28 अप्रैल : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Sunday, 28 Apr 2019 03:34:47 PM
28 April top 10 news

लोकसभा चुनाव : दो दशक पहले लगे 'अति संवेदनशील’ मतदान केन्द्र का टैग हटाना चाहता है हरियाणा का गांव

Lok Sabha Elections 2019

भिवानी (हरियाणा)। चुनाव के इस मौसम में हरियाणा के जुई खुर्द गांव के लोगों की मांग अलग तरह की है। गांव वाले चाहते हैं कि दो दशक पहले गांव पर लगा अति संवेदनशील मतदान केन्द्र का टैग हट जाए। चुनाव आयोग ने 1989 में चुनाव के दौरान दो समूहों के बीच संघर्ष में गोली चलने से एक व्यक्ति के मौत के बाद हरियाणा के भिवानी-महेन्द्रगढ़ संसदीय सीट के जुई मतदान केन्द्र को अति संवेदनशील घोषित कर दिया था।

गांव वालों के मुताबिक, इसके बाद से गांव के लिए यह एक स्थायी टैग हो गया जो इसकी छवि प्रदर्शित करती है। इस गांव की आबादी 6000 से अधिक है जिसकी प्रमुख एक महिला सरपंच है। गांव की सरपंच रूप पति ने पीटीआई-भाषा को बताया कि घटना के बाद से सात आम चुनाव हुए हैं और उनमें से सभी शांतिपूर्ण रहे हैं।

हालांकि, हम अभी भी स्थायी बन गये टैग को झेल रहे हैं। गांव बहुत विकसित हो गया है और हम प्रगति से खुश हैं लेकिन इसके अति संवेदनशील होने से न केवल हमारी छवि प्रभावित होती है बल्कि भविष्य की संभावनाएं भी प्रभावित होती हैं। उन्होंने कहा कि इतने वक्त में कोई दुर्घटना नहीं हुई है तो ऐसे में हम सरकार के साथ-साथ चुनाव आयोग से भी अपील करते रहे हैं कि इसकी समीक्षा की जाए और अति संवेदनशील के टैग को हटाया जाए।

सरपंच का अगला चुनाव लड़ने की योजना बना रहे रमेश बहादुर के मुताबिक, चुनाव आयोग कोई नई जांच किए बिना पुरानी सूची को दोहराता रहता है। भिवानी-महेन्द्रगढ़ संसदीय क्षेत्र हरियाणा की उन 10 लोकसभा सीटों में शामिल है जिनमें 12 मई को मतदान होना है। इस सीट पर दो महिला प्रत्याशी भी मैदान में हैं। भाजपा ने यहां से सांसद धरमबीर सिह को मैदान में उतारा है जबकि कांग्रेस ने पूर्व सांसद श्रुति चौधरी को मैदान में उतारा है। आप-जेजेपी की ओर से स्वाति यादव मैदान में हैं और इनेलो ने बलवान यादव को प्रत्याशी बनाया है।

सीबीआई का अनर्गल इस्तेमाल कर रही है भाजपा सरकार : मायावती

BJP government is using uninterrupted CBI: Mayawati

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने केन्द्र की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर चुनावी लाभ के लिये केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अनर्गल इस्तेमाल का आरोप लगाया है। मायावती ने शनिवार देर शाम यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मोदी सरकार चुनाव के दौरान सीबीआई का अनुचित इस्तेमाल कर रही है। चीनी मिलों की बिक्री मामले में उसने सीबीआइ का एक बार फिर तोते की तरह इस्तेमाल किया है।

चीनी मिलों की बिक्री में उनकी कोई भूमिका नहीं थी, यह मंत्रिमंडल का फैसला था। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी को मैने कभी नीच नहीं कहा। बल्कि मैने कहा था कि मोदी राजनीतिक लाभ के लिए ओबीसी बन गए हैं। हम उन्हें पूरा सम्मान देते हैं और ये कहते रहे हैं कि वो ऊंची जाति से आते हैं।

हमें यह बात समझनी चाहिए कि वो मानते हैं कि वास्तव में सवर्ण ही पिछड़े हुए हैं। यहां तक कि कांग्रेस भी दलित और पिछड़ों के विरोध में थी इसी वजह से उन्होंने मंडल कमीशन की रिपोर्ट नहीं लागू होने दी थी। दोनो दलों का समझना चाहिये कि दलित कार्ड उनकी मदद नहीं करने वाला है।

