इधर महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन, उधर कांग्रेस बोली शिवसेना...

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Nov 2019 07:38:24 PM
3194850049753632

महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बड़ा फैसला ले लिया है। उन्होंने पंजाब से लौटते ही उस सिफारिश को मंजूरी दे दी जिसमें महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की गई थी। ये सिफारिश राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने की थी जिसको केन्द्रीय कैबिनेट ने भी हरी झंडी दे दी थी। इधर महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा और उधर कांग्रेस का बड़ा बयान आ गया।

कोई दल नहीं बना सका सरकार

महाराष्ट्र के राज्यपाल ने राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की जिसको राष्ट्रपति से मंजूरी भी मिल गई। इसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लग गया है। राज्यपाल ने भाजपा से लेकर शिवसेना और एनसीपी को सरकार बनाने का मौका दिया था लेकिन कोई भी दल सरकार नहीं बना सका। हालांकि शिवसेना ने राज्यपाल के फैसले का विरोध किया है और सुप्रीम कोर्ट चली गई है। इसकी वजह है राज्यपाल ने एनसीपी को रात 8.30 तक का समय दिया था लेकिन उससे पहले ही उन्होंने सिफारिश कर दी।

जानें कांग्रेस ने दिया क्या बयान

राष्ट्रपति शासन 6 महीने के लिए लगाया गया है। इधर महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को मंजूरी मिली, उधर कांग्रेस का बड़ा बयान आ गया। कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने कहा है कि एनसीपी और कांग्रेस एकजुट होकर एक साथ खड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि शिवसेना के साथ विचारधारा के मतभेद हैं। हालांकि अब इसमें उदारता आ गई है। वो बोले कि पार्टी नेताओं से बात करने के बाद सरकार के बारे में फैसला लिया जाएगा।

दोस्तो आपको क्या लगता है कांग्रेस का बयान कैसा है, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- jansatta.com)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.