07 फरवरी : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Thursday, 07 Feb 2019 05:23:05 PM
7 February top 10 news

चार लाख 79 हजार 701 करोड़ से मिलेगी यूपी में विकास योजनाओं को रफ्तार

4 lakh 79 thousand 701 crore will get development plans in UP

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार गुरुवार को वर्ष 2019-20 के लिये चार लाख 79 हजार सात सौ एक करोड़ 10 लाख रुपये का बजट पेश किया। वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने राज्य विधानसभा में अपनी सरकार के कार्यकाल का तीसरा बजट पेश किया जो पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में 12 फीसदी अधिक है। अपने बजट भाषण में वित्त मंत्री ने कहा कि विकास को रफ्तार देने के साथ साथ गरीब,नौजवान और किसान समेत समाज के सभी तबकों के लिये बजट में व्यवस्था की गयी है।

उन्होने कहा कि एक्सप्रेस वे के निर्माण को रफ्तार देने के लिये बजट में प्रावधान किया गया है जिसके तहत पूर्वांचल एक्सप्रेस के लिए 1194 करोड़, बुंदेलखंड एक्प्रेस के लिए 1000 करोड़, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे लिए 1000 करोड़, डिफेंस कॉरिडोर के लिए 500 करोड़, आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे की छह लेन के लिए 100 करोड़ रूपये का प्रावधान है।

वित्त मंत्री ने कहा कि स्मार्ट सिटी योजना के तहत 758 करोड़ की व्यवस्था की गई है. जबकि स्वच्छ ग्रामीण मिशन के तहत 58 हजार 770 ग्राम पंचायत को शौच मुक्त कर दिया है। मथुरा वृंदावन के बीच ऑडिटोरियम के निर्माण के लिए आठ करोड़ 38 लाख रुपये की व्यवस्था की गई है। सार्वजनिक रामलीला स्थलों में चारदीवारी निर्माण के लिए 50 करोड़ की व्यवस्था की गई है जबकि वृंदावन शोध संस्थान के सुदृढ़ीकरण  के लिए एक करोड़ दिए गए हैं।

लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस का बड़ा ऐलान, सत्ता में आए तो खत्म करेंगे तीन तलाक कानून

Congress's big announcement before Lok Sabha elections, if it comes to power, will end three divorce laws

नई दिल्ली। देश में इस साल लोकसभा चुनाव होने है। इन लोकसभा चुनावों के लिए सभी राजनीतिक दलोें ने तैयारियां शुरू कर दी है। तो वहीं कांग्रेस ने भी इन चुनावों के लिए अपनी ​तैयारियां शुरू कर दी। लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस ने एक और बड़ा ऐलान किया है। कांग्रेस ने ऐलान किया है कि यदि वह सत्ता में आई तो तीन तलाक कानून को खत्म करेगी। यह ऐलान दिल्ली में पार्टी के अल्पसंख्यक अधिवेशन के दौरान पार्टी सिलचर से सांसद और ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देब ने राहुल गांधी की मौजूदगी में ऐलान किया है। गुरूवार को पार्टी ने अल्पसंख्यकों के बीच आधार मजबूत करने के इरादे से राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन रखा था। इस अधिवेशन में मुख्य अतिथि पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी थे। 
 
अल्पसंख्यक अधिवेशन को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर हमले किए। तो वहीं राहुल ने कहा कि पीएम मोदी का चेहरा ध्यान से देखें तो आपको घबराहट दिखेगी। राहुल ने कहा कि मोदी जी समझ चुके हैं कि देश के लोगों को तोड़कर पीएम नहीं बना जा सकता है। अधिवेशन में कांग्रेस अध्यक्ष ने क​हा कि भाजपा वाले कहते थे कि मोदी 15 साल पीएम रहेंगे, लेकिन कांग्रेस ने उनके इस दावे ​की धज्जियां उड़ा दी है। पहले भाजपा के लोग कहते थे अच्छे दिन आएंगे, लेकिन अब देश के लोग कहते है चौकिदार चोर है। 