गौरतलब है कि सीबीआई ने बसपा शासनकाल में करोड़ों के चीनी मिल घोटाले में 7 नामजद आरोपितों के खिलाफ शुक्रवार को मामला दर्ज किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 12 अप्रैल 2०18 को चीनी मिल घोटाले की सीबीआइ जांच की सिफारिश की थी। बसपा सरकार में 21 सरकारी चीनी मिलों को औने-पौने दामों में बेचकर करीब 1100 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप है।

मोदी ने शनिवार को कन्नौज में एक जनसभा में कहा था कि वह जाति की राजनीति नहीं करते है, लेकिन बताना चाहते हूं कि वह पिछड़ी नहीं, अति पिछड़ी जाति से हैं। उनका मकसद अगणी और पिछड़ी जाति के लोगों को आगे ले जाना है ताकि देश का विकास हो सके। 

आईएसआईएस ने सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों के मारे जाने की पुष्टि की

ISIS confirms killing of three terrorists in an encounter with security forces

कोलंबो। इस्लामिक स्टेट ने दावा किया कि श्रीलंका के पूर्वी प्रांत में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान उसके तीन आतंकवादी मारे गए हैं, जिन्होंने खुद को उड़ा लिया था। मुठभेड़ शुक्रवार को उस समय हुई, जब सुरक्षा बल ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए धमाकों के लिए जिम्मेदार स्थानीय आतंकवादी समूह नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के सदस्यों की तलाश कर रहे थे।

इन धमाकों में 253 लोग मारे गए थे और 500 से अधिक घायल हो गए थे। कोलंबो गजट की एक रिपोर्ट के अनुसार आईएस की संवाद समिति अमाक के जरिए आईएस ने एक बयान में कहा कि अबू हमाद, अबू सूफयान और अबू अल-का का मारे गए। उसने कहा गया है कि उन्होंने स्वचालित हथियारों से गोलाबारी की और गोला-बारूद खत्म होने के बाद, विस्फोटक बेल्ट के जरिए खुद को उड़ा लिया।

गौरतलब है कि पुलिस के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) और सेना के जवानों ने एक खुफिया सूचना के आधार पर कोलंबो से करीब 360 किलोमीटर दूर स्थित कलमुनई शहर में एक मकान पर छापा मारा था, जिसके बाद सशस्त्र समूह के साथ भीषण मुठभेड़ हुई। सशस्त्र लोगों ने जवानों पर गोलियां चलाईं। मुठभेड़ की चपेट में आए एक नागरिक की भी मौत हो गई। हिंसक झड़पों के दौरान माना जाता है कि तीन लोगों ने विस्फोटकों से खुद को उड़ा लिया। मौके से छह बच्चों और तीन महिलाओं सहित कुल 15 शव बरामद हुए थे। पुलिस प्रवक्ता ने बताया था कि तीन संदिग्ध आत्मघाती हमलावर भी इन 15 लोगों में शामिल हैं।

श्रीलंका में दो आतंकवादी समूह प्रतिबंधित

Two militant groups in Sri Lanka restricted

कोलंबो। श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने दो आतंकवादी समूह नेशनल तवहिद जमात (एनटीजे) और जमात-ए मिलातू इब्राहिम पर प्रतिबंध लगाया है। पुलिस ने कहा कि यह आतंकी समूह गिरजाघरों और होटल पर हुए फिदायीन हमले में संदिग्ध है जबकि सैन्य छापे के दौरान संदिग्ध आतंकी समूह के सरगना की पत्नी और बच्चे घायल हो गए।

राष्ट्रपति ने बयान जारी कर कहा कि नेशनल तवहिद जमात और जमात-ए मिलातू इब्राहिम पर आपातकालीन अधिकारों के तहत प्रतिबंध लगाया गया है। अधिकारियों ने कहा कि प्रशासन पहले छोटे समूह पर कोई कार्रवाई नहीं कर सकता था क्योंकि पहले कानून को इन लोगों के खिलाफ पुख्ता सबूत दिखाने की जरुरत होती थी।

