25 मई : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Saturday, 25 May 2019 04:30:53 PM
25 May top 10 news

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

सूरत अग्निकांड: कोचिंग सेंटर का संचालक गिरफ्तार, बिल्डर फरार

Surat fire: arrested for coaching center operator, builder absconding

सूरत। सूरत में कोचिंग सेंटर में आग लगने के मामले में पुलिस ने कोचिंग सेंटर के संचालक को गिरफ्तार कर लिया है। शुक्रवार को हुए भीषण अग्निकांड में 20 लोगों की जानें चली गईं थीं, जिनमें ज्यादार किशोर छात्र शामिल हैं। सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने शनिवार को बताया कि सरथाना इलाके में वाणिज्यिक तक्षशिला कॉम्पलेक्स के दो बिल्डर फरार हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस ने कल रात 3 लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।

जिनमें दो बिल्डर और कोचिग संचालक शामिल हैं। हमने एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। घटना में अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है। आरोपी कोचिंग संचालक की पहचान भार्गव भूटानी और दोनों बिल्डरों की पहचान हर्षुल वेकारिया और जिग्नेश पालीवाल के रूप में हुई है। शर्मा ने कहा कि हमने भूटानी को गिरफ्तार कर लिया है।

बाकि दो आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए उनकी तलाश चल रही है। शुक्रवार को कोचिंग सेंटर में आग लगने की घटना में अधिकतर छात्रों की मौत दम घुटने से हुई है जबकि कुछ की मौत आग से बचने के लिए खिड़की से कूदने के कारण हुई। राज्य सरकार ने इस मामले में विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं।

पीएम मोदी अपनी मां का आर्शीवाद लेने जाएंगे गुजरात

PM Modi to take blessings of his mother in Gujarat

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री का पद दूसरी बार संभालने से पहले नरेंद्र मोदी रविवार को अपनी मां हीराबेन मोदी का आशीर्वाद लेने गुजरात और सोमवार को वाराणसी की जनता का जीत के लिए आभार व्यक्त करने काशी जाएंगे। सत्रहवीं लोकसभा के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने प्रंचड जीत दर्ज की है।

मोदी ने शनिवार को ट्विटर पर गुजरात और काशी जाने की जानकारी दी। उन्होंने लिखा,कल शाम मां का आशीर्वाद लेने गुजरात जाऊंगा। इसके बाद सोमवार को मुझमें विश्वास जताने के लिए काशी जैसी महान धरा के नागरिकों आभार व्यक्त करने जाऊंगा। गौरतलब है कि मोदी दोबारा वाराणसी से विजयी हुए हैं और उन्होंने महागठबंधन उम्मीदवार शालिनी यादव को 479505 मतों के भारी अंतर से हराया है।

शनिवार को भाजपा संसदीय दल की बैठक होनी है जिसमें मोदी को संसदीय दल का नेता चुना जाएगा। इसके बाद राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की बैठक में मोदी को गठबंधन का नेता चुना जाएगा। मोदी संभवतह 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। मोदी ने शुक्रवार को अपने मंत्रिमंडल का इस्तीफा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंप दिया था।

कोविंद ने निवर्तमान मोदी कैबिनेट के लिए शुक्रवार को रात्रि भोज का आयोजन किया। राष्ट्रपति भवन में आयोजित इस रात्रि भोज में उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उनके निवर्तमान मंत्रिपरिषद के सदस्य, निवर्तमान लोकसभा अध्यक्ष प्रमुख रूप से शामिल थे। लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित केंद्रीय मंत्रिपरिषद ने राष्ट्रपति को सामूहिक इस्तीफा सौंप दिया था, जिसे उन्होंने स्वीकार लिया। राष्ट्रपति ने इस्तीफा स्वीकार करते हुए प्रधानमंत्री से नई सरकार बनने तक पद पर बने रहने का आग्रह किया है। 

