20 जनवरी: बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Sunday, 20 Jan 2019 05:46:07 PM
20 January  top 10 news

स्वाइन फ्लू को मात देकर घर लौटे अमित शाह, बुधवार को कराया था एम्स में भर्ती

Amit Shah returns home after defeating Swine Fluनई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) से छुट्टी मिल गई है और वे घर लौट आए हैं। शाह को स्वाइन फ्लू के इलाज के लिए बुधवार को एम्स में भर्ती कराया गया था।

पार्टी प्रवक्ता अनिल बलूनी ने रविवार को ट्वीट करके यह जानकारी दी। उन्होंने कहा​कि ये बेहद संतोष और खुशी की बात है कि हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को आज एम्स से छुट्टी मिल गई और वह घर लौट आए हैं। उन्होंने शाह के शुभचिंतकों और पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रति अभार भी व्यक्त किया। इसके पहले बुधवार को शाह ने ट्विटर पर जारी अपनी पोस्ट में कहा था कि उन्हें स्वाइन फ्लू हो गया है और उनका इलाज चल रहा है। उन्होंने कहा कि ईश्वर की कृपा और अपने शुभचिंतकों के प्रेम एवं शुभकामनाओं की बदौलत मैं शीघ्र ही स्वस्थ हो जाउंगा।

उल्लेखनीय है कि शाह के इस बीमारी की चपेट में आने की सूचना पर कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद ने विवादित टिप्पणी की थी। हरिप्रसाद ने कहा था कि वे (अमित शाह)कर्नाटक सरकार को गिराने प्रयास करेंगे तो वे और भी गंभीर बीमारियों की चपेट में आएंगे। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कांग्रेस नेता के बयान पर पलटवार करते हुए ट्वीट किया था कि हरिप्रसाद की टिप्पणी कांग्रेस के स्तर को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि फ्लू का उपचार है लेकिन कांग्रेस के नेताओं की मानसिक बीमारी का इलाज कठिन है।

पौष पूर्णिमा स्नान के मद्देनजर भारी वाहनों का प्रवेश बंद, अन्य के मार्ग में परिवर्तन

In view of Paush Purnima Bath, the shutdown of heavy vehicles, change in the passage of others

प्रयागराज। दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुम्भ मेले पौष पूर्णिमा स्नान को ध्यान में रखते हुए यातायात योजना के तहत भारी वाहनों के प्रवेश को बंद करते हुए अन्य छोटे वाहनों के मार्ग में भी परिवर्तन किया गया है।

पुलिस अधीक्षक (यातायात) कुलदीप सिंह ने रविवार को बताया कि सुबह 5 बजे से ही जिले में  भारी वाहनों का प्रवेश बन्द रहेगा। इसके साथ हाई-वे पर भी इनके मार्ग में परिवर्तन किया गया है। ये व्यवस्था पौष पूर्णिमा का स्नान सोमवार सुबह से 22 जनवरी की रात 11 बजे तक लागू रहेगी। उन्होंने बताया कि जौनपुर से आने वाले छोटे वाहनों को गारापुर तिराहा, बड़ी चीनी मिल, समयामाई मंदिर के पास पार्क होंगे। बड़े वाहन प्रयाग ढ़ावा, हरिनाथ पार्किंग में खडे होंगे। वाराणसी मार्ग से आने वाले छोटे वाहनों को एचआर आई छतनाग और पटेल बाग में पार्क किए जऐंगे।

बड़े वाहन को कान्हा मोटर पार्किंग स्थल, सरस्वती द्वार पर बनी पार्किंग में खड़े करने होंगे। मिलापुर रोड से आने वाले छोटे वाहन उपरहार, लघु उद्योग पार्किंग में खड़े होंगे जबकि बड़े वाहन को सरस्वती हाई टेक सिटी में पार्क होंगे। सिंह के मुताबिक रींवा मार्ग से आने वाले छोटे वाहन इन्दरपुर ,एग्रीकल्चर कृषि भूूमि में पार्क कराए जाएंगे और बड़े वाहन धनुहा और एफसीआई पार्किंग स्थल पर खड़े होंगे। कानपुर मार्ग से आने वाले छोटे वाहन प्लाट नम्बर 17, पीपीापुल कार्यशाला, गल्ला मंडी दारागंज, के पी कालेज और बड़े वाहन नेहरू पार्क सैन्य भूमि, सूबेदारगंज सैन्य भूमि में खड़े होंगे। उन्होंने बताया कि पौष पूर्णिमा स्नान पर्व पर श्रद्धालुओं और शहरी लोगों की सुविधा को भी ध्यान में रखा गया है।

