वाजपेयी वो चीजें खाते थे जिनपर BJP को अब आपत्ति है: कांग्रेस

Samachar Jagat | Monday, 20 Aug 2018 10:56:42 AM
Atal Bihari Vajpayee ate things his party now objects to: Goa Congress chief

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

पणजी। गोवा कांग्रेस के प्रमुख गिरीश चोडांकर ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी उन चीजों को खाना पसंद करते थे जिनपर आज उनकी पार्टी (भाजपा) को आपत्ति है। वह पार्टी मुख्यालय में दिवंगत भाजपा नेता को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित शोक सभा में बोल रहे थे। 

एनआरसी मसौदे में छूटे लोगों के प्रति मेरी सहानुभूति: ममता 

कांग्रेस नेता ने हालांकि यह नहीं बताया कि बयान में वह किस पकवान का संदर्भ दे रहे थे। तीन बार के प्रधानमंत्री और भारत रत्न‘ से सम्मानित वाजपेयी का 16 अगस्त को 93 वर्ष की अवस्था में निधन हो गया था। इससे पहले उम्र संबंधी बीमारियों की वजह से वह करीब एक दशक से सार्वजनिक जीवन से दूर थे। 

अनशन से पहले हिरासत में हार्दिक समेत नौ पाटीदार नेता, बिना इजाजत करने वाले थे विरोध 

चोडांकर ने कहा कि पिछले चार-पांच सालों के दौरान वाजपेयी अगर सक्रिय राजनीति में होते तो देश की तस्वीर अलग होती।  उन्होंने कहा, वाजपेयी अगर पिछले चार-पांच सालों में राजनीति में सक्रिय होते तो वह धर्म के आधार पर लोगों को बांटने के प्रयासों का विरोध करते। वह किसी को भी यह तय नहीं करने देते कि किसी को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं।

गंगा में विलीन हुए पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी, अस्थियां विसर्जित करते हुए भावुक हुई बेटी 

कांग्रेस नेता ने कहा, वाजपेयी सबकुछ खाते थे। ये लोग (भाजपा) हमें जो चीज नहीं खाने के बारे में बता रहे हैं, वह उन्हें शौक से खाते थे। उनमें यह स्वीकार करने का साहस था कि वह क्या खा रहे हैं।

आयुष्मान भारत योजना: केंद्र के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने पर विचार कर रही है दिल्ली सरकार 

आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां उन्हें अंतिम विदाई देने उमड़े भारी जनसैलाब के 'अटल बिहारी अमर रहें' और 'वंदे मातरम' के गगनभेदी नारों के बीच उनके परिजनों द्वारा रविवार को गंगा नदी में विसर्जित कर दी गई। 
 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.