राहुल गांधी ही कांग्रेस को सही दिशा दे सकते हैं: अविनाश पांडे

Rahul Gandhi can give right direction to Congress: Avinash Pandey

नई दिल्ली। कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक से पहले कांग्रेस महासचिव अविनाश पांडे ने शनिवार को कहा कि राहुल गांधी ही पार्टी को सही नेतृत्व दे सकते हैं। उनका यह बयान उस वक्त आया है जब इस तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं कि गांधी सीडब्ल्यूसी की बैठक में अध्यक्ष पद से इस्तीफ़े की पेशकश कर सकते हैं।

इन अटकलों के बारे में पूछे जाने पर पांडे ने पीटीआई-भाषा से कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व को अगर कोई सही दिशा दे सकता है तो वो राहुल गांधी हैं। उनके नेतृत्व में ही पार्टी के सभी लोग आगे संघर्ष करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि राहुल ने अग्रिम पंक्ति में रहकर एक विपक्षी नेता की सशक्त भूमिका निभाई है।

उन्होंने जो दिन-रात मेहनत की है, उसका मकसद सिर्फ कांग्रेस को मजबूत करना नहीं, बल्कि संवैधानिक संस्थाओं को बचाना भी है। पांडे ने आरोप लगाया कि भाजपा असल मुद्दों से ध्यान भटकाते हुए चुनाव को भावनात्मक मुद्दों की ओर ले गई। उन्होंने कहा कि भाजपा ने चुनाव को राष्ट्रपति प्रणाली वाला बनाया। निश्चित तौर पर परिणाम हमारी अपेक्षा के विपरीत हैं।

इसका देश की राजनीति और कांग्रेस पर क्या असर होगा, इस पर चितन करने की जरूरत है। गौरतलब है कि कांग्रेस को इस लोकसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा है। वह 52 सीटों पर सिमट गई है। 2014 के चुनाव में 44 सीटें जीतने वाली पार्टी को इस बार बेहतर की उम्मीद थी, लेकिन उसकी उम्मीदों पर पानी फिर गया।

आबे-किम बैठक से उ. कोरिया का परमाणु मसला हल होने की उम्मीद : अमेरिका

North Korea nuclear issue expected to be resolved from Abe-Kim meeting: US

टोक्यो। अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने विश्वास व्यक्त किया कि जापान के प्रधान मंत्री शिंजो आबे और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के बीच संभावित बैठक उत्तर कोरिया के परमाणु एवं हथियार मुद्दे के निपटारे में मददगार साबित हो सकती है। बोल्टन फिलहाल टोक्यो की यात्रा पर है जहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शनिवार को पहुंचने वाले हैं। ट्रंप और आबे से मुलाकात और बातचीत करेंगे। 

मई की शुरुआत में, आबे ने बिना किसी पूर्व शर्त के किम के साथ बातचीत करने की तत्परता व्यक्त की थी। क्योडो संवाद समिति ने बोल्टन के हवाले से कहा कि संभावित आबे-किम बैठक उत्तर कोरिया में अपहृत किये गये जापानी नागरिकों के मुद्दे को सुलझाने में भी मदद करेगी। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने यह भी तर्क दिया कि हाल ही में उत्तर कोरिया द्बारा प्रक्षेपित की गई मिसाइलें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा समिति के प्रस्तावों का उल्लंघन है।

इसके अलावा बोल्टन ने जोर देकर कहा कि ट्रंप और किम के बीच तीसरे शिखर सम्मेलन का दरवाजा खुला हुआ है। अमेरिका-ईरान के बीच बढते विवाद के बीच आबे के तेहरान की नियोजित यात्रा के बारे में बोलते हुए बोल्टन ने कहा कि इस मुद्दे पर ट्रंप की जापान यात्रा के दौरान चर्चा की जाएगी।

