने की वजह से पहले से ही तनाव में है। जैसे को तैसा की कार्रवाई करते हुए पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को देश में मौजूद अमेरिकी राजनयिकों पर वैसे ही यात्रा प्रतिबंध लगा दिए हैं जैसे अमेरिका में पाकिस्तानी राजनयिकों पर लगाए गए हैं। अमेरिकी फैसले के मुताबिक, वाशिंगटन में स्थित दूतावास और न्यूयॉर्क, लॉस एंजिलिस, टेक्सास और शिकागो के वाणिज्य दूतावासों में तैनात पाकिस्तानी राजनयिकों को अपनी तैनाती के शहर के 40 किलोमीटर के दायरे में रहना जरूरी होगा। 

भाजपा ने चिदंबरम पर लगाया विदेश में धन छुपाने का आरोप

BJP accused Chidambaram of concealing money in foreign countries

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने पूर्व वित्त मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम पर आयकर विभाग से अपनी संपत्ति छिपाने का आरोप लगाते हुए भ्रष्टाचार के मामले में उनकी तुलना पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से की है। सीतारमण ने आज यहां पार्टी कार्यालय में पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा कि चिदंबरम ने अपने आयकर का विवरण भरते समय ब्रिटेन के कैम्ब्रिज में अपनी पांच करोड़ 37 लाख की संपत्ति का ब्यौरा नहीं दिया है और इसके आलावा उन्होंने ब्रिटेन में ही अन्य स्थानों पर 80 लाख रुपए की अपनी अन्य संपत्ति का भी जिक्र नहीं किया है। 

चिदंबरम ने अमेरिका में भी अपनी 3.28 करोड़ की संपत्ति आयकर विवरण में नहीं बतायी है। उन्होंने कहा कि चिदंबरम संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के काल में वित्तमंत्री और गृहमंत्री जैसे जिम्मेदार पदों पर रह चुके हैं इसीलिए आयकर विवरण में अपनी सम्पत्तियों का विवरण न देना चार्टर्ड अकाउंटेंट की भूल नहीं कही जा सकती है। उन्होंने कहा कि आयकर विभाग ने चिदंबरम के खिलाफ चार आरोप पत्र दायर किए हैं और उनकी जाँच चल रही है। 

उन्होंने कहा कि वह जानना चाहती हैं कि क्या कांग्रेस में भी नवाज शरीफ जैसे लोग हैं और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जो कि खुद नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर हैं, क्या चिदंबरम के खिलाफ जांच कराएंगे। उन्होंने कहा कि शरीफ को तो वहां के उच्चतम न्यायलय ने विदेशों में अपनी संपत्ति को आयकर विवरण में छिपाने के मामले में पांच साल के लिए चुनाव लड़ने से अयोग्य करार कर दिया है, क्या कांग्रेस अपनी पार्टी के नवाज शरीफ के बारे में कुछ कहेगी। 

सीतारमण ने कहा कि चिदंबरम के 21 विदेशी बैंकों में खाते हैं और 14 देशों में उनकी संपत्ति है। उसकी सारी जानकारी पता लगाई जा रही है और ब्रिटेन की संपत्ति का विवरण तो मीडिया में भी आ चुका है। अब समय आ गया है कि राहुल गांधी बोले क्योंकि वह अक्सर भ्रष्टाचार पर बोलते रहते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विदेशों में जमा काला धन और भारत में मौजूद काला धन को बाहर लाने के लिए कृतसंकल्प है और यह उनका चुनावी वादा भी था। भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए ही उन्होंने विदेशों में जमा काले धन को सार्वजानिक करने के लिए आयकर कानून 2015 में संशोधन किया और विदेशों में जमा धन को अपने आयकर विवरण से आंशिक या पूर्ण रूप से छिपाने को अवैध बनाया। ऐसे मामले में 120 प्रतिशत जुर्माने की व्यवस्था है तथा जेल भेजे जाने का भी प्रावधान है।

