'नोटबंदी' के मुद्दे पर अमर सिंह ने मोदी की तारीफ के पुल बांधे

Samachar Jagat | Saturday, 26 Nov 2016 11:38:41 PM
'नोटबंदी' के मुद्दे पर अमर सिंह ने मोदी की तारीफ के पुल बांधे

वाराणसी। समाजवादी पार्टी के विवादित नेता अमर सिंह ने 500 और 1000 रूपए के पुराने नोट बंद करने के फैसले के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि यह काले धन और भ्रष्टाचार को खत्म करने का एक ''साहसिक प्रयोग" है और उन्हें ''गर्व" है कि मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं।

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी ने नोटबंदी के मुद्दे पर मोदी को आड़े हाथ लिया है। 

अमर ने दावा किया कि नोटबंदी के फैसले से अमीर और गरीब के बीच की खाई कम हुई है और अब लोग कर चोरी करने की बजाय कर अदा करेंगे। 
राज्यसभा सदस्य ने कल यहां कहा कि नोटबंदी भले ही ''उचित इंतजामों" के बगैर लागू की गई, लेकिन इस कदम को अचानक अमल में लाने से काले धन और बेहिसाबी नगद राशि को जमाखोरों की ओर से ''ठिकाना" लगाने से रोकने में मदद मिली। 

काला धन, भ्रष्टाचार और फर्जी मुद्रा खत्म करने के ''साहसिक" प्रयोग के तौर पर इस फैसले की तारीफ करते हुए अमर ने कहा कि ''एक देशवासी के तौर पर मुझे गर्व है कि हमें एक ऐसा प्रधानमंत्री मिला है जो भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म करने के लिए समर्पित हैं।" 

अमर के मुताबिक, अब काला धन जमा रखने वालों को रातों में नींद नहीं आ रही। उन्होंने कहा, ''बैंकों के बाहर कतार में खड़े लोग कह रहे हैं कि प्रधानमंत्री ने उन सभी को सजा दी है जिन्होंने अकूत संपत्ति जमा कर रखी थी, चाहे वे उनकी पार्टी भाजपा के हों या कोई और हों।" 

अमर ने कहा, ''मैं भाजपा का कोई प्रवक्ता नहीं बल्कि समाजवादी पार्टी का राज्यसभा सदस्य हूं, इस मुद्दे पर मेरी पार्टी की राय चाहे जो भी हो, लेकिन मैंने अपनी निजी राय जाहिर की है।" 

बहरहाल, अमर ने नोटबंदी को लागू करने में ''कुप्रबंधन" पर अपना विरोध दर्ज कराते हुए कहा कि उन्हें लोगों को इस फैसले के कारण तकलीफ में देखकर दुख होता है। नोटबंदी के मुद्दे पर मोदी की ओर से ऐप पर कराए गए सर्वेक्षण पर सवाल उठाते हुए अमर ने कहा कि सर्वे को लेकर ''संदेह" हैं। 
भाषा 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.