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया ने मई की शुरुआत में छोटी दूरी की मिसाइलों के परीक्षण सहित कई प्रक्षेपण किए। फरवरी में ट्रंप और किम ने हनोई में अपना दूसरा शिखर सम्मेलन आयोजित किया। इससे पहले दोनों नेताओं के बीच गत वर्ष जून में सिंगापुर में पहली बैठक हुई थी। हालांकि, वियतनाम की बैठक बिना किसी घोषणा या समझौते के समाप्त हो गई।

जून में जी-20 शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी से होगी ट्रंप की मुलाकात

PM Modi meets Trump on G20 Summit in June

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने जापान में जी-20 शिखर सम्मेलन में मिलने पर सहमत हुए हैं। दोनों नेताओं ने अमेरिका-भारत रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने और पिछले दो साल की उपलब्धियों पर और अधिक काम करने का इरादा जाहिर किया।

व्हाइट हाउस ने कहा कि ट्रंप ने लोकसभा चुनावों में ऐतिहासिक जीत हासिल करने के लिए मोदी को फोन करके बधाई दी। एक बयान में व्हाइट हाउस ने कहा कि (दोनों) नेता ओसाका में जी-20 शिखर सम्मेलन में एक-दूसरे से मुलाकात को लेकर उत्सुक हैं। वहां अमेरिका, भारत और जापान एक स्वतंत्र एवं खुले भारत-प्रशांत के लिए अपनी साझा दृष्टि पर काम के लिए एक त्रिपक्षीय बैठक करेंगे।

जी-20 शिखर सम्मेलन 28 और 29 जून को होगा। बाद में जापान की यात्रा पर जाने से पहले व्हाइट हाउस के साउथ लॉन में  पत्रकारों से बातचीत में ट्रंप ने कहा कि मैंने अभी-अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की और मैंने उन्हें ढेर सारी शुभकामनाएं दी। ट्रंप ने कहा कि मैंने अपने देश की ओर से, अपनी ओर से और हर व्यक्ति की ओर से बधाई दी। उन्होंने चुनावों में शानदार जीत दर्ज की। वह मेरे दोस्त हैं।

भारत से हमारे बहुत अच्छे रिश्ते हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने बाद में एक ट्वीट भी किया और मोदी को महान व्यक्ति एवं भारत के लोगों का नेता कहकर उनकी तारीफ की। ट्रंप ने कहा कि अभी-अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की, जिसमें मैंने उनकी भव्य राजनीतिक जीत पर उन्हें बधाई दी। वह महान व्यक्ति और भारत के लोगों के नेता हैं- वे सौभाग्यशाली हैं कि उनके पास वह (मोदी) हैं।

बॉर्डर के मुताबिक कोहली, मॉर्गन और फिच विश्व कप में सर्वश्रेष्ठ कप्तान साबित हो सकते हैं

According to Border, Kohli, Morgan and Fitch can prove to be the best captain in the World Cup

मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज क्रिकेटर एलन बॉर्डर ने उम्मीद जताई है कि 30 मई से इंग्लैंड में शुरू हो रहे आईसीसी एकदिवसीय विश्व कप में विराट कोहली, इयोन मोर्गन और आरोन फिच सर्वश्रेष्ठ कप्तान साबित हों सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया को 1987 में अपनी कप्तानी में विश्व चैम्पियन बनाने वाले इस खिलाड़ी ने कहा कि आक्रामक शैली और तुरंत जवाब देने का कप्तानी कौशल कोहली को मोर्गन और फिच से अगल तरह का कप्तान बनाता है।

बॉर्डर ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा कि मुझे लगता है कि विराट कोहली एक अलग प्रकार के कप्तान हैं। वह थोड़े आक्रामक किस्म के खिलाड़ी हैं और विरोधी टीम को उसी के अंदाज में जवाब देने के लिए तैयार रहते है। उन्होंने कहा कि विरोधी खिलाड़ी को पता होता है कि अगर वह ऐसे कप्तान से भिड़ेगे तो उन्हें तुरंत जवाब मिलेगा।

