शोक में डूबा पूरा राष्ट्र, हुआ एक का युग का अंत, नेताओं ने दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि

Samachar Jagat | Thursday, 16 Aug 2018 06:37:42 PM
Atal Bihari Vajpayee died

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। पीएम नरेन्द्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए गुरुवार को कहा कि उनकी प्रेरणा और मार्गदर्शन हर भारतीय को हमेशा मिलता रहेगा। मोदी ने ट्विटर पर भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए लिखा, मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है। हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे।

अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था। उनका जाना, एक युग का अंत है। उन्होंने लिखा, लेकिन वो हमें कहकर गए हैं- मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं, जिंदगी सिलसिला, आज कल की नहीं मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊँगा, कूच से क्यों डरूं?

लेकिन वो हमें कहकर गए हैं-
“मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं,
ज़िन्दगी सिलसिला, आज कल की नहीं
मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं,
लौटकर आऊँगा, कूच से क्यों डरूं?”

— Narendra Modi (@narendramodi) August 16, 2018

देश ने अपना एक महान सपूत खो दिया: राहुल
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर दुख प्रकट करते हुए गुरुवार को कहा कि देश ने अपना एक महान सपूत खो दिया है। गांधी ने ट्वीट कर कहा कि आज भारत ने अपना एक महान सपूत खो दिया। वाजपेयी जी को करोड़ों लोग स्नेह और सम्मान देते थे। उनके परिवार एवं चाहने वालों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। हम उनकी कमी महसूस करेंगे। 

कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने कहा..
गहलोत ने कहा 'पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के निधन से बहुत दुखी हूं। भारत ‘ अटल जी को हमेशा एक महान राजनेता, शानदार वक्ता, और व्यापक दृष्टिकोण वाले नेता के रूप में याद किया जाएगा। उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। ईश्चर उनको यह क्षति वहन करने की शक्ति प्रदान करे। वाजपेयी का लम्बी बीमारी के बाद आज अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान :एम्स: में निधन हो गया । 

वाजपेयी का निधन,पूरे देश के लिए अपूरणीय क्षति: शाह
बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए उनके निधन को न सिर्फ भाजपा बल्कि पूरे देश के लिए अपूरणीय क्षति बताया है। शाह ने अपने शोक संदेश में कहा कि अटल जी की छवि इस देश के एक ऐसे जनप्रिय राष्ट्रीय नेता के रूप में उभरी जिसने सत्ता को सेवा का माध्यम माना और राष्ट्र हितों से समझौता किए बगैर बेदाग राजनीतिक जीवन जिया। यही वजह रही कि देश की जनता ने अपनी सामाजिक और राजनीतिक सीमाओं से बाहर जाकर उन्हें प्यार और सम्मान दिया।

वाजपेयी के निधन पर मध्यप्रदेश में शोक की लहर
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन का समाचार मिलते ही मध्यप्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई। वाजपेयी के निधन पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिह तोमर, प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा, वित्त मंत्री जयंत मलैया सहित मंत्रिमंडल के अन्य सहयोगियों ने शोक व्यक्त किया है।

चौहान ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए लिखा'मैं परम श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। हम सब के लिए ये दुखदायी क्षण है। हमारे सिर से पितृतुल्य ऐसे व्यक्तित्व का साया उठ गया, जिसने हमेशा चुनौतियों से लड़ने का साहस दिया, नई राह दिखाई। आज एक राजनीतिक युग का अंत हो गया।'

अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति !

— Narendra Modi (@narendramodi) August 16, 2018

वाजपेयी के निधन पर शोक जताया 
कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और पार्टी के प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिधिया सहित अन्य नेताओं ने भी वाजपेयी के निधन पर शोक जताया है।  वाजपेयी के जन्म स्थान ग्वालियर में भी उनके निधन की खबर मिलते ही लोग शोकमग्न हो गए। प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी उनके निधन पर लोगों ने शोक व्यक्त किया है।

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर नीतीश ने जताया शोक
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की। कुमार ने शोक संदेश में कहा कि वाजपेयी के रूप में देश ने सबसे बड़ी राजनीतिक शख्सियत के साथ ही प्रखर वक्ता, कवि, लेखक, चितक, विचारक और करिश्माई व्यक्तित्व को खो दिया है।

मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है।

हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे। अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था। उनका जाना, एक युग का अंत है।

— Narendra Modi (@narendramodi) August 16, 2018

उन्होंने उच्च राजनीतिक मूल्यों एवं आदर्शों की बदौलत सार्वजनिक जीवन में उच्चस्थ शिखर को प्राप्त किया। उन्होंने अपने व्यक्तित्व की बदौलत ही राजनीतिक सीमाओं के परे सभी विचारधारा के दलों का आदर एवं सम्मान प्राप्त किया। उनमें सभी विचारधारा के लोगों को साथ लेकर चलने की अछ्वुत क्षमता थी। उन्होंने अपने जीवन में लोकतांत्रिक मूल्यों को सर्वोपरि रखा। 
 
सभी दलों में समान रूप से स्वीकार्य नेता थे वाजपेयी: राजनाथ
केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिह सहित विभिन्न केन्द्रीय मंत्रियों ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए उन्हें सभी दलों में समान रूप से स्वीकार्य महान राजनेता करार दिया है। सिंह ने अपने शोक संदेश में कहा कि वाजपेयी के निधन से हुई  पीडा को शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता।

उन्होंने ऐसे विकसित और ताकतवर भारत का सपना देखा था जिसमें सभी लोग मिलकर शांति और सछ्वावना से रहें। उनके निधन से देश ने एक ऐसे प्रख्यात नेता को खो दिया है जो अपनी स्पष्टता और मुखर नेतृत्व के लिए जाना जाता था। उन्होंने कहा , यह मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। मैं उनके पदचिन्हों पर चले बिना अपने जीवन के पूर्ण होने की कल्पना नहीं कर सकता। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.