14 मई: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Monday, 14 May 2018 04:18:47 PM
14 may latest top ten news

पाक एनएससी ने मुंबई हमले पर शरीफ के बयान को खारिज किया

Pak NSC rejects Sharif statement on Mumbai attack

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सैन्यसंगठन ने सोमवार को अपदस्थ पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के उस बयान को गलत और भ्रामक बताकर खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने 2008 के मुंबई हमले के लिए जिम्मेदार आतंकी संगठनों को लेकर वहां की सरकारों के रवैये की आलोचना की थी।

प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी की अध्यक्षता में हुई राष्ट्रीय सुरक्षा समिति ( एनएससी ) की एक बैठक में 2008 के मुंबई हमलों को लेकर शरीफ के हालिया बयान के बाद बनी स्थिति पर चर्चा हुई। शरीफ ने एक साक्षात्कार में सार्वजनिक तौर पर माना था कि पाकिस्तान में आतंकी संगठन सक्रिय हैं।

उन्होंने नॉन स्टेट एक्टर्स को सीमा पार कर मुंबई में लोगों को मारने की इजाजत देने की नीति पर भी सवाल उठाए। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान ने खुद को अलग-थलग कर लिया है। बैठक के बाद जारी एक बयान में कहा गया कि एनएससी की बैठक में मुंबई हमले के संदर्भ में हालिया बयान की समीक्षा की गई और एक स्वर से इस टिप्पणी को असत्य और भ्रामक करार दिया गया।

एनएससी ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण और खेदजनक है कि बयान में ठोस साक्ष्यों और तथ्यों की अनदेखी की गई। डॉन अखबार ने बयान को उद्धृत करते हुये कहा कि प्रतिभागियों ने पाया कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह राय या तो गलत धारणा या शिकायत के फलस्वरूप सामने आई जो ठोस साक्ष्यों और वास्तविकताओं की पूरी तरह अनदेखी करती है।

प्रतिभागियों ने एक स्वर से आरोपों को खारिज किया और इसमें किये गए भयानक दावों की निंदा की। बयान में कहा गया कि गिरफ्तार भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव और समझौता एक्सप्रेस हमले के मामले में पाकिस्तान को अब भी भारत से सहयोग का इंतजार है। बैठक के बाद प्रधानमंत्री अब्बासी ने शरीफ से मुलाकात की।

एनएससी की बैठक में रक्षा और विदेश मंत्री खुर्रम दस्तगीर , वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल , विदेश सचिव तहमीना जांजुआ , राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ( एनएसए ) सेवानिवृत्त ले . जनरल नसीर खान जांजुआ , ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी के प्रमुख जनरल जुबेर हयात , आईएसआई और मिलिट्री इंटेलीजेंस के महानिदेशक तथा तीनों सेनाओं के प्रमुख थे। 

कांग्रेस का राष्ट्रपति को पत्र : मोदी को ‘आगाह’ करें, ‘धमकी भरी भाषा’ न बोलें

Congress Letter to President kovind

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के एक अंश को लेकर कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि वह मोदी को भविष्य में ‘धमकाने वाली और अवांछित’ टिप्पणी नहीं करने की सलाह दें क्योंकि इस तरह की भाषा प्रधानमंत्री पद की गरिमा के अनुरूप नहीं है।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को 13 मई को भेजे गए पत्र में उस पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, लोकसभा में पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खडग़े, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद और उप नेता आनंद शर्मा, पार्टी के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा, पार्टी महासचिव अशोक गहलोत, वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम और पार्टी के कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं के हस्ताक्षर हैं।

मुख्य विपक्षी पार्टी ने इस पत्र में प्रधानमंत्री द्वारा छह मई को हुबली में एक चुनावी सभा में दिए भाषण के एक अंश का हवाला देते हुए बताया कि नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस के नेता सुन लीजिए, अगर सीमाओं को पार करोगे तो ये मोदी है, लेने के देने पड़ जाएंगे...। कांग्रेस ने इस पत्र में आरोप लगाया, ‘‘प्रधानमंत्री ने कांग्रेस के नेतृत्व को धमकी दी,जो निंदनीय है।

संवैधानिक रूप से शासित 1.30 अरब आबादी वाले लोकतांत्रिक देश के प्रधानमंत्री की भाषा यह नहीं हो सकती। सार्वजनिक अथवा निजी तौर पर इस तरह का विमर्श अस्वीकार्य है। जिन शब्दों का इस्तेमाल हुआ वो धमकी भरे हैं और इनका मकसद अपमान करना और भडक़ाना है।

