21 मई : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Tuesday, 21 May 2019 04:22:38 PM
21 May top 10 news

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

काला धन कानून पिछली तारीख से लागू करने के मामले में उच्च न्यायालय के आदेश पर न्यायालय की रोक

matter of enforcing the black money law from the previous date, court barred on order of High Court

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने 2016 में बने काला धन कानून को अप्रैल, 2015 से लागू करने के मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश पर मंगलवार को रोक लगा दी। उच्च न्यायालय ने आय कर विभाग द्बारा इस कानून के तहत अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकाप्टर घोटाला मामले में आरोपी गौतम खिलाफ के खिलाफ कार्रवाई करने पर रोक लगा दी थी।

न्यायमूर्ति अरूण मिश्रा की अध्यक्षता वाली अवकाशकालीन पीठ ने केन्द्र की याचिका पर संक्षिप्त सुनवाई के बाद उच्च न्यायालय के 16 मई के आदेश पर रोक लगा दी और गौतम खेतान को नोटिस जारी किया। गौतम खेतान को छह सप्ताह के भीतर नोटिस का जवाब देना है। केन्द्र ने उच्च न्यायालय के इस अंतरिम आदेश को शीर्ष अदालत में चुनौती दी है।

इस मामले का सोमवार को अवकाशकालीन पीठ के समक्ष उल्लेख करते हुए सालिसीटर जनरल ने कहा था कि इस कानून के आधार पर ही केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने कई जांच शुरू की हैं। उच्च न्यायालय ने अपने आदेश में  कहा था कि काला धन (अघोषित विदेशी आमदनी और संपत्ति) और कर का अधिरोपण कानून, जो अप्रैल, 2016 में बना है, को जुलाई, 2015 से लागू करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है।

गौतम खेतान 3600 करोड़ रुपए के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकाप्टर घोटाला मामले के आरोपियों में से एक हैं और उसने काला धन कानून के विभिन्न प्रावधानों की वैधता को उच्च न्यायालय में चुनौती दे रखी है। खेतान ने आय कर विभाग के 22 जनवरी के उस आदेश को भी चुनौती दी है जिसक तहत आय कर विभाग ने खेतान के खिलाफ इस कानून की धारा 51 के तहत आपराधिक शिकायत दर्ज करने की अनुमति प्रदान की थी।

इस कानून के तहत जानबूझ कर टैक्स चोरी करने का दोषी पाए जाने की स्थिति में दोषी को तीन से दस साल तक की सजा हो सकती है। इससे पहले, उच्च न्यायालय ने केन्द्र से जानना चाहा था कि अघोषित विदेशी आमदनी और संपत्ति के मामलों से निबटने के लिए अप्रैल, 2016 में बनाए गए काला धन कानून को जुलाई 2015 से किस तरह लागू किया जा सकता है। 

ईवीएम के दुरुपयोग की शिकायतें जांच में गलत पायी गयीं : चुनाव आयोग

Complaints of abuse of EVM were found wrong in investigation: Election Commission

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने मतदान के बाद ईवीएम को मतगणना स्थलों तक पहुंचाने में गड़बड़ी और दुरुपयोग को लेकर उत्तर प्रदेश और बिहार सहित विभिन्न राज्यों से मिली शिकायतों को शुरुआती जांच के आधार पर गलत बताते हुये खारिज कर दिया है। आयोग के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि मशीनों को मतगणना केन्द्रों तक ले जाने और रखरखाव में गड़बड़ी की शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए संबद्ध राज्यों के जिला निर्वाचन अधिकारियों से तत्काल जांच रिपोर्ट ली गयी।

जांच में पाया गया कि जिन मशीनों की शिकायत की गई है वे रिजर्व मशीनें थीं। इनका मतदान में इस्तेमाल नहीं किया गया था। मतदान के दौरान ईवीएम में तकनीकी खराबी होने पर रिजर्व मशीनों से बदला जाता है। उल्लेखनीय है कि आयोग ने उत्तर प्रदेश के गाजीपुर, चंदौली, डुमरियागंज और झांसी तथा बिहार की सारन सीट पर मतदान के बाद ईवीएम के दुरुपयोग की शिकायतों पर कार्रवाई के आधार पर किसी भी तरह की गड़बड़ी और दुरुपयोग की आशंका से इंकार किया।

