03 अगस्त: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Friday, 03 Aug 2018 05:29:30 PM
3 august latest top ten news

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

कांग्रेस ने सरकार पर मीडिया का गला दबाने का आरोप लगाया, मंत्री ने किया इनकार

Congress accused government of pressurizing media, minister refused

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शुक्रवार को लोकसभा में सरकार पर मीडिया की आवाज दबाने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला करने का आरोप लगाया जिसे खारिज करते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि हर बात के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराने का चलन चल पड़ा है।

सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडग़े ने शून्यकाल के दौरान एक निजी समाचार चैनल से 3 वरिष्ठ पत्रकारों के कथित इस्तीफे का मुद्दा उठाया और आरोप लगाया कि यह सरकार मीडिया की आवाज दबाने, डराने और धमकाने का काम कर रही है।

खडग़े ने यह भी दावा किया कि इस सरकार में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर बार बार हमला किया जा रहा है जो संविधान और भारत जैसे गौरवशाली लोकतंत्र के खिलाफ है। विपक्ष के कई सदस्य खडग़े का साथ देते नजर आए। इसके जवाब में राठौर ने कहा कि आजकल यह चलन चल पड़ा है कि कुछ भी होता है तो उसके लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया जाए।

मंत्री ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है और इसलिए निजी मीडिया संस्थानों के मामले में भी सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहा है। शून्यकाल के दौरान कई अन्य सदस्यों ने भी विभिन्न मुद्दे उठाए। बीजेपी के मनोज राजौरिया ने राजस्थान के करौली में केंद्रीय विद्यालय बनाए जाने की मांग की।

बीजद के प्रभाष कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार को ओडिशा में धान की खरीद में राज्य की मदद करनी चाहिए। शिवसेना केश्रीकांत शिंदे ने मुंबई और आसपास के इलाकों में कुछ डाकघरों की जर्जर स्थिति का मुद्दा उठाया और कहा कि केंद सरकार इनकी मरम्मत के लिए मदद करे। बीजेपी के गणेश सिंह और कांग्रेस के आर ध्रुवनारायण ने भी अपने अपने क्षेत्र से संबंधित विषय उठाए। 

मीडिया को लेकर अलग-अलग हैं ट्रंप और इवांका के विचार

There are different opinions about the media, Trump

वाशिंगटन/संयुक्त राष्ट्र। मीडिया लोगों के लिए दुश्मन है या नहीं इस बात पर अमेरिकी राष्ट्रपति और उनकी बेटी इवांका ट्रंप द्वारा अलग-अलग विचार दिये जाने के बाद ट्रंप ने शुक्रवार को मामले के प्रभाव को कम करने की कोशिश की। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि पूरा मीडिया नहीं बल्कि ‘फर्जी खबरें’ लोगों की दुश्मन हैं और मीडिया का एक बड़ा हिस्सा फर्जी खबरें दिखाता है। गौरतलब है कि राष्ट्रपति बनने के बाद से ही ट्रंप लगातार मीडिया की आलोचना करते रहे हैं।

उन्होंने पत्रकारों को ‘लोगों का दुश्मन’ बताया जिसके बाद उनकी चौतरफा आलोचना की जा रही है। एक कार्यक्रम के दौरान कल इवांका से पूछा गया था कि वह अपने पिता द्वारा ‘मीडिया को बार-बार लोगों का दुश्मन बताए जाने के बारे में क्या सोचती है?