पुलिस के विश्वास है कि धमाके के संदिग्ध मोहम्मद हासिम मोहम्मद जहरान एनटीजे समूह से जुड़े है। जमात-ए मिलातू के बारे में कम जानकारी है हालांकि ऐसा माना जाता है कि इनके सदस्यों ने इन हमलों में भूमिका निभाई थी। गौरतलब है कि कोलंबो में गिरजाघरों और होटलों में हुए हमले के बाद करीब 10000 सैनिक पूरे देश में तलाशी कर रहे हैं और सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने में लगे हैं।

पुलिस ने कहा कि सुरक्षा बलों ने अबतक 100 लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है जिनमें सीरिया और मिस्र के नागरिक भी शामिल है। सैन्य प्रवक्ता ने कहा कि सैंतामारुतू के अमपारा जिले में छापे के दौरान हुई गोलीबारी में 15 लोगों की मौत हो गयी जिनमें तीन आत्मघाती हमलावर और छह बच्चे शामिल है।

परिवार ने कहा कि घायलों में पत्नी और पुत्री जेहरान शामिल है। पुलिस के बयान के अनुसार जेहरान के चालक को एक अन्य छापेमारी के दौरान हिरासत में लिया गया है। सेना ने कहा कि उसी क्षेत्र में एक अन्य घर से छापे के दौरान बम बनाने के सामान, जिलिग्नाइट की दर्जनों छड़ें, हजारों बॉल बेयरिंग बरामद हुई है।

उल्लेखनीय है कि श्रीलंका में हुए हमले के बाद इस्लामिक स्टेट ने वीडियो जारी किया था जिसमें जहरान की तस्वीर दिखाई थी। वाडियो में दिखाये गए अन्य सात लोगों के चेहरे ढ़के हुए थे। वीडियो में एक व्यक्ति इस्लामिक स्टेट के झंडे के साथ दिखाई दिया था।

इस हॉट अदाकारा की चाहत, सिल्वर स्क्रीन पर रणबीर-ऋतिक के साथ रोमांस करने की

To romance with Ranbir on the silver screen

मुंबई। बॉलीवुड की नवोदित अभिनेत्री तारा सुतारिया सिल्वर स्क्रीन पर रॉकस्टार रणबीर कपूर और माचो मैन ऋतिक रौशन के साथ रोमांस करना चाहती है। तारा फिल्म 'स्टूडेंट ऑफ द इयर 2' से बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रही है। उन्होंने बताया कि इसके बाद वह निर्देशक मिलाप जवेरी की फिल्म 'मरजावां' की शूटिंग करेंगी।

उन्होंने कहा कि मेरे पास इस समय तीन फिल्में हैं स्टूडेंट ऑफ द इयर 2 के प्रमोशन के बाद मैं अपनी दूसरी फिल्म मरजावां की शूटिंग पूरी करूंगी, जिसमें सिद्धार्थ मल्होत्रा और रितेश देशमुख भी हैं। यह एक ऐसी ड्रामा लव स्टोरी है, जिसमें ऐक्शन-थ्रिलर भी भरपूर है। आप मुझे मरजावां में एकदम अलग अवतार में देखेंगे।

मुझे लगता है कि इस तरह का रोल शायद ही किसी यंग ऐक्ट्रेस ने पहले कभी किया होगा। तारा ने बताया कि यह निर्देशक मिलन लुथरिया की फिल्म है, जिसका टाइटल अभी तक फाइनल नहीं हुआ है, लेकिन यह साउथ की सुपरहिट फिल्म आरएक्स 100 का रीमेक है। इस फिल्म से सुनील शेट्टी के बेटे अहान शेट्टी डेब्यू कर रहे हैं।

अपने ड्रीम रोल, ड्रीम डायरेक्टर और ड्रीम हीरो के बारे में बताते हुए तारा ने कहा कि मेरे ड्रीम डायरेक्टर करण जौहर और संजय लीला भंसाली हैं। मुझे इन दो लोगों के साथ जरूर काम करना है। ड्रीम ऐक्टर, जिनके साथ मैं काम करना चाहती हूं, वह रणबीर कपूर और ऋतिक रोशन हैं, दोनों अभिनेता ही मेरे फेवरेट हैं, इनके साथ परदे पर रोमांस करना ही मेरा ड्रीम है। मेरा ड्रीम रोल फिल्म मुगले आजम में मधुबाला का किरदार है।