अधिवेशन को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि ये देश किसी एक धर्म का नहीं है। यह देश हिंदुस्तान के हर व्यक्ति का है। लडाई दो विचारधारा के बीच की है। देश में अल्पसंख्यकों ने भी देश को बनाने का काम किया है। एक विचारधारा कहती है कि देश सोने की ​चिड़िया है। जिसका आशय है कि देश एक प्रॉडक्ट है। हमारी विचाराधारा कहती है कि देश एक नदी है, जिसमें सभी को जगह मिलनी चाहिए। 

आरएसएस पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा कि आरएसएस के लोग चाहते है कि सरकार नागपुर से चले। मोदी देश को आगे से चलाएंगे और मोहन भागवत देश को पीछे से चलाना चाहते है। इसके बाद कहा कि हमारा संविधान कांग्रेस पार्टी का नहीं, बल्कि यह देश का संविधान है। उसकी रक्षा करना सभी पार्टियों की है। 

पिघल रही हैं ग्रीनलैंड और अंटार्कटिका की बर्फ, कुछ ही दशकों में अस्थिर हो सकती हैं क्षेत्रीय जलवायु

melting of Greenland and Antarctica icectica ice

पेरिस। ग्रीनलैंड और अंटार्कटिका की बर्फ की परतें तेजी से पिघल रही हैं और इनसे अरबों टन पानी विश्व के महासागरों में जाकर मिल रहा है। शोधकर्ताओं का कहना है कि इससे अगले कुछ ही दशकों में क्षेत्रीय जलवायु अस्थिर होने के साथ ही मौसम में बहुत तेजी से बदलाव आने की आशंका है।

शोधकर्ताओं ने नेचर जर्नल में प्रकाशित अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि बर्फ की इन विशाल परतों के पिघलने और खासतौर से ग्रीनलैंड के उंचाई वाले हिस्सों की बर्फ के पिघलने से महासागरों का प्रवाह कमजोर पड़ेगा जो कि ठंडे पानी को अटलांटिक महासागर के साथ ही दक्षिण की ओर प्रवाहित करता है।

इसके साथ ही यह उष्णकटिबंधीय पानी को सतह के करीब उत्तर की ओर प्रवाहित करता है। अटलांटिक मेरिडियोनल ओवरईटिंग सर्कुलेशन (एएमओसी) के नाम से पहचानी जाने वाली यह तरल कन्वेयर बेल्ट धरती की जलवायु तंत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है और साथ ही यह सुनिश्चित करने में मदद करती है कि उत्तरी गोलार्द्ध में कुछ गर्माहट रहे।

न्यूजीलैंड की विक्टोरिया यूनिवर्सिटी आफ वेलिग्टन के सह-प्राध्यापक निकोलस गोलेज ने बताया कि हमारे मॉडल के मुताबिक ये पिघली हुयी बर्फ का पानी महासागरों के प्रवाह में बड़ी बाधा पैदा कर सकता है और इसके साथ ही इससे विश्वभर में तापमान के स्तर में बदलाव आ जाएगा। अंटार्कटिका की बर्फ की इन परतों के पिघलने से गर्म पानी सतह के नीचे आ जाएगा।

इससे ग्लेशियर के निचले हिस्से का क्षरण होने लगेगा और इससे बर्फ के पिघलने की प्रक्रिया तेज होगी तथा समुद्र का जलस्तर बढ़ जाएगा। बर्फ की परतों के बारे में अधिकतर अध्ययन इस बात पर केंद्रित रहे हैं कि जलवायु परिवर्तन के कारण वे कितने जल्दी पिघलेंगी और उनके विखंडन से वैश्विक तापमान में कितनी बढ़ोतरी होगी और क्या इस प्रक्रिया में सदियां लगेंगी या सहस्राब्दि का वक्त लगेगा। लेकिन इस बारे में बहुत कम अध्ययन हुआ है कि बर्फ पिघलने से निकला पानी स्वयं किस प्रकार से जलवायु तंत्र को प्रभावित कर सकता है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि अटलांटिक का प्रवाह कमजोर पड़ने का एक परिणाम यह होगा कि आर्कटिक के ऊंचे इलाकों, पूर्वी कनाडा और मध्य अमेरिका में हवा का तापमान बढ़ जाएगा, उत्तर पश्विमी यूरोप और उत्तरी अमेरिका के पूर्वी तटीय इलाकों के ऊपर तापमान कम रहेगा। ग्रीनलैंड और अंटार्कटिक में बर्फ की परत तीन किलोमीटर तक मोटी है और इसमें धरती के दो तिहाई से अधिक ताजा जल है। अगर ये परतें पूरी तरह पिघल जाएं तो इतना पानी विश्व के महासागरों के जलस्तर को 58 एवं सात मीटर तक बढ़ा सकता है।

