6 जनवरी : बस एक क्लिक में पढ़े दिनभर की 10 बड़ी खबरे

Samachar Jagat | Friday, 06 Jan 2017 05:05:15 PM
6 जनवरी : बस एक क्लिक में पढ़े दिनभर की 10 बड़ी खबरे

नहीं रहे ओम पुरी, 66 साल की उम्र में हार्ट अटैक से मौत

मुंबई। बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता ओमपुरी का आज 66 साल की उम्र में निधन हो गया। शुक्रवार तडक़े दिल का दौरा पडऩे से ओमपुरी का निधन हो गया। उनकी निधन की खबर सुनते ही बॉलीवुड जगत में शोक की लहर दौड़ गई है। ओम पुरी उन चंद कलाकारों में से एक थे जिन्होंने समानान्तर सिनेमा से लेकर कमर्शल सिनेमा तक में कामयाबी हासिल की।

उनकी मौत की खबर सुनकर उनके फैंस सकते में हैं। ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर 1950 में हरियाणा के अम्बाला शहर में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने ननिहाल पंजाब के पटियाला से पूरी की। 1976 में पुणे फिल्म संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद ओमपुरी ने लगभग डेढ़ वर्ष तक एक स्टूडियो में अभिनय की शिक्षा दी।

बाद में ओमपुरी ने अपने निजी थिएटर ग्रुप मजमा की स्थापना की। ओम पुरी ने अपने फिल्मी सफर की शुरुआत मराठी नाटक पर आधारित फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से की थी। वर्ष 1980 में रिलीज फिल्म आक्रोश ओम पुरी के सिने करियर की पहली हिट फिल्म साबित हुई।

 

देश की राजनीति, यूपी चुनाव और जातियों का जुगाड़

      - नरेन्द्र बंसी भारद्वाज-
भारतीय संविधान जहां भारतीय नागरिकों को समानता का अधिकार देकर देश को अखंड व सम्प्रभु बनाने की बात कहता हैं।  वहीं देश के राजनीतिक दल सात दशकों से जाति, भाषा, धर्म, क्षेत्र, संप्रदाय के नाम वोट बटोर कर देश की अंखडता को खंड-खंड करते दिखाई पड़ते हैं।

 आज चर्चा का विषय फरवरी में प्रस्तावित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में जातिवाद के जहर को लेकर हैं। हाल ही में उच्चतम न्यायालय ने भी देश की राजनीति में जातिय आधार को अवैध करार दिया हैं। लेकिन देश के सभी राजनीतिक दल इसे दरकिनार कर अपनी वहीं पुरानी परिपाटी जातिवाद की राजनीति पर चलकर चुनावी वैतरणी को पार करने की जुगत में हैं। देश के पांच राज्य मणिपुर, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों की तारीखें घोषित होने के बाद देश की राजनीति में उफान सा आ गया हैं। इन चुनावों में सबसे अहम उत्तर प्रदेश के चुनाव हैं जो कि शुरू से ही केन्द्रिय सत्ता को पाने का केन्द्र हैं।

यहां से अब तक देश को सर्वाधिक प्रधानमंत्री मिले हैं। इस सूबे से लोकसभा और राज्यसभा से सर्वाधिक सदस्य पहुंचते हैं और संसद की रीती-नीतियों और क्रियाकलापों को प्रत्यक्ष और पूर्णतया प्रभावित करते हैं। उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले यहां की राजनीति में बवंडर खडा हो चुका हैं। सभी दल सत्ता की चाबी पाने के लिए कमर कस चुके हैं। इसी क्रम में पीएम नरेन्द्र मोदी ने नोटबंदी का दाव खेलकर अपने विरोधियों सपा, बसपा और कांग्रेस समेत सभी दलों के होश फाख्ता कर दिए हैें।