कुछ मार्गों को छोड़कर बाकी रास्ताों पर कार, मोटरसाइकिल और टैम्पो का आवागमन शुरू रहेगा। पुलिस अधीक्षक (यातायात ) ने बताया कि यूपी 70 नम्बर वाले वाहन को कहीं नहीं रोका जाएगा। मेला क्षेत्र में कल्पवासियों के वाहनों को नहीं रोका जाएगा। सोमवार को पौष पूर्णिमा स्नान होने के कारण उनके वाहनों को मेले में आए श्रद्धालुओं की भीड़ के मुताबिक उन्हें प्रवेश मिलेगा। कल्पवासियों के वाहन को आसानी गंतव्य तक जाने के लिए पास वाले वाहनों को मेला क्षेत्र में पार्किंग वाले वाहनों को खड़ा करना होगा। 

ट्रम्प ने कहा, मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के बदले दूंगा आव्रजकों को संरक्षण

Trump said, instead of building a wall on the Mexican border, protection of the strangers

वाशिंगटन। अमेरिकी सरकार में जारी आंशिक कामकाज बंदी को खत्म करने की कोशिश में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि वह अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए 5.7 अरब डॉलर के अनुदान के बदले अवैध रूप से देश में प्रवेश करने वाले बच्चों को संरक्षण देने को तैयार हैं। डेमोक्रैट्स ने हालांकि ट्रम्प की इस पेशकश को ठुकराते हुए कहा है कि यह बातचीत करने लायक भी नहीं है। मेक्सिको से लगी सीमा पर दीवार निर्माण के लिए कोष की मांग को लेकर ट्रम्प नेतृत्व वाले रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक के बीच गतिरोध से सरकार का कामकाज 29वें दिन भी आंशिक रूप से ठप रहा।

इससे महत्वपूर्ण विभागों के करीब 8,00,000 सरकारी कर्मचारियों को लंबी छुट्टी पर भेजा गया है या वे बिना वेतन के काम कर रहे हैं। राष्ट्रपति ने निर्वासन का सामना करने वाले प्रवासियों के अन्य समूहों को भी संरक्षण देने की पेशकश की है। उन्होंने व्हाइट हाउस में अपने भाषण में कहा कि वाशिगटन में दोनों पक्षों को साथ आना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह गतिरोध खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं। ट्रम्प ने कहा कि वक्त आ गया है कि हम बदलाव से डरने वाले उन कट्टर विचारों से अपना भविष्य अलग कर लें।

उनसे अलग हो जाएं जो खुली सीमा की मांग कर रहे हैं, जिसका सीधा मतलब है मादक पदार्थों तस्करी, मानव तस्करी और अन्य अपराधों का देश में आना। ट्रम्प ने कहा कि वह गतिरोध को खत्म करने कामकाज की आंशिक बंदी को खत्म करने के लिए कांग्रेस को रास्ता देने और सीमा समस्या हल करने के लिए आज यहां मौजूद हैं। सीमा पर दीवार बनाने की अपनी योजना का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि कट्टरपंथी वाम कभी हमारी सीमाओं को नियंत्रित नहीं कर सकता। दीवार अनैतिक नहीं है बल्कि उसके विपरित है क्योंकि वह कई जिदगियां बचाएगी।

ट्रम्प ने कहा कि उनका प्रस्ताव 'डेफर्ड एक्शन फॉर चाइल्डहुड अराइवल’ (डीएसीए) का लाभ प्राप्त करने वाले 7,00,000 लोगों को तीन साल के लिए कानूनी राहत देने का है, जिन्हें उनके अभिभावक कई वर्ष पहले कम उम्र में गैरकानूनी तरीके से यहां लेकर आए थे। ट्रम्प ने कहा कि हमारा प्रस्ताव अस्थायी संरक्षित स्थिति को तीन वर्ष का विस्तार देता है। इसका मतलब है कि 3,00,000 प्रवासी जिनकी यह (संरक्षित स्थिति) अवधि समाप्त हो रही है उनके पास अब तीन वर्ष और होंगे... ताकि कांग्रेस एक बड़े आव्रजन समझौते पर काम कर सके, जो हर कोई चाहता है - रिपब्लिकन और डेमोक्रैट्स दोनों।

