14 मार्च: बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Mar 2018 04:23:51 PM
14 march top 10 news in hindi

बुधवार को सपाट होकर बंद हुआ शेयर बाजार

Stock market closed flat on Wednesday

मुम्बई। एशियाई बाजारों से मिले कमजोर संकेतों और तेल एवं गैस तथा दूरसंचार कंपिनयों में बिकवाली के दबाव में एक समय करीब 300 अंक का गोता लगा चुका बीएसई का सेंसेक्स थोक महंगाई के सकारात्मक आंकड़ों के बल पर अंतिम घंटे में संभलाता हुआ मात्र 21.04 अंक की मामूली गिरावट के साथ 33,835.74 अंक पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 15.95 अंक की गिरावट के साथ 10,410.90 अंक पर रहा। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की संरक्षणवादी नीति के कारण वैश्विक व्यापार युद्ध शुरू होने की आशंका के मद्देनजर एशियाई बाजारों से भी कमजोर संकेत मिले हैं। ट्रंप ने स्टील और अल्युमिनियम पर आयात शुल्क लगाने के बाद चीन से आयातित कई अन्य वस्तुओं पर आयात शुल्क लगाने की योजना बनायी है, जिससे चीन आग बबूला हो गया है।

खबरों के अनुसार ट्रंप मुख्य रूप से टेक्नोलॉजी, कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। लेकिन, इसका दायरा बढक़र 100 उत्पादों तक हो सकता है। चीन ने भी इन कदमों का करार जवाब देने की चेतावनी दी है। अमेरिका और चीन की इस तनातनी से शेयर बाजारों में बिकवाली हावी रही।

कमजोर वैश्विक रुख के बीच, सेंसेक्स 123.23 अंक की गिरावट में 33,733.55 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान यह 33,580.69 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया। कारोबार के अंतिम पहर में बाजार पर थोक महंगाई दर के आंकड़ों से बिकवाली का दौर थमने लगा और यह 33,875.15 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचा।

अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.06 प्रतिशत की गिरावट में 33,835.74 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 12 कंपनियां हरे निशान में रहीं, जबकि एक कंपनी के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे। फरवरी में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति की दर लगातार तीसरे महीने की गिरावट के साथ 2.48 प्रतिशत पर आ गई, जो सात माह का निचला स्तर है।

निफ्टी की शुरुआत भी कमजोर रही और यह 33.80 अंक की गिरावट में  10,393.05 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 10,420.35 अंक के उच्चतम और 10,336.30 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.15 फीसदी की गिरावट में 10,410.90 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 30 कंपनियों में  गिरावट रही।

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) फर्जीवाड़े के मद्देनजर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बैंकों द्वारा लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एलओयू) या लेटर ऑफ कंफर्ट जारी करने पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाने की मंगलवार को अधिसचूना जारी की, जिसके कारण बैंकिंग क्षेत्र में लिवाली का जोर रहा।

बीएसई की 2,841 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 164 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे जबकि 1,320 में तेजी और 1,357 में गिरावट रही। मंझोली और छोटी कंपनियों में लिवाली रही। बीएसई का मिडकैप 0.28 प्रतिशत की तेजी में  16,315.44 अंक पर और स्मॉलकैप 0.06 प्रतिशत की बढ़त में 17,612.92 अंक पर बंद हुआ।

न्यायालय ने अयोध्या प्रकरण में हस्तक्षेप के लिये सारे आवेदन अस्वीकार किये

Court rejects all applications for intervention in Ayodhya case

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद में हस्तक्षेप की अनुमति के लिये दायर सभी अंतरिम आवेदन आज अस्वीकार कर दिये।

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूिर्त अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस ए नजीब की तीन सदस्यीय विशेष खंडपीठ ने इस दलील को स्वीकार कर लिया कि भूमि विवाद के सभी मूल पक्षकारों को ही बहस करने की अनुमति दी जानी चाहिए और इस प्रकरण से असंबद्ध व्यक्तियों की हस्तक्षेप करने के लिये दायर सारी आर्जियां अस्वीकार की जानी चाहिए।

