लोकसभा में उठा असम एनआरसी का मुद्दा, कांग्रेस ने सरकार के पास घुसपैठियों के आंकड़े नहीं होने का आरोप लगाया

Samachar Jagat | Tuesday, 31 Jul 2018 02:33:14 PM
Assam NRC issue raised in Lok Sabha

नई दिल्ली। लोकसभा में मंगलवार को कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस ने असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) में 40 लाख लोगों का नाम नहीं होने के मुद्दे को उठाया। कांग्रेस के गौरव गोगोई ने आरोप लगाया कि इस कवायद के बावजूद कितने घुसपैठिए हैं, इसके आंकड़े सरकार के पास नहीं हैं।

शून्यकाल में गौरव गोगोई ने इस विषय को उठाते हुए कहा कि कल गृह मंत्री ने सदन में बयान दिया, जिसमें कहा गया है कि जिन 40 लाख लोगों के नाम नहीं है, उनके पास अभी भी मौका है। इससे स्पष्ट है कि सरकार के पास अभी भी ये आंकड़े नहीं है कि घुसपैठियों की संख्या कितनी है।

उन्होंने आरोप लगाया कि एनआरसी मामले में सरकार का रूख कमजोर, लचर और अप्रभावी है। असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी के संदर्भ में जो गलती हुई है, उसे देखते हुए हमारी मांग है कि 40 लाख लोगों के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा सुनिश्चित हो।

इससे पहने शून्यकाल शुरू होने पर तृणमूल कांग्रेस के सदस्य असम एनआरसी के मुद्दे पर सदन में अपनी बात रखना चाहते थे। तृणमूल सदस्य सौगत राय ने कहा कि कल यह विषय आया है लेकिन यह मुद्दा गंभीर है। 40 लाख लोगों का नाम एनआरसी सूची में नहीं है।

इस पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि एनआरसी का विषय कल पूरा हो गया। गृह मंत्री ने जवाब दे दिया था। अब हर दिन एक ही विषय को नहीं लिया जाएगा। इस दौरान कांग्रेस के गौरव गोगोई और अधीर रंजन चौधरी इस मुद्दे पर अपनी बात रखने की मांग करते हुए आसन के समीप आ गए।स्पीकर ने कहा कि कल यह विषय आया है और सदन में वे (गोगोई) मौजूद नहीं थे।

ऐसे में वे अपने स्थान पर जाएं। कुछ देर बाद स्पीकर ने गौरव गोगोई का नाम पुकारा और कहा कि उन्होंने असम में बाढ़ के विषय पर बोलने का आग्रह किया है। इस पर गोगोई ने कहा कि वह आग्रह करते हैं कि अभी उन्हें एनआरसी के विषय पर बोलने दिया जाए।

लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि ठीक है, तो क्या बाढ़ का विषय नहीं उठाएंगे। बह जाने दो। सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, जेडीएस और आम आदमी पार्टी के सदस्यों ने संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष असम एनआरसी के विषय पर धरना प्रदर्शन किया।

इस धरना प्रदर्शन में तेलुगू देशम पार्टी के सदस्य भी शामिल हो गए जो इससे पहले पास में ही आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का द$र्जा दिए जाने के मुद्दे पर धरना दे रहे थे। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.