उनसे जब यह पूछा गया कि चिदंबरम के विदेशों में छिपाए गए धन की जानकारी का आधार क्या है तो उन्होंने कहा कि मीडिया में छपी हुई खबरों के आधार पर ही वह ये आरोप लगा रही हैं। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि चिदंबरम ने 2016 के आयकर विवरण में ब्रिटेन और अमेरिका की संपत्ति का जिक्र नहीं है और 2009 में भी आयकर विवरण में इस संपत्ति का जिक्र नहीं किया है। सीतारमण ने हालांकि यह नहीं बताया कि अमरीका के किस शहर में उनकी संपत्ति है। उन्होंने कहा कि अमेरिका और कैंब्रिज में संपत्ति का विवरण भी उन्हें मीडिया से मिला है लेकिन ब्रिटेन में 80 लाख की संपत्ति का ज़िक्र मीडिया में नहीं आया है। 

इंडोनेशिया में तीन चर्चों पर आत्मघाती हमले, छह की मौत

Suicide attack on three churches in Indonesia, six killed

जकार्ता। इंडोनेशिया के दूसरे सबसे बड़े शहर सुरबया के तीन चर्चों पर आज हुए आत्मघाती हमलों में कम से कम छह लोगों की मौत हो गई और 35 से अधिक अन्य घायल हो गए। पुलिस ने मीडिया को बताया कि यह हमले आत्मघाती हमलावरों की ओर से किए गए। पूर्वी जावा पुलिस के प्रवक्ता फ्रैंस बरुंग मंगेरा ने बताया, मृतकों की पहचान की जा रही है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक एक चर्च के बाहर सुरक्षाकर्मी एक महिला और उसके दो बच्चों को रोक कर उनसे पूछताछ कर रही थी। टेलीविजन से प्राप्त तस्वीरों के मुताबिक एक चर्च के प्रवेश द्वार के बाहर क्षतिग्रस्त मोटरसाइकिलें और मलबा बिखरा हुआ दिखाई दिया। पुलिस ने उसके आस-पास की घेराबंदी कर जांच शुरू कर दी है। 

अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि कहीं चौथे चर्च पर भी तो विस्फोट नहीं हुआ है। पुलिस ने सुरबया शहर के सभी चर्चों को अस्थायी रूप से बंद करने के आदेश जारी किए हैं। शहर में होने वाले विशाल फूड फेस्टिवल को भी रद्द कर दिया गया है। इन हमलों की जिम्मेदारी अभी तक किसी भी संगठन ने नहीं ली है। इंडोनेशिया दुनिया का सबसे बड़ा मुस्लिम बहुल देश है और हाल के दिनों में आतंकवाद की समस्या से जूझ रहा है। इंडोनेशिया ने अमेरिका में 2001 में अलकायदा की ओर से किए गए हमलों के बाद आतंकवादी गतिविधियों को काबू करने में सफलता पाई है लेकिन हाल के वर्षों में इस्लामिक स्टेट के बढ़ते हुए प्रभाव के कारण वहां आतंकवादी गतिविधियों में इजाफा हुआ है। गौरतलब है कि इंडोनेशिया में इससे पहले भी चर्चों को निशाना बनाकर हमले किए जाते रहे हैं। वर्ष 2000 में क्रिसमस पर्व के दौरान हुए हमले में लगभग 20 लोग मारे गए थे। 

राहुल की प्रधानमंत्री पद की दावेदारी दिन में सपने देखने जैसा: रमन

Rahuls prime ministerial post is like dreaming day

जगदलपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की प्रधानमंत्री पद की दावेदारी को दिन में सपने देखने जैसा करार दिया है। डा.सिंह ने आज यहां प्रेस कान्फ्रेंस में राहुल गांधी के प्रधानमंत्री पद की दावेदारी के बारे में पूछे जाने पर कहा कि कांग्रेंस लगातार आधार खोती जा रही है और एक्जिट पोल के नतीजों से साबित हो रहा है कि उसका कर्नाटक किला भी ध्वस्त हो रहा है। 

21 राज्यों से भाजपा ने उसे सत्ता से बाहर कर दिया है और महज छह प्रतिशत ही उसके कब्जे में रह गया है, इसके बाद भी अगर वह आगामी चुनाव में प्रधानमंत्री पद की दावेदारी कर रहे हैं तो इसे दिन में सपना देखना जैसा ही माना जाना चाहिए। एक माह की विकास यात्रा पर निकले डा.सिंह ने कहा कि ..राहुल की वैसे उम्र भी सपना देखने की है, इसलिए उन्हे देखते रहना चाहिए ।

