27 अप्रैल : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Saturday, 27 Apr 2019 03:49:42 PM
April 27: Read in just one click, 10 big news a day

प्रधानमंत्री के हेलिकॉप्टर की जांच करने वाले आईएएस अधिकारी ने तोड़ी चुप्पी, कहा कि...


Rawat Public School

नई दिल्ली। प्राधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलीकॉप्टर की सम्बलपुर में कथित रूप से जांच करने वाले कर्नाटक काडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को चुनाव आयोग ने 16 अप्रैल को निलंबित कर दिया था। हालांकि उन्हें फिलहाल कर्नाटक भेजा गया है। लेकिन अब इस मामले में उन्होंने अपनी चुप्पी तोडी है। उन्होंने कहा कि किसी भी नियम का उल्लंघन नहीं किया है और वह अपने ऊपर लगे आरोपों से अनभिज्ञ थे।

मोहम्मद मोहसिन ने कहा कि मैंने सख्ती से नियमों और चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों की भावना के तहत का​म किया। मैंने किसी भी नियम का उल्लंघन नहीं किया। मैंने इस मामले में कोई गलत काम नहीं किया। इस कारण से ही मैंने उनसे अपने खिलाफ रिपोर्ट की एक प्रति मांगी थी। लेकिन उन्होंने अभी तक इसे नहीं दिया। मैं अंधेरें में इस मामले को लड़ रहा हूं। 

इसके अलावा मोहसिन ने दावा किया है क जब यह ​कथित घटना हुई थी। उस समय वह वहां मौजूद नहीं थे। उन्होंने बताया कि जब घटना घटी मैं वहां मौजूद नहीं था। मुझे नहीं पता कि हेलीपैड पर क्या हुआ। मैंने केवल मीडिया रिपोर्ट्स पढी है। जिनकी न तो मैं पुष्टि करता हूं और न ही खारिज। 

मोहसिन घटना वाले दिन की घटनाक्रम की बात बताते हुए कहते है कि उन्होंने हेलिपैड का दौरा किया था। जहां पीएम का हेलिकॉप्टर पार्क था। पर्यवेक्षक का काम यह देखना है कि वीडियो टीमों का उचित तरीके से उपयोग हो। मैंने सलाह दी और वहां से चला गया। 

उन्होंने कहा कि मैं कार्यक्रम स्थल पर पहुंचा और वहां मौजूद पुलिस कंट्रोल रुम में पांच मिनट बैठा। इसके बाद जिलाधिकारी मुझसे मिले। जिलाधिकारी के दफ्तर में बैठे हुए मुझे उप मुख्य चुनाव आयुक्त का फोन आया और उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मैंने तलाशी का आदेश दिया है जिसे मैंने इस पर मना कर दिया। उन्होंने मुझसे रिपोर्ट मांगी और मैंने जवाब दिया। इसके बाद अचानक से रात के साढ़े ग्यारह बजे उन्होंने मुझे निलंबित कर दिया।

सत्ता में आने पर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया जाएगा : अमित शाह

मेदिनीनगर।  भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि अगर भगवा पार्टी फिर से सत्ता में आती है तो वह जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा देगी। शाह ने झारखंड के पलामू जिले में एक जनसभा में कहा, ल्लअगर आप नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाएंगे तो हम अनुच्छेद 370 हटा देंगे।

शाह ने कहा कि कांग्रेस नीत संप्रग सरकार के दौरान पाकिस्तान के आतंकवादी समूह भारत को लगातार निशाना बनाते थे। उन्होंने कहा कि जवानों का सिर भी कलम कर दिया जाता था। भाजपा अध्यक्ष ने कहा, हम राष्ट्र की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं कर सकते। पाकिस्तान भारत से कश्मीर को अलग करना चाहता है। हम ऐसा होने नहीं देंगे।

पाकिस्तान से गोली आएगी तो यहां से गोला जाएगा। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला की कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री की मांग वाली टिप्पणी पर तीखा हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। शाह ने लोगों से पूछा, ल्लक्या एक देश में दो प्रधानमंत्री होने चाहिए? भाजपा ने राष्ट्र को मोदी दिया और तब से देश की सुरक्षा मजबूत हुई है। 