पार्टी ने कहा कि कांग्रेस देश की सबसे पुरानी पार्टी है और कई चुनौतियों और धमकियों का सामना कर चुकी है। चुनौतियों और धमकियों का सामना करने में कांग्रेस नेतृत्व ने हमेशा साहस और निडरता का परिचय दिया है। हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि इस तरह की धमकियों से न तो पार्टी और न ही हमारा नेतृत्व झुकने वाला है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने इस पत्र में यह भी कहा कि राष्ट्रपति देश का संवैधानिक मुखिया होता है और प्रधानमंत्री एवं उनकी कैबिनेट को परामर्श देना या मागदर्शन करना राष्ट्रपति का कर्तव्य होता है।

प्रधानमंत्री से इस तरह की भाषा की उम्मीद नहीं की जाती है चाहे वह चुनाव के समय ही क्यों नहीं बोल रहे हों। पार्टी ने कहा कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को आगाह करें कि वह कंाग्रेस पार्टी या किसी भी दूसरी पार्टी के लिए इस तरह की अवांछित और धमकी भरी भाषा का इस्तेमाल नहीं करें क्योंकि यह प्रधानमंत्री पद की गरिमा के अनुरूप नहीं है।

उत्तर कोरिया परमाणु हथियारों को कभी भी पूरी तरह से खत्म नहीं करेगा: पूर्व राजनयिक

North Korea will never end nuclear weapons altogether: Former diplomat

सोल। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच अगले महीने होने वाली ऐतिहासिक शिखर बैठक से पहले उत्तर कोरिया के एक पूर्व राजनयिक ने कहा है कि यह कोरियाई देश अपने परमाणु हथियारों को कभी भी पूरी तरह से खत्म नहीं करेगा। ब्रिटेन में उत्तर कोरिया के उप राजदूत रहे थाए योंग-हो अगस्त 2016 में अपना पद छोडक़र दक्षिण कोरिया चले गए थे। उन्होंने कहा कि मौजूदा कूटनीतिक कोशिश और बातचीत वास्तविक और पूरी तरह निरस्त्रीकरण के साथ समाप्त नहीं होगी, हालांकि उत्तर कोरिया की ओर से परमाणु खतरे को जरूर कम कर देगी।

थाए ने दक्षिण कोरिया की समाचार एजेंसी न्यूसिस से कहा कि अंतत : उत्तर कोरिया परमाणु हथियार मुक्त देश के नकाब में परमाणु शक्ति संपन्न देश ही रहेगा। थाए की यह टिप्पणी 12 जून को सिंगापुर में किम और और ट्रंप के बीच होने वाली अभूतपूर्व शिखर मुलाकात के पहले आई है। दोनों नेताओं की बैठक में उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम का एजेंडा छाए रहने के आसार हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया की कूटनीतिक रणनीति है कि पहले अत्याधिक टकराव के हालात पैदा कर दो और फिर अचानक शांति के संकेत भेजो। गौरतलब है कि पिछले महीने उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के नेताओं ने मुलाकात की थी और कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु हथियारों से मुक्त करने पर प्रतिबद्धता जताई थी। सप्ताहांत पर उत्तर कोरिया ने कहा था कि वह अगले हफ्ते अपने परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट कर देगा। 

इराक चुनाव में मोकतदा अल-सदर को बढ़त

Muqtada al-Sadr leads to Iraq election

बगदाद। इराक के संसदीय चुनाव में शिया मौलवी मोकतदा अल-सदर को बढ़त मिल गयी है। इराक के चुनाव आयोग के अनुसार कल यह जानकारी दी। चुनाव आयोग ने कहा कि आधे से ज्यादा मतगणना की जा चुकी है और इस समय शिया मौलवी मोकताद बढ़त बनाये हुए हैं। इराक के 18 राज्यों में से 10 में डाले गये वोटों में से 95 प्रतिशत मतों की गिनती पूरी हो चुकी है।

मोकताद का देश की राजनीति में जबरदस्त वापसी कर सकते हैं। ईरान समर्थित विरोधियों ने उनको दरकिनार किया हुआ था। ईरान का समर्थन वाले शिया सैन्य नेता हादी अल-अमीरी का गुट दूसरे नंबर पर चल रहा है। इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी तीसरे नंबर पर चल रहे हैं। इससे पहले सुरक्षा और आयोग सूत्रों ने इराक के प्रधानमंत्री हैदल अल-अबादी के आगे रहने की जानकारी दी थी। गौरतलब है कि इराक से इस्लामिक स्टेट (आईएस) को खदेड़े जाने के बाद पहली बार संसदीय चुनाव हो रहे हैं। इराक चुनाव में 44.52 प्रतिशत मतदान हुआ था जो पिछले चुनाव से कम था। इराक चुनाव के परिणाम आज घोषित होंगे।