ऑस्ट्रेलिया के 178 मैचों में कप्तानी करने वाले बॉर्डर मोर्गन से भी काफी प्रभावित हैं, जिनके नेतृत्व में इंग्लैंड एकदिवसीय क्रिकेट के शिखर पर पहुंचा है। उन्होंने कहा, कि मुझे लगता है कि इंग्लैंड की टीम असाधारण रूप से अच्छा कर रही हैं। वे अलग तरह की योजना के साथ खेल रहे है यह देखना दिलचस्प होगा कि विश्व कप में उनकी योजना क्या करिश्मा दिखाती है।

वह एक खतरनाक टीम हैं और उनकी गेंदबाजी किसी को भी दबाव में ला सकती है। बांये हाथ का 63 साल का यह पूर्व कप्तान मुश्किल परिस्थितियों में फिच की नेतृत्व क्षमता से प्रभावित है। उन्होंने कहा कि आरोन फिच शानदार काम कर रहे हैं। टीम से उन्हें अच्छा साथ मिल रहा है और मुझे लगता है कि यह उनकी कप्तानी में दिख रहा है। टीम में हर किसी को अपनी जिम्मेदारी का एहसास है। 

जोकोविच के इतिहास बनाने के रास्ते में नडाल, फ़ेडरर की चुनौती

Nadal, Federer challenge on way to make history of Djokovic

पेरिस। नोवाक जोकोविच रविवार से शुरू हो रहे फ्रेंच ओपन के मुख्य मुकाबले में जब उतरेंगे तो उनकी नजरें दूसरी बार एकसाथ चारों ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के रिकार्ड की बराबरी करने पर होगी। टेनिस इतिहास में  जोकोविच (2016) से पहले सिर्फ डान बुड्गे (1938) और राड लावेर (1962 और 1969) ही एक साथ चारों ग्रैंडस्लैम के विजेता रहे है।

टूर्नामेंट में हालांकि दिग्गज रोजर फ़ेडरर की वापसी और गत विजेता राफ़ेल नडाल के लय में आने से विश्व रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज जोकोविच का रास्ता इतना आसान नहीं होगा। इससे पहले 2016 में चारों गैंडस्लैम खिताब जीत चुके जोकोविच ने 2018 में विम्बलडन और यूएस ओपन का खिताब जीतने के बाद इस साल जनवरी में अपना सातवां ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीता है।

जोकोविच ने अब तक 15 गैंडस्लैम खिताब जीते हैं जबकि इस मामले में फ़ेडरर और नडाल क्रमश: 20 और 17 खिताब के साथ उनसे आगे है। इन दोनों खिलाड़ियों ने भी करियर स्लैम को पूरा किया है लेकिन एक साथ चारों बड़े खिताबों को एकसाथ जीतने में सफल नहीं रहे हैं। जोकोविच को सबसे बड़ी चुनौती स्पेन के नडाल से मिलने की संभावना है जिन्हें लाल बाजरी के बादशाह के तौर पर जाना जाता है।

नडाल ने सर्बिया के जोकोविच को पिछले सप्ताह इटैलियन ओपन के फाइनल में हराया था। इस मुकाबले के बाद जोकोविच ने कहा था, फ्रेंच ओपन में बिना किसी शक के नडाल सबसे बड़े दावेदार होंगे, उनके बाद ही कोई और होगा। उन्होंने कहा कि एक साथ चारों ग्रैंडस्लैम जीतने के मौके से मुझे अतिरिक्त प्रेरणा और प्रोत्साहन मिला रहा है। मैं तीन साल पहले ऐसा कर चुका हूं और मुझे विश्वास है कि फिर से ऐसा कर सकता हूं।

रिकार्ड 11 बार फ्रेंच ओपन जीतने वाले नडाल ने रविवार को नौवीं बार इटैलियन ओपन और रिकार्ड 34वां मास्टर्स खिताब जीत कर लय में होने का संकेत दे दिया है। वह टूर्नामेंट में अपने अभियान की शुरूआत विश्व रैंकिग में 43वें स्थान पर काबित पोलैंड के हुबर्ट हुरकाज के खिलाफ करेंगे। क्वार्टर फाइनल में उनका सामना जर्मनी के अलेक्जेंडर ज्वेरेव से हो सकता है। टूर्नामेंट में उनकी कोशिश 12वां खिताब जीतकर अपने रिकार्ड को बेहतर करने की होगी।