उन्होंने कहा था, ‘‘नहीं। मुझे नहीं लगता कि मीडिया लोगों का दुश्मन है। ट्रंप की वरिष्ठ सलाहकार इवांका ने कहा था, मेरे बारे में काफी कुछ लिखा गया है, और मैं जानती हूं कि उसमें सबकुछ सच नहीं है। ऐसे में मुझे समझ आता है कि लोग चिंतित क्यों होते हैं और वह ऐसा क्यों समझते हैं कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है।

इंवाका की इस टिप्पणी के बाद माना जा रहा था कि इस संबंध में पिता-पुत्री के विचार अलग-अलग हैं। हालांकि, कुछ ही घंटों बाद ट्रंप ने ट्वीट कर इसे स्पष्ट किया। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया है, ‘‘उन्होंने मेरी बेटी इवांका से पूछा कि मीडिया लोगों का दुश्मन है या नहीं।

उसने बिलकुल सही कहा ‘नहीं’। फर्जी खबरें लोगों की दुश्मन हैं जो मीडिया के बड़े हिस्से द्वारा दिखायी जाती हैं।वहीं जब व्हाइट हाउस के संवाददाता सम्मेलन में पिता-पुत्री के बयानों के संबंध में सवाल किया गया तो प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने राष्ट्रपति के बयान को खारिज करने से इनकार कर दिया।

सैंडर्स ने कहा, राष्ट्रपति का गुस्सा एकदम सही है। अर्थव्यवस्था फल-फूल रही है, आईएसआईएस अपनी जान बचाकर भाग रही है, अमेरिकी नेतृत्व को पूरी दुनिया मान रही है, इसके बावजूद उनके बारे में 90 प्रतिशत खबरें नकारात्मक आती हैं। वहीं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की वकालत करने वाली संस्थाओं ने ट्रंप द्वारा मीडिया की आलोचनाओं किए जाने की निंदा की है।

इंटर-अमेरिकन कमीशन ऑन ह्यूमन राइटस के एडिसन लांजा और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत डेविड काये का कहना है कि ये हमले रणनीतिक हैं, जिनका लक्ष्य रिपोर्टिंग के प्रति आम लोगों के विश्वास को कम करना और पुष्ट तथ्यों पर भी शंका पैदा करना है।

जिम्बाब्वे का राष्ट्रपति घोषित होने के बाद मनांगाग्वा ने कहा, यह साथ मिलकर काम करने का वक्त है

After Zimbabwe declaration of President, Manangagua said, it is time to work together

हरारे। जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति एमर्सन मनांगाग्वा ने देश के ऐतिहासिक चुनावों में 50 फीसदी से महज कुछ ज्यादा अंतर से जीत दर्ज की है। पूर्व राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के सत्ता से बाहर होने के बाद पहली बार हुए आम चुनाव में सत्तारूढ़ पार्टी का सरकार पर नियंत्रण बरकरार रहा। जिम्बाब्वे चुनाव आयोग ने बताया कि मनांगाग्वा ने विपक्षी पार्टी एमडीसी के नेल्सन चमिसा के 44.3 फीसदी मतों के मुकाबले 50.8 फीसदी मतों से जीत दर्ज की। यह एक दम निश्चि है कि विपक्षी पार्टी इस चुनाव परिणाम को अदालत में या सडक़ों पर विरोध प्रदर्शन के जरिए चुनौती देगा।

जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति ने कहा कि वह अपने जीत से ‘अभिभूत’ हूं। मनांगाग्वा ने ट्विटर पर कहा कि भले ही हम चुनाव में विभाजित हों, लेकिन हम हमारे सपनों के लिए एकजुट हैं। उन्होंने कहा कि यह एक नई शुरुआत है। आइए शांति, एकजुटता और प्रेम से हाथ मिलाएं और भविष्य के लिए एक नए जिम्बाब्वे का निर्माण करें।

आज आए चुनाव परिणाम के बाद धांधली के आरोप लगने की आशंका के बीच संभावित प्रदर्शनों को रोकने के लिए सुरक्षाबल सडक़ों पर गश्त लगा रहे हैं। मनांगाग्वा पूर्व राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के सहयोगी रहे हैं। जिम्बाब्वे चुनाव आयोग ने बताया कि मनांगाग्वा ने विपक्षी पार्टी एमडीसी के नेल्सन चमिसा के 44.3 फीसदी मतों के मुकाबले 50.8 फीसदी मतों से जीत दर्ज की।