शाह ने कहा, जब देश 26 फरवरी के बालाकोट हवाई हमले के बाद मिठाई बांटकर खुशी मना रहा था तब कांग्रेस एवं पाकिस्तान में मातम पसरा हुआ था। उन्होंने कांग्रेस नेता सैम पित्रौदा के उस बयान को भी हास्यास्पद बताया जिसमें उन्होंने कहा था कि कुछ लडक़ों– ने गलती की थी और बम गिराए तथा बातचीत करने की वकालत की थी।

पुतिन-किम ने परमाणु निरस्त्रीकरण के प्रयासों पर की चर्चा : आबे

टोक्यो। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने हाल में व्लादिवोस्तोक में हुई बैठक में कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण के प्रयासों को लेकर चर्चा की।

आबे ने शुक्रवार को वाभशगटन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से मुलाकात की। प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों नेताओं की बैठक के कार्यसूची में उत्तर कोरिया के परमाणु शस्त्रागार का विषय अधिक था। आबे ने  ट्रम्प के साथ अपनी वार्ता के बाद कहा,‘’उत्तर कोरियाई नेता और राष्ट्रपति पुतिन के बीच हाल में उच्चस्तरीय बैठक हुई जिसका उद्देश्य कोरियाई प्रायद्वीप का परमाणु निरस्त्रीकरण था।‘‘

आबे ने कहा,‘‘मैं और राष्ट्रपति पुतिन ने बार-बार यह पुष्टि की है कि कोरियाई प्रायद्वीप का परमाणु निरस्त्रीकरण जापान और रूस का साझा लक्ष्य है। वैश्विक समुदाय के साथ मिलकर जापान कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण पर अमेरिका-उत्तर कोरियाई समझौतों को लागू करने में मदद करना चाहता है।‘’

किम और पुतिन ने गुरुवार को रस्की द्वीप के एक विश्वविद्यालय परिसर में मुलाकात की। दोनों नेताओं ने अपनी तथ्यपरक चर्चाओं की प्रशंसा की। आबे ने कहा कि अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच परमाणु निरस्त्रीकरण के प्रयासों को लेकर आगे की कार्रवाई के संबंध में उन्होंने ट्रम्प के साथ गहन वार्ता की। प्रधानमंत्री ने जोर दिया कि जापान इस प्रक्रिया में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए दृढ़ है।

मोदी ने अलगाववादियों के समक्ष किया समर्पण: उमर

श्रीनगर। नेशनल कांफ्रेंस उपाध्यक्ष एवं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने आरोप लगाया कि राज्य में समय पर विधानसभा का चुनाव न कराकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक तरह से अलगाववादियों और आतंकवादियों के आगे समर्पण किया है। उमर ने कहा है कि अधिकांश राजनीतिक पार्टियां अलगावादियों के चुनाव बहिष्कार और आतंकवादियों की धमकियों के बावजूद विधानसभा चुनाव कराने के लिए तैयार थीं। उन्होंने कहा कि मोदी राज्य में समय पर चुनाव नहीं करा पाने वाले 1996 के बाद एक मात्र प्रधानमंत्री हैं। 

उन्होंने माइक्रो ब्लांगिंग साइट ट्विटर पर लिखा जम्मू-कश्मीर की अधिकांश राजनीतिक पार्टियां अलगाववादियों तथा आतंकवादियों के विधानसभा चुनावों का बहिष्कार करने तथा हिंसा फैलाने को धमकी को दरकिनार कर इसमें भाग लेने को तैयार थीं। दुर्भाग्य से मोदी जी और जम्मू-कश्मीर की उनकी अपंग टीम ने एक बार फिर इन ताकतों के सामने आत्मसमर्पण करने का फैसला लिया। शर्मनाक। 

अब्दुल्ला ने सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनावों को टालने के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति करने के आदेश पर प्रतिक्रिया देते हुए यह बह बातें कहीं। रिपोर्ट में कहा गया है कि राज्यपाल प्रशासन राज्य में नवंबर के बाद चुनाव कराना चाहता है। उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) तथा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का गठबंधन टूटने और भाजपा द्वारा सरकार से समर्थन वापस लेने के फैसले के बाद 20 दिसंबर 2018 से छह महीने के लिए राष्ट्रपति शासन लागू है।