आतंकवादी संगठन आईएस का खात्मा कर दिया गया है : ट्रंप

Terrorist organization IS has been eliminated: Trump

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि आतंकवादी संगठन आईएस का खात्मा कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि संभवत: अगले सप्ताह वह किसी भी समय आईएस को उसके कब्जे वाले क्षेत्रों से 100 फीसदी तक खदेडऩे की औपचारिक घोषणा करेंगे। 

ट्रंप ने बुधवार को कहा कि अमेरिकी सेना, उसकी गठबंधन सहयोगी और सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेज ने सीरिया और इराक में पहले आईएस के कब्जे में रहे पूरे क्षेत्र को लगभग आजाद करा लिया है। ट्रंप ने एक कार्यक्रम में अपने संबोधन में कहा, ‘‘संभवत: अगले सप्ताह यह घोषणा की जाएगी कि हमने आईएस के क्षेत्र पर 100 फीसदी तक नियंत्रण कर लिया है लेकिन मैं आधकारिक बयान का इंतजार करना चाहता हूं। मैं जल्दबाजी में यह नहीं कहना चाहता।’’उन्होंने कहा कि उनके प्रशासन के नए रुख के कारण मैदान पर अमेरिकी कमांडर और गठबंधन के सहयोगी सशक्त हुए और उन्होंने सीधे आईएस की ‘‘दुष्ट’’ विचारधारा का सामना किया।

उन्होंने बताया कि पिछले दो वर्षों में अमेरिका और उसके सहयोगियों ने 20,000 वर्ग मील से अधिक भूमि पर फिर से कब्जा जमाया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हमने युद्ध का एक मैदान जीता और उसके बाद जीतते चले गए और मोसुल तथा रक्का दोनों को फिर से अपने नियंत्रण में ले लिया। उन्होंने कहा, ‘‘आईएस के सौ से ज्यादा अन्य शीर्ष अधिकारियों का खात्मा किया गया और हजारों आईएस लड़ाकों को खदेड़ दिया। 

ट्रंप ने बताया कि अमेरिका और उसके अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों ने खूंखार आतंकवादियों के चंगुल से 50 लाख से ज्यादा नागरिकों को रिहा कराया। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष एक साझा लड़ाई है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने साथ मिलकर लड़ाई लड़ी। अगर हम साथ मिलकर नहीं लड़ते तो कभी आज जैसी स्थिति नहीं हो सकती थी। हर किसी को अपनी भूमिका अदा करनी है और अपना योगदान देना है। 

शादी के सवाल पर आलिया भट्ट ने दिया जवाब

Alia Bhatt gives answer on marriage question

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट ने शादी करने की बात पर जवाब दिया है। प्रियंका चोपड़ा और दीपिका पादुकोण की शादी के बाद सबको अब आलिया भट्ट-रणबीर कपूर की शादी का इंतजार है। आलिया और रणबीर के रिलेशनशिप के चर्चे हैं। दोनों शादी कब करेंगे, इसका जवाब देते-देते आलिया भी थक गई होंगी। आलिया और रणबीर कुछ वक्त से डेटिंग कर रहे हैं और उनकी शादी का जिक्र अक्सर होता रहता है। दोनों को अब ज्यादातर साथ देखा जा सकता है वहीं आलिया और रणबीर की फैमिली गेदभरग का हिस्सा भी बनती रहती हैं।

हाल ही में आलिया के पिता महेश भट्ट ने न सिर्फ यह बात मानी कि उनकी बेटी किसी बॉलिवुड हीरो को डेट कर रही है बल्कि यह भी बताया कि आलिया को प्यार हुआ है। महेश भट्ट आलिया की पसंद रणबीर को भी यह कहते हुए अप्रूवल दे चुके हैं कि उन्हें रणबीर पसंद हैं और वह ‘बढिय़ा लडक़ा’ है। महेश भट्ट ने यह भी बताया कि दोनों को अपने रिलेशनशिप को आगे किस तरह से बढ़ाना है इस पर वे ही फैसला लेंगे।