आयोग ने झांसी में शिकायत की जांच के बाद स्थानीय निर्वाचन अधिकारी के बयान का हवाला देते हुए कहा कि मतदान में इस्तेमाल हुयी ईवीएम और वीवीपेट को व्यवस्थित रूप से सील करने के बाद मतगणना केन्द्रों पर बने स्ट्रांग रूम में सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में सुरक्षित रखा गया है।

इन जगहों पर केन्द्रीय पुलिस बल के जवान तैनात हैं। स्ट्रांग रूम को उम्मीदवार और उनके निर्धारित प्रतिनिधि कभी भी देख सकते हैं। आयोग ने पुख्ता सुरक्षा इंतजाम सुनिश्चित किये जाने के आधार पर मशीनों के दुरुपयोग और रखरखाव में गड़बड़ी की शिकायतों को गलत बताया। 

UNSC सदस्यों ने अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने को बड़ी उपलब्धि बताया

UNSC members declare Azhar a global terrorist, a big achievement

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने के कदम को आतंकवादी गतिविधियां संचालित करने वालों, उनके आयोजकों एवं प्रायोजकों को जिम्मेदार ठहराने की दिशा में बड़ी उपलब्धि करार दिया। सुरक्षा परिषद की 1267 अलकायदा प्रतिबंध समिति ने अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के प्रस्ताव पर से चीन की ओर से तकनीकी रोक हटाए जाने के बाद अजहर को एक मई को काली सूची में डाल दिया था। इसे भारत की बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है।

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका के कार्यवाहक स्थायी प्रतिनिधि जोनाथन कोहेन ने परिषद के सहायक निकायों के अध्यक्षों की मंगलवार को यहां अर्द्धवार्षिक बैठक में इस बात पर खुशी जताई कि 1267 समिति ने अजहर और अफगानिस्तान एवं पाकिस्तान में सक्रिय खतरनाक आईएसआईएस के संबंधित संगठन आईएसआईएल-के को संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों के लिए नामित किया।

उन्होंने कहा कि सूची में अजहर का नाम शामिल किया जाना दर्शाता है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय आतंकवादियों को उनकी करतूतों के लिए जिम्मेदार ठहरा सकता है और वह उन्हें जिम्मेदार ठहराएगा। उन्होंने कहा कि आईएसआईएस-के को सूची में डाला जाना समिति की यह सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता दिखाता है कि आईएसआईएस के जुड़े संगठन, खत्म होते आईएसआईएस की जगह नहीं ले पाएं।

इस बीच संयुक्त राष्ट्र में जर्मनी के राजदूत क्रिस्टोफ हेस्गेन ने भी कहा कि यह अच्छा संकेत है, यह इस समिति के कार्य के लिए अच्छा संकेत है कि हम मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित कर पाए। यह कुछ के लिए मुश्किल था लेकिन मेरी नजर में यह महत्वपूर्ण है कि हम बाधाओं से पार पाने में सफल रहे।

संयुक्त राष्ट्र में पोलैंड की स्थायी प्रतिनिधि जोआना व्रोनेका ने भी अजहर का नाम लिए बगैर कहा कि मैं जम्मू कश्मीर में घातक आतंकवादी हमले के लिए जिम्मेदार व्यक्ति को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने में सुरक्षा परिषद सदस्य देशों की उपलब्धियों को रेखांकित करना चाहती हूं। चीन के प्रतिनिधि याओ शाओजुन ने कहा कि 1267 प्रतिबंध समिति संयुक्त राष्ट्र एवं उसकी सुरक्षा परिषद के आतंकवाद को रोकने के लिए प्रतिबंध तंत्र की महत्ता को रेखांकित करती है।

क्राइस्टचर्च के हमलावर पर आतंकवाद का आरोप लगाया गया : पुलिस

Christchurch's attacker accused of terrorism: Police

वेलिंगटन। न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में नमाज़ियों की गोली मारकर हत्या करने के आरोपी पर पहली बार आधिकारिक तौर पर आतंकवाद का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने बताया कि ब्रेंटन टैरंट पर आतंकवाद के आरोप के अलावा, 51 लोगों के कत्ल और 40 लोगों की हत्या की कोशिशों के आरोप लगाए गए हैं।