आयोग की अध्यक्ष प्रिसिला चिगुम्बा ने कहा कि जेएएनयू-पीएफ पार्टी के मनांगाग्वा एमर्सन दाम्बुदजो को जिम्बाब्वे गणतंत्र का निर्वाचित राष्ट्रपति घोषित किया जाता है। मनांगाग्वा बेहद मामूली अंतर से विजयी हुए हैं क्योंकि जीत दर्ज करने के लिए 50 फीसदी से अधिक वोटों की जरुरत होती है। गत वर्ष मुगाबे के पद से हटने के बाद यह देश का पहला चुनाव था। सुरक्षाबलों ने बुधवार को चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन कर रहे एमडीसी समर्थकों पर गोलियां चलाई जिसमें 6 लोग मारे गए। सेना और पुलिस ने चुनाव नतीजों के मद्देनजर मध्य हरारे से लोगों को हटा दिया था। चुनाव परिणाम की आधिकारिक घोषणा के बाद एमडीसी प्रवक्ता मोर्गन कोमिची ने मतगणना को ‘‘फर्जी’’ बताया। मनांगाग्वा को विजेता घोषित करने के बाद उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी नतीजों को खारिज करती है। उन्होंने कहा कि हम इस मामले को अदालत में लेकर जाएंगे।

इमरान खान को पाकिस्तान के भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो ने भेजा सम्मन

Imran Khan was summoned by anti-corruption bureau of Pakistan

पेशावर। पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री बनने को तैयार इमरान खान को सरकारी हेलीकॉप्टरों के गलत इस्तेमाल के संबंध में देश के भ्रष्टाचार रोधी निकाय ने समन भेजा है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इससे खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के खजाने को 21.7 लाख रुपये का नुकसान हुआ। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के 65 वर्षीय प्रमुख को सात अगस्त को पेश होने के लिए समन भेजा। खैबर पख्तूनख्वा में साल 2013 से खान की पार्टी की प्रांतीय सरकार है। 

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, एनएबी प्रांतीय सरकार के हेलीकॉप्टर का 72 घंटे तक इस्तेमाल करके प्रांतीय सरकार के राजकोष में 21.7 लाख रुपये का नुकसान पहुंचाने की जांच कर रहा है। इमरान को इससे पहले 18 जुलाई को समन भेजा गया था लेकिन वह चुनाव के कारण ब्यूरो के समक्ष पेश नहीं हुए। उनके वकील ने एक अपील दायर करते हुए एनएबी से मामले में आम चुनाव के बाद ‘‘अच्छा हो कि सात अगस्त’’ की तारीख तय करने का अनुरोध किया था। खान की पार्टी 25 जुलाई को हुए चुनावों में सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी है। 65 वर्षीय नेता के 11 अगस्त को शपथ लेने की संभावना है।

संजूू के बाद रणबीर कपूर की हुई ऐसी हालत, पहचान पाना हुआ मुश्किल...देखें तस्वीरें

After Sanju, Ranbir Kapoor's condition is so difficult to recognize see pics

एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड में फिल्म संजू के बाद रणबीर ने चारों तरफ से तारीफें बटौरी हैं। फिल्म संजू से रणबीर कपूर के सितारे एक बार फिर आसमान में छा रहे हैं। फिल्म संजू को मिली सफलता के बाद रणबीर कपूर बॉलीवुड में फिलहाल लाइमलाइट में बने हुए हैं। आपको बता दें कि फिल्म संजू में रणबीर कपूर ने संजय दत्त का रोल निभाया था। इस फिल्म के लिए रणबीर कपूर ने अपने लुक के जरिए सभी को चौंका दिया था। उनका संजू लुक जबरदस्त था जिसने सभी का ध्यान अपनी ओर खींच लिया था।