सोशल मीडिया को नयी पीढ़ी के लिये एटमबम मानते हैं अमिताभ

मुंबई। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन सोशल मीडिया को नयी पीढ़ी के लिये एटम बम मानते हैं। अमिताभ बच्चन सोशल नेटवर्किग साइट ट्विटर, फेसबुक और इंस्ट्राग्राम पर काफी सक्रिय हैं। अमिताभ ब्लॉग पर भी काफी एक्टिव रहते हैं। अमिताभ बच्चन ने कहा कि सोशल मीडिया नई पीढ़ी का एटम बम है क्योंकि इसके माध्यम से यूजर्स अपने विचार रख सकते हैं और उनके पास किसी भी विषय पर अपने दृष्टिकोण को रखने की क्षमता है, चाहें वह राजनीतिक हो या कुछ और। 

अमिताभ ने सोशल मीडिया को लेकर अपने विचार के बारे में अपने ब्लॉग पर लिखा। उन्होंने लिखा, ‘‘सोशल मीडिया आधुनिक पीढ़ी का एटम बम है। इसके पास दुश्मनों के प्रति ठंडी प्रतिक्रिया जाहिर करने की क्षमता है और यह उन्हें घुटनों के बल मांफी मांगने पर ला सकता है।दुनिया में सात अरब करोड़ से ज्यादा लोगों के पास यह क्षमता है कि वह राजनीतिक या किसी अन्य मुद्दे को लेकर अपनी राय जाहिर कर सकते हैं।

फिल्म निर्माता बनना चाहती है कैटरीना कैफ

मुंबई। बॉलीवुड की बार्बी गर्ल कैटरीना कैफ अब फिल्म निर्माता बनना चाहती है। कैटरीना का कहना है कि कंटेट को डेवलप करने को लेकर वह हमेशा उत्साहित रहती हैं और फिल्म निर्माता बनना चाहती हैं। कैटरीना कैफ ने कहा कि वह निर्माता बनना चाहती हैं। कैटरीना ने अनुष्का शर्मा और दीपिका पादुकोण को खुद का निजी प्रोडक्शन हाउस बनाने के लिए बधाई देते हुए कहा,‘कंटेट के विकास के लिए मैं उत्साहित रहती हूं. मैं निर्माता बनना चाहती हूं और जिम्मेदारी लेना चाहती हूं।

कैटरीना, सलमान खान स्टारर फिल्म‘भारत’में नजर आएंगी। अली अब्बास जफर निर्देशित यह फिल्म वर्ष 2014 में प्रदर्शित साउथ कोरियन फिल्म‘ओड टू माई फादर’का आधिकारिक रूपांतरण है। फिल्म‘भारत’में अपने किरदार के बारे में बताते हुए कैटरीना ने इंस्टाग्राम पर लिखा,‘इस किरदार पर काम करना मेरे लिए काफी अच्छा था, पूरा सफर मेरे लिए बहुत अच्छा रहा... सब्र कर पाना बेहद मुश्किल हो रहा है कि लोग इसे कब देखेंगे।

विश्व कप से पहले इंग्लैंड को लगा बड़ा झटका, इस दिग्गज खिलाड़ी पर लगा बैन

स्पोटर्स डेस्क। विश्वकप 30 मई से 30 मई से इंग्लैड-वेल्स में खेला जाएगा। लेकिन इससे पहले इंग्लैंड के लिए बुरी खबर आई है। टीम के प्रमुख खिलाडी एलेक्स हेल्स ड्रग टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए है। इसके बाद उन पर इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने कुछ दिनों का प्रतिबंध लगा दिया है। दरअसल, हेल्स को विश्व कप टीम में भी शामिल किया गया है। अब जल्द ही इंग्लैंड का ट्रेनिंग कैंप और पाकिस्तान के खिलाफ वनडे मैचों की सीरीज भी शुरू होने वाली है। 

द गार्जियन में छपी एक खबर के मुताबिक एलेक्स हेल्स को प्रतिबंधित ड्रग्स का सेवन करने का दोषी पाया गया है जिसके बाद उन्हें ये सजा सुनाई गई है। तो वहीं इस मामले में इंग्लैंड के दिग्गज माइकल वॉन ने भी ट्वीट कर नाराजगी जताई है। 