उसने 15 मार्च को शुक्रवार के दिन मस्जिदों पर ये हमला किऐ थे। पुलिस ने अपने बयान में बताया कि आरोपपत्र में कहा जाएगा कि क्राइस्टचर्च में आतंकवादी कृत्य किया गया है। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिडा अर्डनã ने मस्जिदों पर हमले को सुनियोजित आतंकवादी हमला बताया था।

पुलिस ने बताया कि आतंकवाद का आरोप लगाने का फैसला अभियोजकों और सरकार के कानूनी विशेषज्ञों से सलाह-मशविरे के बाद किया गया है। उल्लेखनीय है कि 28 साल का टैरंट ऑस्ट्रेलिया का नागरिक है। उसे उच्च सुरक्षा वाली जेल में रखा गया है और यह पता लगाने के लिए उसकी जांचें चल रही हैं कि वह मुकदमे का सामना करने के लिए मानसिक रूप से स्वस्थ है या नहीं।

सिंघम स्टार अजय देवगन ने हॉलीवुड फिल्म एवेंजर्स से की आने वाली फिल्म सूर्यवंशी की तुलना

Singham star Ajay Devgan compares the upcoming film Sooryavanshi with Hollywood movie Avengers

मुंबई। बॉलीवुड के सिंघम स्टार अजय देवगन ने आने वाली फिल्म सूर्यवंशी की तुलना हॉलीवुड फिल्म एवेंजर्स से की है। अजय देवगन की मुख्य भूमिका वाली रोहित शेट्टी के निर्देशन में बनी फिल्म सिंघम के सभी पार्ट काफी हिट रहे। अब रोहित शेट्टी बॉलीवुड के मिस्टर खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार के साथ एक्शन फिल्म सूर्यवंशी लेकर आ रहे हैं। इस फिल्म में अजय सिंघम के किरदार के रूप में कैमियो रोल प्ले करते नजर आएंगे। अजय ने फिल्म की तुलना एवेंजर्स से की।

अजय ने कहा कि सिंघम एक मजबूत फ्रेंचाइजी है, इसके बाद सिंबा एक और महत्वपूर्ण सीरीज बन गई है। यदि अक्षय कुमार की सूर्यवंशम भी इसी तरह कामयाब होती है जैसा की मुझे लग रहा है कि होगी भी तो ऐसे में यहां पर भी एवेंजर्स जैसी स्थिति पैदा हो सकती है। एवेंजर्स को हर तरफ से ढेर सारा प्यार मिल रहा है। या फिर आप आइरन मैन के फैन हों या फिर आप किसी और एवेंजर्स के, जब सभी एक साथ फिल्म में काम करने के लिए आए तो फिल्म को भारी सफलता मिली।

जब सभी एक साथ फिल्म में होंगे तो जाहिर सी बात है कि हर एक सुपरहीरो को पसंद करने वाले दर्शक फिल्म देखने के लिए जाएंगे। अजय ने कहा यदि बॉलीवुड के ये कैरेक्टर्स (सिंघम, सिंबा और सूर्यवंशी) इस तरह की पॉपुलैरिटी हासिल करते हैं तो लोग एवेंजर्स जैसे मिलाप के बारे में सोचेंगे। बस एक अच्छी स्क्रिप्ट का होना जरूरी है। यदि स्क्रिप्ट ढंग की नहीं होगी तो कोई भी फिल्म नहीं चलेगी। 

मुझे नहीं चाहिए नेशनल या कोई और भी अवॉर्ड, मुझे तो सिर्फ रिवॉर्ड चाहिए: सलमान खान

