अमरिंदर सिंह बोले, आप पार्टी के साथ गठबंधन की नहीं दरकार

Samachar Jagat | Monday, 07 Jan 2019 04:05:38 PM
Amarinder Singh says you do not want to combine with the party

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में आम आदमी पार्टी (आप) के साथ गठबंधन की जरूरत से इंकार करते हुए कहा है कि पार्टी के साथ चुनावी तालमेल को लेकर कोई भी फैसला कांग्रेस आलाकमान की ओर से लिया जाएगा।

कैप्टन सिंह कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हुई अनौपचारिक बैठक के को लेकर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आप पार्टी का पंजाब में कोई अस्तित्व नहीं है तथा आप पार्टी के साथ राज्य में चुनावी तालमेल की कतई आवश्यकता नहीं है।

पार्टी ने अपने विचारों से आलाकमान को पहले ही अवगत करा दिया ,हालांकि गांधी से इस मुद्दे पर बैठक में कोई चर्चा नहीं हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप टूट चुकी है और उसकी अब कोई पहचान नहीं रह गई है। आगामी लोकसभा चुनाव से पहले मौजूदा राज्य की स्थिति यह है।

फिर भी गठबंधन को लेकर आप अथवा किसी अन्य पार्टी के बारे में कोई भी फैसला आलाकमान को लेना है। राष्ट्रीय राजनीतिक परि­श्य के मद्देनजर आलाकमान कोई फैसला लेती है तो प्रदेश कांग्रेस उसका पालन करेगी। उन्होंने भरोसा जताया कि पंजाब में कांग्रेस लोकसभा की सभी तेरह सीटें जीतेगी। पार्टी चुनाव के लिए काबिल और जिताऊ और टिकाऊ उम्मीदवार का चयन करेगी।

उम्मीदवारों को लेकर अभी तक कोई सलाह मशविरा नहीं हुआ है। मंत्रिमंडल में संभावित फेरबदल को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्रियों के विभागों के बदलाव को लेकर गांधी के साथ हुई बैठक में कोई चर्चा नहीं हुई। करतारपुर कोरीडोर के मुद्दे पर कैप्टन सिंह ने कहा कि पाकिस्तान ने कोरीडोर को लेकर अपने तरफ की सड़क का निर्माण कार्य पहले ही शुरू कर दिया है और भारत की तरफ से भी विकास कार्य अभी शुरू होना है।

इस बारे में राज्य सरकार को केन्द्र की तरफ से कोई फंड नहीं मिला है जिससे बिल्डिंग के आधारभूत ढांचे के लिए जमीन अधिग्रहित की जा सके। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि करतारपुर कोरीडोर की शिलान्यास समारोह में पाकिस्तान जाने के लिये उन्होंने अनुमति दी थी। मुख्यमंत्री की अनुमति के बगैर कोई मंत्री जा नहीं सकता। उन्होंने सिद्धू को पाक न जाने की सलाह तो दी थी पर वो निजी तौर पर इस समारोह में भाग लेना चाहते थे।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पंजाब दौरे के समय किसानों की कर्ज माफी स्कीम को लेकर जो कुछ रैली में कहा था वो पूरी तरह गलत था। उनकी सरकार एक साल में चार लाख चौदह हजार 275 किसानों का 3,417 करोड़ का कृषि कर्ज माफ कर चुकी है। उनकी सरकार सवा दस लाख छोटे और सीमांत किसानों के कृषि कर्ज माफ करने के प्रति वचनबद्ध है।

जैसे ही राज्य की आर्थिक स्थिति सुधरेगी उसी हिसाब से करीब तीन लाख शेष किसानों का कर्जा भी माफ कर दिया जाएगा। उनके मुताबिक मोदी लोगों को गुमराह और धोखा देने में यकीन रखते हैं लेकिन देश का वोटर मोदी की जुमलेबाजी में नहीं आएगा।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.