दूसरी ओर, डेमोक्रेटस इससे बिल्कुल अप्रभावित दिखे और इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया। अमेरिकी संसद के निचले सदन में प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने कहा कि राष्ट्रपति बंद को गर्व की बात समझ रहे हैं। अब उन्हें बंद खत्म करने के लिए भी कदम उठाने चाहिए। पेलोसी ने कहा कि इसकी कोई संभावना नहीं है कि इन पेशकशों में से एक भी किसी सदन में पारित होगा, और इसे साथ लेने पर तो यह बातचीत करने योग्य भी नहीं है। यह प्रस्ताव स्थायी समाधान नहीं है और हमारे देश को टीपीसी लाभार्थियों की जरूरत और उनका समर्थन चाहिए।

मेक्सिको में ईंधन पाइपलाइन में आग लगने से 73 लोगों की मौत

73 people died due to fire in a fuel pipeline in Mexico

त्लाहेलिलपन (मेक्सिको)। मध्य मेक्सिको में शुक्रवार को ईंधन की एक पाइपलाइन में भीषण आग लगने से मरने वालों की बढ़कर 73 हो गई है। सैकड़ों लोग पाइपलाइन से हो रहे रिसाव से तेल चुराने के लिए जमा थे तभी वहां आग लग गई।

हिडाल्गो के गवर्नर उमर फयाद ने बताया कि पांच अन्य शव बरामद होने के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 73 हो गई है। मेक्सिको के उत्तरी शहर त्लाहेलिलपन में शुक्रवार को हुए विस्फोट में अन्य 74 लोग घायल भी हुए हैं। मेक्सिको के राष्ट्रपति एंद्रेस मैनुएल लोपेज ने शनिवार सुबह घटना स्थल का दौरा भी किया। उन्होंने कहा कि सेना का रवैया सही है।

भीड़ को अनुशासित करना आसान नहीं है। राष्ट्रपति ने देश में तेल संबंधी बढ़ती समस्याओं के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने का संकल्प भी लिया। गौरतलब है कि हादसा ऐसे समय हुआ है जब मेक्सिको के राष्ट्रपति एंद्रेस मैनुएल लोपेज ईंधन चोरी को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करने की योजना बना रहे हैं। पेमेक्स पाइपलाइनों से ईंधन की चोरी से मेक्सिको को 2017 में तीन अरब डॉलर का नुकसान हुआ था।

नेपाली लड़कियों की तस्करी करने वाला वांछित आरोपी चढा पुलिस के हत्थे

The criminals arrested for smuggling girls

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने अवैध रूप से नेपाली लड़कियों की तस्करी करने वाले गिरोह के सरगना को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। स्पेशल सेल के पुलिस उपायुक्त संजीव कुमार यादव ने रविवार को यहां बताया कि शनिवार को गिरफ्तार किए गए वांछित अपराधी की पहचान लोपसांग लामा उर्फ लामा (33) के रूप में हुई है। वह नेपाल का रहने वाला है।

दिल्ली पुलिस की ओर से लामा को पकड़ने के लिए एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया था। यादव ने कहा कि दिल्ली महिला आयोग की ओर से पिछले साल 16 लड़कियों को तस्करी से मुक्त कराये जाने के मामले में लामा मुख्य सरगना था जो नेपाल से लड़कियों को लाता था। इन लड़कियों को अरब देशों में भेजा जाता था। महिला आयोग की टीम ने पिछले साल 25 जुलाई को मुनिरका गांव स्थित एक घर से 16 लड़कियों को मुक्त कराया था। लामा और उसके साथियों ने मिलकर इन लड़कियों को 20-22 दिनों तक एक छोटे से कमरे में रखा था तथा लड़कियों के पासपोर्ट को अपने कब्जे में ले रखा था।