उन्होंने विश्वास जताया कि कर्नाटक में भाजपा सत्ता में आएगी और वहां भी विकास के एक नए दौर की शुरूआत होगी। विकास के प्रति कांग्रेस के नजरिए पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि लगातार राज्यों में चुनावी शिकस्त खाने के बाद भी वह कुछ सीख नही रही है।सरकारी धन से विकास यात्रा के जरिए भाजपा के पक्ष में चुनावी माहौल बनाने के कांग्रेस के उन पर लगाए जा रहे आरोपों के बारे में पूछे जाने पर डा.सिंह ने कहा कि यह कांग्रेसियों की नजर का दोष है।

विकास यात्रा राज्य में लोगो के जीवन में आए बदलाव एवं उनकी बेहतरी के लिए हो रहे कार्यों को जनता तक पहुंचाने एवं उनसे आर्शीवाद लेने के लिए है। इसमें कांग्रेस के भी विधायकों, सांसदों एवं अन्य जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जा रहा है, लेकिन अगर वह इसमें शामिल नही होते तो वह कुछ नही कर सकते।

'कॉफी विद करण' में आयेगी 'कुछ कुछ होता है' की टीम!

Koffee with Karan will come in Kuch Kuch Hota Hai's team!

मुंबई। बॉलीवुड फिल्मकार करण जौहर के सुपरहिट टॉक शो में कुछ कुछ होता है की टीम नजर आ सकती है। करण जौहर का शो 'कॉफी विद करण' सीजन 6 कुछ महीनों में शुरू होने वाला है। नए सीजन के पहले एपिसोड में करण के करीबी दोस्त शाहरुख खान, रानी मुखर्जी और काजोल आ सकते हैं। इसके पहले तीनों 'कॉफी विद करण' के सीजन 2 में साथ नजर आ चुके हैं।

बताया जा रहा है कि करण, अनुष्का शर्मा और विराट कोहली को पहले एपिसोड में बुलाना चाहते थे। वह उनकी लव लाइफ और शादी के बारे में बात करना चाहते थे लेकिन विराट के बिजी शेड्यूल के कारण यह संभव नहीं हो पाया। शो की शूटिंग सितंबर से शुरू होगी और अक्टूबर से शो ऑन एयर हो जाएगा। उसी समय करण की निर्देशक के तौर पर पहली फिल्म 'कुछ-कुछ होता है' का 20 साल भी हो जाएगा। करण, शाहरूख, काजोल और रानी को शो में लाकर इस मौके को सेलिब्रेट करना चाहते हैं।

शमशेरा में रणबीर के अपोजिट काम करेंगी वाणी!

Vaani Kapoor to do the work of Ranbir Kapoor in Shamshera

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री वाणी कपूर आने वाली फिल्म शमशेरा में रॉकस्टार रणबीर कपूर के अपोजिट काम करती नजर आ सकती हैं। रणबीर कपूर, यशराज के बैनर तले बन रही फिल्म शमशेरा में काम कर रहे हैं। फिल्म का टीजर रिलीज कर दिया गया है। फिल्म में रणबीर कपूर डकैत का किरदार निभाते नजर आयेंगे। फिल्म में रणबीर के अपोजिट वाणी कपूर काम करती नजर आ सकती है। ऐसा माना जा रहा है कि अपनी इमेज से हटकर अब रणबीर कपूर हर तरह की फिल्मों में हाथ आजमा रहे हैं। इस फिल्म में डकैती किरदार आपकी यादों को ताजा करने वाले हैं।

रणबीर कपूर ने कहा है कि शमशेरा उस तरह की फिल्म है जो वह हिंदी सिनेमा में देखते हुए बड़े हुए है। शमशेरा में रणबीर कपूर और वाणी कपूर के अलावा संजय दत्त की भी अहम भूमिका है। अगले महीने से इसकी शूभटग शुरु हो सकती है और 2019 के आधे साल गुजरने तक फिल्म की शूटिंग खत्म हो जाएगी। संजय दत्त फिल्म 'शमशेरा' में खतरनाक खलनायक का किरदार निभाते दिखेंगे।