आपको बता दें कि एलेक्स हेल्स का हाल ही में रुटीन फोलिक टेस्ट लिया गया। इस टेस्ट में पाया गया कि उन्होंने शौकिया तौर पर ड्रग लिया है। हालांकि यह दूसरा मौका है जब वह अपने करियर में प्रति​बंधित ड्रग सेवन में फंसे है। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने कहा कि एलेक्स हेल्स पर 21 दिनों का बैन तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है। इस तरह वह अब किसी तरह के क्रिकेट का हिस्सा नहीं रहेंगे। हेल्स ने अब तक इंग्लैंड के लिए 70 एकदिवसीय मैच खेले हैं जिसमें इन्होने 37.79 की औसत से 2419 रन बनाए हैं। 

IPL 2019: पंत को लेकर दिल्ली के कोच ने किया बड़ा खुलासा

स्पोटर्स डेस्क। आईपीएल 2019 में दिल्ली कैपिटल्स के युवा विकेट​कीपर बल्लेबाज ऋषंभ पंत ने शानदार प्रदर्शन किया है। पंत को लेकर दिल्ली के कोच रिकी पोंटिंग ने कहा है कि पंत जैसा युवा खिलाडियों पर भरोसा करने का उनकी टीम को फायदा मिला है। पोंटिंग ने बताया कि हमसे सवाल पूछे गए कि कुछ मैचों में कुछ खिलाडियों को बाहर क्यों ​नहीं किया लेकिन मेरा मानना है कि जब आपकी टीम में प्रतिभाशाली खिलाडी हो तो उन पर भरोसा रखना चाहिए। 

इसके ​बाद दिल्ली के मुख्य कोच ने कहा कि  हमारे पास ऐसे खिलाड़ी हैं, जो मैच का पासा पलट सकते हैं। इस तरह के टूर्नामेंट में एक अच्छी पारी की जरूरत होती है। पंत जैसे खिलाडियों ने विश्व कप को लेकर कुछ सोचा होगा। लेकिन मुंबई के खिलाफ पहले मैच में नाबाद 78 रन बनाकर उन्होंने हमें मैच जीताया था। 

पोंटिंग ने कहा कि मुझे खुशी है कि राजस्थान के खिलाफ उन्होंने फिर फॉर्म को हासिल कर लिया है। उनके जैसे खिलाडी से इस तरह के प्रदर्शन की उम्मीद रहती है कि वह सत्र में तीन या चार मैच जिता दें। उन्होंने हमें दो मैच जिताए है और फॉर्म में रहने पर आगे भी जिताएंगे। 

आपको बता दें कि दिल्ली कैपिटल्स ने अबतक इस सीजन में 11 मैच खेले है। इन मैचों में 7 जीत के साथ 14 अंकों के साथ तीसरे नंबर पर है। दिल्ली के कोच ने कहा कि उनकी टीम सही समय पर शानदार प्रदर्शन कर रही है। उन्होंने हैदराबाद के खिलाफ मिली 39 रन की जीत को सबसे अच्छी जीत बताई। क्योंकि हार की कगार पर पहुंचकर दिल्ली ने यह मैच जीता था।

पहले चरण में गहलोत, वसुंधरा, दो केंद्रीय मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर

जयपुर। राजस्थान में लोकसभा चुनाव के पहले चरण में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, दो केंद्रीय मंत्रियों सहित सात सांसदों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। पहले चरण की 13 सीटों पर आज शाम छह बजे चुनाव प्रचार का शोर थम जायेगा, इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित कई नेताओं ने जनसभायें करके चुनावी माहौल गरमाने का प्रयास किया है। गांधी का राफेल विमान में भ्रष्टाचार का मामला कमजोर पड़ता दिखाई दिया, जबकि किसान, आदिवासी और गरीबों के लिये हर महीने छह हजार रुपये की पेशकश पर ज्यादा जोर रहा। भाजपा का पूरा चुनाव प्रचार मोदी पर केंद्रित रहा, उम्मीदवार एवं स्थानीय मुद्दों को पूरी तरह नजरअंदाज किया गया। 

