23 फरवरी : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Saturday, 23 Feb 2019 05:14:11 PM
23 February top 10 news

ICICI बैंक की पूर्व CEO चंदा कोचर के खिलाफ सीबीआई ने जारी किया लुक आउट नोटिस

ICICI Bank's former CEO Chanda Kochhar issued notice against the CBI

नई दिल्ली । वीडियोकॉन लोन मामले में ICICI बैंक की पूर्व सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर चंदा कोचर और वीडियोकॉन समूह के वेणुगोपाल धूत के खिलाफ सीबीआई ने लुक आउट नोटिस जारी किया है। हांलाकि इससे पहले ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के कथित मामले में इनके खिलाफ केस दर्ज चुका है। अधिकारियों के अनुसार यह वीडियोकॉन समूह को दिए गए 1,875 करोड रुपए के कर्ज के मामले में बरती गई ​कथित अनियमितता का मामला है। इसके साथ ही लुक आउट नोटिस जारी कर यह सुनिश्चित करने की कोशिश की गई है कि आरोपी देश छोडकर न भागने पाएं। 

आपको बता दें कि लुक आउट नोटिस जारी होने के बाद आरोपी के देश से बाहर निकलने वाले सभी रास्तों से निकासी का विकल्प प्रतिबंधित हो जाता है। यदि इस नोटिस के बाद भी अगर कोई आरोपी देश से बाहर निकलने की कोशिश करता है। तो अधिकारी उसे हिरासत में ले सकते है। उन्होंने बताया कि अभी तक बयान दर्ज कराए जाने को लेकर चंदा कोचर कोई समन नहीं किया गया है। 

गौरतलब है कि साल 2016 में लुकआउट नोटिस में ढिलाई बरते जाने के कारण से शराब कारोबारी विजय माल्या बैंकाकें का करीब 9,000 करोड रुपए लेकर देश से भागने में सफल रहे थे। इस घटना से सबके लेते हुए सीबीआई ने मामले में पहल करते हुए लुक आउट नोटिस जारी किया है। 

दरअसल, चंदा कोचर के आईसीआईसीआई बैंक के सीईओ के कार्यकाल के दौरान वीडियोकॉन समूह और उसकी सहायक कंपनियों को 1,875 करोड़ रुपये का कर्ज दिए जाने के मामले में कथित अनियमितता का आरोप है। कोचर उस समिति में शामिल थीं, जिसने वीडियोकॉन समूह को कर्ज दिए जाने को मंजूरी दी थी।

कांग्रेस सत्ता में आई तो अर्धसैनिक बलों को देगी शहीद का दर्जाः राहुल गांधी

If the Congress comes to power, the martyr's status will be given to the paramilitary forces: Rahul Gandhi

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ​शनिवार को दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में छात्रों को संबोधित कर रहे है। इस कार्यक्रम की शुरूआत जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों को श्रद्धांजली देकर की गई। इस दौरान छात्रों को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि अगर आम चुनाव के बाद कांग्रेस सत्ता में आई तो अर्धसैनिक बलों के जवानों को शहीद का दर्जा दिया जाएगा। 

राहुल गांधी ने कहा कि अभी तक अर्धसैनिक बलों को शहीद का दर्जा नहीं मिलता है। लेकिन कांग्रेस की सरकार आएगी तो उन्हें शहीद का दर्जा मिलेगा। इस दौरान उन्होंने पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भी सीआरपीएफ के जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिलने का मुद्दा उठाते हुए केंद्र सरकार और पीमए मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी के 'न्यू ​इंडिया' में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिलता, लेकिन एक उद्योगपति को 30 हजार करोड रूपए का तोहफा आसानी से मिलता है। 

 दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में छात्रों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने देश की शिक्षा व्यवस्था में खास विचारधारा थोपे जाने का भी आरोप लगाया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आप किसी भी विश्वविद्यालय में पू्छ लीजिए। पता चलेगा कि कुलपति के पद पर एक विचारधारा और संगठन के लोग बैठाए जा रहे है। वे हिंदुस्तान की शिक्षा व्यवस्था को अपना औजार बनाना चाहते है। 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमें इन संस्थाओं को स्वायत्तता देनी है। पूरा धन देना है। यह नहीं कहना है कि उन्हें क्या करना है। यही हममें और उनमें अंतर है। इसके साथ ही भाजपा शिक्षा पर बजट में कटौती की है। वह शिक्षा को निजी समूहों के हाथों में सौप रही है। इस दौरान उन्होंने कहा कि जब मेरी दादी की मौत हुई मेरे पापा उस समय बंगाल में थे। मेरी दादी मेरे लिए मां से भी ज्यादा थी। मेरी दादी की हत्या उनकी सुरक्षा करने वालों ने की थी। सतवंत सिंह ने मुझे बैडमिंटन सिखाया था। 

पुलवामा के बाद भारत कोई ठोस निर्णय लेने पर विचार कर रहा है: ट्रंप

India is considering a strong decision after the Pulwama: Trump

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत सी समस्याएं हैं और पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद भारत कोई ठोस निर्णय लेने पर विचार कर रहा है। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से लदे वाहन से जवानों की बस को टक्कर मारकर इस हमले को अंजाम दिया था।

भारत ने हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ एक बड़ा कूटनीतिक हमला करते हुए आतंकवाद को शह देने में पाकिस्तान की भूमिका का पर्दाफाश किया। इसके अलावा अमेरिका के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने पाकिस्तान पर दबाव डाला कि वह अपनी जमीन को आतंकी समूहों की सुरक्षित पनाहगाह बनने से रोके और पुलवामा हमले के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करे।

ट्रंप ने ओवल ऑफिस में पत्रकारों से कहा, इस समय भारत और पाकिस्तान के बीच हालात बेहद खराब हैं। यह बेहद खतरनाक स्थिति है। हम चाहेंगे कि यह (शत्रुता) समाप्त हो जाए। काफी लोग मारे गए हैं। हम इसे बंद होते देखना चाहते हैं। हम इसमें (प्रक्रिया में) काफी हद तक शामिल हैं। राष्ट्रपति ने आतंकवादी हमले के मद्देनजर भारत की ओर से मजबूत प्रतिक्रिया की संभावना का उल्लेख किया।

ट्रंप ने कहा, ‘‘भारत किसी ठोस निर्णय पर विचार कर रहा है। भारत ने हमले में अपने 50 लोगों को खोया है। मैं भी इस बात को समझ सकता हूं।’’ उन्होंने कहा कि उनका प्रशासन दोनों देशों के अधिकारियों से बातचीत कर रहा है। उन्होंने कहा, ’’हम बात कर रहे हैं। बहुत से लोग हैं। यह एक बहुत ही नाजुक संतुलन होगा। जो कुछ हुआ है उसके कारण भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत सारी समस्याएं हैं। 

ट्ंरप ने कहा ’’मैंने पाकिस्तान को 1.3 अरब अमेरिकी डॉलर की सहायता राशि का भुगतान करना बंद कर दिया, जो हम उन्हें दिया करते थे। इस बीच, हम पाकिस्तान के साथ कुछ बैठकें कर सकते हैं। पाकिस्तान ने अन्य अमेरिकी राष्ट्रपतियों के शासनकाल में अमेरिका का बहुत फायदा उठाया है। हम हर साल पाकिस्तान को 1.3 अरब अमेरिकी डॉलर का भुगतान कर रहे थे।’’ ट्रम्प ने कहा, ’’मैंने उस भुगतान को बंद कर दिया, क्योंकि वे उस तरह से हमारी मदद नहीं कर रहे थे, जैसी उन्हें करनी चाहिए थी। भारत ने पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान से ‘सबसे तरजीही देश‘ का दर्जा वापस लेने का ऐलान किया था और पाकिस्तान में बनीं वस्तुओं पर सीमाशुल्क 200 फीसदी तक बढ़ा दिया था।

मार्च में हो सकती है ट्रम्प और जिनपिंग की मुलाकात

Trump and Jinping meet in March

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि मार्च में वह चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात करेंगे। जिनपिंग से मुलाकात को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में  ट्रम्प ने शुक्रवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा संभवत जल्द ही मार्च में फ्लोरिडा के मार-ए-लागो रिसार्ट में यह मुलाकात होगी। 

