अयोध्या मामला: सीजेआई ने रंजन गोगोई ने कहा कि सुनवाई के लिए एक्स्ट्रा टाइम शनिवार को भी की जा सकती है 

Samachar Jagat | Wednesday, 18 Sep 2019 01:23:40 PM
Ayodhya case: CJI Ranjan Gogoi said that extra time for hearing can be done on Saturday also

इंटरनेट डेस्क। अयोध्या स्थित रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में एक बड़ी खबर आई है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुनवाई के दौरान सभी पक्षों से अपील करते हुए कहा कि वह एक महीने में अपनी दलीलें पूरी करने की कोशिश करें। चीफ जस्टिस ने उम्मीद जताई कि इस मसले की सुनवाई 18 अक्टूबर तक पूरी हो जाएगी।


loading...

मंगलवार को जब सुनवाई चल रही थी, तो चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अयोध्या केस पर कई बड़ी टिप्पणियां की। मंगलवार को चीफ जस्टिस ने कहा कि हमें उम्मीद है कि इस मामले में हम 18 अक्टूबर तक सुनवाई पूरी कर लेंगे। सभी पक्षों को तय समय में सुनवाई पूरी करने के लिए प्रयत्न करना होगा।

18 अक्टूबर तक सुनवाई पूरी होती है, तो हमें फैसला लिखने के लिए चार हफ्ते का समय मिलेगा। बहस के साथ-साथ हमें मध्यस्थता का भी पत्र मिला है। अगर मध्यस्थता हो सकती है, तो पक्ष आपस में बातचीत कर सकते हैं। मध्यस्थता को लेकर गोपनीयता बनी रहेगी। कोर्ट की सुनवाई को रोजाना एक घंटे के लिए बढ़ाया जा सकता है। 

इसके अलावा शनिवार को भी मामला सुना जा सकता है। 6 अगस्त से रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर रोजाना सुनवाई चल रही है। इसके तहत हफ्ते में पांच दिन मामला सुना जा रहा है, पहले ये सुनवाई तीन दिन हो रही थी लेकिन बाद में अदालत ने हफ्ते में पांच दिन सुनने का तय किया। अभी तक जारी सुनवाई में रामलला, हिंदू महासभा, निर्मोही अखाड़ा समेत अन्य हिंदू पक्षों के द्वारा बहस पूरी की जा चुकी है तो वहीं मुस्लिम पक्ष के वकील अपना जवाब दे रहे हैं।

मुस्लिम पक्ष की ओर से वरिष्ठ वकील राजीव धवन अदालत में पक्ष रख रहे हैं। इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ कर रही है। इसमें चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के अलावा जस्टिस एस. ए. बोबडे, जस्टिस डी. वाई. चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. ए. नजीर शामिल हैं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.