उन्होंने इस प्रतियोगिता में 86 मुकाबले जीते हैं जबकि सिर्फ दो में हार का सामना करना पड़ा है। नडाल ने कहा कि मुझे इस बात की परवाह नहीं है कि मैं खिताब का दावेदार हूं या नहीं। मेरा ध्यान अच्छा खेलने पर है। पहले दौर में उनके सामने जर्मनी के क्वालीफायर खिलाड़ी यान्निक हांफमान की आसान चुनौती होगी।

विश्व रैंकिंग में 184वें स्थान पर काबिज हांफमान ने एक भी ग्रैंड स्लैम मुकाबला नहीं जीता है। फ़ेडरर 2015 के बाद पहली बार इस टूर्नामेंट में खेलेंगे। अगर वह 37 साल की उम्र में इस खिताब को जीतते हैं तो फ्रेंच ओपन के सबसे उम्रदराज विजेता होंगे। लय पाने की कोशिश में लगे फ़ेडरर की नजरें इस टूर्नामेंट से ज्यादा विम्बलडन पर हैं।

फ़ेडरर विश्व रैंकिंग में 73वें पायदान पर काबिज इटली के लोरेंजो सोनेगो के खिलाफ अपने अभियान की शुरूआत करेंगे और सेमीफाइनल में नडाल से भिड़ सकते हैं। जोकोविच, नडाल और फ़ेडरर के अलावा विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर काबिज डोमनिक थिएम और छठे पायदान पर काबिज यूनान के स्टेफानोस सिटसिपास भी जीत के दावेदार होंगे। थिएम पिछले साल फाइनल में नडाल से हारकर उपविजेता रहे थे। इस खेल के अगले बड़े खिलाड़ी के तौर पर देखे जा रहे ज्वेरेव के प्रदर्शन पर भी सबकी निगाहें होंगी।

सोना 60 रुपए टूटा, चांदी 140 रुपए लुढकी

gold and silver price

नई दिल्ली। वैश्विक स्तर पर दोनों कीमती धातुओं में रही गिरावट के कारण शनिवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 60 रुपए गिरकर 32,810 रुपए प्रति दस ग्राम पर रहा। इस दौरान चांदी भी 140 रुपए उतरकर 37,410 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। वैश्विक स्तर पर गुरूवार को पीली धातु के दाम एक फीसदी से अधिक बढे थे जिसके कारण शुक्रवार को इस पर मुनाफावसूली का दबाव रहा। हालांकि, दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर के कमजोर पड़ने से पीली धातु की गिरावट सीमित रही है। 

अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में लंदन का सोना हाजिर 1.12 डॉलर की गिरावट में 1,282.45 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। जून का अमेरिकी सोना वायदा भी 3.40 डॉलर की गिरावट के साथ 1,282.00 डॉलर प्रति औंस बोला गया। अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में चाँदी हाजिर 0.01 डॉलर की गिरावट के साथ 14.55 डॉलर प्रति औंस के भाव बिकी। घरेलू जेवराती माँग सुस्त रहने से सोना स्टैंडर्ड 60 रुपए गिरकर 32,810 रुपए प्रति दस ग्राम पर रहा।

सोना बिटुर भी इतनी ही गिरकर 32,640 रुपए प्रति दस ग्राम के भाव बिका। आठ ग्राम वाली गिन्नी 26,500 रुपए पर टिकी रही। मांग घटने से चाँदी हाजिर 140 रुपये गिरकर 37,410 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गयी। चाँदी वायदा 170 रुपए की गिरावट लेकर 36,380 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। सिक्का लिवाली और बिकवाली क्रमश: 79 हजार और 80 हजार रुपए प्रति सैकड़ा पर टिके रहे। दिल्ली सर्राफा बाजार में दोनों कीमती धातुओं के दाम (रुपये में) इस प्रकार रहे:-