भाजपा यूपी चुनाव जीतकर राज्यसभा में अपना जनाधार बढ़ाने की जुगत में हैं। क्योंकि यूपी विधानसभा चुनाव के तुरंत बाद ही इस सूबे में राज्यसभा की दस सीटों पर भी चुनाव होने है। भाजपा विधानसभा चुनाव के साथ राज्यसभा की इन सभी दस सीटों को भी जितना चाहती है।  जिससे वह अपनी लंबित महत्वाकांक्षी योजनाओं को अमलीजामा पहना सकें। लेकिन इस चुनाव में भाजपा ने अभी तक मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार का नाम घोषित नहीं किया हैं। भाजपा के केन्द्रिय नेतृत्व को ये डर है कि अगर चुनाव पूर्व इसकी घोषणा हुई तो पार्टी में कलंह के साथ भीतरघात और घमासान मच जाएगा। लेकिन अगर भाजपा ने समय रहते इसकी घोषणा नहीं की तो दिल्ली और बिहार के जैसे यूपी में भी सत्ता पाने का सपना टूट सकता हैं।

यूपी चुनाव से पहले समाजवादियों की कलह को लेकर राजनैतिक विश्लेषकों की माने तो यह कलंह सत्ता पाने के लिए सोचा समझा राजनैतिक ड्रामा मात्र हैं। जिसमें अखिलेश ने गुंडागर्दी का विरोध कर अपनी स्वच्छ छवि कायम करके युवा और सवर्ण वोटरों को लुभाने का प्रयास किया। वहीं दूसरा समाजवादी पार्टी खेमा मुस्लिम और यादव वोटरों की जुगत में हैं। जो चुनाव परिणाम के बाद सत्त हासिल करने के लिए एकीकृत हो जाएगा। वहीं मायावती इस कलह को भाजपा के लिए सीधा फायदा होने की बात कहकर मुस्लिम वोटरों को लुभाने की कोशिश कर रहीं हैं। मायावती पहले भी इसी तरह जातिय जोड़ तोड़ बैठाकर सूबे की मुख्यमंत्री बन चुकी हैं और इस बार भी अपने परंपरागत दलित वोट बैंक के साथ मुस्लिम और ब्रह्मणों को अपनी ओर मिलाने में कोई कसर बाकी नहीं छोडऩा चाहती हैं।

इसे के चलते बसपा की उम्मीदवार सूची में 97 मुस्लिम और 66 ब्रह्मणों के नाम है। जो जाति के आधार पर टिकट पाकर जाति के दम पर ही चुनावी वैतरणी वार करने की कोशिश करेंगे। बरहाल यह तो आने वाला मार्च का माह ही बतायेगा सूबे कि सत्ता का सिरमौर  कौन बनता हैं? लेकिन सभी राजनैतिक दलों को संविधान की आत्मा की उस पहलु जिसे अखंडता कहा जाता हैं को ध्यान में रखकर अपनी नैतिक  जिम्मेदारियों को समझते हुए  जातिवाद से दूरी बनानी चाहिए। 
                                                                                                                                                                                                                     साभार  

पाकिस्तान: ट्रेन और मोटरसाइकिल रिक्शा की टक्कर, सात की मौत !

लाहौर: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में रेल और मोटरसाइिल रिक्शा की टक्कर में सात की मौत हो गई है। हादसा क्रासिंग पर ट्रेन और मोटरसाइकिल रिक्शा के वक्त हुआ। शुक्रवार सुबह हुई टक्कर में कम से कम 7 बच्चों की मौत हो गई है। दुर्घटना में 4 अन्य घायल हो गए है।

 दुर्घटना पाकिस्तान के लोधरन कस्बे में शुक्रवार सुबह हुई।  रिक्शा चालक धुंध के कारण रेलवे क्रासिंग पार कर रहा था और अचानक कराची जाने वाली ट्रेन की रफ्तार का अंदाजा नहीं लगा पाया। दुर्घटना में मोटरसाइकिल रिक्शा के परखच्चे उड़ गए। 

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार मौक पर लोगो ने घायलो की मदद के लिए लोधरन जिला मुख्यालय अस्पताल में भर्ती करावाया गया। रेडियो पाकिस्तान से मिली जानकारी के अऩुसार पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ने दुर्घटना पर दुख जताया है।

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को घायलों को चिकित्सकीय सहायता मुहैया करवाने के निर्देश दिए हैं। पाकिस्तान में इससे पहले सितंबर में पंजाब में ही मुल्तान के पास कराची जाने वाली एक ट्रेन व मालगाड़ी की टक्कर हुई थी।  दुर्घटना में उस वक्त  छह व्यक्तियों की मौत हुई थी ।  जबकि 18 लोगो के घायल हुए थे। 

सांपला का आरोप, केजरीवाल ‘‘भ्रष्टाचार की जननी’’