अजय-काजोल को लेकर फिल्म बनाना चाहते हैं प्यार तो होना ही था के निर्देशक अनीस बज्मी

anees bazmee will make again a film with Ajay-Kajol

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन और काजोल की जोड़ी को बड़े पर्दे पर काफी पसंद किया गया और रीयल लाइफ में भी ये जोड़ी सभी की पसंदीदा बनी हुई है। खबरों की मानें तो निर्देशक अनीस बज्मी एक बार फिर अजय देवगन और काजोल को बड़े पर्दे पद लाने की तैयरी कर रहे हैं। माना जा रहा है कि निर्देशक अनीस बज्मी अजय देवगन और काजोल को लेकर फिल्म बनाना चाहते हैं। 

आपको बता दें कि निर्देशक अनीस ने अजय देवगन और काजोल को लेकर फिल्म प्यार तो होना ही था बनाई थी और यह फिल्म हिट रही। अब वे एक बार फिर अजय देवगन और काजोल के साथ फिल्म बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों के साथ काम करने का अच्छा अनुभव रहा था। अनीस ने कहा कि अच्छी स्क्रिप्ट में दोनों को एक साथ फिर से लाएंगे। गौरतलब है कि इस समय अनीस अपनी आने वाली फिल्म पागलपंती में व्यस्त हैं। 

इस फिल्म में जॉन अब्राहम, अनिल कपूर, पुलकित सम्राट, इलियाना डिक्रूज, अरशद वारसी, कृति खरबंदा, उर्वशी रौतेला और सौरभ शुक्ला मुख्य भूमिका में नजर आएंगे। निर्देशक अनीश बज्मी ने फिल्म पागलपंती के बारे में बताते हुए कहा कि यह फिल्म रोमांस, कॉमिडी और अच्छे गानों से भरपूर है। वहीं अजय देवगन और काजोल जनवरी में रिलीज होने वाली फिल्म तानाजी द अनसंग वॉरियर में नजर आएंगे। इस फिल्म का निर्माण अजय देवगन और भूषण कुमार कर रहे है। 

तेंदुलकर का लोकपाल को जवाब: मुंबई इंडियन्स से नहीं लिया आर्थिक लाभ

Tendulkar responds to Lokpal

नई दिल्ली। महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अपने ऊपर लगे हितों के टकराव के मामले को खारिज करते हुए दावा किया कि उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियन्स से ना तो कोई फायदा उठाया है ना ही वह निर्णय लेने की किसी प्रक्रिया में भागीदार रहे हैं।

तेंदुलकर ने रविवार को बीसीसीआई के लोकपाल एवं नैतिक अधिकारी न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) डी के जैन के भेजे नोटिस का लिखित जवाब दाखिल किया जिसमें 14-बिदुओं का उल्लेख है। तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण को मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के सदस्य संजीव गुप्ता द्बारा दायर की गई शिकायत पर नोटिस भेजा गया था।

शिकायत के मुताबिक लक्ष्मण और तेंदुलकर ने आईपीएल फ्रेंचाइजी टीमों क्रमश: सनराइजर्स हैदराबाद और मुंबई इंडियन्स के सहायक सदस्य और बीसीसीआई के क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के सदस्य के रूप में दोहरी भूमिका निभाई जिसे कथित हितों के टकराव का मामला बताया गया था। अपने जवाब में तेंदुलकर ने लिखा, सबसे पहले, नोटिस प्राप्तकर्ता (तेंदुलकर) सभी शिकायतों को खारिज करता है (बयानों को छोड़कर जो विशेष रूप से यहां स्वीकार किए जाते हैं)।