शीर्ष अदालत ने भाजपा नेता सुब्रमणियन स्वामी की भी इस विवाद में हस्तक्षेप के लिये दायर अर्जी अस्वीकार कर दी।

हालांकि न्यायालय ने अयोध्या में विवादित स्थल पर बने राम मंदिर में पूजा करने के मौलिक अधिकार को लागू करने के लिये स्वामी की याचिका को बहाल करने का आदेश दिया। स्वामी की इस याचिका का पहले निबटारा कर दिया गया था।

स्वामी ने कहा, मैंने एक याचिका यह कहते हुये दायर की थी कि पूजा करना मेरा मौलिक अधिकार है और यह संपत्ति के अधिकार से अधिक महत्वपूर्ण है। विशेष खंडपीठ के पास इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ14 अपीलें विचारार्थ हैं।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ बेंच के तीन न्यायाधीशों की पीठ ने 2010 में बहुमत के फैसले में इस विवादित भूमि को राम लला, निर्मोही अखाड़ा और सुन्नी वक्फ बोर्ड के बीच बराबर बराबर बांटने का आदेश दिया था।

शमी का सिरदर्द बढ़ा, अब होगी फिक्सिंग के आरोपों की जांच

नई दिल्ली। पत्नी हसीन जहां के आरोपों के बाद तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का सिरदर्द बढ़ता ही जा रहा है। अब बीसीसीआई ने अपनी भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) को शमी पर लगे मैच फिक्सिंग के आरोपों की जांच के आदेश देकर उनका सिरदर्द और बढ़ा दिया है।

बीसीसीआई का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) ने शमी पर मैच फिक्सिंग में शामिल होने के आरोपों की जांच करने के लिए एसीयू को पत्र लिखा है। भारतीय क्रिकेटर की पत्नी हसीन जहां ने हाल ही में शमी पर घरेलू हिंसा, बलात्कार, उत्पीडऩ, विवाहेत्तर संबंधों के साथ उनके मैच फिक्सिंग में शामिल होने और पाकिस्तान की एक महिला से पैसे लेने जैसे संगीन आरोप लगाए थे।

सीओए के प्रमुख विनोद राय ने बुधवार को एसीयू के प्रमुख नीरज कुमार को शमी के ऊपर लगे आरोपों की जांच करने और एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट देने के लिए ईमेल किया। राय ने बीसीसीआई के पदाधिकारियों और मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी को भी इसकी सूचना दी है।

राय ने अपने पत्र में कहा मीडिया में आ रही विभिन्न खबरों के अनुसार शमी पर कई तरह के आरोप लग रहे हैं। सीओए ने शमी और उनकी पत्नी के बीच की टेलीफोन पर हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी सुनी है। सीओए इस बातचीत में केवल उस हिस्से को लेकर चिंतित है जिसमें दावा किया गया है कि शमी ने मोहम्मद भाई से किसी पाकिस्तानी महिला अलीश्बा के जरिए पैसा लिया है।

हसीन ने इससे पहले कोलकाता में संवाददाताओं से बातचीत में भी बार बार अलीश्बा का नाम लेते हुए दावा किया था कि शमी इस नाम की पाकिस्तानी लडक़ी के जरिए मैच फिक्सिंग का पैसा ले रहा है। सीओए प्रमुख ने एसीयू प्रमुख नीरज से भारतीय क्रिकेटर पर लगाए गए फिक्सिंग के आरोपों की जांच के लिए कहा है और सीओए को अपनी रिपोर्ट सप्ताह भर में देने के लिए कहा है ताकि बोर्ड आगे की कार्रवाई कर सके।

राय ने एसीयू प्रमुख से मोहम्मद भाई और अलीश्बा नाम के व्यक्तियों की पहचान करने और शमी की इनके साथ संबंधों को लेकर अपनी जांच का केंद्र रखने के लिए भी कहा है। सर्वाेच्च अदालत द्वारा नियुक्त सीओए प्रमुख ने सात दिनों से अधिक देर तक जांच को नहीं बढ़ाने के लिए भी कहा है।