आलिया और रणबीर फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ में साथ दिखाई देंगे। चर्चा है कि दोनों 2020 तक शादी के बंधन में बंध जाएंगे। इस वक्त आलिया रणवीर भसह के साथ फिल्म गली बॉय के प्रमोशन में बिजी हैं। आलिया से जब बॉयफ्रेंड रणबीर कपूर के साथ शादी के प्लान में पूछा गया तो उन्होंने ऐसा जवाब दिया जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। आलिया ने कहा कि लोगों को अब एक ब्रेक लेना चाहिए। बीते साल दो खूबसूरत शादियां हुई हैं। हम अब ‘चिल’ कर सकते हैं, फिल्में देख सकते हैं, फिल्मों में काम कर सकते हैं और बाकी बाद में देखा जाएगा।

सौभाग्यशाली हूँ कि मी टू में नाम नहीं आया : शत्रुघ्न

I am fortunate that the name did not come in Me: Shatrughan

नयी दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा का कहना है कि आज का समय मी टू का है और वह सौभाग्यशाली हैं कि उनका नाम मी टू मूवमेंट में नहीं आया। हाल के समय में बॉलीवुड के कई लोगों पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं। शत्रुघ्न ने मीटू मूवमेंट को लेकर कहा,‘‘आज मी टू का समय है और यह कहने में कोई शर्म या संकोच नहीं होना चाहिए कि एक सफल पुरुष के विफल होने के पीछे महिला है। मैं देख रहा हूं कि सफल पुरुषों की परेशानियों और बदनामी के पीछे ज्यादातर महिलाओं का ही हाथ है। 

शत्रुघ्न ने कहा मैं वास्तव में खुद को सौभाग्यशाली मानता हूं कि मेरा नाम मी टू मूवमेंट में नहीं आया है। इसलिए मैं अपनी पत्नी की बात सुनता हूं और अक्सर उसे अपनी ताकत के तौर पर हर जगह ले जाता हूं। वह मेरे साथ एक ढ़ाल के रूप में हैं, भले ही कुछ भी न हो, मैं दिखा सकता हूं मैं अपने शादीशुदा जीवन में खुश हूं, मेरा जीवन अच्छा है। शत्रुघ्न ने कहा कि उनकी पत्नी, पूनम एक ‘देवी’ हैं और उनके लिए ‘सबकुछ’ हैं। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि वह मी टू मूवमेंट का मजाक नहीं बना रहे थे और उनकी टिप्पणियों को ‘सही दिशा’ में लिया जाना चाहिए। 

IND vs NZ: दूसरे टी20 मैच में टीम इंडिया में डेब्यू कर सकता है यह अंडर-19 का स्टार खिलाड़ी

IND vs NZ: In the second T20 match, Team India can debut this star player of Under-19

स्पोटर्स डेस्क। भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज खेली जा रही है। इस सीरीज का दूसरा मैच आकलैंड में खेला जाएगा। फिलहाल सीरीज में टीम इंडिया 0—1 से पीछे है। क्यों​कि टीम इंडिया को पहले मैच में 80 रनों से हार का सामना करना पडा था। इस हार के साथ ही टीम इंडिया इस सीरीज में पीछे हो गई। लेकिन कल का मैच टीम इंडिया के करो या मरो का मैच है। क्योंकि यदि टीम इंडिया इस मैच को हार जाती है। तो वह इस सीरीज को भी हार जाएगा। तो वहीं भारत दूसरे मैच को जीत लेता है। तो वह सीरीज में बराबरी कर लेगा। 

भारत और न्यूजीलैंड के बीच दूसरे टी20 मैच में टीम इंडिया की तरफ से युवा खिलाडी शुभमन गिल टी20 क्रिकेट में डेब्यू कर सकते है। हालां​कि गिल ने वनडे में टीम इंडिया की तरफ से डेब्यू कर लिया है। उन्होंने हाल ही में कीवी टीम के खिलाफ खेेली गई पांच मैचों की एकदिवसीय सीरीज के चौथे मैच में डेब्यू किया था। ऐसे में अब टी20 क्रिकेट में भी गिल टीम इंडिया की तरफ से खेल सकते है। 