उनके जवाब की प्रति पीटीआई के पास भी है जिसमें कहा गया, नोटिस प्राप्तकर्ता (तेंदुलकर) ने संन्यास के बाद से मुंबई इंडियन्स आईपीएल फ्रेंचाइजी से टीम 'आईकॉन’ की क्षमता में कोई भी विशेष आर्थिक लाभ/फायदा नहीं लिया है और वह किसी भी भूमिका में फ्रैंचाइजी के लिए कार्यरत नहीं है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले इस खिलाड़ी ने कहा है कि वह किसी भी पद पर काबिज नहीं हैं, न ही उन्होंने कोई निर्णय लिया है (टीम के खिलाड़ियों के चयन सहित), जो फ्रैंचाइजी के शासन या प्रबंधन के अंतर्गत आता है। इसलिए बीसीसीआई के नियमों के तहत या अन्यथा, यहां हितों का कोई टकराव नहीं हुआ है। ​​

क्रिकेट सलाहकार समिति में उनकी भूमिका के सवाल पर तेंदुलकर ने कहा कि उन्हें 2015 में बीसीसीआई समिति के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया था और यह नियुक्ति मुंबई इंडियन्स के साथ उनकी भागीदारी के कई वर्ष के बाद हुई थी। उन्होंने कहा कि नोटिस प्राप्तकर्ता 2015 में क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) में नियुक्त हुआ था।

माननीय नैतिक अधिकारी इस बात की सराहना करेंगे कि उन्हें सीएसी में शामिल होने से काफी पहले ही मुंबई इंडियंस का 'आईकॉन’ घोषित किया गया था। ये तथ्य सार्वजनिक जानकारी में रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए, बीसीसीआई को नोटिस प्राप्तकर्ता की, सीएसी में नियुक्ति के समय उसके मुंबई इंडियन्स फ्रेंचाइजी के साथ जुड़ाव के बारे में पता था।

विश्व कप में छक्के जड़ने के लिए बेताब हूं: रसेल

Russell is desperate to make sixes in the World Cup

कोलकाता। आईपीएल में शानदार फार्म से आत्मविश्वास से भरे वेस्टइंडीज के विस्फोटकीय बल्लेबाज आंद्रे रसेल ने शनिवार को कहा कि वह 30 मई से इंग्लैंड में शुरू होने वाले आगामी विश्व कप में छक्के जड़ने को बेताब हैं। जुलाई 2018 में अंतिम वनडे खेलने वाले रसेल को वेस्टइंडीज की 15 सदस्यीय शुरूआती टीम में चुना गया है और वह आईपीएल की इस फार्म को विश्व कप में भी जारी रखना चाहते हैं। उन्होंने मौजूदा आईपीएल में कोलकाता नाइटराइडर्स के लिये खेलते हुए 10 पारियों में 209.27 के स्ट्राइक रेट से 406 रन बनाए हैं।

केकेआर के स्टार खिलाड़ी का औसत 52 वनडे में 28 का है और उन्होंने 65 विकेट चटकाए हैं। उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा कि मैं वेस्टइंडीज का प्रतिनिधित्व करते हुए छक्के जड़ने के लिये इतना बेताब हूं। मैं वही करना चाहता हूं जो यहां कर रहा हूं और शतक जड़ना चाहता हूं। चोट की वजह से गत कुछ समय से एक भी मैच नहीं खेल पाने के बावजूद रसेल ने कहा कि वह अपने चयन से इतने हैरान नहीं हैं। 

उन्होंने कहा कि मुझे विश्व कप टीम का हिस्सा बनाये जाने से हैरानी नहीं हुई। मैं अच्छा कर रहा हूं। मैं विश्व कप ध्यान नहीं लगा रहा था। मैं सिर्फ केकेआर के साथ प्रदर्शन पर निगाह लगाये था और सुनिश्चित कर रहा था कि मैं यहां अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूं। 

सरकारी पोर्टल पर मिलेगी जीएसटी ई-चालान निकालने की सुविधा

Facility to remove GST e-invoice on government portal

नई दिल्ली। माल एवं सेवा कर (जीएसटी) अधिकारी एक ऐसी प्रणाली पर काम कर रहे हैं जिसमें एक निश्चित सीमा से अधिक कारोबार करने वाली कंपनियों को सरकारी या जीएसटी पोर्टल पर प्रत्येक बिक्री के लिए ई- चालान निकालना होगा। इससे कर चोरी की गुंजाइश काफी हद तक कम हो सकेगी।

