सेना पर दिए गए बयान को लेकर भागवत को माफी मांगनी चाहिएः भाकपा

Samachar Jagat | Monday, 12 Feb 2018 03:42:27 PM
Bhagwat should apologize for statement given on army CPI

नई दिल्ली। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के वरिष्ठ नेता अतुल कुमार अन्जान ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के भारतीय सेना के बारे में दिए गए बयान की कड़ी निंदा की है और कहा है कि इसके लिए उन्हें देश से माफी मांगनी चाहिए।

पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा दे रही है सरकार : रीता बहुगुणा जोशी

अनजान ने आज यहाँ कहा कि भागवत का यह बयान सेना का मनोबल गिराने और सैनिकों को अपमानित करने वाला है। इसके लिए उन्हें समस्त देशवासियों से माफी मंगनी चाहिए। 

उन्होंने यहां जारी एक बयान में कहा कि संघ की आस्था न तो कभी भारतीय संविधान में रही और न राष्ट्रीय तिरंगे में। यही कारण है कि उसने अपने मुख्यालय नागपुर में कभी तिरंगा नहीं फहराया। संघ के सर संघ चालक गुरु गोलवरकर ने 1950 में ही संविधान और तिरंगे को नकार दिया था। संघ हमेशा से वर्णाश्रम में यकीन करता रहा है, इसलिए वह संविधान में प्रदत्त समानता के अधिकार में यकीन नहीं करता। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओमान में शिव मंदिर में पूजा अर्चना की

भाकपा नेता ने कहा कि भागवत के बयान से स्पष्ट हो गया है कि उनके मन में सेना के प्रति सम्मान का भाव नहीं है। वह दरअसल तथाकथित राष्ट्रवादी लोग हैं जो इस तरह के बयान देते रहते है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.