अमेरिका-चीन के बीच व्यापारिक वार्ता का नवीनतम दौर वाशिंगटन में चल रहा है क्योंकि दोनों पक्ष एक मार्च की टैरिफ समय सीमा से पहले व्यापारिक समझौते पर पहुंचने की दिशा में काम कर रहे हैं। व्यापारिक बातचीत के तहत ट्रम्प ने शुक्रवार को चीन के उप प्रधानमंत्री लुई हे से मुलाकात की। दोनों ने पत्रकारों से कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अमेरिका और चीन जल्द ही एक व्यापारिक समझौते पर पहुंचेंगे। गौरतलब है कि अमेरिका और चीन के बीच गत वर्ष जून से ही व्यापारिक युद्ध चल रहा है। 

हमारी सरकार बनी तो अर्धसैनिक बलों के जवानों को मिलेगा शहीद का दर्जा: राहुल

If the government is formed then the soldiers of the paramilitary forces will get the martyr status: Rahul

नयी दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव के बाद उनकी पार्टी की सरकार बनने पर देश के लिए प्राण न्यौछावर करने वाले अर्धसैनिक बलों के जवानों को भी ‘शहीद‘ का दर्जा देने की व्यवस्था की जाएगी। गांधी ने यहां  छात्रों के साथ संवाद के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा अर्धसैनिक बलों को शहीद का दर्जा मिलना चाहिए। अगर हमारी सरकार आयी तो उन्हें शहीद का दर्जा मिलेगा।

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भी कांग्रेस अध्यक्ष ने सीआरपीएफ जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिलने का मुद्दा उठाते हुए नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा था और कहा था कि मोदी के ‘न्यू इंडिया‘ में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिलता, लेकिन एक उद्योगपति को 30 हजार करोड़ रुपये का तोहफा आसानी से मिलता है।

छात्रों के साथ बातचीत में गांधी ने देश की शिक्षा व्यवस्था में एक खास विचारधारा थोपे जाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘आप किसी भी विश्वविद्यालय में पूछ लीजिये। पता चलेगा कि कुलपति के पद पर एक विचारधारा और एक संगठन के लोग बैठाए जा रहे हैं। वे हिंदुस्तान के शिक्षा व्यवस्था को अपना औजार बनाना चाहते हैं। गांधी ने कहा, ’’हमें इन संस्थाओं को स्वायत्तता देनी है, पूरा धन देना है। यह नहीं कहना है कि उन्हें क्या करना है। यही हममें और उनमें फर्क है। उन्होंने यह भी दावा किया कि भाजपा सरकार शिक्षा पर बजट में कटौती की है और वह शिक्षा को निजी समूहों के हाथों में सौंप रही है। 

19 साल बाद एक साथ काम करेंगे सलमान और संजय लीला भंसाली, स्क्रिप्ट हुई तैयार

Salman and Sanjay Leela Bhansali, script will work together after 19 years

एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड अभिनेता सलमान इन दिनों अपनी आगामी फिल्म 'भारत' की तैयारी कर रहे है। तो वहीं इसके साथ ही सलमान खान के फैंस के लिए एक खुशखबरी आ रही है। सलमान खान जल्द ही एक बडी फिल्म में नजर आ सकते है। यदि मीडिया रिपोर्ट की माने तो वे इस फिल्म की जल्द ही काम शुरू करने वाले है। सलमान खान इस फिल्म में संजय लीला भंसाली के साथ काम करेंगे। 

आपको बता दें कि सलमान और संजय लीला भंसाली 19 साल बाद एक साथ काम करेंगे। खबरों के अनुसार संजय लीला भंसाली अब सलमान खान के साथ काम करने जा रहे है। इस फिल्म की शूटिंग 2019 के सेंकंड हाफ में शुरू हो सकती है। बताया जा रहा है कि यह फिल्म एक रोमैंट्रिक ड्रामा होगी। इस फिल्म की स्क्रिप्ट भी तैयार हो गई है। इसके साथ ही यह फिल्म 2020 तक रिलीज हो सकती है। 