आपको बता दें कि एक बार फिर रणबीर कपूर अपने लुक को लेकर चर्चाओं का विषय बने हुए हैं। उनका ये लुक सोशल मीडाय पर जबरदस्त वायरल हो रहा है जिसके बाद तरह तरह के कयास भी लगना शुरु हो गए हैं। इससे पहले की रणबीर की इन तस्वीरों को देखकर आप कुछ सोचे, आपको बता दें कि ये तस्वीरें रणबीर कपूर के नए एडशूट की हैं। जिसके लिए वे एक सेल्समैन बने हुए हैं।

इस ऐड की तस्वीरें सामने आई है, जिसने सभी को हैरान कर दिया हैं। इन तस्वीरों में रणबीर कपूर को पहचान पाना मुश्किल हैं। वायरल हो रही तस्वीर में रणबीर व्हाइट कलर की शर्ट में बैठे हुए नजर आ रहे हैं। रणबीर के वायरल हो रहे इस लुक के बाद एक बात तो साफ है कि बात छोटे पर्दे की हो या फिर बड़े पर्दे की रणबीर अपने हर किरदार के सात इंसाफ करना बखूबी जानते हैं।

फिलहाल रणबीर के वर्कफ्रंट की बात करें तो वे इनदिनों जाने माने निर्देशक अयान मुखर्जी के निर्देशन में बन रही ब्रह्रास्त्र की शूटिंग में बिजी हैं। आपको बता दें कि इस फिल्म में उनके अपोजिट आलिया भट्ट पहली बार स्क्रीन साझा करती नजर आएंगी। रणबीर आलिया के अलावा इसमें अमिताभ बच्चन भी मुख्य किरदार में नजर आएंगे।

इंटरनेट पर सनसनी मचा रहा है जेपी दत्ता की फिल्म 'पलटन' का ट्रेलर

The sensation of the Internet is j.p. dutta's movie Paltan trailer

एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड की मोस्ट अवेटेड फिल्म पलटन का आज ट्रेलर रिलीज कर दिया गया हैं। रिलीज के बाद से ही फिल्म का ट्रेलर इंटरनेट पर सनसनी मचाए हुए हैं। जी हां कुछ ही घंटो पहले रिलीज हुए फिल्म के इस ट्रेलर को यूट्यूब पर अब तक लाखों में व्यूज मिल चुके हैं। आपको बता दें कि इस फिल्म का निर्देशन जेपी दत्ता द्दारा किया गया हैं।

फिल्म के ट्रेलर की बात करें तो ट्रेलर की शुरुआत भारत के स्वर्गीय प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु के भाषण से होती है। ट्रेलर में जंग के मैदान में युध्द के दृश्य नजर आ रहे हैं। जो बॉर्डर फिल्म की याद दिलाते हैं। ट्रेलर में अर्जुन रामपाल, गुरमीत गौर, जैकी श्रॉफ अपने देश के लिए लड़ते नजर आ रहे हैं।

फिल्म की कहानी पर नजर डाले तो यह फिल्म  1967 के इंडिया-चाइना के हुए युध्द पर आधारित हैं। आपको बता दें कि इस फिल्म में अर्जुन रामपाल, गुरमीत चौधरी, सोनू सूद, हर्षवर्धन, सिद्धांत कपूर, ईशा गुप्ता, सोनल चौहान और दीपिका कक्कड़ जैसे कलाकार मुख्य किरदार में नजर आने वाले हैं। फिल्म की रिलीज पर नजर डाले तो यह फिल्म 7 सितंबर को रिलीज होने वाली हैं। आपको बता दें कि हाल ही में फिल्म से स्टार्स के लुक सामने आए हैं। फिल्म के आउट हुए ट्रेलर के बाद फिल्म ने लोगों के मन में उत्सुकता बढ़ा दी हैं। आपको बताते चलें कि इस फिल्म से दीपिका कक्कड़ बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रही हैं। 

