ईरानी हमले के बाद पहली बार राष्ट्रपति ट्रंप की बेटी इवांका ने तोड़ी चुप्पी, बोली अमेरिका..

Samachar Jagat | Friday, 10 Jan 2020 08:36:28 AM
552842275175605

ईरान और अमेरिका युद्ध के मुहाने पर खड़े हैं। बुधवार को ईरान ने बड़ा फैसला लेते हुए इराक में अमेरिकी बेस पर हमला कर दिया था। 22 मिसाइलों के हमले में अमेरिकी बेस को काफी नुकसान हुआ था। ईरान ने 80 अमेरिकी सैनिकों के मारे जाने का दावा किया था। वहीं अमेरिका ने इस दावे को खारिज कर दिया। अब ईरानी हमले के बाद पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ने चुप्पी तोड़ दी। इवांका ने ट्विट में ये बयान दिया है।



loading...
ईरान और अमेरिका में बढ़ रहा है तनाव

अमेरिका और ईरान में तनाव बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को ये तनाव उस समय शुरू हुआ जब अमेरिकी हमले में ईरानी जनरल सुलेमानी को मार दिया गया था। इसके बाद ही ईरान ने अमेरिका को चेतावनी दे दी थी। बुधवार को इसी चेतावनी के बाद ईरान ने हमला कर दिया। ये हमला अमेरिकी बेस को निशाना बनाकर किया गया। वहीं इन हमलों पर राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि हमले में सिर्फ एक सैनिक घायल हुआ है। वहीं ईरान ने 80 सैनिकों के मारे जाने का दावा किया था। जानें हमले के बाद क्या बोलीं ट्रंप की बेटी इवांका

ईरान और अमेरिका के बीच तनाव को देखते हुए कई देशों ने पहल करने की कोशिश भी की। ब्रिटेन ने हमले के बाद ईरान को दोबारा ऐसा न करने की अपील की थी। वहीं फ्रांस से लेकर भारत ने भी शांति स्थापित करने की बात की थी। वहीं पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति की बेटी इवांका ट्रंप ने भी चुप्पी तोड़ दी। इवांका ने ईरान की ओर इशारा करते हुए ट्विट किया है कि अमेरिका उस देश के साथ शांति का साथ देने के लिए तैयार है जो शांति को खोज रहा है। हालांकि इवांका ने साथ ही अमेरिका का झंडा पोस्ट कर ये भी लिख दिया है कि शांति ताकत के द्वारा।

दोस्तो आपको क्या लगता है इवांका के बयान का क्या अर्थ है, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स-twitter.com)


loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.