गौरतलब है कि इस फिल्म की सोशल मीडिया पर  डीटेल्स भले ही लीक हो गई हों लेकिन अभी तक कोई ऑफिशियल एनाउंसमेंट नहीं हुई है। खबरों की माने तो सलमान खान भी संजय लीला भंसाली के साथ काम करने को लेकर काफी उत्साहित नजर आ रहे है। 

दरअसल, सलमान खान ने पहले संजय लीला के साथ हम दिल दे चुके सनम में काम किया ​था। इसके बाद सलमान संजय लीला के साथ काम करना चाहते थे। तो वहीं अब सलमान खान को मौका मिल गया है। हालांकि सलमान खान के साथ हिरोइन कौन होगी इस बारे में अभी पता नहीं लगा है। 

मेरी हर फिल्म में बंगाल का स्पर्श होता है: शूजित सरकार

Bengal has the touch of every film in my film: Shoojit Sarkar

कोलकाता। फिल्मकार शूजित सरकार ने कहा है कि वह अब भी महान बंगाली निर्देशकों के काम से सीख रहे हैं और वह निश्चित रूप से एक दिन एक बंगाली फिल्म बनाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सभी फिल्मों में बंगाल का स्पर्श रहता है।सरकार ने शुक्रवार शाम यहां सेंट जेवियर कॉलेज (कलकत्ता) द्वारा उन्हें ‘दशोवुजा बंगाली 2019‘ पुरस्कार दिये जाने के बाद कहा, ’’जब कोई मुझसे पूछता है कि मैं बंगाली में फिल्म क्यों नहीं बनाता, तो मेरा जवाब होता है कि मैं अभी सीख रहा हूं।’’ उन्होंने कहा, ’’मेरी जितनी भी फिल्में होती हैं उनमें हमेशा किसी न किसी तरह से बंगाल का स्पर्श होता है। सत्यजीत रे, रित्विक घटक और तपन सिन्हा सरीखे महान फिल्मकारों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इन्होंने मुझे हमेशा प्रेरित किया है।

विश्व कप में भारत-पाक के मैच को लेकर पाकिस्तानी कप्तान ने दिया चौकाने वाला बयान, जानकार आप भी हो जाएंगे हैरान

Pakistan's Captain gives a shocking statement about the match between India and Pakistan in the World Cup

स्पोटर्स डेस्क। इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में भारत-पाक के बीच मैच खेला जाना है। लेकिन पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद इस मैच पर संकट के बादल मंडराने लगे है। इस हमले के बाद इस बात की मांग जोर पकड़ रही है कि भारत को पाकिस्तान के साथ होने वाले इस मैच का बहिष्कार करना चाहिए। इस मामले पर भारत के कई क्रिकेटर पर अपनी राय रख चुके है। लेकिन अब पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने भी इस मामले पर अपनी राय रखी है। पाक कप्तान ने कहा कि विश्व कप में भारत और पाकिस्तान का मैच पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही होना चाहिए। 

पाक कप्तान सरफराज अहमद ने कहा कि पुलवामा में हुए हमले के बाद क्रिकेट को निशाना बनाना बेहद ही निराशाजनक है। सरफराज ने आगे कहा कि भारत और पाकिस्तान का मैच पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होना चाहिए। क्योंकि लाखों लोग इस मैच को देखना चाहते है। मेरा मनाना है कि राजनीतिक हित के लिए क्रिकेट को निशाना नहीं बनाना चाहिए।

पाक कप्तान ने कहा कि यह निराशाजनक है कि पुलवामा की घटना के बाद क्रिकेट को निशाना बनाया जा रहा है। मुझे याद नहीं है कि पाकिस्तान ने कभी खेलों के साथ राजनीति जोडी हो। इसके साथ ही भारत के पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर इस मैच को लेकर कहा कि  भारत हमेशा विश्व कप में पाकिस्तान से जीता है और एक बार फिर भारत के पास पाकिस्तान को इस टूर्नामेंट में हराने का मौका है। व्यक्तिगत रुप से मैं नहीं चाहूंगा कि पाकिस्तान को बिना लड़े दो अंक मिले। मेरे लिए मेरा देश पहले है। मेरा वतन जो निर्णय लेगा मैं दिल से उस निर्णय का स्वागत करुंगा और अपने देश के साथ रहूंगा।

पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने कहा कि भारत को विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मैच खेलना चाहिए और उसे हराकर विश्व कप से बाहर कर देना चाहिए। इसके बाद गावस्कर ने कहा कि भारत भले ही पाकिस्तान को विश्व कप से बाहर करने की कोशिश कर ले लेकिन ऐसा नहीं होना संभव नहीं है। 

भारत-पाक विश्व कप मैच पर सरकार के फैसले का सम्मान करेंगे: कोहली

India-Pakistan will respect government's decision on World Cup match: Kohli

विशाखापत्तनम। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को कहा कि पुलवामा आंतकी हमले के बाद आगामी विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेलने के संबंध में उनकी टीम सरकार के फैसले का सम्मान करेगी। इस हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गये थे। हालांकि 16 जून को होने वाले इस मुकाबले का बहिष्कार करने की मांग उठ रही है लेकिन भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने इस पर फैसला नहीं लिया और यह निर्णय सरकार पर छोड़ दिया। 

कप्तान कोहली ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ रविवार को होने वाले भारत के शुरूआती टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘हमारा फैसला स्पष्ट है। हम उस पर कायम रहेंगे जो देश करना चाहता है और जो फैसला बीसीसीआई करता है। हमारी राय यही है। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार और बोर्ड जो भी फैसला करते हैं, हम उसी का पालन करेंगे और उसका सम्मान करेंगे। इस मुद्दे पर हमारा पक्ष यही है। कप्तान ने पूरी भारतीय टीम की ओर से शहीद जवानों के परिवारों को संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा, ‘‘जिन जवानों ने अपनी जान गंवायी, उनके परिवारों के प्रति हमारी गहरी संवेदनायें। भारतीय टीम इस घटना से दुखी है।

मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी टीवी चैनल को दिये साक्षात्कार में कहा कि टीम सरकार के फैसले को स्वीकार करेगी। शास्त्री ने ‘मिरर नाऊ’ से कहा, ‘‘यह पूरी तरह से बीसीसीआई और सरकार पर है। वे जानते हैं कि क्या हो रहा है और वे इस पर फैसला करेंगे। वो जो भी फैसला करते हैं, हम उसका पालन करेंगे। उन्होंने कहा अगर सरकार कहती है कि यह इतना नाजुक है कि आपको विश्व कप में खेलने की जरूरत नहीं है तो मैं सरकार के फैसले का पालन करूंगा। 

5जी में देश को उच्च आर्थिक वृद्धि में पहुंचाने की क्षमता: ट्राई

The ability to bring the nation to higher economic growth in 5G: TRAI

नयी दिल्ली। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने शुक्रवार को कहा कि 5जी के आगमन से लोगों के जीवन में ऐसा बदलाव आएगा जो पहले कभी नहीं देखा गया। नियामक ने कहा कि पांचवीं पीढ़ी की मोबाइल सेवा में देश की आर्थिक वृद्धि को उच्च स्तर पर ले जाने की क्षमता है। ट्राई ने ‘भारत में 5जी लागू करने’ पर श्वेत पत्र में कहा कि 5जी से कई क्षेत्रों मसलन टेलीसर्जरी और स्वत: चलने वाला वाहन आदि के क्षेत्र में नई क्षमता आएगी। इसकी पूरी क्षमता के दोहन के लिए उल्लेखनीय मात्रा में निवेश करने की जरूरत होगी। 

श्वेत पत्र में कहा गया है कि 5जी दृष्टिकोण में स्पेक्ट्रम की उपलब्धता सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा है। इसमें कहा गया है कि 5जी की क्षमता के अनुरूप परिणाम हासिल करने के लिये यह महत्वपूर्ण होगा कि पर्याप्त मात्रा में स्पेक्ट्रम उपलब्ध हो। ट्राई ने कहा कि यह महत्वपूर्ण होगा कि उचित फ्रीक्वेंसी बैंड में पर्याप्त स्पेक्ट्रम उपलब्ध कराया जाए।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.