अरब देशों में नौकरी का लालच देकर लड़कियों को नेपाल से दिल्ली लाया गया था। स्पेशल सेल की टीम ने लामा को गिरफ्तार करने के लिए एक टीम का गठन किया लगातार जो उसे गिरफ्तार करने के लिए जुटी रही। टीम को खुफिया सूत्रों से जानकारी मिली कि शनिवार को लामा अपने एक साथी से मिलने के लिए कश्मीरी गेट बस अड्डे के पास आने वाला है। शाम 7:20 बजे लामा बुद्धिस्ट मोनेस्ट्री की तरफ से आया और पुलिस को देखकर भागने लगा। पुलिस ने पीछा किया तो वह यमुना नदी में कूद गया उसके पीछे कांस्टेबल मनोज त्यागी भी नदी में कूद गया और अन्य लामा को पकड़ लिया गया।

पूछताछ में उसने बताया कि वह नेपाल का रहने वाला है और यहां वह वजीराबाद में रहता है। पुलिस उपायुक्त ने बताया कि लामा ने स्वीकार किया कि वे अपने एक रिश्तेदार तथा अन्य साथियों की मदद से मानव तस्करी का धंधा चलाता है। उसने स्वीकार किया कि कई लड़कियों को अरब देशों जैसे कुवैत, दुबई, इराक आदि देशों में भेजा है। इसके बदले में उसे मोटी रकम मिलती है। लामा ने कहा कि नेपाल में लड़कियों की तस्करी पर प्रतिबंध लगने के बाद नौकरी दिलाने के नाम पर लड़कियों को वहां से लाता था।

जानिए, क्लार्क ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की तारीफ में कहीं ये बातें...

 Clarke said these things in praise of Team India captain Virat Kohli

नई दिल्ली। विराट कोहली ने अपनी बल्लेबाजी से खेल के हर प्रारूप में अपनी विशिष्ट छाप छोड़ी और आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क का मानना है कि भारतीय कप्तान एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने वाला सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज है।

कोहली अभी टेस्ट और वनडे में विश्व के नंबर एक बल्लेबाज हैं। उनकी अगुवाई में भारत ने आस्ट्रेलिया में टेस्ट और वनडे श्रृंखलाएं जीतकर इतिहास रचा। इससे पहले भारतीय टीम ने टी20 अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला बराबर करायी थी। इस तरह से भारत पहली ऐसी टीम बन गया है जिसने ऑस्ट्रेलिया में श्रृंखला नहीं गंवायी और इस बीच कोहली ने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विश्व कप विजेता कप्तान क्लार्क ने पीटीआई से कहा कि मेरा मानना है कि विराट एकदिवसीय क्रिकेट में खेलने वाला सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज है। भारत के लिए उन्होंने जो कुछ हासिल किया उसको देखने के बाद मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है।

कोहली ने अब तक 219 वनडे में 10,385 रन बनाए हैं जिसमें 39 शतक शामिल हैं। उनका औसत 59 से भी अधिक है।  कोहली के प्रशंसक क्लार्क ने कहा कि इस 30 वर्षीय क्रिकेटर के जुनून का कोई जवाब नहीं है। उन्होंने कहा कि आपको अपने देश के लिये जीत दर्ज करने के विराट के जुनून का सम्मान करना होगा।

हां उसमें आक्रामकता है लेकिन कोई भी उसकी प्रतिबद्धता पर सवाल नहीं उठा सकता। वह वनडे में सर्वश्रेष्ठ है। कोहली जहां लगातार उपलब्धियां हासिल कर रहे हैं वहीं उनके पूर्ववर्ती कप्तान महेंद्र सिह धोनी की वर्तमान फार्म को लेकर क्रिकेट जगत की राय भिन्न है।

धोनी अब वनडे में पहले की तरह आक्रामक शैली से नहीं खेलते हैं लेकिन क्लार्क का मानना है कि इस 37 वर्षीय पूर्व भारतीय कप्तान को अपना खेल खेलने के लिए अकेला छोड़ देना चाहिए। क्लार्क ने कहा कि धोनी जानता है कि किसी परिस्थिति में किस तरह से खेलना है।

उन्होंने 300 से अधिक वनडे खेले हैं, इसलिए वह जानते हैं कि अपनी भूमिका कैसे निभानी है। लेकिन अगर तीसरे वनडे में लक्ष्य 230 के बजाय 330 होता तो क्या धोनी प्रभावशाली होते? इस सवाल के जवाब में क्लार्क ने कहा कि मुझे लगता है कि वह फिर अलग तरह से बल्लेबाजी करते।