कोहली को बल्लेबाजी करके देखकर आखें खुल गई : कुरेन

Keen to open his eyes after batting Kohli: Curran

बर्मिघम। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज सैम कुरेन ने कहा कि अपने दूसरे टेस्ट में इस तरह की गेंदबाजी करना सपने जैसा है लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली की बल्लेबाजी देखकर लगा कि अभी उन्हें और मेहनत करने की जरूरत है। कोहली ने 22वां टेस्ट शतक जमाया हालांकि इंग्लैंड ने पहली पारी में 22 रन की बढत बना ली। कुरेन ने कहा कि कोहली और ईशांत शर्मा के बीच 57 रन की साझेदारी मेजबान गेंदबाजों के लिये निराशाजनक थी लेकिन वे तीसरे दिन वापसी की कोशिश करेंगे। 

उन्होंने कहा एक समय भारत के पांच विकेट 100 रन पर गिर गए थे और लग रहा था कि हमारा शिकंजा कस गया है लेकिन विराट ने पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ अच्छा प्रदर्शन किया । आजकल नौवें, दसवे और 11वें नंबर के बल्लेबाज भी टिककर खेल जाते हैं। यह साझेदारी परेशान करने वाली थी लेकिन हम अब सकारात्मक सोच के साथ उतरेंगे। उन्होंने कहा इसका श्रेय शानदार पारी को जाता है। यह मेरा दूसरा ही मैच है लेकिन कोहली की बल्लेबाजी को देखकर लगा कि मुझे अभी और मेहनत करनी होगी। कुरेन ने 74 रन देकर चार विकेट लिये। कुरेन ने कहा मेरे लिये निजी तौर पर यह खास दिन था । यह सपने जैसा था । आपको जब तक पता नहीं चलता कि स्विंग मिलेगी या नहीं, जब तक आप गेंदबाजी नहीं करते । हवा अच्छी बह रही थी और स्विंग मिल रही थी। 

मारिन से हारकर साइना विश्व चैम्पियनशिप से बाहर

Saina out of world championship with Marin

नांजिंग। विश्व चैम्पियनशिप में प्रभावी प्रदर्शन कर रही साइना नेहवाल एकतरफा क्वार्टर फाइनल मुकाबले में दो बार की चैम्पियन कैरोलिना मारिन से सीधे गेम में हारकर बाहर हो गई। साइना और मारिन के बीच यह मुकाबला पूरी तरह से एकतरफा रहा। मारिन ने 21 . 6, 21 . 11 से जीत दर्ज की। मिश्रित युगल में अश्विनी पोनप्पा ओर सात्विक साइराज रांकीरेड्डी शीर्ष वरीयता प्राप्त चीन के झेंग सिवेइ और हुआंग याकियोंग से क्वार्टर फाइनल में 17 . 21, 10 . 21 से हारकर बाहर हो गए। साइना ने हारने के बाद कहा आज वह काफी तेज खेली और पूरा कोर्ट उसने कवर कर रखा था । कल मेरा मैच काफी देर तक चला लिहाजा इतनी तेज रफ्तार खिलाड़ी का सामना करना मुश्किल था। उसने मुझे मेरा खेल दिखाने का मौका ही नहीं दिया।

मारिन ने कहा मैं पहले दिन से अच्छा खेल रही हूं। मैं दुनिया में सबसे तेज खेलती हूं जो मेरी ताकत है। मुझे सेमीफाइनल में पहुंचने की बहुत खुशी है । मैं कल हि भबगजियाओ के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की कोशिश करूंगी। मारिन ने पहले गेम में साइना पर दबाव बनाया । उसने 12 मिनटमें पहला गेम जीत लिया। दूसरे गेम में साइना ने अच्छा संघर्ष किया लेकिन मारिन ने वापसी करके 10 मैच प्वाइंट बनाये और जीत दर्ज की।