इन 13 सीटों में सबसे ज्यादा चर्चित जोधपुर एवं झालावाड़ की सीटें हैं, जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव तथा पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के पुत्र दुष्यंत सिंह चुनाव लड़ रहे हैं। सिंह के चौथी बार लोकसभा चुनाव मैदान में उतरने के कारण इस बार राजे वंशवाद के निशाने पर नहीं आई, लेकिन वैभव गहलोत का यह पहला चुनाव होने से उनके पिता अशोक गहलोत पर वंशवाद और प्रतिष्ठा को दांव पर लगाने के तीखे आरोप लगाये जा रहे हैं। 

भाजपा ने जोधपुर में अपने उम्मीदवार केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह को अकेला नहीं छोड़ा। वहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा एवं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का रोड शो करवाकर मतदाताओं पर छाप छोडऩे के साथ प्रदेश सरकार की ताकत तोडऩे का प्रयास किया। इसके विपरीत कांग्रेस में बड़े नेताओं के दौरे जोधपुर में नहीं हुए, मुख्यमंत्री गहलोत ने ही प्रचार का मोर्चा संभाल रखा है। 

बाड़मेर में सांसद कर्नल सोनाराम का टिकट काटने के बाद भाजपा उम्मीदवार पूर्व विधायक कैलाश चौधरी को कांग्र्रेस के मानवेंद्र सिंह के सामने कड़ी टक्कर झेलनी पड़ रही है, हालांकि इसमें थोड़ी राहत तब मिल गई जब कर्नल सोनाराम पार्टी से बगावत करके कांग्रेस में शामिल होने के लिये दौड़ पड़े, लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी और वह अब पार्टी का साथ देने की बात कह रहे हैं। 

पाली से केंद्रीय मंत्री पी पी चौधरी का पूर्व सांसद एवं कांग्रेस उम्मीदवार बद्री जाखड़ से कड़ा मुकाबला है। चौधरी का टिकट मिलने से पहले काफी विरोध हुआ था, लेकिन उन्हें अब मोदी लहर का ज्यादा भरोसा लगता है। अजमेर में कांग्रेस के नये चेहरे रिज्जु झुनझुनूवाला का मुकाबला भाजपा के पूर्व विधायक भागीरथ चौधरी से है। इस सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस के रघु शर्मा विजयी रहे थे, लेकिन विधानसभा चुनाव में जीतकर वह अब गहलोत सरकार में मंत्री हैं। इस लिहाज से शर्मा की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है। प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट भी अजमेर से सांसद एवं केंद्रीय मंत्री रहे हैं, लिहाजा यह सीट जिताने का उन पर काफी दबाव है। 

कोटा में सांसद ओम बिरला का मुकाबला पूर्व सांसद रामनारायण मीणा से है। इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोटा में हवाई अड्डा बनाने का आश्वासन देकर शिक्षा नगरी को लुभाने का प्रयास किया है। भाजपा में पूर्व विधायक प्रहलाद गुर्जर एवं भवानी सिंह राजावत की नाराजगी भी भाजपा उम्मीदवार को भारी पड़ सकती है। चित्तौडग़ढ़ में सांसद चंद्र प्रकाश जोशी का मुकाबला कांग्रेस के गोपाल सिंह ईडवा से है जो पूर्व में राजसमंद से सांसद रह चुके हैं। यहां राजपूत बहुल मतदाताओं के बावजूद भाजपा उम्मीदवार जोशी की लोकप्रियता के कारण उनके जीतने के कयास ज्यादा लगाये जा रहे हैं। 

टोंक सवाई माधोपुर से दूसरी बार चुनाव लड़ रहे सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया का मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री नमो नारायण मीणा से है। मीणा ने टोंक को रेललाइन से जोडऩे का मुद्दा उठाकर वर्ष 2009 का चुनाव जीता था तथा इस बार विधानसभा मेें कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट की टोंक से जीत ने उन्हें फिर उत्साहित किया है। भाजपा उम्मीदवार पर बाहरी होने का भी आरोप लगता रहा है। मीणा को सवा तीन लाख स्वजाति के मतों सहित पौने दो लाख मुस्लिम और करीब चार लाख अनुसूचित जाति के मतदाताओं पर भी भरोसा है। 