जालंधर(पंजाब)। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष विजय सांपला ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी के संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ‘‘चेतनाहीन, विचारहीन और आधारहीन’’ हैं तथा ‘‘भ्रष्टाचार की जननी’’ हैं।

सांपला ने शुक्रवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया, ‘‘केजरीवाल हमेशा झूठ बोलते हैं। कुछ भी बोल देते हैं। उन्हें पता नहीं होता है कि क्या बोलना है। दिल्ली सरकार का कामकाज इसी का परिणाम है।

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘वह भ्रष्टाचार खत्म करने का दावा करते हैं लेकिन वह भ्रष्टाचार की जननी हैं और यही कारण है कि उन्होंने पंजाब में अपनी पार्टी में पंजाबी नेताओं को नहीं उभरने दिया क्योंकि उन्हें पता है कि पंजाबी नेतृत्व उन्हें कभी भ्रष्टाचार नहीं करने देगा। इसलिए वह बाहर से लोगों को यहां थोप रहे हैं।

सांपला ने आरोप लगाया, ‘‘केजरीवाल असल में पंजाब को लूटना चाहते हैं। उनकी अपनी ही पार्टी के नेता और उम्मीदवार भी पार्टी नेताओं पर पैसे लेने का आरोप लगाते आ रहे हैं।

'सुल्तान' के बाद 'बजरंगी भाईजान' का रिकॉर्ड तोड़ेगी 'दंगल', कुल कमाई 313.50 करोड़

मुंबई। आमिर खान की फिल्म दंगल ने घरेलू बॉक्स ऑफिस पर सारे कीर्तिमान ध्वस्त करते हुए बॉलीवुड की ऑल टाइम ब्लॉकबस्टर फिल्म में तीसरा स्थान बना लिया है। पीके, बजरंगी भाईजान के बाद अब आमिर खान बॉलीवुड की सबसे ज्यादा कमाने वाली फिल्म बन गई है। दंगल ने 14वें दिन 313.50 करोड़ का बिजनेस कर लिया है।

फिल्म ने अब भी घरेलू बॉक्स ऑफिस पर अपनी मजबूत पकड़ बना रखी है। फिल्म अब अगर इसी तरह बिजनेस करती रही तो जल्द ही बजरंगी भाईजान का रिकॉर्ड तोड़ सकती है। बजरंगी भाईजान ने घरेलू बॉक्स ऑफिस पर 321 करोड़ का बिजनेस किया था। दंगल ने सलमान खान की फिल्म सुल्तान का रिकॉर्ड 13वें दिन 304 करोड़ रूपए कमाकर तोड़ दिया था। सुल्तान ने 3.45 करोड़ का ऑल टाइम बिजनेस किया था।

पेंशन लेने के लिए जरूरी हुआ आधार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने कर्मचारी पेंशन योजना तथा सरकारी सहायता प्राप्त योजनाओं का लाभ लेने वाले पेंशनभोगियों के लिए आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया है।  श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा जारी गजट अधिसूचना के अनुसार, केंद्र सरकार के अंशदान एवं योजना के अंतर्गत कर्मचारी पेंशन योजना की पेंशन एवं सदस्यता लाभ जारी रखने के इच्छुक ...सदस्यों एवं पेंशनभोगियों से अपेक्षा है कि वे उनके आधार कार्ड होने का प्रमाण दें या कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) द्वारा जारी प्रक्रिया के अनुरूप अपना आधार प्रमाणन कराएं।

जिन पेंशनभोगियों के पास आधार कार्ड नहीं है उन्हें भी आधार कार्ड के लिए आवेदन करना होगा तथा 31 जनवरी तक आवेदन की पावती रसीद देकर यह सूचित करना होगा कि उन्होंने इसके लिए आवेदन कर दिया है।

ऐसे पेंशनभोगी उनका आधार कार्ड बनने तक नियोक्ता या ईपीएफओ के फील्ड अधिकारी द्वारा यूनीक अकाउंट नंबर के साथ जारी पहचान पत्र, आधार आवेदन की पावती रसीद या किसी अन्य मान्य पहचान पत्र जैसे मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस आदि दिखाकर पेंशन लेना जारी रख सकते हैं। किसी गजेटेड अधिकारी या तहसीलदार द्वारा जारी फोटो युक्त प्रमाणपत्र भी इस उद्देश्य के लिए मान्य प्रमाणपत्र होंगे। 