I do not want National or any other award I just want rewards Salman Khan

मुंबई। बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान का कहना है कि उन्हें नेशनल अवार्ड की ख्वाहिश नहीं है। सलमान को फिल्म इंडस्ट्री में काम करते हुए तीन दशक पूरे हो गए हैं। पिछले लगभग एक दशक से बॉक्स ऑफिस का नया रिकॉर्ड सलमान खान ही बनाते हैं। कई फ्रेंचाइज फिल्में हैं, कुछ फिल्में तो सिर्फ सलमान खान के स्टारडम पर धुंआ-धार कमाई करती हैं। अब तक सलमान खान को अपने बेहतरीन अभिनय के लिए कभी भी राष्ट्रीय सम्मान नहीं मिला है। 

सलमान से जब नेशनल अवॉर्ड की चाह को लेकर सवाल पूछा गया तो सलमान ने, तपाक से कहा कि उन्हें नहीं चाहिए नेशनल अवॉर्ड। पिछले दिनों सलमान ने कटरीना की तारीफ करते हुए कहा था कि 'भारत’ के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड मिलेगा।
सलमान ने कहा,''मुझे नहीं चाहिए नेशनल अवॉर्ड... या कोई और भी अवॉर्ड। मुझे तो सिर्फ रिवॉर्ड चाहिए। नेशनल अवॉर्ड तब मिल जाता है, जब लोग थिएटर में जाकर मेरी पिक्चर देख लेते हैं। पूरा नेशन मेरी पिक्चर देख ले बस, उससे बड़ा अवॉर्ड अब क्या चाहिए?’’

सलमान ने कहा, भारत की कहानी कोरियन फिल्म की है, हम इस कहानी को भारत में ले आए। कोरियन फिल्म का प्लॉट हमको बहुत अच्छा लगा था, इसलिए हम इसे भारत ले आए। इस कहानी को भारत लाने में हम सबने बहुत मेहनत की है। हमने कोरियन फिल्म का सिर्फ प्लॉट लिया है और उसे अपने देश के ग्रोथ के साथ जोड़ कर लिखा है। अली अब्बास निर्देशित भारत 05 जून को रिलीज़ होगी। फिल्म में सलमान खान और कटरीना कैफ के अलावा तब्बू, जैकी श्रॉफ, दिशा पाटनी और सुनील ग्रोवर जैसे कलाकार अहम भूमिका में हैं।

भारत के लिए धोनी साबित हो सकते हैं ट्रंपकार्ड : जहीर अब्बास

Dhoni can be proved for India: Trumpcard: Zaheer Abbas

नई दिल्ली। भारत को 30 मई से इंग्लैंड में शुरू हो रहे विश्व कप के प्रबल दावेदारों में गिनते हुए पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जहीर अब्बास ने कहा कि दो विश्व कप जिता चुके महेंद्र सिंह धोनी का क्रिकेटिया दिमाग टीम इंडिया के लिए ट्रंपकार्ड साबित हो सकता है। भारत को टी20 (2007) और पचास ओवरों का विश्व कप (2011) दिला चुके धोनी का यह आखिरी विश्व कप है जबकि बतौर कप्तान विराट कोहली पहली बार विश्व कप में भारत की कप्तानी करेंगे।

अब्बास ने पाकिस्तान से भाषा को फोन पर दिये इंटरव्यू में कहा कि भारत के पास धोनी जैसा जीनियस है जो असल में टीम का दिमाग है। वह क्रिकेट को इतना अच्छा समझता है कि कप्तान और कोच को उसके अनुभव का फायदा जरूर मिलेगा। उसके पास दो विश्व कप जीतने का अनुभव भी है लिहाजा वह टीम का ट्रंपकार्ड साबित हो सकता है।

उन्होंने कहा कि बल्लेबाजों की ऐशगाह इंग्लैंड की पिचें भारत को रास आयेंगी क्योंकि उसके पास मजबूत बल्लेबाजी क्रम है। अपने दौर में एशियाई ब्रैडमेन के नाम से मशहूर रहे अब्बास ने कहा कि हाल ही में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच वनडे श्रृंखला में वहां 350 रन भी बने हैं यानी पिचें बल्लेबाजों की मददगार है और विकेटों पर बिल्कुल घास नहीं है।