दुनिया को ब्रह्माण्ड का रहस्य बताने वाले वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का निधन

Legendary Scientist Stephen Hawking has died aged 76

लंदन। दुनिया के जाने माने वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का निधन हो गया है। वह 76 वर्ष के थे। ब्रिटिश प्रेस एसोसिएशन ने उनके परिवार के प्रवक्ता के हवाले से आज यह जानकारी दी। बीबीसी न्यूज के मुताबिक हॉकिग एक ऐसी बीमारी से पीड़ति थे, जिसके चलते उनके शरीर के कई हिस्सों पर लकवा मार गया था।

इसके बावजूद उन्होंने हार नहीं मानी और विज्ञान के क्षेत्र में नई खोज जारी रखी। हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग थ्योरी को समझने में अहम भूमिका निभाई थी। हॉकिग के पास 12 मानद डिग्रियाँ थीं और अमेरिका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान उन्हें दिया गया था।

यूनिवर्सिटी ऑफ केम्ब्रिज में गणित और सैद्धांतिक भौतिकी के प्रोफेसर रहे स्टीफन हॉकिंग की गिनती आईंस्टीन के बाद सबसे बड़े भौतकशास्त्रियों में होती थी। हॉकिंग का जन्म इंग्लैंड में आठ जनवरी 1942 को हुआ था। हमेशा व्हील चेयर पर रहने वाले हॉकिग किसी भी आम इंसान से अलग दिखते थे।

विश्व प्रसिद्ध महान वैज्ञानिक और बेस्टसेलर रही किताब' अ ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ के लेखक हॉकिंग ने शारीरिक अक्षमताओं को पीछे छोड़ते हुए यह साबित किया था कि अगर इच्छा शक्ति हो तो इंसान कुछ भी कर सकता है।

अपनी खोज के बारे में हॉकिग ने कहा था, मुझे सबसे ज्यादा खुशी इस बात की है कि मैंने ब्रह्माण्ड को समझने में अपनी भूमिका निभाई, इसके रहस्य लोगों के खोले और इस पर किये गये शोध में अपना योगदान दे पाया। मुझे गर्व होता है जब लोगों की भीड़ मेरे काम को जानना चाहती है।

असम और मिजोरम सौहार्द से सुलझाएं सीमा विवादः राजनाथ

Assam and Mizoram resolve border dispute with cordiality Rajnath

गुवाहाटी। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने असम और मिजोरम सरकार को निर्देश दिया है कि वे क्षेत्र में शांति और व्यवस्था बनाये रखने तथा सीमा पर विवाद कम करने के लिए हरसंभव कदम उठाएं। सिंह ने मिजोरम के मुख्यमंत्री लल थनहवला को पत्र लिखकर कहा है कि सभी लम्बित मामले परस्पर सहमति और सौहार्दपूर्ण ढंग से सुलझाए जाने चाहिए।

सिंह ने ललथनहवला से अनुरोध किया है कि क्षेत्र में स्थिति को सुधारने के लिए बैराबी में लोगों को जमा होने से रोकें। पिछले महीने पुलिस ने यहां एक ऐसे स्थान पर लकडियों से एक विश्रामस्थल बनाने की कोशिश कर रहे मिजो छात्रों पर लाठीचार्ज किया था, जिसके बारे में असम का कहना है कि वह उसके सीमाक्षेत्र के अंतर्गत आता है। इस घटना में 49 लोग घायल हो गये थे और सीमा पर तनाव बढ़ गया था।

सिंह ने पत्र में निर्देश दिया, दोनों राज्यों के बीच बचे हुए मुद्दों का समाधान आपसी सहमति और मित्रतापूर्ण ढ़ंग से करें। 

सिंह ने केंद्रीय गृह सचिव को भी निर्देश दिया है कि वह अगले सप्ताह दोनों राज्यों की मुख्य सचिव स्तर की बैठक बुलवाएं। उन्होंने कहा यदि हो तो दोनों देशों के मुख्यमंत्रियों की भी बैठक करवायी जाए।

