सामने आई गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने की असली वजह, राजनीति नहीं ये है कारण

Samachar Jagat | Friday, 08 Nov 2019 10:31:33 PM
3470731869917655

मोदी सरकार ने कांग्रेस को बड़ा झटका दे दिया है। गांधी परिवार के तीनों सदस्यों सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को मिली देश की सर्वोत्तम सुरक्षा को हटा लिया गया है। ये तीनों ही नेता अब एसपीजी के सुरक्षा घेरे में नहीं रहेंगे। इसके बजाय तीनों ही नेताओं को जेड प्लस सुरक्षा दी जाएगी। गृहमंत्रालय की बैठक में ये बड़ा फैसला हुआ है। इस फैसले के पीछे राजनीति बताई जा रही है जबकि फैसला लेने के पीछे की बड़ा वजह सामने आ गई है।


loading...
गृह मंत्रालय ने लिया फैसला

शुक्रवार को गृहमंत्रालय की बड़ी बैठक में फैसला लिया गया कि सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी को एब एसपीजी सुरक्षा नहीं दी जाएगी। अब ये तीनों नेता सीआरपीएफ जवानों की सुरक्षा में रहेंगे। इस सुरक्षा को जे़ प्लस केटेगरी का कहा जाता है। इस फैसले से कांग्रेस भड़क उठी है। कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद और रणदीप सुरजेवाला ने साफ कह दिया है कि इसके पीछे राजनीति हो रही है। सुरजेवाला का तो कहना है कि तीनों ही नेताओं को खतरा है। इसके बाद भी तीनों की एसपीजी सुरक्षा हटाई गई है। जानें सुरक्षा हटाने की असली वजह

गांधी परिवार की सुरक्षा हटाने के पीछे भले ही कांग्रेस राजनीति बता रही हो, लेकिन इसके पीछे की वजह सामने आ गई है। गृहमंत्रालय ने ये फैसला एसपीजी की रिपोर्ट के आधार पर लिया है। रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि राहुल गांधी ने 2015 से अब तक 1892 बार, Sonia ने 50 बार एसपीजी नियमों को तोड़ा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि राहुल तो 30 बार बिना सुरक्षा के ही विदेश दौरे पर भी गए। यानि उनको किसी तरह का खतरा नहीं है। एसपीजी की रिपोर्ट के आधार पर ही अमित शाह ने तीनों की एसपीजी सुरक्षा को हटाने का फैसला लिया है।

दोस्तो आपको क्या लगता है एसपीजी सुरक्षा हटाना सही फैसला है या नहीं, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- abpnews.abplive.in)


loading...


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.