ऐसे में  गेंदबाजों को मदद मिलने की उम्मीद कम ही है और भारतीय बल्लेबाज इसका पूरा फायदा उठा सकते हैं।भारत के लिए चौथे नंबर का बल्लेबाजी क्रम दुविधा बना हुआ है लेकिन पाकिस्तान के लिए 78 टेस्ट और 62 वनडे खेल चुके अब्बास शीर्षक्रम में ज्यादा बदलाव के हिमायती नहीं हैं। उन्होंने कहा कि बल्लेबाजी क्रम तो कप्तान की पसंद है लेकिन मेरा मानना है कि शीर्ष चार बल्लेबाजों का क्रम स्थिर होना चाहिए।

इसके बाद निचले क्रम में बदलाव किये जा सकते हैं लेकिन ऊपर नहीं। भारत के अलावा उन्होंने पाकिस्तान, आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड को भी विश्व कप के दावेदारों में बताया। उन्होंने कहा कि इस विश्व कप का प्रारूप ऐसा है कि फिटनेस सफलता की कुंजी होगी। वहां के मौसम और हालात को देखते हुए सबसे फिट टीमें ही अंतिम चार में रहेंगी। पाकिस्तानी टीम के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के लिए सबसे बढ़िया टीम संयोजन यही हो सकता था।

अब पाकिस्तान को इंग्लैंड से मिली हार को भुलाकर विश्व कप पर फोकस करना होगा और उसे अपनी फील्डिंग में सुधार करना पड़ेगा। पाकिस्तान अभी तक विश्व कप में भारत से एक भी मैच नहीं जीत सका है। यह पूछने पर कि क्या इस बार यह स्थिति बदलेगी, अब्बास ने कहा कि यह तो मैच के दिन का दबाव झेलने पर निर्भर होगा।

लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि यह टूर्नामेंट का सबसे शानदार मैच होगा। भारत और पाकिस्तान का मुकाबला 16 जून को मैनचेस्टर में होगा। अब्बास ने कहा कि भारत का रिकार्ड बेहतर रहा है लेकिन पाकिस्तान अपना दिन होने पर किसी को भी हरा सकता है। यह टूर्नामेंट का सबसे रोचक मैच होगा और मेरी नजर में भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट के मैदान पर प्रतिद्बंद्बिता एशेज से भी बड़ी है।

संन्यास लेने के बाद चित्रकार बनना चाहते हैं धोनी

Dhoni wants to become a painter after retirement

नयी दिल्ली।  महेंद्र सिंह धोनी ने बचपन के अपने सपने को साझा करते हुए कहा कि वह चित्रकार बनना चाहते थे और क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद वह अपने इस शौक को पूरा करना चाहेंगे जिससे इस दिग्गज क्रिकेटर के संन्यास लेने को लेकर कयास लगने लगे हैं। 

आईसीसी विश्व कप के बाद संन्यास लेने की संभावना की चर्चा के बीच धोनी ने अपनी कुछ पेंटिंग की प्रदर्शनी करते हुए एक वीडियो में कहा, ‘‘मैं आप सभी एक गोपनीय बात साझा करना चाहता हूं। बचपन से ही मैं एक चित्रकार बनना चाहता था। मैंने बहुत क्रिकेट खेल ली है और इसलिए मैंने फैसला किया है अब समय वह करने का आ गया है जो मैं करना चाहता था और इसलिए मैंने कुछ पेंभटग बनायी हैं। 

भारत की टी20 और वनडे विश्व कप विजेता टीमों के कप्तान रहे 37 वर्षीय धोनी क्रिकेट महाकुंभ में भाग लेने के लिये भारतीय टीम के साथ ब्रिटेन जाने के लिये तैयार हैं। यह उनका अंतिम विश्व कप हो सकता है। उनकी पहली पेंटिंग प्राकृतिक दृश्य की है। दूसरी पेंटिंग के बारे में उन्होंने कहा कि यह ऐसा है जैसा भविष्य में परिवहन का साधन हो सकते हैं। 

धोनी ने तीसरी पेंटिंग को अपनी पसंदीदा बताया। उन्होंने कहा कि यह उनकी प्रतिकृति है जिसमें वह इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपरकिंग्स की जर्सी में खेलते हुए दिखायी दे रहे हैं। धोनी ने कहा कि वह जल्द ही अपने चित्रों की प्रदर्शनी लगाएंगे और उन्होंने इस संबंध में अपने प्रशंसकों से सुझाव और सलाह मांगी है।