मधुर भंडारकर बनायेंगे चांदनी बार का सीक्वल

Madhur Bhandarkar will make Chandni bar sequel

मुंबई। बॉलीवुड के जाने-माने फिल्मकार मधुर भंडारकर अपनी सुपरहिट फिल्म चांदनी बार का सीक्वल बनाने जा रहे हैं। मधुर भंडारकर अपनी राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त फिल्म 'चांदनी बार' का दूसरा पार्ट बनाने की तैयारी कर रहे हैं। तब्बू की मुख्य भूमिका वाली इस फिल्म को दर्शकों ने बेहद पसंद किया था। इसके दूसरे पार्ट को शैलेष आर सिंह प्रोड्यूस करेंगे।

'2005 के बाद डांस बार्स पर लगे बैन को लेकर मधुर ने काफी रिसर्च की है। फिल्म उसी समय और वषिय पर आधारित है। उनके पास काफी मैटीरियल तैयार है और कहानी पर काम की शुरुआत हो चुकी है। जैसे ही मधुर फाइनल ड्राफ्ट लॉक करेंगे, कास्टभग प्रोसेस भी शुरू हो जाएगा। यह फिल्म साल के आखिर तक शुरू हो जाएगी।' शैलेष ने बताया, मैं मधुर के साथ एक बार फिर चांदनी बार 2 को प्रोडयूस करने को लेकर काफी उत्साहित हूं। मैंने फिल्म के अधिकार प्राप्त कर लिए हैं। अब फिल्म के फ्लोर पर जाने का इंतजार है।'

कार्तिक और जाह्ववी को लेकर फिल्म बनायेंगे करण जौहर

Karan Johar will make a film about Kartik and Janhvi Kapoor

मुंबई। बॉलीवुड के जाने-माने फिल्मकार करण जौहर, कार्तिक आर्यन और जाह्ववी कपूर को लेकर फिल्म बना सकते हैं। चर्चा थी कि करण जौहर के धर्मा प्रॉडक्शंस की आने वाली एक फिल्म में करीना कपूर खान को फाइनल किया गया है। इसमें उनके अपोजिट सद्धिार्थ मल्होत्रा को कास्ट किए जाने की चर्चा थी। कहा जा रहा है कि सिद्धार्थ को लेकर करण को आशंका है कि वह स्क्रीन पर करीना के ऑपोजिट फिट बैठेंगे या नहीं। ऐसे में वह किसी ऐसे मेल सुपरस्टार को देख रहे हैं जो करीना के साथ फिट बैठे। करण फिल्म के लिए एक और यंग कपल की तलाश कर रहे थे। कहा जा रहा है कि यह तलाश कार्तिक आर्यन और जाह्नवी कपूर के रूप में पूरी हो गई है। फिल्म 'धड़क" में निर्देशक शशांक खेतान को असिस्ट करने वाले राज मेहता को इस फिल्म से बड़ा ब्रेक मिल सकता है और वह फिल्म का निर्देशन कर सकते हैं।

नेमार को फ्रांस के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार

Neymar to be France's Player of the Year

पेरिस। पेरिस सेंट जर्मेन के स्टार फुटबॉलर नेमार को फ्रांस का वर्ष का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया और उन्होंने ट्रांसफर को लेकर लग रही अटकलों को खारिज कर दिया। चोट के कारण वह पिछले तीन महीने से टीम से बाहर है। दुनिया के सबसे महंगे खिलाड़ी नेमार ने पीएसजी के लिये 20 लीग मैचों में 19 गोल किए हैं। उन्हें फरवरी में पैर में चोट लगी थी। उसके बाद से वह मैदान से बाहर है और इस महीने की शुरूआत में ही लौटे हैं। ऐसी अटकलें लगाई जा रही है कि वह एक सत्र के बाद ही क्लब छोड़ सकते हैं।

नेमार ने कहा,'' मैं इस सत्र से बहुत खुश हूं। यह सम्मान की बात है। अपने साथी खिलाडिय़ों के बिना मैं कभी यह पुरस्कार नहीं पा सकता था। जब भी ट्रांसफर भवडो आती है तो अटकलें लगने लगती है। मैं इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहता।"

नडाल को हटा फेडरर बने नंबर एक टेनिस खिलाड़ी

Federer becomes number one tennis player, removes Nadal

पेरिस। मैड्रिड ओपन के क्वार्टर फाइनल में हारे राफेल नडाल ने अपनी शीर्ष रैंकिंग गंवा दी है और स्विस धुरंधर रोजर फेडरर एक बार फिर एटीपी रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज हो गए है। फेडरर मार्च के बाद टेनिस कोर्ट में एक बार भी नहीं उतरने के बावजूद भी आज जारी ताजा रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंच गए।