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने गृह मंत्रालय से हस्तक्षेप की मांग की थी और सीमा विवाद को मित्रतापूर्ण सुलझाने के लिए ललथनहवला के साथ फोन पर बातचीत की थी।

प्रबल इलाज के बाद स्वस्थ हुए अमिताभ बच्चन, Twitter पर साझा की खूबसूरत कविता

Amitabh Bachchan now well after heavy treatment, shared beautiful poem on Twitter

जोधपुर। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने अपने प्रशंसकों एवं चाहने वालों को आश्वस्त किया है कि डॉक्टरों की टीम से उपचार मिलने के बाद वह बिल्कुल ठीक हैं। 75 वर्षीय अभिनेता के कल एक ब्लॉग पोस्ट लिखने के बाद उनके स्वास्थ्य को लेकर आशंकाएं बढऩे लगी थीं। उन्होंने अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखा था, मुंबई से आये डॉक्टर मेरे'' इर्द गिर्द" मौजूद हैं।

उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा था, '' मेरे डॉक्टरों की टीम कल सुबह यहां आ रही है, ताकी वह मेरी जांच कर मुझे फिर से तैयार कर दें... मैं आराम करूंगा और इस पूरी प्रक्रिया के दौरान जानकारी देता रहूंगा... ।"

अमिताभ बच्चन फिल्म' ठग्स ऑफ हिंदुस्तान' की शूटिंग के सिलसिले में जोधपुर में हैं। उनकी पत्नी जया बच्चन ने बताया कि फिल्ममें पहने जाने वाले भारी परिधानों के चलते उनकी गर्दन और पीठ में दर्द था। बच्चन ने आज फिर अपने ब्लॉग और अन्य सोशल मीडिया अकाउंट्स पर अपनी सेहत की जानकारी दी।

अभिनेता ने कविता के जरिये अपने पोस्ट में लिखा था कि वह स्वस्थ महसूस नहीं कर रहे हैं और उपचार के लिये उन्हें डॉक्टरों को बुलाना पड़ा लेकिन अब वह ठीक हैं। उन्होंने ट्वीट किया, '' कुछ कष्ट बढ़ा, चिकित्सक को चिकित्सा के लिए बुलाना पड़ा; इलाज प्रबल, स्वस्थ हुए नवल, चलो इसी बहाने, अपनों का पता तो चला।"

बिना चर्चा के लोकसभा में पारित हुआ वित्त विधेयक 

Finance Bill passed without discussion in Lok Sabha

नई दिल्ली। विभिन्न दलों के हंगामे, नारेबाजी और कुछ दलों के बहिर्गमन के बीच 2018 के वित्त विधेयक, सभी मंत्रालयों तथा विभागों की अनुदान मांगें और संबंधित विनियोग विधेयक को लोकसभा ने बुधवार को ध्वनिमत से पारित कर दिया।

हाल के वर्षों में यह पहला मौका है जब किसी भी मंत्रालय की अनुदान मांगों और वित्त विधेयक को सदन में बिना चर्चा के पारित किया गया है। बजट सत्र का दूसरा चरण गत पांच मार्च को शुरू होने के बाद से ही सदन में विपक्षी सदस्यों तथा सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सहयोगी तेलुगूदेशम पार्टी के हंगामे के कारण कोई कामकाज नहीं हो पाया है।

वित्त विधेयक तथा कुछ मंत्रालयों की अनुदान मांगें आज की कार्यसूची में चर्चा और पारित कराने के लिए दर्ज थी। कार्यसूची के अनुसार, विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की अनुदान मांगें एकसाथ (गिलेटिन) शाम पांच बजे पारित कराई जानी थी, लेकिन संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने सुबह कार्यवाही शुरू होने पर विपक्ष के हंगामे के बीच लोकसभा अध्यक्ष से अनुरोध किया कि सभी अनुदान मांगें तथा वित्त विधेयक 2018 और चालू वित्त वर्ष की अनुपूरक अनुदान मांगें एवं संबंधित विनियोग विधेयक दोपहर 12 बजे के बाद ही पारित कर दिए जाएं।