शुरुआत में एक निश्चित सीमा से अधिक के कारोबार वाली इकाइयों को प्रत्येक इलेक्ट्रॉनिक या ई- चालान पर एक विशिष्ट संख्या मिलेगी। एक अधिकारी ने बताया कि इन नंबर का मिलान बिक्री रिटर्न और चुकाए गए कर के इनवॉइस से किया जा सकेगा। आगे चलकर कंपनियों को बिक्री के पूरे मूल्य पर पूर्ण इलेक्ट्रॉनिक कर चालान या ई-इनवॉइस निकालना होगा।

अधिकारी ने बताया कि एक निश्चित सीमा से अधिक के कारोबार वाली इकाइयों को एक सॉफ्टवेयर दिया जाएगा जो जीएसटी या सरकारी पोर्टल से जुड़ा होगा। इससे ई-चालान निकाला जा सकेगा। सीमा का निर्धारण चालान के मूल्य के आधार पर तय किया जा सकेगा। एक अधिकारी ने पीटीआई भाषा से कहा कि ई- चालान निकालने की अनिवार्यता पंजीकृत व्यक्ति के कारोबार या चालान मूल्य के आधार पर तय होगी।

वैसे विचार यह है कि यह कारोबार की सीमा पर आधारित हो, ताकि वह बिक्री बिलों को अलग अलग बांट नहीं सकें। उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि यदि न्यूनतम मूल्य 1,000 रुपए तय किया जाता है तो इस बात की संभावना रहेगी कि कंपनियां इसे कई बिलों में बांट दें जिससे चालान आधारित सीमा से बचा जा सके।

सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से आठ कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 54,152 करोड़ रुपये बढ़ा    

Eight companies out of the top 10 Sensex gain Rs 54,152 crore

नई दिल्ली। सेंसेक्स की शीर्ष 10 कंपनियों में से 8 का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) पिछले सप्ताह 54,151.62 करोड़ रुपए बढ़ा। इस वृद्धि में सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी टीसीएस की बड़ी हिस्सेदारी रही। शुक्रवार को समाप्त हुए सप्ताह में शीर्ष 10 में से सिर्फ दो कंपनियों एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक को बाजार पूजीकरण में नुकसान उठाना पड़ा।

आलोच्य सप्ताह के दौरान टीसीएस का बाजार पूंजीकरण सर्वाधिक 34,822.13 करोड़ रुपए बढ़कर 8,39,896.27 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। इसके अलावा इन्फोसिस का बाजार पूंजीकरण 9,043.69 करोड़ रुपए बढ़कर 3,22,033.94 करोड़ रुपए, रिलांयस इंडस्ट्रीज का 5,419.63 करोड़ रुपए बढ़कर 8,82,005.44 करोड़ रुपए, आईसीआईसीआई बैंक का 1,627.51 करोड़ रुपए बढ़कर 2,62,645.88 करोड़ रुपए, हिंदुस्तान यूनिलीवर का 1,363.76 करोड़ रुपए बढ़कर 3,77,470.33 करोड़ रुपए और भारतीय स्टेट बैंक का 1,249.45 करोड़ रुपए बढ़कर 2,78,715.62 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।

वहीं आईटीसी का बाजार मूल्यांकन 367.76 करोड़ रुपए बढ़कर 3,73,459.21 करोड़ रुपए और कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार पूंजीकरण 257.69 करोड़ रुपए बढ़कर 2,63,047.09 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। हालांकि, एचडीएफसी का बाजार मूल्यांकन 5,052.42 करोड़ रुपए गिरकर 3,39,906.42 करोड़ रुपए और एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 3,662.39 करोड़ रुपए कम होकर 6,20,015.67 करोड़ रुपए पर आ गया।

बाजार पूंजीकरण के लिहाज से रिलायंस इंडस्ट्रीज शीर्ष पर बनी रही। इसके बाद टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईटीसी, एचडीएफसी, इन्फोसिस, भारतीय स्टेट बैंक, कोटक महिद्रा बैंक और आईसीआईसीआई बैंक का स्थान रहा। बीते सप्ताह बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 72 अंक या 0.18 प्रतिशत के नुकसान से 39,067.33 अंक पर आ गया। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.