आपको बता दें कि गिल नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते है। इस सीरीज में ​टीम के नियमित नंबर तीन ​बल्लेबाज विराट कोहली को आराम दिया गया है। ऐसे में नंबर तीन के लिए शुभमन गिल को टीम में शामिल किया जा सकता है। क्योंकि पहले मैच में टीम इंडिया का टॉप आर्डर पूरी तरह से फेल रहा था। ऐसे में गिल को इस मैच में खिलाया जा सकता है। 

गौरतलब है कि गिल को वनडे सीरीज के आखिरी मैचों में टीम में शामिल किया गया था। लेकिन उन मैचों में गिल कोई खास प्रदर्शन नहीं कर पाए। तो वहीं गिल का आईपीएल में शानदार प्रदर्शन है। गिल ने आईपीएल में केकेआर की तरफ से अबतक 13 की 11 पारियों में 203 रन बनाए है। जिसमें उनका औसत 33.83 का और स्ट्राइक रेट 146.04 का रहा।

छेत्री ने 600 मिनट बाद किया गोल, बेंगलुरू को हार से बचाया

Chhetri rescues defeat from Bangalore after 600 minutes

बेंगलुरू। कप्तान सुनील छेत्री ने आईएसएल में 600 मिनट से चल रहा अपना गोल सूखा समाप्त करते हुए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में बेंगलुरू एफसी की तीन मैचों में दूसरी हार टाल दी। बुधवार रात कांतिरवा स्टेडियम में छेत्री के 85वें मिनट में किए गए गोल की मदद से बेंगलुरू ने केरल ब्लास्टर्स को 2-2 की बराबरी पर रोक दिया।

ऐसा लग रहा था कि ब्लास्टर्स अपनी जीत का सूखा खत्म कर लेंगे क्योंकि 84वें मिनट तक वे 2-1 से आगे थे लेकिन लगातार प्रयास कर रहे छेत्री ने उदांता सिंह की मदद से बिल्कुल सही समय पर गोल करते हुए उसकी इच्छा पर पानी फेर दिया। बराबरी के इस मुकाबले के बाद बेंगलुरू की टीम 31 अंकों के साथ 10 टीमों की तालिका में पहला स्थान पर बरकरार रखे हुए है। बेंगलुरू को मुम्बई सिटी एफसी के हाथों 0-1 से हार मिली थी। उस हार के साथ बेंगलुरू ने नम्बर-1 स्थान गंवा दिया था, लेकिन अगले मैच में वह नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी को हराकर न सिर्फ जीत की पटरी पर लौटी बल्कि पहला स्थान भी हासिल कर लिया था। 

ब्लास्टर्स इस ड्रॉ से हासिल एक अंक के बावजूद नौवें स्थान पर ही हैं। ब्लास्टर्स को इस सीजन की पहली जीत उद्घाटन मुकाबले में मिली थी। इसके बाद उसे आठ ड्रॉ और छह हार झेलनी पड़ी है। मैच का पहला हाफ पूरी तरह केरल के नाम रहा। सीटी बजने के साथ फ्रंट फुट पर दिखाई दे रही केरल की टीम ने इस हाफ में दो गोल किए। उसके लिए पहला गोल 16वें मिनट में स्लाविसा स्टोजानोविक ने पेनल्टी पर किया जबकि दूसरा गोल करेज पेकुसन ने 40वें मिनट में 30 गज की दूरी से एक झन्नाटेदार किक पर किया। यह इस सीजन के बेहतरीन गोलों में से एक हो सकता है। 

रिजर्व बैंक सभी क्षेत्रों के लिये पर्याप्त नकदी सुनिश्चित करेगा: गवर्नर

Reserve Bank will ensure adequate cash for all areas: Governor

मुंबई। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बृहस्पतिवार को कहा कि केंद्रीय बैंक यह सुनिश्चित करेगा कि अर्थव्यवस्था के किसी भी क्षेत्र के लिये नकदी की कमी नहीं हो। रिजर्व बैंक ने प्रमुख नीतिगत ब्याज दर रेपो में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर बाजार को आश्चर्यचकित कर दिया। मौद्रिक नीति समीक्षा के बाद होने वाले पारंपरिक संवाददाता सम्मेलन में दास ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम लगातार नकदी की स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और यह सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी क्षेत्र को नकदी की कमी नहीं हो।