अध्यक्ष ने उनका अनुरोध स्वीकार करते हुए सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। कार्यवाही पुन: शुरू होने पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सभी मंत्रालयों और विभागों की अनुदान मांगें (गिलेटिन), उनसे संबंधित विनियोग विधेयक पारित कराने के लिए पेश किया, जिसे सदन ने हंगामे के बीच ध्वनिमत से पारित कर दिया।

इसके बाद उन्होंने वित्त विधेयक 2018 को 21 संशोधनों के साथ विचार तथा पारित कराने के लिए पेश किया, जिसे सदन ने बिना चर्चा के ध्वनिमत से पारित कर दिया। इसी दौरान कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सदस्य सदन से बहिर्गमन कर गए। चालू वित्त वर्ष की पूरक मांगें और संबंधित विनियोग विधेयक भी बिना चर्चा के पारित कर दिए गए।-एजेंसी

म्यांमा में रोहिंग्या मुसलमानों के सफाएं के संकेत मिले हैं : संरा सलाहकार

There are indications of riots of Rohingya Muslims in Myanmar: Sara Advisor

संयुक्त राष्ट्र। नरसंहार रोकथाम पर संयुक्त राष्ट्र के सलाहकार का कहना है कि उन्हें प्राप्त सूचनाएं संकेत देती हैं कि म्यांमा सरकार की मंशा रखाइन राज्य में रोहिंग्या समुदाय का सफाया करने और संभवत: उन्हें पूरे तरह से खत्म करने की थी। अगर यह साबित हो जाता है तो ये नरसंहार के अपराध का मामला बनता है।

अडामा डीइंग ने  रोहिंग्या समुदाय की स्थिति का जायजा लेने के लिए 7-17 मार्च तक बांग्लादेश की यात्रा की थी। उन्होंने वहां जो सुना और देखा उसे मानवीय त्रासदी बताया जिसमें म्यांमा सरकार और अंतरराष्ट्रीय समुदाय की भूमिका के संकेत मिले हैं।

डीइंग ने कल एक बयान में कहा कि रोहिंग्या आबादी के खिलाफ अगस्त2017 से चलाया गया ‘ स्कॉर्चड अर्थ’ अभियान प्रत्याशित था और इसे रोका जा सकता था। उन्होंने कहा कि उनकी अत्याचार करने के खतरों की कई चेतावनियों के बावजूद विश्व समुदाय ने आंखे मूंदी रखीं।

इसकी कीमत म्यांमा में रोहिंग्या समुदाय के लोगों को अपनी जान, गरिमा और घरों को गवां कर चुकानी पड़ी। बौद्ध बहुलता वाला म्यांमा रोहिंग्या समुदाय को जातिय समुदाय के तौर पर मान्यता नहीं देता है और उन्हें बांग्लादेश से आए बंगाली प्रवासी बताता है जो उनके देश में अवैध तरीके से रहते हैं। म्यांमा ने उन्हें नागरिकता भी नहीं दी है जिससे वे राज्यविहीन हो गए हैं।

म्यांमा के सुरक्षा बलों ने रोहिंग्या समुदायों के गांवों के खिलाफ स्कॉर्चड अभियान चलाया था, जिसे संयुक्त राष्ट्र और मानवाधिकार समूहों ने जातिय सफाया करार दिया है। रोहिंग्या समुदाय के करीब 7,00,000 लोग बांग्लादेश भाग गए।

लेकिन कई हजार अब भी उत्तरी रखाइन राज्य में है। डीइंग ने कहा कि रोहिंग्या समुदाय के सदस्यों ने जो भुगता है वो किसी भी इंसान को नहीं भुगतना चाहिए। हम यह स्पष्ट कर दें कि म्यांमा में अंतराष्ट्रीय अपराध किए गए हैं।

नोएडा में एक महिला समेत 11 बदमाश गिरफ्तार

11 hoodlum arrested including a woman in Noida

एडा। उत्तर प्रदेश पुलिस ने गश्त के दौरान एक महिला समेत 11 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। नगर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह ने बताया कि बीती रात गश्त पर निकली पुलिस ने सूचना के आधार पर प्रशांत, दीपक, रामकुमार, सैफ, विजय, ओम, अर्जुन, कुंदन और नेहा को गिरफ्तार किया है। 