इस समय लक्ष्य का पीछा करना बेहतर : कोहली

Virat Kohli says It's better to chase target this time

नई दिल्ली। विराट कोहली को लक्ष्य का पीछा करना प्रिय है, सभी इस बात से वाकिफ हैं और रायल चैलेंजर्स बेंगलूर का यह कप्तान इंडियन प्रीमियर लीग के आगामी मैचों में भी लक्ष्य का पीछा करना चाहेगा। बेंगलूर ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 182 रन के लक्ष्य को 19 ओवर में ही हासिल कर लिया जिसमें कोहली ने 40 गेंद में 70 रन बनाये। अब भी उनके पास क्वालीफाई करने की थोड़ी सी उम्मीद बनी हुई और कोहली इस मौके का पूरा फायदा उठाना चाहते हैं।

कोहली ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, ''हमने गेंद से अच्छा नहीं किया लेकिन इन खिलाडिय़ों ने अच्छा प्रदर्शन किया। हालांकि लक्ष्य का पीछा करना आदर्श था। इस चरण में पहले गेंदबाजी करना बेहतर है क्योंकि बल्लेबाज के लिये जिम्मेदारी लेना आसान है। आप जैसा चाहें, मैच का रूख वैसे कर सकते हैं। हमारे खिलाडिय़ों के लिये यही अच्छा है।"

एबी डिविलियर्स ने भी 37 गेंद में 72 रन बनाये। कोहली ने कहा, ''मुझे एबी के साथ बल्लेबाजी करना पसंद है। हमने बीते समय में कई बार ऐसा किया है। यह लक्ष्य चुनौतीपूर्ण था लेकिन पारी के बीच ब्रेक में एबी ने मुझे कहा कि भचता मत करो, हम इसे हासिल कर लेंगे। उनके साथ बल्लेबाजी करना मेर लिये सम्मान की बात है।"

आईपीएल में खेलने वाले पहले नेपाली क्रिकेटर बने लेमिचाने

Sandeep Lamichhane became the first Nepali cricketer to play in the IPL

नई दिल्ली। नेपाली क्रिकेट में आज तब नया इतिहास जुड़ गया जब उसके युवा लेग स्पिनर संदीप लेमिचाने को दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से आईपीएल में अपना पहला मैच खेलने का मौका मिला। आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क की खोज माने जाने वाले लेमिचाने को डेयरडेविल्स को नीलामी में 20 लाख रूपये में खरीदा था लेकिन उन्हें अब तक पदार्पण का मौका नहीं मिला था। प्लेआफ की दौड़ से बाहर होने के बाद डेयरडेविल्स ने आज नेपाल के स्यांगजा में जन्में इस 17 वर्षीय क्रिकेटर को अंतिम एकादश में रखा।

क्लार्क ने लेमिचाने के टीम में चयन पर तुरंत खुशी व्यक्त की। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ''मेरे युवा साथी संदीप लेमिचाने को आईपीएल में पहला मौका मिला है। क्या अद्भुत कहानी है।"लेमिचाने ने इस मैच से टी20 में पदार्पण भी किया। उनके अलावा दिल्ली ने अभिषेक शर्मा और जूनियर डाला को भी आईपीएल में पदार्पण का मौका दिया। दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच रिकी पोंटिंग ने इन तीनों को आईपीएल कैप सौंपी।

इक्विटी म्यूचुअल फंडों को अप्रैल में मिला 12,400 करोड़ रुपए का निवेश

Equity mutual funds invested Rs 12,400 crore in April

नई दिल्ली। निवेशकों ने अप्रैल महीने में इक्विटी म्यूचुअल फंडों में 12,400 करोड़ रुपए का भारी निवेश किया है। इस तरह उनके प्रबंधन के तहत परिसंपत्तियां ( एयूएम ) रिकॉर्ड आठ लाख करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गई हैं। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। मार्च में इनमें निवेश 6,650 करोड़ रुपए का था। 