जेट एयरवेज की हिस्सेदारी बेचने के बारे में इस सप्ताह के अंत तक फैसला होने की संभावना

Decision on Jet Airways is possible by this weekend

नई दिल्ली। वित्तीय संकट के कारण ठप पड़ी निजी विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज की हिस्सेदारी बेचने के बारे में इस सप्ताह के अंत तक फैसला होने की संभावना है। नागर विमानन मंत्रालय में संयुक्त सचिव सत्येंद्र कुमार मिश्रा ने जेट एयरवेज के कर्मचारियों को मंगलवार को आश्वासन दिया कि ऋणदाता बैंकों द्बारा पिछले महीने शुरू की गई बोली प्रक्रिया का परिणाम इस सप्ताह के अंत तक सामने आ जाएगा। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के नेतृत्व वाले बैंकों के कंसोर्टियम ने बकाया ऋण की वसूली के लिए एयरलाइंस की 75 प्रतिशत तक हिस्सेदारी की बिक्री के वास्ते बोली प्रक्रिया शुरू की थी। बोली लगाने की अंतिम तिथि 10 मई थी। औपचारिक रूप से सिर्फ एतिहाद एयरवेज ने बोली लगाई है जिसकी जेट एयरवेज में पहले से 24 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इसके अलावा बोली प्रक्रिया से इतर भी दो प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। 

एयरलाइन को बचाने और दोबारा पटरी पर लाने के लिए उसके कर्मचारियों ने नागर विमानन मंत्रालय के सामने प्रदर्शन किया। जेट एयरवेज के विमान रखरखाव अभियांत्रिकी कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष आशीष मोहंती ने बताया कि मिश्रा ने उन्हें तथा कुछ अन्य कर्मचारी प्रतिनिधियों को बुलाकर 20-25 मिनट बात की। उन्होंने कर्मचारियों की बात सुनने के बाद आश्वासन दिया कि बैकों की बोली प्रक्रिया का परिणाम इस सप्ताह के अंत तक सामने आ जाएगा। संयुक्त सचिव ने कर्मचारियों से कहा कि सरकार शीर्ष स्तर पर स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

जेट को दुबारा शुरू करने के प्रयासों को मंत्रालय के स्तर पर गति देने की कोशिश की जा रही है। मोहंती ने बताया कि एसबीआई की तरफ से भी उन्हें यही आश्वासन मिला है कि बोली प्रक्रिया का परिणाम इस सप्ताह के अंत तक आ जाएगा। इससे पहले कर्मचारियों ने मंत्रालय के द्बार के सामने नारेबाजी की। वे पांच महीने से बकाया वेतन दिलाने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि यदि बोली प्रक्रिया पर फैसला जल्द नहीं हो पाता तो राष्ट्रीय कंपनी कानून प्राधिकरण के पास मामला भेजकर कंपनी को नीलाम कर दिया जाए और उस पैसे से कर्मचारियों के बकाया वेतन का भुगतान किया जाए।

383 अंक की गिरावट के साथ 38,970 के स्तर पर बंद हुआ सेंसेक्स

Sensex closes 383 points down at 38970 level

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज सुबह कारोबार की शुरूआत बढ़त के साथ हरे निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर ये गिरावट के साथ लाल निशान पर बंद हुआ है। गिरावट के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 382.87 अंक यानि 0.97 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,969.80 के स्तर पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) के पचास शेयरों वाले निफ्टी में भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट देखने को मिली और ये 119.15 अंक यानि 1.01 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,709.10 के स्तर पर बंद हुआ। 

गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान सुबह शेयर बाजार बढ़त के साथ हरे निशान पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये अच्छी बढ़त बनाकर हरे निशान पर ही बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 724.56 अंक यानि 1.91 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 38,655.33 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 1,421.90 अंक यानि 3.75 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 39,352.67 के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 209.40 अंक यानि 1.84 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,616.55 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 421.10 अंक यानि 3.69 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,828.25 के स्तर पर बंद हुआ। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.