उन्होंने बताया कि इनके पास से चोरी और लूटे गए 26 कीमती मोबाइल, एक चाकू तथा एक एलईडी टीवी बरामद किया गया है। 

उन्होंने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि ये लोग राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में चोरी और लूट की घटनाएं करते हैं। इन लोगों ने 100 से ज्यादा वारदात में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। उधर थाना सेक्टर 58 के प्रभारी निरीक्षक अनिल प्रताप सिंह ने बताया कि बीती रात उनके थाने के कर्मियों ने गुंडा कानून के तहत शिवम और शोभित को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि यह बदमाश पूर्व में भी लूट के मामले में गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

महाराष्ट्र : आग लगने की अलग-अलग घटनाओं में 3 लोगों की जलकर मौत

Maharashtra: Three persons killed in separate incidents of fire

पुणे/पालघर( महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के पुणे एवं पालघर जिलों में आग लगने की अलग-अलग घटनाओं में 3 लोगों की मौत हो गई। पुणे में प्रिटिंग प्रेस सह गत्ता निर्माण कंपनी में बुधवार को आग लग जाने से इसमें जलकर 2 मजदूरों की मौत हो गई। वहीं पालघर जिले के कासा इलाके में स्थित 3 मंजिला इमारत में बुधवार तडक़े भीषण आग लग जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई।

दमकल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बुधवार तडक़े करीब 3 बजे उन्हें फोन पर पुणे के शिवाजीनगर इलाका स्थित हिमालय इस्टेट बिल्डिंग में आग लगने की सूचना मिली। विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल पहुंचने पर उन्होंने पाया कि आग भवन के अंदर स्थित एक प्रिंभटग प्रेस सह गत्ता निर्माण कंपनी में लगी थी।

उन्होंने बताया कि चूंकि कंपनी उस वक्त बंद थी इसलिए हमें उसका शटर तोडऩा पड़ा। पुलिस ने बताया कि बाद में घटनास्थल से दो मजदूरों के शव बरामद किए गए। घटना के वक्त वे यूनिट के अंदर सो रहे थे। दमकल विभाग के अधिकारी ने बताया कि परिसर के अंदर कागज की बनी काफी सारी सामग्री पड़ी थी इसलिए आग तेजी से फैल गयी।

आग बुझाने के लिये दमकल की कई गाडिय़ों को रवाना किया गया। उन्होंने बताया कि आग लगने के बाद घटनास्थल पर तापमान नियंत्रण का काम जारी है। उन्होंने बताया कि आग संभवत: शॉर्ट सॢकट की वजह से लगी, हालांकि आग लगने के वास्तविक कारणों का पता लगाया जा रहा है। मामले में जांच जारी है।

इधर, पालघर की जिला ग्रामीण पुलिस ने बताया कि तडक़े करीब साढ़े तीन बजे पुलिस को फोन पर यह सूचना मिली कि दहानु तालुका के कासा इलाके में एक मंदिर के निकट स्थित आवासीय सह वाणिज्यिक भवन में आग लग गई है। पुलिस ने यहां जारी एक विज्ञप्ति में बताया कि भवन के भूतल और प्रथम तल पर किराने की कई दुकानें और गोदाम थे, जो आग में पूरी तरह जलकर खाक हो गए।

जिला ग्रामीण पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी हेमंत काटकर ने बताया कि आग में जलकर एक व्यक्ति की मौत हो गई, जिनकी पहचान किराना दुकान के सह-मालिक अजीज विरानी(46) के तौर पर हुई है। उन्होंने बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया।

पुलिस ने बताया कि हालांकि भवन के दूसरे तल पर मौजूद चार अपार्टमेंट के निवासियों को वहां से सुरक्षित निकाल लिया गया। पुलिस ने बताया कि घटना स्थल के लिए दमकल की 3 गाडिय़ों को रवाना किया गया और आग पर काबू पा लिया गया।



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.