भीलवाड़ा में सांसद सुभाष बहेड़यिा का मुकाबला कांग्रेस के नये चेहरे रामपाल शर्मा से है। पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा की लहर के विपरीत अपने जातिगत समीकरण के कारण ब्राम्हण जाति के भाजपा उम्मीदवार की जीत को देखकर कांग्रेस ने यहां से ब्राम्हण उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारा है। भाजपा का गढ़ रहा यह क्षेत्र इस बार भी मोदी लहर पर सवार होकर बहेड़यिा की जीत की आस लगाये बैठा है। जालौर में भाजपा सांसद देवजी पटेल के सामने कांग्रेस के पूर्व विधायक रतन देवासी कड़ी टक्कर दे रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सभा के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की सभा होने से यहां चुनावी माहौल काफी गरमा गया है। 

बांसवाड़ा में मानशंकर निनामा का टिकट काटकर भाजपा ने पूर्व विधायक कनकमल कटारा को उम्मीदवार बनाया है, जिनका इस बार मुकाबला कांग्रेस के ताराचंद भगोरा से होगा। दोनों उम्मीदवार काफी अनुभवी हैं, लेकिन विधानसभा चुनाव के नतीजों से यह पता चलता है कि कांग्रेस के लिये अब यह क्षेत्र ज्यादा सुरक्षित नहीं रह गया है। 

उदयपुर में भाजपा ने सांसद अर्जुनलाल मीणा को पूर्व सांसद एवं कांग्रेस उम्मीदवार रघुवीर मीणा के सामने खड़ा किया है। विधानसभा में मिली सफलता के बाद भाजपा इस क्षेत्र से जीत की उम्मीद लगाये हुए है। मीणा ने सलुम्बर विधानसभा से चुनाव लड़ा था, लेकिन हार सहनी पड़ी। कांग्रेस ने विधानसभा में हारे हुए प्रत्याशी पर बड़ी पंचायत में पहुंचाने का दांव लगाया है। राजसमंद में भाजपा और कांग्रेस के दोनों नये चेहरों के बीच मुकाबला है।
भाजपा उम्मीदवार दियाकुमारी के जयपुर राजघराने से सम्बन्ध होने के कारण यह मुकाबला युवरानी और कांग्रेस के साधारण कार्यकर्ता के बीच रोचक होने वाला है। कांग्रेस उम्मीदवार देवकीनंदन के सामने चुनाव लड़ रही दियाकुमारी सवाई माधोपुर से विधायक रह चुकी हैं, लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में उनको टिकट नहीं मिला। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की उनके प्रति नाराजगी की अफवाह भी तब काफूर हो गई जब राजे ने भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में सभा करके उन्हें जिताने का अनुरोध किया। 

मुंबई में पीएम मोदी ने कांग्रेस और विपक्ष पर साधा निशाना, कहा कि...

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वाराणसी से नामांकन दाखिल किया। इसके बाद पीएम ने मध्यप्रदेश में कांग्रेस और विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक दूसरे के पूरक है। दिल्ली का तुगलक रोड चुनावी घोटाले का केंद्र अब बन चुका है। कांग्रेस एक तरफ कैंसर की तरह पनप चुके करप्शन के खिलाफ लड़ाई की बात करती है। लेकिन कांग्रेस के नेताओं के यहां से बोरों में रुपयों की बरामदगी हो रही है। 

आपको बात दें कि मध्यप्रदेश में चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद पीएम मोदी ने मुंबई में बांद्रा कॉम्प्लेक्स में चुनावी रैली को संबोधित किया। इस रैली में भी पीएम मोदी ने कां​ग्रेस और विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार कांग्रेस की तरह नकारात्मक विचार के साथ नहीं चल रही है। हम वो लोग हैं जो चुनौतियों को भी अवसर में तब्दील कर देते है। 

इस चुनावी सभा को संबोधित ​करते हुए कहा कि राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान के लिए मैं देश के माध्यम वर्ग का आभार व्यक्त करता हूं। मिडिल क्लास ये काम आज से नहीं बल्कि दशकों से निरंतर करता आ रहा है। इसके बाद मोदी ने कहा कि लेकिन देश की सबसे पुरानी पार्टी, जिसको सबसे अधिक अवसर देश ने दिया है। उसकी सोच पर तरस आता है। कांग्रेस कहती है कि मिडिल क्लास सेल्फिश होता है। 

प्रधानमंत्री ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले पांच सालों भारत के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। विश्व की टॉप लीडरशिप का विश्लेषण करके आप देख सकते हो कि भारत में अगले 5 साल अवसरों से भरे हैं।

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.