भाजपा जुमलो की पार्टी,हकीकत से कोई वास्ता नहीं : कांग्रेस

Samachar Jagat | Sunday, 11 Mar 2018 07:22:12 AM
BJP's Jumloos party, no reality from reality: Congress

इलाहाबाद। कांग्रेस के फूलपुर लोकसभा उपचुनाव प्रभारी एवं पूर्व सांसद डा राजेश मिश्र ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जुमलों की पार्टी है और हकीकत से इसका कोई लेना-देना नहीं है।

मिश्र ने कहा कि 2014 चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनता से वादे किये थे कि चुनाव जीतने के तीस दिन के भीतर विदेश में जमा काला धन देश में लायेगें और लोगों के खातों में 15-15 लाख रूपये जमा कराये जायेंगें। 

हर साल दो करोड़ लोगों को नौकरी दी जायेगी। एक चुनाव खत्म हो गया अगले साल दूसरा चुनाव होने वाला है न/न तो किसी के खाते में 15 लाख आये और न लोगों को नौकरी मिली बल्कि पढ़े लिखों को पकौडे बेचने की नसीहत जरूर मिल गई।

उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इन्हें चुनावी जुमले करार देते हुए कह दिया कि चुनाव के दौरान ऐसे वादे केवल चुनावी जुमले होते हैं। किसी के खाते में पैसा नहीं जमा होता बल्कि उन पैसों का उपयोग कर योजनाओं से देश की जनता को लाभान्वित किया जाता है।

2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी का नारा था‘अच्छे दिन आएगे‘। सरकार बने साल भर ही हुआ था कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इसे जुमला बता दिया था। मोदी सरकार के सडक़ परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने खुलासा किया कि‘अच्छे दिन’का राग असल में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने छेड़ा था। गडकरी ने‘अच्छे दिन’के नारे को सरकार के गले में फंसी हड्डी बता दिया।

उन्होंने बताया कि भाजपा की नीति थोथा चना बाजे घना‘’वाली है। बेटी बचाओ बेटी पढाओ का नारा भी खोखला लगता है। बेटियों को बोझ समझकर कोख में ही मार देने वालों को प्रधानमंत्री ने अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर नसीहत देते हुए कहा कि कन्या भ्रूण हत्या सबसे शर्मनाक मुद्दा है। 

घर की सास को आगे बढक़र कन्या भ्रूण हत्या की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए। अगर सास कह दे कि बेटी चाहिए, तो किसी की ताकत नहीं कि उस बेटी के साथ अन्याय कर सके। बेटियां बोझ नहीं बल्कि परिवार की आन बान और शान होती हैं। बेटियों के प्रति समाज की सोच बदलनी होगी। 

मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक मुद्दे को हल करने का नायाब काम किया, शायद जुमला है क्योंकि उन्होंने फूलपुर लोकसभा के उपचुनाव में एक प्रत्याशी को मैदान में उतारा है जिसने केवल इसलिए अपनी पत्नी को तलाक दिया क्योंकि उसने एक बेटी को जन्म दिया। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.