चालू वित्त वर्ष में अब तक खुले बाजार में हस्तक्षेप के जरिये डाली गयी नकदी 2.36 लाख करोड़ रुपये पहुंच गयी है। केंद्रीय बैंक ने बृहस्पतिवार को छठी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो दर 0.25 प्रतिशत कम कर 6.25 प्रतिशत कर दी। साथ ही मौद्रिक नीति के बारे में अपना दृष्टिकोण को 
भी ‘नपी-तुली कठोरता’ वाले से नरम कर ‘तटस्थ‘ कर दिया है। 

रिजर्व बैंक ने खुदरा मुद्रास्फीति के अनुमान को भी कम किया है। चालू वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही के लिये खुदरा मुद्रास्फीति अनुमान को कम कर 2.8 प्रतिशत किया गया है। दिसंबर, 2018 में यह 2.2 प्रतिशत रही थी। केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष की आखिरी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही के खुदरा मुद्रास्फीति अनुमान को भी कम कर 3.2-3.4 प्रतिशत कर दिया इसके साथ ही 2019- 20 की तीसरी तिमाही के लिये मुद्रास्फीति अनुमान 3.9 प्रतिशत रखा गया है। 

इस बारे में दास ने कहा कि यह अनुमान मानसून के सामान्य रहने तथा कच्चे तेल के दाम को लेकर कोई नकारात्मक घटनाक्रम नहीं होने की संभावना पर आधारित है। उन्होंने यह भी कहा कि मुद्रास्फीति का अनुमान कम करते समय बजट में किये गये विभिन्न प्रस्तावों और राजकोषीय घाटे के लक्ष्य से आगे निकलने की आशंका को भी ध्यान में रखा गया है। डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने कहा कि आरबीआई वास्तविक ब्याज दर लक्ष्य नहीं रखता।

अंतरिम लाभांश भुगतान के बारे में दास ने कहा कि यह कानूनी प्रावधान है और निदेशक मंडल की 18 फरवरी को प्रस्तावित अगली बैठक में राशि तथा समय के बारे में निर्णय किया जाएगा तथा यह सरकार को तय करना है कि वह उसे कैसे खर्च करती है। सरकार को बढ़े हुए राजकोषीय घाटे के संशोधित लक्ष्य को हासिल करने के लिये अंतरिम लाभांश की काफी जरूरत है।

दास ने यह भी कहा कि आरबीआई को बजट में जतायी गयी संभावना के अनुरूप जीएसटी संग्रह में तेजी की उम्मीद है। इसमें 18 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया गया है। आचार्य ने कहा कि आरबीआई के फंसे कर्ज से संबंधित 12 फरवरी 2018 के परिपत्र में संशोधन का कोई प्रस्ताव विचारार्थ नहीं है। 

कारोबार की समाप्ति पर सेंसेक्स में गिरावट और निफ्टी में दिखी मामूली बढ़त

At the end of business Fall in Sensex And  Nifty sees slight gains

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार सुबह अच्छी बढ़त के साथ खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये मामूली घटत-बढ़त के साथ बंद हुआ। कारोबार की समाप्ति पर जहां प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स में गिरावट देखने को मिली वहीं निफ्टी हरे निशान पर बंद हुआ। घटत-बढ़त के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 4.14 अंक यानि 0.011 प्रतिशत की गिरावट के साथ 36,971.09 के स्तर पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी में कारोबार की समाप्ति पर मामूली बढ़त देखने को मिली और ये 6.95 अंक यानि 0.063 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,069.40 के स्तर पर बंद हुआ।

गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान शेयर बाजार में अच्छी बढ़त देखने को मिली। कारोबार की शुरूआत बढ़त के साथ हरे निशान पर हुई और कारोबार की समाप्ति पर भी ये बढ़त के साथ हरे निशान पर बंद हुआ। कारोबार की शुरूआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 265.15 अंक यानि 0.72 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 36,881.96 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 358.42 अंक यानि 0.98 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 36,975.23 के स्तर पर बंद हुआ। 

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी कारोबार की शुरूआत में 75.25 अंक यानि 0.69 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,009.60 के स्तर पर खुला और कारोबार की समाप्ति पर ये 128.10 अंक यानि 1.17 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 11,062.45 के स्तर पर बंद हुआ।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.