सोना स्टैंडर्ड प्रति 10 ग्राम 32,810
सोना बिटुर प्रति 10 ग्राम 32,640
चाँदी हाजिर प्रति किलोग्राम 37,410
चांदी वायदा प्रति किलोग्राम 36,380
सिक्का लिवाली प्रति सैकड़ा 79,000
सिक्का बिकवाली प्रति सैकड़ा 80,000
गिन्नी प्रति आठ ग्राम 26,500

टाइगर के लिये हमेशा एक सॉफ्ट कॉर्नर रहेगा : कृति

Tiger will always be a soft corner: masterpiece

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री कृति सैनन का कहना है कि टाइगर श्राफ के लिये उनके दिल में हमेशा एक सॉफ्ट कॉर्नर रहेगा। कृति सैनन ने टाइगर श्राफ के साथ वर्ष 2014 में रोमांटिक थ्रिलर फिल्म ‘हीरोपंती’ से बॉलिवुड में डेब्यू किया था। 

कृति और टाइगर ने फिल्म इंडस्ट्री में अपने पांच साल पूरे कर लिये हैं। कृति ने ट्वीट  किया,‘‘मैंने उनकी कड़ी मेहनत, अनुशासन और जुनून को देखा है और मुझे पता था कि वह दर्शकों के होश उड़ा देंगे। तुम्हारे लिए मेरे दिल में हमेशा ही सुपर सॉफ्ट कॉर्नर रहेगा टिग्गी! तुम्हें अच्छा काम करते देख मुझे खुशी होती है।

कृति ने टाइगर को बॉलिवुड में पांच साल पूरे करने पर उन्हें पांचवी सालगिरह की बधाई देते हुए कहा अब हीरोपंती 2 की बारी है।’ कृति अभी ‘पानीपत’ की शूटिंग में व्यस्त हैं और टाइगर आने वाले समय में ऋतिक रोशन के साथ बड़े पर्दे पर नजर आएंगे। 

अक्षय के साथ सूर्यवंशी में काम कर उत्साहित हैं कैटरीना

Katrina is excited to work with Akshay in Suryavanshi

मुंबई। बॉलीवुड की बार्बी गर्ल कैटरीना कैफ खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार के साथ फिल्म सूर्यवंशी में काम कर उत्साहित है। कैटरीना और अक्षय ने सिंह इज किंग, नमस्ते लंदन और वेलकम जैसी कई कामयाब फिल्मों में काम किया है। यह जोड़ी काफी अरसे बाद फिल्म रोहित शेट्टी की फिल्म सूर्यवंशी में साथ नजर आयेगी।

कैटरीना ने कहा,‘‘मैं बेहद उत्साहित हूं। हम सूर्यवंशी के कुछ दिनों की शूटिंग निपटा भी चुके हूं। मैं असल में सोच रही थी कि ये अनुभव कैसा होने जा रहा है। मुझे लगा कि शायद अक्षय के साथ सांमजस्य बनाने में दिक्कत होगी, कंफर्टेबल होना शायद आसान नहीं होगा क्योंकि हम नौ सालों बाद काम करने जा रहे थे और नौ साल काफी लंबा समय होता है।

लेकिन जैसे ही मुझे सेट पर एक्शन की आवाज सुनाई दी मैं कंफर्टेबल हो गई थी। मुझे लगा कि सब ठीक है। हम दोनों के बीच अब भी वही केमिस्ट्री है जो पहले हुआ करती थी और अक्षय एक बेहतरीन कोस्टार हैं। मुझे उनके साथ सेट पर काफी मजा आता है।बताया जा रहा है कि फिल्म सूर्यवंशी में अक्षय कुमार डीसीपी वीर सूर्यवंशी का किरदार निभाते नजर आएंगे। फिल्म को 2020 में ईद के मौके पर रिलीज करने की तैयारी है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.