लक्ष्य 230 रन का था और उनकी रणनीति इसी के अनुकूल थी और अगर लक्ष्य बड़ा होता तो उनकी रणनीति भिन्न होती। क्लार्क से पूछा गया कि धोनी को विश्व कप में बल्लेबाजी क्रम में कौन से नंबर पर उतारना चाहिए, उन्होंने कहा, चार, पांच या छह किसी भी स्थान पर।

वह किसी भी नंबर पर बल्लेबाजी करने में सक्षम हैं और मुझे लगता है कि विराट उनका परिस्थितियों के अनुसार उपयोग करेगा। क्लार्क ने हालांकि कहा कि वर्तमान में निलंबित हार्दिक पंड्या इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में भारतीय अभियान में अहम भूमिका निभाएंगे।

पंड्या और केएल राहुल एक टीवी कार्यक्रम के दौरान आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के कारण अभी निलंबित हैं। आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने कहा कि हार्दिक जैसा प्रतिभाशाली खिलाड़ी टीम में संतुलन बनाने के लिये बेहद जरूरी है। वह केवल अपनी बल्लेबाजी से मैच जिता सकता है और मुझे विश्वास है कि वह विश्व कप टीम का हिस्सा होगा।

धोनी अब भी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ वनडे फिनिशर: चैपल

Dhoni still the world's best ODI finisher: Chappell

नई दिल्ली। भारतीय खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के 'फिनिशिंग टच’ के बारे में आलोचकों ने पिछले कुछ समय में कई सवाल उठाये हों लेकिन ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल अब भी विश्व कप विजेता पूर्व कप्तान को 50 ओवर के प्रारूप में सर्वश्रेष्ठ फिनिशर मानते हैं। धोनी को हाल में आस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी विजयी पारियों के लिए मैन आफ द सीरीज चुना गया।

इससे भारत ने आस्ट्रेलिया में पहली वनडे सीरीज अपने नाम की। चैपल ने पूर्व भारतीय कप्तान की सूझबूझ और इतने लंबे समय तक खेलने के जज्बे को सलाम किया। चैपल ने ईएसपीएनक्रिकइंफो में अपने कॉलम में लिखा, किसी के पास भी उनकी तरह मैच को फिनिश करके जीत दिलाने वाली सूझबूझ नहीं है।

कई बार मैंने सोचा, इस बार उसने थोड़ा देर से शाट लगाया, लेकिन थोड़ी देर में हैरान हुआ कि उसने दो ताकतवर शाट लगाकर भारत को रोमांचक जीत दिला दी। उन्होंने कहा कि वे बाहर से जिस तरह का शांत चित्त दिखता है, वह कोई भ्रम नहीं है क्योंकि ऐसे हालात में वह जिस तरह से खुद को बदलता है, वह इस बात का सबूत है कि उसका दिमाग ऐसी परिस्थिति में बेहतरीन ढंग से काम करता है।

माइकल बेवन को खेल के महान सूत्रधारों में से एक माना जाता है, उनसे तुलना करते हुए चैपल ने कहा कि धोनी ने आस्ट्रेलिया के छठे नंबर के इस बल्लेबाज को पीछे छोड़ दिया है। उन्होंने लिखा, बेवन मैच का अंत चौके से करते थे, लेकिन धोनी छक्के से करते हैं।

जहां तक विकेटों के बीच में दौड़कर रन लेने की बात है तो आप निश्चित रूप से बेवन को सबसे पहले मानेंगे लेकिन 37 वर्ष की उम्र में भी धोनी खेल में सबसे तेज रन लेने वाले खिलाड़ियों में शामिल हैं। चैपल ने कहा कि बल्लों में सुधार की अनुमति देने और टी20 क्रिकट में खेलने के फायदे से, आंकड़ों के हिसाब से धोनी बेवन से बेहतर है। इसमें कोई बहस नहीं हो सकती कि धोनी सर्वश्रेष्ठ वनडे फिनिशर हैं। 

पिछले कुछ समय में आलोचकों ने धोनी की धीमी पारियों की आलोचना की थी लेकिन इस खिलाड़ी ने एडीलेड में गगनचुंबी छक्का जड़कर उन सभी को चुप कर दिया। सर्वश्रेष्ठ वनडे बल्लेबाज की बहस के संबंध में चैपल को लगता है कि विराट कोहली महान खिलाड़ी विव रिचर्ड्स, सचिन तेंदुलकर और एबी डिविलियर्स को पीछे छोड़ देंगे और अपने करियर का अंत 'एकदिवसीय मैचों के सर डोनाल्ड ब्रैडमैन’ के तौर पर करेंगे।