एप्पल बनी हजार अरब डॉलर की दुनिया की पहली कंपनी

Apple's world's first billion billion dollar company

सान फ्रांसिस्को। लग्जरी स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी एप्पल शेयर बाजार में सूचीबद्ध दुनिया की पहली ऐसी कंपनी बन गयी है जिसका बाजार मूल्यांकन एक हजार अरब डॉलर के पार हो गया है। सिलिकॉन वैली के एक गराज में 42 साल पहले शुरू हुई इस कंपनी ने यह मुकाम कल हासिल किया। फैक्टसेट के अनुसार, एप्पल का शेयर कल 5.89 डॉलर मजबूत होकर 207.39 डॉलर पर पहुंच गया। इससे कंपनी का बाजार मूल्यांकन एक हजार अरब डॉलर के पार करीब 1,001,679,220,000 डॉलर पर पहुंच गया।

यह उपलब्धि 1997 में कल्पना से भी परे थी जब कंपनी दिवालिया होने की दहलीज पर पहुंच गयी थी। तब कंपनी को प्रतिद्वंद्वी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट से वित्तीय मदद लेनी पड़ी थी। एप्पल की इस ऐतिहासिक इबारत की नींव एक समय कंपनी से निकाल दिये गये सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स ने लिखी। अंतरिम मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) बनकर वापस कंपनी में लौटे जॉब्स ने आईफोन और आईपैड जैसे विशिष्ट उत्पाद पेश किये जिसने कंपनी को सफलता के नये पायदान पर पहुंचाया। अभी कंपनी के कुल राजस्व में आईफोन की करीब दो-तिहाई हिस्सेदारी है।

कंपनी ने मंगलवार को जारी तिमाही वित्तीय परिणाम में कहा था कि इस दौरान उसके आईफोन की औसत कीमत पिछले साल की समान अवधि के 606 डॉलर की तुलना में 724 डॉलर प्रति स्मार्टफोन पर पहुंच गयी है। इसके बाद से कंपनी का बाजार मूल्यांकन करीब 83 अरब डॉलर बढ़ चुका है। पिछले दो दिन में कंपनी के शेयर नौ प्रतिशत चढ़े हैं जिससे इस साल के दौरान कंपनी का शेयर 23 प्रतिशत चढ़ चुका है।

391 अंक की बढ़त के साथ 37,556.16 के स्तर पर बंद हुआ सेंसेक्स

Sensex closes at 37556.16 with gain of 391 points

मुंबई। घरेलु शेयर बाजार में आज कारोबार की शुरुआत बढ़त के साथ हरे निशान पर हुई, जब आज सुबह शेयर बाजार खुला तो उसमें बढ़त देखने को मिली, सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ने ही हरे निशान पर कारोबार की शुरुआत की और कारोबार की समाप्ति पर भी ये हरे निशान पर ही बंद हुआ। कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स बढ़त बनाते हुए 391.00 अंक यानि 1.05 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 37,556.16 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर बढ़त का असर देखने को मिला और ये हरे निशान पर पहुंचकर 116.10 अंक यानि 1.03 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,360.80 के स्तर पर बंद हुआ। 

गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान जब सुबह शेयर बाजार खुला तो उसमें  गिरावट देखने को मिली , सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ने ही लाल निशान पर कारोबार की शुरुआत की और कारोबार की समाप्ति पर भी घरेलू शेयर बाजार गिरावट के साथ लाल निशान पर ही बंद हुआ । काराबोर की शुरुआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 119.00 अंक यानि 0.32 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,402.62 के स्तर पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये 356.46 अंक यानि 0.95 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,165.16 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी भी काराबोर की शुरुआत में 32.25 अंक यानि 0.28 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,313.95 के स्तर पर खुला। सेंसेक्स की तरह निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट हावी रही और ये लाल निशान पर पहुंचकर 101.50 अंक यानि 0.89 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,244.70 के स्तर पर बंद हुआ।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.