इस तरह अप्रैल के अंत तक इक्विटी म्यूचुअल फंडों के प्रबंध में कुल सम्पत्ति पिछले महीने की तुलना में छह प्रतिशत बढ़कर आठ लाख करोड़ रुपए हो गया है। एसेट म्यूचुअल फंड के मुख्य निवेश अधिकारी ( सीआईओ ) विरल बेरावाला ने कहा , अप्रैल की शुरुआत में बाजार में संशोधन के तौर पर कुछ गिरावट आयी थी जिसको देखते हुए मूल्य देख कर निवेश करने वाले निवेशकों ने निवेश बढ़ा दिया था। इसके अलावा मार्च का महीना पैसे की दृष्टि से कुछ तंगी का महीना होता है क्योंकि इस महीने निवेशकों को निवेश बीमा के प्रीमियम जमा करने होते हैं।

इससे उनकी ओर से निवेश योजनाओं में पूंजी प्रवाह कम रहता है। कुल मिलाकर पिछले महीने म्यूचुअल फंड योजनाओं में 1.4 लाख करोड़ रुपए का निवेश आया, जबकि दीर्घावधि के इक्विटी लाभ पर नए कर की वजह से मार्च में इन योजनाओं से 50,752 करोड़ रुपए की निकासी हुई थी।

आर्थिक आंकड़े, वैश्विक रुख और वित्तीय परिणाम तय करेंगे शेयर बाजार की चाल

Financial data, global stance and financial results will determine the move of the stock market

मुंबई। बीते सप्ताह तेजी में रहे शेयर बाजार की चाल अगले सप्ताह जारी होने वाले आर्थिक आंकड़ों, कंपनियों के तिमाही परिणाम, कर्नाटक चुनाव केे नतीजे के अलावा वैश्विक रुख से तय होगी। समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1.78 प्रतिशत यानी 620.41 अंक की तेजी में 14 सप्ताह के उच्चतम स्तर 35,535.79 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 188.25 अंक यानी 1.77 प्रतिशत की छलांग लगाकर 10,806.50 अंक पर बंद हुआ। इस दौरान बीएसई का मिडकैप 217.02 अंक यानी 1.31 प्रतिशत की साप्ताहिक गिरावट के साथ शुक्रवार को 16,343.99 अंक पर और स्मॉलकैप 173.36 अंक यानी 0.96 प्रतिशत की गिरावट में 17,818.09 अंक पर बंद हुआ।

आगामी सप्ताह के दौरान एचयूएल, साउथ इंडियन बैंक, ल्यूपिन, रिलायंस कम्युनिकेशन, हिडाल्को, आईटीसी, टाटा स्टील और टीवीएस मोटर्स के परिणाम जारी होने हैं। अगले सप्ताह 14 मई को कर्नाटक चुनाव के एग्जिट पोल, थोक मूल्य सूचकांक और मुद्रास्फीति दर के आंकड़े जारी होने हैं। इसके बाद 15 मई को प्रसिद्ध ज्वेलरी डिजाइनर नीरव मोदी के घोटाले से सुर्खियों में रहे पंजाब नेशल बैंक का वित्तीय परिणाम जारी होना है। इसके साथ ही कर्नाटक चुनाव के नतीजे भी इसी दिन जारी होंगे।

बीते सप्ताह रिजर्व बैंक द्बारा देना बैंक पर ऋण देने और नयी भर्ती करने पर लगाए गए प्रतिबंध और केनरा बैंक, यूको बैंक तथा ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स को घाटा होने की खबरों का असर भी अगले सप्ताह घरेलू शेयर बाजार पर रहेगा। आलोच्य सप्ताह के दौरान ही इंफोसिस के स्वतंत्र निदेशक रवि वेंकटेशन ने अपने पद से इस्तीफा दिया है और आईआईपी के आंकड़े भी जारी हुए हैं, जिसका प्रभाव आगामी सप्ताह दिख सकता है।

वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों के उतार-चढाव का असर भी शेयर बाजार पर दिखेगा। इसके अलावा अमेरिका और उत्तर कोरिया के संबंधों में सुधार से निवेशकों का भरोसा बढ़ा है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दवाओं की कीमत कम करने की अपनी नीति अमेरिकन पेटेंट फर्स्ट का ब्लूप्रिट जारी किया है , जिससे दवा कंपनियों के शेयरों पर असर पड़ सकता है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 
loading...

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.