पूर्व विश्व नंबर एक नोवाक जोकोविच को मैड्रिड मास्टर्स के दूसरे दौर में हार का खामियाजा भुगतना पड़ा और वह छह स्थान नीचे खिसक कर रैंकिंग में 18 वें स्थान पर पहुंच गए। इस टूर्नामेंट को जीतने वाले अलेक्जेंडर ज्वेरेव तीसरे स्थान पर बरकरार हैं। मैड्रिड मास्टर्स में नडाल को हराने वाले डोमिनिक थियेम ( आठवें स्थान पर ) भी एक पायदान नीचे खिसक गए, जिन्हें सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन ने शिकस्त दी।

इस जीत के साथ ही एंडरसन अपनी सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग सातवें स्थान पर पहुंच गए। रैंकिंग में सबसे ज्यादा फायदा इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले डेनिस शापोवालोव को हुआ, जो 14 स्थनों के सुधार के साथ 29 वें स्थान पर पहुंच गए हैं। महिलाओं में मैड्रिड ओपन में जीत दर्ज करने वाली चेक गणराज्य की पेट्रा क्वितोवा को दो स्थानों का फायदा हुआ और वह रैंकिंग में आठवें स्थान पर पहुंच गयी। फाइनल में क्वितोवा से हारने के बाद भी किकी बेर्टींस ने रैंकिंग में 5 स्थानों का सुधार किया और वह 15 वें स्थान पर आ गई। रैंकिंग में रोमानिया की सिमोना हालेप , डेनमार्क की कैरोलीन वोज्नियाकी और स्पेन की गारबाइन मुगुरुजा शीर्ष पर बनीं हुई है।

जनवरी-मार्च में जीडीपी वृद्धि दर बढ़कर 7.7 प्रतिशत होगी: रिपोर्ट

GDP growth rate to be 7.7 percent in January-March: Report

नई दिल्ली। एक रिपोर्ट के अनुसार औद्योगिक उत्पादन में मार्च महीने में सुस्ती रहने के बावजूद जनवरी-मार्च तिमाही में देश की आर्थिक वृद्धि बढ़कर 7.7 प्रतिशत रहने की उम्मीद है। इससे पिछली तिमाही में यह 7.2 प्रतिशत थी। वित्तीय सेवा प्रदाता नोमुरा ने एक रिपोर्ट में यह अनुमान जताया है। नोमुरा के मुताबिक, मार्च में औद्योगिक उत्पादन में नरमी के बावजूद जनवरी - मार्च में औसत औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर 6.2 प्रतिशत रही, जो कि चौथी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर ) के 5.9 प्रतिशत से अधिक है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि औसत औद्योगिक उत्पादन में वृद्धि से पहली तिमाही (जनवरी-मार्च ) में समग्र औद्योगिक गतिविधियां मजबूत हुई हैं , जो कि पहली तिमाही में जीडीपी के बढ़कर 7.7 प्रतिशत रहने के हमारे विचार का समर्थन करती है। निवेश और खपत के चलते देश में क्रमिक सुधार की उम्मीद है। हालांकि , कच्चे तेल के बढ़ते दाम और कठिन वित्तीय स्थिति जैसे कारकों के चलते वृद्धि दर में गिरावट हो सकती है। 

हालांकि निकट अवधि में वृद्धि परिदृश्य को लेकर हमारा नजरिया अभी भी आशावादी है , हमें उम्मीद है कि आर्थिक वृद्धि को सुस्त करने वाली कठिन वित्तीय स्थिति एवं कच्चे तेल में तेजी का विपरीत प्रभाव आगे चलकर फीका पड़ जाएगा। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, पूंजीगत सामान उत्पादन में गिरावट तथा खनन गतिविधियां कमजोर पड़ने के कारण मार्च महीने में औद्योगिक उत्पादन वृद्धि धीमी रहकर 4.4 प्रतिशत पर रही , जो कि पांच महीने का निचला स्तर है।

मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ शेयर बाजार

Stock market closed with slight margin

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज सप्ताह के पहले दिन कारोबार की शुरुआत बढ़त के साथ हरे निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर ये हरे निशान पर बंद हुआ। बढ़त के माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 20.92 अंक यानि 0.059 प्रतिशत की बढ़त के साथ 35,556.71 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी मामूली 0.100 अंक यानि 0.00092 प्रतिशत की वृद्धि  के साथ 10,806.60 के स्तर पर बंद हुआ। गौरतलब है कि पिछले सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर बाजार में कारोबार की शुरुआत बढ़त के साथ हुई और कारोबार की समाप्ति पर ये हरे निशान पर बंद हुआ। 

काराबोर की शुरुआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स सुबह 43.26 अंक यानि 0.12 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 35,289.53 के स्तर पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये 289.52 अंक यानि 0.82 प्रतिशत की बढ़त के साथ 35,535.79 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी भी काराबोर की शुरुआत में 22.15 अंक यानि 0.21 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,738.70 के स्तर पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये 89.95 अंक यानि 0.84 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,806.50 के स्तर पर बंद हुआ। 



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.