उन्होंने लिखा, कोहली अपनी वनडे बल्लेबाजी के तरीके से मुझे रिचर्ड्स की याद दिलाते हैं, वह शानदार शाट लगाते हैं और कई पारंपरिक स्ट्रोक्स पर निर्भर होते हैं। अगर वह इसी मौजूदा रन गति से खेलना जारी रखेगा तो वह तेंदुलकर के कुल शतकों को पार कर लेगा और इस लिटिल माटर से करीब 20 शतक आगे रहेगा। उन्होंने लिखा, अगर वह इन शानदार उपलब्धियों को हासिल करने के करीब भी पहुंच जाता है तो इसमें कोई शक नहीं कि वह वनडे बल्लेबाजों का सर डोनल्ड ब्रैडमैन बन जाएगा। 

शादी विवाह की मांग से बीते सप्ताह सोने, चांदी कीमतों में तेजी

Gold, silver prices up in last week due to marriage demand

नई दिल्ली। विदेशों में कमजोरी के रुख के बावजूद स्थानीय आभूषण कारोबारियों और फुटकर विक्रेताओं की मांग बढ़ने की वजह से  बीते सप्ताह भी दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने में तेजी बनी रही। इसी प्रकार उपभोक्ता उद्योगों और सिक्का निर्माताओं का उठाव बढ़ने के कारण चांदी के भाव में भी तेजी आई और इसकी कीमत 40,000 रुपए प्रति किग्रा के स्तर से ऊपर बंद हुई।

बाजार सूत्रों ने कहा कि डॉलर के मुकाबले रुपए में कमजोरी के बीच चालू शादी विवाह के सीजन की वजह से स्थानीय आभूषण विक्रेताओं और फुटकर कारोबारियों की मांग बढ़ने से सोने की कीमतों में तेजी बरकरार रही। हालांकि विदेशों में कमजोरी के रुख की वजह से यहां तेजी पर कुछ अंकुश लग गया।

वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना हानि प्रदर्शित करता सप्ताहांत में 1,282.30 डॉलर प्रति औंस और चांदी 15.41 डॉलर प्रति ट्राय औंस पर बंद हुई। पिछले सप्ताहांत सोना 1,287.80 डॉलर प्रति औंस और चांदी 15.67 डॉलर प्रति ट्राय औंस थी। राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने की सप्ताह के दौरान क्रमश: 33,100 रुपए और 32,950 रुपए प्रति 10 ग्राम पर मजबूत शुरुआत हुई और यह क्रमश: 33,300 रुपये और 33,150 रुपए प्रति 10 ग्राम की ऊंचाई को छू गयी।

बाद में सोने को जरूरी लिवाली समर्थन नहीं मिला और कीमतों में कुछ गिरावट आई। इसके बावजूद सप्ताहांत में ये कीमतें कुल मिला कर 285 - 285 रुपए की तेजी दर्शाती क्रमश: 33,160 रुपए और 33,010 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुईं। गिन्नी भी सप्ताहांत में तेजी के साथ 25,500 रुपए प्रति आठ ग्राम पर बंद हुई। हाजिर चांदी सप्ताह के अधिकांश भाग में सकारात्मक क्षेत्र में रहने के बाद सप्ताहांत में 250 रुपए की तेजी के साथ 40,100 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुई।

जबकि चांदी साप्ताहिक डिलिवरी सप्ताहांत में कुल मिला कर 273 रुपए की हानि के साथ 39,198 रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुई। हालांकि चांदी सिक्कों के भाव सप्ताहांत में चांदी सिक्का लिवाल 77,000 रुपए और बिकवाल 78,000 रुपए प्रति सैकड़ा पर स्थिरता के रुख के साथ बंद हुए।