ईपीएफओ को निर्देश दिया गया है कि यदि किसी प्रखंड, तहसील या ताल्लुक में आधार पंजीकरण केंद्र नहीं है तो वह सुविधाजनक स्थानों पर इसके लिए व्यवस्था करे। साथ ही उससे कहा गया है कि वह आधार कार्ड की इस अनिवार्यता की मीडिया तथा अन्य माध्यमों से प्रचार करे और उन पेंशनभोगियों को उनके निकटस्थ आधार पंजीकरण केंद्र के बारे में बतायें जिन्होंने अब तक इसके लिए आवेदन नहीं किया है।

जयपुर विकास प्राधिकरण, एसीबी का छापा, जोन 11 ठेके पर लगा लिपिक रिश्वत लेते धरा गया !

जयपुर , exclusive जयपुर विकास प्रधिकरण पर एसीबी का छापा पड़ा है। एसीबी ने जोन 11 में छापा डाला है। कार्रवाई का नेतृत्व एसीबी के एडिश्नल एसपी एसीबी बंजरंग सिंह शेखावत कर रहे है। बजरंग सिंह ने समाचार जगत डॉट कॉम को बताया कि रुपनारायण ठेके पर कार्यरत लिपिक को रिश्वत लेते दबोचा है।

शेखावत के अनुसार रुपनारायण को दो हजार रुपय की रिश्वत लेते पकड़ा है। रुपनारायण के पास परिवादी हरिश कुमावत के रिश्तेदार के नाम अल्प आय वर्ग की लोटरी में निकले प्लाट की वैरिफेशन का जिम्मा था। जिस पिछले कुछ महीने से अटकाया जा रहा था। परिवादी की शिकायत पर रुपनारायण ने पहले 1000 और शुक्रवार को 2 हजार रु की रंगे हाथों रिश्वत लेते दबोच लिया।

आरोपी जयपुर विकास प्रधिकरण के इसी जोन से रिटायर हुआ है और पिछले दो साल से यही ठेके पर लगा हुआ है। इसके पास ईडब्लूएस और अफोर्डेबल हाउसिंग से जुडी फाईलो की जिम्मेदारी थी ।

शुक्रवार सुबह जोन ग्यारह में अचानक एसीबी की कार्रवाई से जयपुर विकास प्राधिकरण में हडपकम्प मच गया।

इससे पहले एसीबी ने जेडीए के तत्कालीन प्रवर्तन अधिकारी सुरेश परेवा को एक लाख रुपय की रिश्वत लेते ट्रैप किया था।परेवा ने अपने जन्मदिन पर एक लाख रुपए की रिश्वत लेते धरे गए थे। इस मामले में भ्रष्टाचार मामलात की कोर्ट ने भ्रष्टाचार निवारण एक्ट की धाराओं में मामला चल रहा है।

 पुलिस महानिदेशक राजस्थान की ओर से पिछली तारीख पेशी पर जेडिए अफसर परेवा के खिलाफ अभियोजन स्वीकृति मंजूरी की गई थी। फिलहला परेवा के खिलाफ चार्ज बहस के लिए अदालत ने 18 मार्च तय की है।

एसीबी ने 15 जून 2016 को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए दबोचा था। परिवादी ने भूमि पर हुए अतिक्रमण को हटाने के एवज में सुरेश परेवा के चार लाख की रिश्वत मांगे जाने की शिकायत की थी। परिवादी के गुर्जर की थड़ी के पास विश्व नगर में एक प्लॉट पर एक हिस्से में अतिक्रमण हटाने की शिकायत जेडीए में दर्ज करवाई थी।

एसीबी ने परेवा के पास अतिक्रमण को मिलाकर करीब डेढ़ सौ फाइलें जब्त की थी। एसीबी ट्रैप के दौरान उनके पास जेडीए जोन-5 तथा जोन 11 का कार्यभार था।

एयरसेल के एयरवेब बेचने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई अस्थायी रोक

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने आज दूरसंचार सेवा प्रदाता एयरसेल की प्रवर्तक कंपनी मलेशिया की मैक्सिस के उच्चाधिकारियों को भ्रष्टाचार के एक मामले की सुनवाई कर रही एक अन्य अदालत के सामने उपस्थित होने निर्देश देते हुए एयरसेल के एयरवेब बेचने पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया है।  शीर्ष अदालत के आज के इस आदेश से अनिल अंबानी नीत समूह की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन्स के साथ उसके सौदे के क्रियान्वयन में देरी की आशंका है। 

मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति जगदीश सिंह खेहर की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने मैक्सिस के मालिक आनंद कृष्णन तथा कंपनी के अन्य उच्चाधिकारियों को उक्त मामले की सुनवाई कर रही विशेष अदालत के सामने उपस्थित होने का भी आदेश दिया तथा कहा कि ऐसा नहीं करने पर शीर्ष अदालत उचित कार्रवाई करेगी।

उसने कहा कि दो सप्ताह के भीतर उनके विशेष अदालत के समक्ष उपस्थित नहीं होने पर एयरसेल के स्पेक्ट्रम जब्त कर स्थानांतरित कर दिए जाएंगे। शीर्ष अदालत ने मामले की अगली सुनवाई 3 फरवरी को तय की है। साथ ही उसने दूरसंचार विभाग एवं दूरसंचार मंत्रालय से दो सप्ताह के अंदर स्पेक्ट्रम हस्तांतरण तरीके सुझाने के लिए कहा है ताकि एयरसेल के उपभोक्ताओं को परेशानी ना हो। 

वेस्टइंडीज का सुरक्षा दल अगले महीने पाकिस्तान का दौरा करेगा

पाकिस्तान देश में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट शुरू करने की उम्मीद लगाये है क्योंकि वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड के एक सुरक्षा दल के इस महीने के अंत में लाहौर का दौरा करने की पुष्टि हो गई है। सुरक्षा दल के दौरे के साथ ही जाइल्स क्लार्क भी 27 जनवरी को लाहौर आएंगे जो पाकिस्तान क्रिकेट पर आईसीसी की विशेष कार्य बल के प्रमुख हैं। 

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सीनियर अधिकारी नजम सेठी ने कहा, ''हमने वेस्टइंडीज को दो या तीन टी20 मैच खेलने के लिए आमंत्रित किया है जिसके बाद हम मार्च-अप्रैल में उनके खिलाफ फ्लोरिडा में इतने ही मैच खेलेंगे और कैरेबिया में इसके बाद पूर्ण टेस्ट सीरीज होगी।

सेठी ने कहा कि वेस्टइंडीज चाहता था कि पाकिस्तान फ्लोरिडा में कुछ टी-20 मैच खेले। उन्होंने कहा, ''हमने उन्हें अपनी व्यापक सुरक्षा योजना भेजी दी है। उन्होंने कहा कि क्लार्क का दौरा भी काफी अहम है क्योंकि उन्हें पाकिस्तान में सुरक्षा हालात सुधरने के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाएगी।"

सेंसेक्स 119 अंक टूटा, निफ्टी 8200 पार

मुंबई। शेयर बाजार आज गिरावट के साथ बंद हुआ। सेंसेक्स 119.01 अंक टूटकर 26,759.23 अंक, निफ्टी 30 अंक गिरकर 8,243.80 अंक पर बंद हुआ। इससे पूर्व एशियाई बाजारों में स्थिरता और घरेलू निवेशकों के समर्थन से आज शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में जहां 103 अंक से ज्यादा की तेजी देखी गई वहीं निफ्टी भी 8300 अंक को पार कर गया। इसके अलावा रूपए की मजबूती से भी शेयर बाजारों में उछाल देखने को मिला।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के 50 कंपनियों के शेयरों पर आधारित निफ्टी में आज 30.05 अंक यानी 0.36 प्रतिशत की तेजी देखी गई है और यह 8300 अंक के आंकड़े को पार करके 8303.85 अंक पर खुला।

30 कंपनियों के शेयरों पर आधारित बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 103.48 अंक यानी 0.38 प्रतिशत चढक़र 26,981.72 अंक पर खुला। इसमें तेजी की प्रमुख वजह स्वास्थ्य, टिकाऊ उपभोक्ता वस्तु, धातु, वाहन, पूंजीगत सामान, तेल एवं गैस और बैंकिंग के शेयरों में सकारात्मक रुख का होना है। पिछले सत्र के कारोबार में कुल 245.11 अंक की तेजी देखी गई थी।

 

 

 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.