एक जैसे कपड़े पहने नजर आई करीना और मलाइका, वायरल हुई ये खूबसूरत तस्वीरें

Kareena and Malaika look worn together, these beautiful pictures of viral

एंटरटेनमेंट डेस्क: अक्सर अपने हॉट अंदाज और  खूबसूरती के कारण चर्चा में बनी रहने वाले बॉलीवुड की खूबसूरत एक्ट्रर्स बेबो यानी करीना कपूर खान इन दिनों खूब मस्ती करती नजर आ रही है अक्सर ही करीना अपने हॉट अंदाज के कारण सोशल मीडिया पर छाई ही रहती हैं ऐसे में फेंस को भी  आए दिन करीना का कोई ना कोई हॉट फोटोशूट नजर आ ही जाता है जिसमें वह वाकई में बेहद खूबसूरत नजर आती है करीना कई बार अपने बेटे के साथ जमकर मस्ती करती नजर आती है तो कई बार अपने हॉट फोटोज की वजह से फेंस को  अपनी और अटै्रक्ट करती है ऐसे में एक बार फिर से उनकी कुछ तस्वीरे सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है जिसमें उनका बेहद खास अंदाज देखने को मिला है 

वैसे तो बॉलीवुड इंडस्ट्री में करीना की कई सारी दोस्त हैं लेकिन इन्ही फ्रेंडस में करीना और मलाइका की दोस्ती हमेशा से चर्चा में बनी ही रहती है एक बार फिर से इन दोनों को साथ में देखा गया है मलाइका और करीना कई बार पार्टी और फंक्शन में एक साथ भी नजर आ चुके है जहां दोनों का लुक बेहद खूबसूरत ही नहीं बल्कि स्टाइलिश भी नजर आया है ऐसे में बॉलीवुड की ये दोनों खूबसूरत एक्ट्रर्स आए दिन कई मौकों पर साथ नजर आ ही जाती हैं हाल ही में एक बार फिर से दोनों के साथ की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया प जमकर वायरल हो रही है इस बार वजह बेहद खास रही खास बात ये है कि इस वायरल तस्वीर में मलाइका और करीना ने एक जैसे ही आउटफिट वियर कर रखें जिसमें दोनों का कूल लुक नजर आ रहा है दोनों ने स्लोगन व्हाइट टीशर्ट वियर कर रखा है जिसमें वह बेहद खूबसूरत लग रही है 

एक तरह मलाइका पोज देते नजर आ रही है तो दूसरी और करीना कैमरे का फेस करते दिख रही है इनकी तस्वीरे जैसे ही वायरल हुई वैसे ही सोशल मीडिया पर छा गई है  इन फोटोज को मलाइका ने अपने इंस्टाग्राम पर शेयर की जिन्हे फैंस ने भी बेहद पसंद किया है शेयर करते हुए मलाइका ने खूबसूरत कैप्शन भी लिखा है।

कहानी को चुनते वक्त मैंने हमेशा अपने दिल की सुनी है : आमिर

I have always listened to my heart while choosing the story: Aamir

मुंबई। बॉक्स ऑफिस पर छप्पर फाड़ कर कमाई करने वाली कई फिल्में देने वाले अभिनेता-निर्माता आमिर खान का कहना है कि जब कहानी को चुनने की बारी आती है तो वह हमेशा अपने दिल की सुनते हैं और फिल्मों का चुनाव करने के दौरान व्यापारिक पहलू पर ध्यान नहीं देते। 

अपने करीब 3 दशक लंबे करियर में 53 वर्षीय अभिनेता ने कई लीक से हटकर फिल्में कीं। हालांकि, इस मामले में वे बेहद खुशकिस्मत रहे कि उनकी लीक से हटकर बनी फिल्मों 'सरफरोश’, 'लगान’, 'दिल चाहता है’, 'रंग दे बसंती’, ’तारे जमीन पर’, '3 इडियट्स’ और 'दंगल’ और 'सीक्रेट सुपरस्टार’ ने जमकर कमाई की और उन्होंने प्रयोगधर्मी सिनेमा को मुख्यधारा का सिनेमा बना दिया।

आमिर का कहना है, रचनात्मक व्यक्ति होने के नाते मैंने हमेशा अपने दिल की आवाज सुनी है और उन्हीं फिल्मों में काम किया है जो मेरे दिल को छू जाती हैं। ऐसी फिल्मों को बाजार अक्सर रिस्की मानता है, लेकिन जब लोग उन्हें पसंद करते हैं तो मुझमें आत्मविश्वास आता है। साथ ही यह कहानी को कहने और रचनात्मकता में मेरे यकीन को पक्का करता है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.